Breaking

Tuesday, June 28, 2022

June 28, 2022

राकेश टिकैत ने युवक की आत्महत्या को अग्निपथ योजना से जोड़ा, यूजर्स बोले- अब आप ही हमारे तारनतार...

राकेश टिकैत ने युवक की आत्महत्या को अग्निपथ योजना से जोड़ा, यूजर्स बोले- अब आप ही हमारे तारनतार...

नई दिल्ली : भारतीय किसान यूनियन (Bharatiya Kisan Union) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) पर कड़ा प्रहार किया है। उन्होंने फतेहपुर (Fatehpur) में एक युवक की आत्महत्या (Suicide) को अग्निपथ योजना से जोड़ दिया है। राकेश टिकैत ने इस आत्महत्या के पीछे की वजह को मोदी सरकार (Modi Government) की संवादहीनता को जिम्मेदार ठहराया है। खास बात है कि फतेहपुर पुलिस (Fatehpur Police) ने भी राकेश टिकैत की ट्वीट पर रिप्लाई किया है और स्थिति स्पष्ट की है कि इस आत्महत्या का तालुक्क अग्निपथ योजना से नहीं है। यही नहीं, यूजर्स भी लगातार रिप्लाई कर राकेश टिकैत पर निशाना साध रहे हैं।  मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने अपने ट्वीट में लिखा, 'सरकार की योजनाओं को लागू करने से पहले संवादहीनता की वजह से किसान आंदोलन में 750 किसानों ने अपनी जान गवाई और अब अग्निपथ योजना का संवाद ना होने की वजह से पहले रोहतक में सचिन और अब फतेहपुर में विकास ने अपनी जान दे दी। ये बेहद दुःखद खबर है।' पुलिस ने किया रिप्लाई फतेहपुर पुलिस ने इस घटना के बाद पक्ष सामने रखा था। इसके बावजूद राकेश टिकैत ने इस आत्महत्या को सीधे अग्निपथ योजना से जोड़ दिया। राकेश टिकैत का ट्वीट वायरल हुआ तो फतेहपुर पुलिस ने रिप्लाई करते हुए दोबार से स्पष्ट किया गया कि इस युवक की आत्महत्या का अग्निपथ योजना से कोई संबंध नहीं है। फतेहपुर पुलिस ने थाना कल्यानपुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम हरदौलपुर में घटित घटना के सम्बंध में क्षेत्राधिकारी बिंदकी द्वारा दी गई बाइट को भी शेयर किया है। थाना कल्यानपुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम हरदौलपुर में घटित घटना के सम्बंध में क्षेत्राधिकारी बिंदकी द्वारा दी गयी बाइट।#UPPolice pic.twitter.com/vktRMR0y1o — FATEHPUR POLICE (@fatehpurpolice) June 25, 2022 यूजर्स भी भड़के ट्विटर यूजर्स को जब इस आत्महत्या की सच्चाई पता चली तो उन्होंने राकेश टिकैत पर निशाने साधने शुरू कर दिए। आलोक नामक यूजर ने लिखा, 'किसानों को उनके घर वालों ने जिन्दा भेजा था, आपके बुलावे पे। उनकी मौत के जिम्मेदार आप है। अब उनके घर के भरण पोषण की जिम्मेदारी आपकी है। भागिये मत जवाबदेही से। नेतागीरी सिर्फ उकसाने का नाम नही, जवाबदेही भी होनी चाहिये।' गौरव सिंह ने लिखा, 'अब तो आप ही हम सबका तारनहार बन सकते हो।' सरकार पर भी साधा निशाना बता दें कि ज्यादातर यूजर्स ऐसे भी हैं, जो सरकार पर भी प्रहार कर रहे हैं। इन यूजर्स का कहना है कि चाहे अग्निपथ योजना को लेकर आत्महत्या नहीं की, लेकिन आत्महत्या के पीछे की वजह तो नौकरी न मिलना ही था। राकेश धानीवाला ने लिखा, 'समय बदला है, सरकारें बदली हैं, नियम भी बदले हैं, तो लोगों को भी बदलने की जरूरत है ! आत्म हत्या किसी भी समस्या का अंतिम समाधान नहीं है। युवाओं को समझना होगा!!' इसी प्रकार अन्य यूजर्स ने भी लिखा कि युवाओं के लिए सबसे बड़ी परेशानी बेरोजगारी होती है। सरकार को इस बारे में सोचना चाहिए।
June 28, 2022

मूसेवाला के गीत के बाद अब किसानों पर एक्शन:किसान आंदोलन के दौरान बने किसान एकता मोर्चा और ट्रैक्टर टु ट्विटर अकाउंट भारत में बैन

मूसेवाला के गीत के बाद अब किसानों पर एक्शन:किसान आंदोलन के दौरान बने किसान एकता मोर्चा और ट्रैक्टर टु ट्विटर अकाउंट भारत में बैन

चंडीगढ़ : पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के SYL गीत के बाद किसान आंदोलन के वक्त बने ट्विटर अकाउंट पर एक्शन हुआ है। भारतीय कानूनों के तहत किसान एकता मोर्चा और ट्रैक्टर टु ट्विटर अकाउंट को बैन कर दिया गया है। यह दोनों कानून केंद्र सरकार के कृषि सुधार कानूनों के विरोध में बने थे। जिसके जरिए आंदोलन की अगुआई करने वाले संयुक्त किसान मोर्चा की बात डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रखी जाती थी।

*किसान एकता मोर्चा का ट्विटर*

 अकाउंट भारत में बैन किया गया।
किसान एकता मोर्चा का ट्विटर अकाउंट भारत में बैन किया गया।
किसान एकता मोर्चा के 5 लाख फॉलोअर
किसान एकता मोर्चा के ट्विटर अकाउंट पर करीब 5 लाख फॉलोअर थे। वहीं ट्रैक्टर टु ट्विटर के 55 हजार फॉलोअर थे। इन दोनों अकाउंट के जरिए किसान आंदोलन के वक्त किसानों को बदनाम करने वालों को खूब जवाब दिया गया। इसके अलावा किसानों को जागरूक भी किया जाता रहा। ट्रैक्टर टु ट्विटर के जरिए आंदोलन के वक्त हर रोज हैशटेग दिए जाते थे। जिसके जरिए डिजिटल भी कृषि कानूनों के विरोध को ट्रेंड कराया जाता था। हालांकि, यह अकाउंट विदेशों में चलते रहेंगे।

