/>

Breaking

Thursday, November 5, 2020

खरीफ फसल भुगतान:11 हजार करोड़ रुपए का माल खरीदा, 5 हजार करोड़ पेंडिंग, सीएम मनोहर लाल खट्टर बोले- यह बर्दाश्त नहीं

खरीफ फसल भुगतान:11 हजार करोड़ रुपए का माल खरीदा, 5 हजार करोड़ पेंडिंग, सीएम मनोहर लाल खट्टर बोले- यह बर्दाश्त नहीं


चंडीगढ़ : प्रदेश के किसानों से 11 हजार करोड़ रुपए की खरीफ फसलें सरकार खरीद चुकी है। अब तक 6 हजार करोड़ से अधिक राशि का भुगतान किया जा चुका है, जबकि किसानों की 5 हजार करोड़ रुपए की राशि पेंडिंग है। बुधवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर की अध्यक्षता में बैठक हुई। किसानों का भुगतान समय पर न होने पर सीएम ने सख्ती दिखाई। उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं। किसानों की फसलों का भुगतान 72 घंटे के अंदर किया जाए।
सीएम ने आदेश दिए कि दिवाली से पहले सभी किसानों का भुगतान किया जाए। अब एक सप्ताह में पूरा भुगतान होने की उम्मीद है। वहीं, बैठक में मौजूद खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के एसीएस पीके दास ने बताया कि रोजाना करीब 600 करोड़ रुपए की राशि जारी हो रही है। 3 नवंबर तक प्रदेश में 4.89 लाख टन बाजरा और 50.78 लाख टन से अधिक धान की खरीद हो चुकी है। इस पर सीएम ने कहा कि खरीद एजेंसी, आढ़तियों व बैंकर्स की तरफ से विलंब बर्दाश्त नहीं होगा। जे फार्म व आई फार्म का मिलान खरीद प्रक्रिया का आंतरिक मामला है। उनका मिलान बाद में हो सकेगा, लेकिन फसल का भुगतान होना जरूरी है।

*आई फार्म की मंजूरी ऑनलाइन मिलेगी*

मुख्यालय स्तर के अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि धान खरीद के लिए एच फार्म से लेकर जे फार्म, गेट पास, आई फार्म के सृजन होने से लेकर मंडी से वेयरहाउस तक उठान और आई फार्म की स्वीकृति प्रक्रिया ऑनलाइन हो। एच फार्म जारी होने के एक सप्ताह के अंदर या आई फार्म स्वीकृत होने के 72 घंटों में किसान को खरीद की अदायगी हो जाए। मंडी बोर्ड के सचिव से लेकर आढ़ती, मिलर, ट्रांसपोर्टर हर किसी की जिम्मेदारी तय होगी।

खरीद प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन

अब खरीद प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया है। हर प्रकार की जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगी। किस दिन एच फार्म, जे फार्म, गेट पास व आई फार्म जारी हुआ। जिला प्रबंधक या बैंकर्स को ऑनलाइन भुगतान के लिए पे-नाउ क्लिक करना होगा।

55 लाख टन फसल खरीदी

खरीफ फसलों में 38 लाख एकड़ में धान, 18 लाख एकड़ में कपास, 12 लाख एकड़ क्षेत्र में बाजरा, 2.40 लाख एकड़ क्षेत्र में गन्ना है। मंडियों में धान व बाजरा आ रहा है। 55 लाख टन से अधिक धान व बाजरा खरीद हो चुकी है।

*14 को जारी टोकन की वैधता 18 तक बनी रहेगी*

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि किसानों को टोकन 14 नवंबर को दीपावली के दिन जारी किए जा चुके हैं, उनकी वैधता 16, 17 व 18 नवंबर तक बनी रहनी चाहिए। किसानों को नए सिरे से टोकन देने की जरूरत नहीं होगी। इससे किसानों को दिक्कत भी नहीं होगी।

No comments:

Post a Comment