ट्रैक्टर टू ट्विटर अकाउंट भारत में बैन करने और उसके ट्विटर की तरफ से बताए कारण।
Action on farmers after Moosewala's song: Kisan Ekta Morcha and Tractor to Twitter account created during farmers' agitation Haryana Bulletin News
*कांग्रेस ने उठाए सवाल*

जालंधर से कांग्रेस विधायक पूर्व मंत्री परगट सिंह ने इस पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि किसानों की आवाज उठाने वाला ट्विटर अकाउंट केंद्र सरकार के कहने पर ट्विटर इंडिया ने बंद कर दिया। यह बहुत शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि यह बोलने की आजादी के खिलाफ है।

*मूसेवाला के गीत पर इसलिए लगा बैन*

पंजाबी सिंगर मूसेवाला के गीत को यूट्यूब पर भारत में बैन लगा दिया गया। मूसेवाला ने हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ को मिलाकर संयुक्त पंजाब की बात की थी। इसके अलावा सतलुज-यमुना लिंक नहर का पानी न देने, बंदी सिखों को रिहा करने के साथ SYL का काम करने वाले अफसरों को कत्ल करने वाले बलविंदर जटाणा को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया था।
June 28, 2022

लॉरेंस की मुश्किलें बढ़ी:अब अमृतसर पुलिस की कस्टडी में रहेगा गैंगस्टर, राणा कंदोवालिया हत्याकांड में ट्रांजिट रिमांड पर भेजा गया

लॉरेंस की मुश्किलें बढ़ी:अब अमृतसर पुलिस की कस्टडी में रहेगा गैंगस्टर, राणा कंदोवालिया हत्याकांड में ट्रांजिट रिमांड पर भेजा गया

चंडीगढ़ : पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड गैंगस्टर लॉरेंस अब अमृतसर पुलिस की कस्टडी में रहेगा। अमृतसर के राणा कंदोवालिया हत्याकांड में मानसा कोर्ट ने उसे ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया है। उसे अमृतसर कोर्ट में पेश कर वहां पुलिस रिमांड लिया जाएगा।

लॉरेंस फिलहाल पंजाब पुलिस की कस्टडी में ही रहेगा। पंजाब में उसके खिलाफ जितने भी केस दर्ज हैं। सभी में लॉरेंस को पुलिस रिमांड पर लेकर गिरफ्तार करेगी।

*मूसेवाला हत्याकांड में लॉरेंस 12 दिन मानसा पुलिस की कस्टडी में रहा।*

 जहां मूसेवाला हत्याकांड की SIT के अलावा एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स, CID और मानसा पुलिस ने उससे पूछताछ की। लॉरेंस को पंजाब पुलिस तिहाड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाई है। उसके कहने पर ही मूसेवाला की हत्या की गई। जिसकी साजिश जेल में बंद गैंगस्टर्स के साथ मिलकर लॉरेंस ने ही रची।
सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का मास्टरमाइंड पंजाब पुलिस ने गैंगस्टर लॉरेंस को बताया है।
सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को मानसा में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का मास्टरमाइंड पंजाब पुलिस ने गैंगस्टर लॉरेंस को बताया है।

*लॉरेंस की साजिश, गोल्डी, अनमोल और सचिन ने अंजाम दी*

लॉरेंस से पूछताछ में पता चला कि उसी ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश रची। इसके लिए उसने कनाडा बैठे साथी गैंगस्टर गोल्डी बराड़, भाई अनमोल और भांजे सचिन को टास्क सौंपा। जिसके बाद इन गैंगस्टर्स ने शार्प शूटर्स का इंतजाम किया। जिसके बाद इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया।

*गैंगस्टर के पिता पहुंचे सुप्रीम कोर्ट:बोले- लॉरेंस के पक्ष में कोई वकील पेश नहीं हो रहा; SC ने HC जाने को कहा*

*अगस्त से साजिश रच रहा था लॉरेंस*

पंजाब पुलिस की पूछताछ में यह भी पता चला कि गैंगस्टर लॉरेंस पिछले साल अगस्त से मूसेवाला के कत्ल की साजिश रच रहा था। लॉरेंस मूसेवाला से अपने कॉलेज फ्रैंड विक्की मिड्‌डूखेड़ा के कत्ल का बदला लेना चाहता था। इसके लिए लॉरेंस गैंग के शार्प शूटर इस साल जनवरी में भी मूसेवाला को मारने आए। हालांकि उस वक्त मूसेवाला के साथ 10 कमांडो थे। जिनके पास AK 47 देख शार्प शूटर्स वापस लौट गए।

*पूरी चालाकी से रची गई थी साजिश*

मूसेवाला की हत्या की साजिश पूरी चालाकी से रची गई। इसके लिए 2-2 के बैच में 6 शार्प शूटर्स हायर किए गए। जो एक-दूसरे के ग्रुप को नहीं जानते थे। इसके बाद फैन बनाकर अपने गुर्गे संदीप केकड़ा और निक्कू से मूसेवाला की रेकी कराई गई। जिसके बाद 29 मई को मूसेवाला बिना सिक्योरिटी और बुलेट प्रूफ व्हीकल की जगह थार से बाहर निकले तो शार्प शूटर्स ने मानसा के जवाहरके में मूसेवाला की हत्या कर दी।
June 28, 2022

थाने में गूंजी किलकारी : गर्भवती को ट्रेन में हुई प्रसव पीड़ा, पुलिस कर्मचारियों ने RPF थाने में करवाई नॉर्मल डिलीवरी

थाने में गूंजी किलकारी : गर्भवती को ट्रेन में हुई प्रसव पीड़ा, पुलिस कर्मचारियों ने RPF थाने में करवाई नॉर्मल डिलीवरी

सोनीपत : पश्चिम एक्सप्रेस ट्रेन से अमृतसर जा रही एक गर्भवती महिला को यात्रा के दौरान प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। कंट्रोल रूम से इसकी सूचना रेलवे स्टेशन पर अधिकारियों को दी गई। जब तक ट्रेन प्लेटफार्म पर पहुंची, वहां पर आरपीएफ ( रेलवे सुरक्षा बल ) का महिला स्टाफ पहुंच गया। एंबुलेंस नहीं पहुंचने के कारण महिला पुलिस कर्मी गर्भवती महिला को आरपीएफ थाना में लेकर गई और महिला की सामान्य डिलीवरी कराई। महिला ने बेटी को जन्म दिया। बाद में आरपीएफ ने अपनी गाड़ी से जच्चा-बच्चा को नागरिक अस्पताल सोनीपत के जच्चा-बच्चा वार्ड में भर्ती करवाया। आरपीएफ के अनुसार दिल्ली की तरफ से पश्चिम एक्सप्रेस दोपहर बाद 1:29 मिनट पर सोनीपत रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर दो पर पहुंची। कृष्णा कालोनी, जिला वलसाढ, गुजरात की रेणू पत्नी मुकेश ट्रेन की बोगी बी-तीन में सीट नंबर 55 पर यात्रा कर रही थी। रेणू सूरत से अमृतसर जा रही थी। जैसे ही ट्रेन सोनीपत के नजदीक पहुंची तो रेणू को प्रसव पीड़ा तेजी हो गई। उसके साथ तीन साल का बेटा था। बोगी में सवार यात्रियों ने महिला को संभाला। वहीं, इसकी सूचना रेलवे कर्मचारियों के माध्यम से स्टेशन पर पहुंचाई, ताकि महिला को रेलवे स्टेशन पर उतारकर बेहतर उपचार मिल सके। सूचना के बाद स्टेशन पर एएसआई जगबीर सिंह, महिला कांस्टेबल सुमन यादव, मनीषा, कांस्टेबल नवीन कुमार स्टेशन पर पहुंचे। उन्होंने महिला को संभाला। 
 *समय पर न एंबुलेंस पहुंची, न ही स्वास्थ्यकर्मी* 

सोनीपत रेलवे स्टेशन परिसर में हेल्थ सेंटर बनाया गया है। हेल्थ सेंटर बनाने के पीछे लक्ष्य भी रेलवे कर्मचारियों के साथ-साथ यात्रियों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करानी है। सेंटर पर महिला डाक्टर नहीं है। लंबे समय से रेलवे कर्मचारियों द्वारा महिला डाक्टर की नियुक्ति करने की मांग कर रह हैं। सोमवार को जैसे ही कंट्रोल रूम से महिला यात्री की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिली तो हेल्थ सेंटर से भी सुविधा नहीं मिली। एंबुलेंस तक समय पर स्टेशन पर नहीं पहुंची। पुलिसकर्मियों ने स्वजनों को दी जानकारी गर्भवती को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद स्वजन की जच्चा-बच्चा के सकुशल होने की सूचना दी गई। आरपीएफ में कार्यरत एएसआइ जसबीर सिंह और हेड कांस्टेबल धीरज तोमर के अनुसार जच्चा-बच्चा स्वस्थ हैं। कंट्रोल रूप से सूचना मिलते ही एंबुलेंस बुलाने के लिए काल की थी, लेकिन समय पर एंबुलेंस नहीं पहुंची। वहीं, महिला ने बताया कि गुजरात में पति के साथ रहती है और अमृतसर अपने घर जा रही थी। उन्होंने सहायता करने पर रेलवे कर्मचारियों का धन्यवाद भी किया।
June 28, 2022

हरियाणा में 2000 अवैध कॉलोनियों को किया जाएगा वैध, कैबिनेट की मीटिंग में लिया गया फैसला : मुख्यमंत्री मनोहर लाल

हरियाणा में 2000 अवैध कॉलोनियों को किया जाएगा वैध, कैबिनेट की मीटिंग में लिया गया फैसला :  मुख्यमंत्री मनोहर लाल

चंडीगढ़ : मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा राज्य में नगर पालिका क्षेत्र के बाहर बुनियादी ढांचे की कमी वाले क्षेत्रों में आवश्यक सेवाओं और नागरिक सुविधाओं के प्रावधान तथा अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने की नीति को मंजूरी दी गई। यह नीति नगरपालिका सीमा से बाहर के क्षेत्र में लागू होगी और इससे लगभग 2,000 अनधिकृत कॉलोनियों को लाभ होगा। इन कॉलोनियों में नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हरियाणा ग्रामीण विकास प्राधिकरण नोडल एजेंसी होगा। नीति की अधिसूचना से 6 महीने की अवधि के भीतर अनधिकृत कॉलोनियों के डेवलपर्स/आरडब्ल्यूएएस से आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे, जिसकी जांच उपायुक्त की अध्यक्षता वाली एक स्थानीय समिति द्वारा की जाएगी। बिल्ड अप एरिया के लिए 5 प्रतिशत और खुले क्षेत्रों के लिए 10 प्रतिशत की दर से विकास शुल्क प्राप्त करने के बाद कालोनियों को नियमित किया जाएगा और नागरिक सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। जहां कॉलोनी 50 प्रतिशत से कम विकसित की गई है, उनमें सामुदायिक स्थलों, पार्कों, खुली जगहों और सार्वजनिक उपयोगिता का प्रावधान डेवलपर्स द्वारा किया जाना होगा। इस नीति से अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों के जीवन स्तर में सुधार लाने में मदद मिलेगी।

Monday, June 27, 2022

June 27, 2022

गर्भपात कानून पर यूएस सुप्रीम कोर्ट के फैसले से प्रियंका नाराज, सोशल मीडिया पर लिख दी यह बात

गर्भपात कानून पर यूएस सुप्रीम कोर्ट के फैसले से प्रियंका नाराज, सोशल मीडिया पर लिख दी यह बात

नई दिल्ली : अमेरिका की सुप्रीम कोर्ट ने पांच दशक पुराने रो बनाम वेड फैसले को पलट दिया है। कोर्ट के इस आदेश के बाद अमेरिका में महिलाओं को गर्भपात कराने का कानूनी दर्जा खत्म हो गया है। उच्चतम न्यायालय के इस फैसले के बाद कई हॉलीवुड सेलेब्स ने सोशल मीडिया पर निराशा व्यक्त की है। अब बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जोनस ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। एक्ट्रेस ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से दो स्टोरीज शेयर की हैं। पहली स्टोरी में उन्होंने एक कार्टून पोस्ट किया है। वहीं दूसरी स्टोरी में उन्होंने अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा का एक नोट शेयर किया है।

प्रियंका की कार्टून वाली स्टोरी में एक तरफ गन बना हुआ है वहीं दूसरी तरफ बेबी बंप। गन की तस्वीर की तरफ लिखा हुआ है कि आप इसे रखने के लिए स्वतंत्र हैं। वहीं बेबी बंप की तस्वीर पर लिखा हुआ है कि आपको जबरदस्ती इसको रखना है। इसके अलावा एक्ट्रेस ने मिशेल ओबामा का एक नोट भी शेयर किया है जिसमें लिखा है कि यह फैसला आने के बाद उनका दिल टूट गया है।
*कई सेलेब्स दे चुके हैं रिएक्शन*

प्रियंका से पहले इस फैसले पर कई हॉलीवुड हस्तियों की प्रतिक्रिया आ चुकी है। एक्ट्रेस टेलर स्विफ्ट ने इस फैसले पर रिएक्ट करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा था, 'मुझे काफी डर लग रहा है। कई दशक तक महिलाओं ने अपने शरीर के अधिकारों के लिए संघर्ष किया था। अब भी हम यहीं पर हैं। इस फैसले ने हमसे वह अधिकार भी छीन लिया है।
वर्क फ्रंट की बात करें तो प्रियंका ने हाल ही में अपनी अपकमिंग वेब सीरीज 'सिटाडेल' की शूटिंग पूरी की है। आगामी साई-फाई ड्रामा सीरीज का निर्देशन पैट्रिक मॉर्गन द्वारा किया जा रहा है और इसमें प्रियंका के साथ रिचर्ड मैडेन भी हैं। बता दें कि प्रियंका बॉलीवुड से ज्यादा इन दिनों हॉलीवुड में सक्रिय हैं। हालांकि वह जल्द ही हिंदी फिल्म 'जी ले जरा' में नजर आने वाली हैं। इस फिल्म का निर्देशन फरहान अख्तर कर रहे हैं।'



June 27, 2022

ग्रीष्म अवकाश समाप्त होने से पहले सरकारी स्कूलों में पहुंच जाएंगी नई पुस्तकें

ग्रीष्म अवकाश समाप्त होने से पहले सरकारी स्कूलों में पहुंच जाएंगी नई पुस्तकें

New books will reach government schools before the end of summer vacation
जींद : गर्मियों की छुट्टियों के बाद एक जुलाई से स्कूल खुलने जा रहे हैं, लेकिन अभी तक स्कूलों में किताबें नहीं पहंची हैं। शिक्षा अधिकारियों की मानें तो जून माह के अंत तक स्कूलों में किताबें पहुंच जाएंगी। हरियाणा स्कूल शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से पत्र जारी कर स्कूल शाम पांच बजे तक खुला रखने के आदेश जारी किए हैं। राजकीय स्कूलों में किताबों की आपूर्ति करने के लिए परियोजना परिषद ने योजना बनाई है। शिक्षा अधिकारियों के अनुसार ग्रीष्म अवकाश समाप्त होने से पहले हरियाणा के सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के लिए नई पुस्तकें पहुंचने की संभावना है। जैसे ही विद्यार्थी स्कूलों में पहुंचने शुरू होंगे तो किताबें भी बंटनी शुरू हो जाएगी। जो पुस्तकें मार्च और अप्रैल में स्कूलों में पहुंच जानी चाहिए थी वह जून के अंतिम सप्ताह में आ रही हैं। अभी भी पुस्तकें आने व स्कूलों में बांटने में करीब एक सप्ताह से ज्यादा का समय लग जाएगा।  शिक्षा अधिकारियों के अनुसार ग्रीष्म अवकाश समाप्त होने से पहले हरियाणा के सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों के लिए नई पुस्तकें पहुंचने की संभावना है। शिक्षा अधिकारियों के अनुसार अभी कई दिन शेड्यूल बनाने और जारी करने में लग जाएंगे। इसके बाद स्कूलों में पुस्तकें प्रकाशकों के माध्यम से भेजी जाएंगी। हालांकि शिक्षा विभाग के निर्देश पर स्कूल प्रभारियों ने पुस्तकें नहीं पहुंचने पर अपने स्तर पर पढ़ाई पूरी करवाने का प्रयास किया था। अधिकतर स्कूलों में पुरानी बची हुई कुछ पुस्तकें व कक्षा पास कर चुके छात्रों से पुस्तकें लेकर कक्षा में आने वाले नए छात्रों में बांटी गई थी, लेकिन सभी छात्रों को पुस्तकें नहीं बांटी जा सकी थीं। अब स्कूल खुलने पर जुलाई में पुस्तकें बांटी जाएंगी।  
*पुरानी पुस्तकों से काम चला रहे थे शिक्षक*

 शिक्षकों की मानें तो सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को मुफ्त पुस्तकें दी जाती हैं। स्कूलों में पुस्तकें नहीं होने का मुद्दा शिक्षक भी कई बार उठा चुके थेए लेकिन विभाग, प्रकाशक या अन्य कारण से पुस्तकें देरी से पहुंच रही है। अब देरी से पुस्तकें आई हैं तो और मेहनत से ज्यादा पढ़ाई करवाई जाएगी ताकि विद्यार्थियों की पिछली कमी को पूरा किया जा सके। खंड शिक्षा अधिकारी सुशील कुमार जैन ने बताया कि स्कूलों में एक सप्ताह के अंदर पुस्तकें पहुंचाने की संभावना है। प्रकाशक अपने रूट के अनुसार शेड्यूल बनाकर भेजेंगे। उसके बाद सभी संबंधित खंडों के अनुसार स्कूलों में अधिकारी को निर्देशित किया कि स्कूल शाम पांच बजे तक खुले रखे जाएं क्योंकि किस स्कूल में किताबों की सप्लाई किस समय होगी इसका अंदाजा नहीं है। इसको लेकर शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाए।
June 27, 2022

अग्निपथ योजना के विरोध में यूथ कांग्रेस ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन

अग्निपथ योजना के विरोध में यूथ कांग्रेस ने अर्धनग्न होकर किया प्रदर्शन

सिरसा : सेना में भर्ती को लेकर केंद्र सरकार द्वारा नई भर्ती योजना अग्निपथ को लेकर यूथ कांग्रेस की ओर से सुभाष चौक पर अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन का नेतृत्व यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव वेदप्रकाश भाट ने किया। वेद भाट ने कहा कि यह योजना देश के युवाओं के साथ खिलवाड़ है और देश की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान है। वेद भाट ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना किसी विचार-विमर्श के पहले नोटबंदी की, जिससे आम वर्ग दो वक्त की रोटी का मोहताज हो गया। उसके बाद युवाओं के लिए अग्निपथ जैसी योजना लाकर केंद्र सरकार ने युवाओं के तन से कपड़े उतारने की पूरी-पूरी योजना बना डाली है। वेद भाट ने कहा कि हर वर्ष दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात करने वाले प्रधानमंत्री स्थाई रोजगार देने की बजाय सरकारी विभागों को ही बेचने पर आमादा हैं। कुछ विभागों का तो निजीकरण हो चुका है और कुछ का होने की कगार पर है। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना से युवा वर्ग इधर गिरे तो कुंआ और उधर गिरे तो खाई वाली स्थिति में आ जाएगा। इतना ही नहीं यह योजना देश की सुरक्षा व्यवस्था पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है।  उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अपनी झूठी वाहवाही करवाने की बजाय देश व जनता के हित को देखते हुए नीतियां व कानून बनाए। उन्हें भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण अडवानी, मुरली मनोहर जोशी तथा भाजपा के वयोवृद्ध नेताओं से मशविरा जरूर करना चाहिए। वेद भाट ने अग्निपथ योजना को तुरंत वापस लेकर पुरानी नीति के अनुसार सेना भर्ती करने की मांग की है, ताकि देश की युवा शक्ति सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ सके और सेना को और अधिक मजबूती मिल सके। इस मौके पर कमल कांटीवाल ने कहा कि यह योजना सीधे तौर पर युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ है। सरकार निजीकरण की बजाय स्थाई नौकरी की व्यवस्था करे, ताकि युवा अपने परिवार का बेहतर तरीके से पालन-पोषण कर सके।

Sunday, June 26, 2022

June 26, 2022

Sara Ali Khan ने लिया Salman Khan से पंगा, भरी भीड़ में दबंग एक्टर को बुलाया अंकल, भाईजान ने फिल्म से किया बाहर

Sara Ali Khan ने लिया Salman Khan से पंगा, भरी भीड़ में दबंग एक्टर को बुलाया अंकल, भाईजान ने फिल्म से किया बाहर

नई दिल्ली : सारा अली खान अपने चुलबुले अंदाज के लिए जानी जाती हैं, लेकिन उनका ये अंदाज कहीं उनपर भारी ना पड़ जाए। दरअसल हाल ही में हुए एक इवेंट में सारा अली खान के मुंह से सलमान खान के लिए एक ऐसी बात निकल गई जिसे सुन सलमान ही नहीं इवेंट में बैठे सभी लोग हैरान रह जाते हैं। जी हां, हाल ही में हुए आईफा अवॉर्ड्स में सारा प्यार प्यार में भाईजान को अंकल बुला देती हैं जिसके बाद तो उनका मुंह देखने लायक होता है। 
सारा के बारे में बताएं तो सारा अली खान सोशल मीडिया पर खास एक्टिव रहती हैं। उनका अंदाज फैन्स को बेहद पसंद आता है, आखिरी बार उन्हें अतरंगी रे फिल्म में देखा गया था। वहीं अब वे विक्की कौशल के साथ अपने अलगे प्रोजेक्ट में बिजी चल रही हैं। 
सोशल मीडिया पर सारा अली खान का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है की सारा बातों ही बातों में सलमान खान को अंकल कह देती हैं जिसके बाद सलमान खान का मुंह उतर जाता है, सलमान इशारों ही इशारों में कहते हैं की आपकी पिक्चर तो गई। जिसके बाद सारा कहती हैं की मेरी पिक्चर क्यों गई। इसके बाद सारा कहती हैं की आपने ही तो कहा था की अंकल बुलाओ। इसे सुनने के बाद तो इवेंट में आए सभी सितारें अपनी हंसी पर कंट्रोल नहीं कर पाते हैं। 
सारा के बारे में बताएं तो सारा अली खान सोशल मीडिया पर खास एक्टिव कहती हैं। उनका अंदाज फैन्स को बेहद पसंद आता है आखिरी बार उन्हें अतरंगी रे फिल्म में देखा गया था। वहीं अब वे विक्की कौशल के साथ अपने अलगे प्रोजेक्ट में बिजी चल रही हैं। 
June 26, 2022

टिकरी बॉर्डर पर बंगाली युवती से रेप का मामला : एसटीएफ ने मोस्ट वांटेड अनूप को किया गिरफ्तार, 25 हजार का था इनाम

टिकरी बॉर्डर पर बंगाली युवती से रेप का मामला : एसटीएफ ने मोस्ट वांटेड अनूप को किया गिरफ्तार, 25 हजार का था इनाम

नई दिल्ली : हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने फरार चल रहे मोस्ट वांटेड व 25,000 रुपये के इनामी अपराधी को जिला झज्जर से काबू करने में सफलता हासिल की है। प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान गांव चैनत, हांसी निवासी अनूप के रूप में हुई है। एसटीएफ हिसार यूनिट द्वारा यह कार्रवाई की गई है। किसान आंदोलन के दौरान टिकरी बॉर्डर पर हुए एक रेप के मामले में अनूप के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज हुआ था। साथ ही इसके अन्य साथियों पर भी आरोप लगे थे। पुलिस को तभी से आरोपी की तलाश थी। आरोपी की गिरफ्तारी पर जिला झज्जर में 25000 रुपये का इनाम घोषित था। बता दें कि बंगाल से आंदोलन में शामिल होने के लिए आई युवती से दुष्‍कर्म करने का मामला सामने आया था। युवती की मौत हो गई थी। इसके बाद ही इस घटना पता चला। मरने से पहले युवती ने शिकायत दी थी मगर इसे अनसुना कर दिया गया था। युवती की मौत के बाद पिता टिकरी बार्डर पहुंचा था और पुलिस को शिकायत दी थी। इस मामले में एक ऑडियो भी थी जिसमें युवती ने अपने पिता को कहा था कि उसके साथ यहां गलत हुआ है। इसके बाद आरोपितों को पकड़ जब पुलिस ने पूछताछ की तो उन्‍होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया था। आरोपित अनिल मलिक की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने 139 पेज का आरोपपत्र दाखिल किया था। इस मामले में आरोपित दोनों महिला वालंटियरों को निर्दाेष करार दिया जा चुका है। पुलिस ने जगदीश बराड़ को छोड़कर बाकी आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर इनाम भी घोषित कर रखा है।
June 26, 2022

अग्निपथ योजना के खिलाफ फिर सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस, 27 जून को देशभर में धरना- हुड्डा

अग्निपथ योजना के खिलाफ फिर सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस, 27 जून को देशभर में धरना- हुड्डा 

रोहतक: पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि देशहित, देश की सुरक्षा, फौज और युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ करने वाली अग्निपथ योजना का विरोध जारी रहेगा। 27 तारीख को सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक गांधीवादी तरीके से पूरे देश में कांग्रेस धरना प्रदर्शन करेगी। रोहतक में धरने के अगवानी वह खुद करेंगे और करनाल में प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान इसकी कमान संभालेंगे। 

हुड्डा ने दोहराया कि अग्निपथ योजना ना देश हित में है, ना देश की सुरक्षा, ना फौज और युवाओं के हित में। इस योजना से फौज के भीतर ही 2 किस्म की फौज बन जाएंगी, एक परमानेंट और एक टेंपरेरी। इनके बीच में समन्व्य स्थापित करना बेहद मुश्किल होगा।
हुड्डा ने कहा कि हरियाणा सरकार अग्निवीरों को पक्की नौकरी देने का वादा करके सब्जबाग दिखा रही है। जबकि हकीकत यह है कि बीजेपी-जेजेपी सरकार की नीतियों के चलते हरियाणा पूरे देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी झेल रहा है। आँकड़े बताते हैं कि अब तक 29,275 पूर्व सैनिकों ने नौकरी के लिए आवेदन किया है। जबकि सरकार ने सिर्फ 543 को ही नौकरी दी है। यानी सरकार सिर्फ 1.8% पूर्व सैनिकों को ही नौकरी दी है। ऐसे में 4 साल की नौकरी के बाद सेना से वापस आने वाले 75% अग्निवीरों को यह सरकार नौकरी कैसे देगी? अगर ऐसा है तो सरकार हरियाणा के अग्निवीरों को पहले पक्की नौकरी दे और 4 साल के सेना में डेपुटेशन पर भेजे। 

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि इजराइल जैसे छोटे देशों की तुलना भारत जैसे विशाल देश से नहीं हो सकती। इन छोटे-छोटे देशों में ना तो बेरोजगारी है और ना ही लोग सेना में भर्ती होना चाहते। इसलिए वहां पर सेना में सेवाएं देना अनिवार्य किया गया है। जबकि, भारत के युवा खुद सेना में भर्ती होने का सपना देखते हैं और एक सैनिक बनकर खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं। ऐसे में इजरायल जैसे देशों की नीति भारत में लागू नहीं हो सकती। सरकार को इसपर पुनर्विचार करते हुए अग्निपथ योजना को वापस लेना चाहिए और पक्की भर्तियां शुरू करनी चाहिए। पिछले 3 साल में अगर भर्तियां पूरी होती तो हरियाणा के करीब 20,000 युवा आज फौज में भर्ती होकर देश सेवा कर रहे होते। 
निकाय चुनाव के नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि शहरी मतदाता ने भाजपा जजपा को पूरी तरह नकार दिया है। इस चुनाव में बीजेपी को सिर्फ 26% वोट मिले यानी हर 4 में से 3 मतदाताओं ने भाजपा के खिलाफ वोट किया। जबकि निर्दलीय उम्मीदावरों को बीजेपी जेजेपी से दोगुने वोट मिले हैं। लेकिन इस हार को भी भाजपा जेजेपी जीत के तौर पर पेश कर रही है। उसकी हालत खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे वाली हो गई है। 

हुड्डा ने रिकॉर्ड तोड़ महंगाई के बीच सिंचाई विभाग और वॉटर रिसोर्स अथॉरिटी की ओर से वाटर सप्लाई के रेट में बढ़ोतरी के प्रस्ताव पर कड़ी आपत्ति जाहिर की। उन्होंने कहा कि सरकार गरीब आदमी से लेकर किसान तक हर एक पर महंगाई की बड़ी मार मारने जा रही है। हालात ऐसे हो गए हैं कि सरकार आम आदमी के जीने, मरने, सांस लेने, सोने और जागने पर भी टैक्स ले रही है। लगातार टैक्स पर टैक्स और कीमत पर कीमतें बढ़ाई जा रही हैं। कांग्रेस इसका पुरजोर विरोध करती रहेगी।
रोहतक न्यायिक परिसर और अन्य सरकारी इमारतों को शहर के बाहर निकालने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में हुड्डा ने कहा कि वह अपने स्टैंड पर कायम हैं। किसी भी कीमत पर न्यायिक परिसर और अन्य सरकारी दफ्तरों को शहर से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा। क्योंकि, हर छोटे-बड़े कार्य के लिए बड़ी तादाद में आम आदमी की आवाजाही इन दफ्तरों में होती है। अगर यह शहर से बाहर जाएंगे तो ना सिर्फ वकीलों व कोर्ट स्टाफ को दिक्कत होगी बल्कि आम लोगों को भी कोर्ट कचहरी जाने के लिए कई किलोमीटर का सफर तय है करना पड़ेगा।
June 26, 2022

देश व युवाओं के साथ खिलवाड़ है अग्रिपथ योजना : अशोक अरोड़ा

देश व युवाओं के साथ खिलवाड़ है अग्रिपथ योजना : अशोक अरोड़ा

अग्रिपथ योजना के विरोध में 27 जून को उपायुक्त कार्यालय पर धरना देंगें कांग्रेस कार्यकर्ता  

कुरुक्षेत्र :  हरियाणा के पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अशोक अरोड़ा ने कहा है कि सरकार द्वारा लाई गई अग्रिपथ योजना देश व युवाओं के साथ खिलवाड़ है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा को लेकर शॉर्ट टर्म नीतियां नहीं बननी चाहिए। देश की सुरक्षा कोई अल्पकालिक या अनौपचारिक विषय नहीं है। अग्रिपथ के नाम पर सैन्य भर्ती को लेकर जो खानापूर्ति करने वाला लापरवाह रवैया अपनाया जा रहा है, वह देश और देश के युवाओं के भविष्य की रक्षा के लिए घातक साबित होगा। अग्रिपथ योजना के लाए जाने से देश का युवा वर्ग असंतुष्ट और आक्रोशित है। सेना में जवानों की भर्ती की संख्या को कमी के साथ-साथ मात्र चार साल के लिए सीमित किया जा रहा है, यह युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। सरकार को तुरंत इस फैसले को वापिस लेना चाहिए।
Agripath scheme is playing with country and youth: Ashok Arora Haryana Bulletin News
पूर्व मंत्री ने कहा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दिशा निर्देश पर 27 जून दिन सोमवार को अग्रिपथ योजना के विरोध में उपायुक्त कार्यालय पर थानेसर हल्के के कार्यकर्ता धरना देंगें। इस दिन थानेसर हल्का के सभी कार्यकर्ता सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक धरना देंगें। अशोक अरोड़ा ने कहा कि इस योजना के आने से फौज की तैयारी कर रहे युवाओं में अपने जीवन को लेकर असमंजस पैदा हो गई है। ऐसे में सरकार को चाहिए इस योजना को तुरंत वापिस ले।

Saturday, June 25, 2022

June 25, 2022

हरियाणा में सभी जिला उपायुक्तों को आदेश : बाढ़ नियंत्रण से संबंधित कार्य 30 जून से पहले पूरे करें : मुख्य सचिव

हरियाणा में सभी जिला उपायुक्तों को आदेश : बाढ़ नियंत्रण से संबंधित कार्य 30 जून से पहले पूरे करें : मुख्य सचिव

 चंडीगढ़ : हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने सभी जिला उपायुक्तों को 30 जून से पहले अपने अधिकार क्षेत्र में ड्रेनों व सीवरेज लाइनों की सफाई और अन्य बाढ़ नियंत्रण कार्यों को सुनिश्चित करने और इस संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। कौशल ने ये निर्देश सभी मंडलआयुक्तों और जिला उपायुक्तों के वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नई एवं चल रही बाढ़ सुरक्षा योजनाओं की स्थिति की समीक्षा करते हुए दिये। मुख्य सचिव ने कहा कि किसी भी अप्रिय स्थिति को टालने के लिए पूर्व व्यवस्था की जानी चाहिए । उन्होंने संबंधित अधिकारियों को बाढ़ से संबंधित सभी कार्यों और परियोजनाओं की प्रगति की निगरानी करने और यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि ये सभी समय से पहले पूरी हो जाएं। उन्होंने अधिकारियों को राज्य में अतिप्रवाहित पानी के चैनलों की पहचान करने और पंपों के माध्यम से अतिरिक्त पानी की निकासी के आवश्यक प्रबंध करने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा, नालों की सफाई और गाद निकालने का कार्य भी तुरंत किया जाए।  मानसून की एंट्री नालों की जल्द से जल्द सफाई सुनिश्चित करने के लिए मुख्य सचिव ने निर्देश देते हुए कहा कि जिला उपायुक्त बाढ़ नियंत्रण कार्यों में तेजी लाने के लिए उपमंडल अधिकारियों और सिंचाई विभाग के अन्य अधिकारियों को नियुक्त करें और ये अधिकारी व्यक्तिगत रूप से नालों और बाढ़ नियंत्रण कार्य स्थलों की सफाई का निरीक्षण करें। उन्होंने अधिकारियों को किए गए कार्यों के सत्यापन के बाद रिपोर्ट सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव को सौंपने के निर्देश दिए। आगामी मानसून सीजन में भारी बारिश के दौरान राज्यभर में जलमग्न क्षेत्रों में पानी की निकासी के लिए कौशल ने संबंधित अधिकारियों को पंपसैट की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने लघु, मध्यम और दीर्घकालीन बाढ़ सुरक्षा योजनाओं की स्थिति की भी समीक्षा की। मुख्य सचिव ने सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के पास बाढ़ नियंत्रण के लिए उपलब्ध मशीनरी की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने बिजली विभाग को निर्देश दिए कि मानसून सीजन के दौरान सिंचाई विभाग को जहां भी बिजली कनेक्शन की आवश्यकता हो, उन्हें उपलब्ध होने चाहिए । बैठक में सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी.वी.एस.एन. प्रसाद, सीईओ एचडब्ल्यूआरए डॉ. सतबीर सिंह कादियान सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
June 25, 2022

पंचायत चुनाव को लेकर मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन का शेड्यूल जारी

पंचायत चुनाव को लेकर मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन का शेड्यूल जारी 

कुरुक्षेत्र : उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मुकुल कुमार ने कहा कि हरियाणा पंचायती राज के चुनावों को लेकर मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है। इस शेड्यूल के अनुसार दावे व आपत्तियां आमंत्रित की जाएगी और उनका निपटान भी किया जाएगा। उपायुक्त मुकुल कुमार ने वीरवार को देर सायं जारी आदेशों में कहा है कि हरियाणा पंचायती राज निर्वाचन नियम 1994 के अनुबंधों के तहत 6वें पंचायत आम चुनाव हेतु राज्य चुनाव आयोग द्वारा 1 जनवरी 2022 को क्वालीफाई तिथि मानते हुए 5 जनवरी 2022 को प्रकाशित विधानसभा मतदाता सूची व जिला सूचना अधिकारी द्वारा 16 मई 2022 तक विधानसभा मतदाता सूची में शामिल किए गए मतदाताओं के डाटा अनुसार नियम 8(2) के तहत खंड पिपली की समस्त ग्राम पंचायतों, पंचायत समिति पिपली तथा जिला परिषद के वार्ड 8 व 9 की वार्डवार मतदाता सूचियों के ड्राफ्ट तैयार होने उपरांत 23 जून 2022 को उक्त मतदाता सूचियों के ड्राफट का नियमानुसार प्रारम्भिक प्रकाशन नियम 8(3) के तहत कर दिया गया है।  उन्होंने कहा कि हरियाणा राज्य चुनाव आयोग के आदेशानुसार इस मतदाता सूची के लिए दावे और आपत्तियां आमंत्रित करने की अंतिम तिथि 29 जून 2022 को सायं 4 बजे तक होगी, 6 जुलाई 2022 तक दावे और आपत्तियों का निपटान कार्य सम्बन्धित रिवाईजिंग अधिकारी द्वारा किया जाएगा। इसके उपरांत 12 जुलाई 2022 तक उपायुक्त के समक्ष रिवाईजिंग अधिकारी के आदेशों के विपरीत दावे आपत्तियां दाखिल करने की अंतिम तिथि होगी, 15 जुलाई 2022 तक उपायुक्त द्वारा दावे आपत्तियों का निपटारा किया जाएगा और 22 जुलाई 2022 को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर किसी व्यक्ति को उपरोक्त मतदाता सूची में कोई दावा या आपत्ति है तो वह किसी भी कार्य दिवस में अपना दावा या आपत्ति दर्ज करवा सकता है तथा अवधि पूर्ण होने उपरांत किए जाने वाले दावे या आपत्तियों पर कोई विचार नहीं किया जाएगा। दावे व आपत्तियां लेने के लिए निर्धारित किए स्थान उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मुकुल कुमार ने आदेश जारी करते हुए कहा कि 23 जून 2022 को जारी की गई मतदाता सूचियों पर दावे और आपत्तियां लेने के लिए स्थान निर्धारित कर दिए गए है। इन दावों और आपत्तियों के लिए पिपली ब्लॉक के सभी ग्राम पंचायतों में संबंधित आंगनबाड़ी केंद्र पर दावे व आपत्तियां दी जा सकती है। इन सेंटरों पर संबंधित आंगनबाड़ी वर्कर इस कार्य के लिए इंचाज रहेगी। इसी प्रकार पंचायत समिति पिपली के लिए संबंधित बीडीपीओ कार्यालय में खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी और जिला परिषद के वार्ड नंबर 8 व 9 के पंचायत भवन कुरुक्षेत्र में जिला परिषद के डिप्टी सीईओ व एओ जिला परिषद के पास दावे व आपत्तियां जमा करवाई जा सकती है।
June 25, 2022

30 जून तक बैंक खाते को आधार से लिंक व ई-केवाईसी करवाएं किसान, तभी मिलेगी सम्मान निधि की किस्त

30 जून तक बैंक खाते को आधार से लिंक व ई-केवाईसी करवाएं किसान, तभी मिलेगी सम्मान निधि की किस्त

नूंह : कृषि एवं किसान कल्याण विभाग नूंह के किसान सम्मान निधि योजना के जिला नोडल अधिकारी डॉ. अजय तोमर ने आग्रह करते हुए किसानों से कहा है कि अपने बैंक खाते को आधार से जल्द से जल्द लिंक करवा ले या बैक में जाकर ई-केवाईसी करवा ले , जिस कारण प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 11वी किस्त डली जा सके। उन्होंने बताया कि इसके लिए सरकार द्वारा 30 जून तक का समय दिया गया है। इसलिए ऐसे किसानों को तुरंत बैंक में जाकर अपना खाता आधार नंबर से लिंक करवाने के साथ-साथ ई-केवाईसी भी करवानी चाहिए ताकि उनको किसान सम्मान निधि की किस्त मिलने में कोई परेशानी न हो। डॉ. तोमर ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत दो हजार रुपये की पेंशन राशि हर चार माह के अंतराल पर दी जाती है। अभी भारत सरकार की ओर से 11वीं किस्त 31 मई को जारी की है। परंतु विभाग के संज्ञान में आया है कि ऐसे अनेक किसान जिन्होंने इस योजना के तहत अपना पंजीकरण करवाया हुआ है, उन्होंने अपना बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक नहीं करवाया हुआ है या उनके संयुक्त खाता है। जबकि ऐसे अनेक किसान जिनका बैंक खाता आधार से लिंक नहीं है अथवा द्वारा ईकेवाईसी नहीं करवाई गई है, वे किस्त न मिलने के कारण कृषि विभाग के कार्यालयों के चक्कर काटते रहते है और बेवजह परेशान रहते हैं। इसलिए ऐसे किसानों को कार्यालय के चक्कर काटने की बजाय वे अपने जितने भी बैंक खाते हो सभी में जाकर आपनी किस्त चैक करवाएं एवं उक्त कार्य करवाएं ताकि किस्त की राशि खाता में आने में कोई दिक्कत न हो। आधार से लिंक न होने वाले खातों में यह राशि आने से रूक सकती है। इसलिए किसानों को तुरंत इस तरफ ध्यान देना चाहिए।
June 25, 2022

Haryana Weather Update : हरियाणा में गर्मी फिर रिर्टन, पांच दिन बाद झमाझम बारिश के साथ होगी मानसून की एंट्री

Haryana Weather Update : हरियाणा में गर्मी फिर रिर्टन, पांच दिन बाद झमाझम बारिश के साथ होगी मानसून की एंट्री 

Haryana Weather Update : मैदानी राज्यों राजस्थान ,हरियाणा, एनसीआर दिल्ली में अभी मरूस्थलीय गर्म और शुष्क पश्चिमी हवाएं चल रही हैं, जिसकी वजह से सम्पूर्ण इलाके में तापमान में बढ़ोतरी और उमस और पसीने वाली गर्मी अपने तीखे तेवरों से आगाज किये हुए है साथ ही जिसकी वजह से वर्तमान समय में मानसून भी आगे नहीं बढ़ पा रहा है। लेकिन आने वाले पांच छः दिनों में सम्पूर्ण इलाके में एक बार फिर से हवाओं का रूख बदल जाएगा और पूर्वी हवाएं चलेंगी और मानसून की गतिविधियों को रफ्तार मिलेगी। मौसम विशेषज्ञ डॉ चंद्रमोहन ने बताया कि आने वाले पांच छः दिनों तक जिला महेंद्रगढ़ में मौसम शुष्क रहने वाला है और तापमान में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जाएगी। उसके बाद हरियाणा एनसीआर दिल्ली में झमाझम बारिश के साथ मानसून की एंट्री होगी। वर्तमान परिदृश्य में अभी पश्चिमी शुष्क हवाओं का प्रभुत्व स्थापित हो गया है जिसकी वजह हरियाणा एनसीआर दिल्ली में अभी मानसून को आगे बढ़ने के लिए अनुकूल नहीं है। जब तक हरियाणा एनसीआर दिल्ली में पश्चिमी हवाओं का जोर रहेगा तब तक मानसून आगे नहीं बढ़ सकता है। 28 जून के बाद हरियाणा एनसीआर दिल्ली में पूर्वी हवाओं का रूख पूर्वी नमी वाली पवनों का हों जाएगा और जिसकी वजह से सम्पूर्ण इलाके में मानसून आगे बढ़ सकेगा और 1 जुलाई तक हरियाणा एनसीआर दिल्ली का सम्पूर्ण इलाका मानसून की बारिश से सराबोर हो जाएगा। क्योंकि हवाओं की परिस्थितियां और दिशा भी मानसून की सक्रियता के लिए महत्वपूर्ण कारक होता है। गत वर्ष 2021 में भी पश्चिमी हवाओं की वजह से हरियाणा एनसीआर दिल्ली में मानसून 13 जुलाई को रिकॉर्ड देरी से पहुंचा था। हरियाणा एनसीआर दिल्ली और विशेषकर जिला महेंद्रगढ़ में जैसे ही हवाएं के रूख में बदलाव होगा उसके साथ ही मानसून झूमकर आगे बढ़ेगा । लेकिन अभी एक सप्ताह का इंतजार करना होगा । इस दौरान अधिकतर हरियाणा एनसीआर के हिस्से में तापमान में बढ़ोतरी दर्ज हो सकती है।प्रदेशभर से प्री-मानसून की बारिश गायब होते ही तापमान में उछाल आया है।
June 25, 2022

होटल मालिक के बाद दिल्ली पुलिस ने दो कर्मचारियों को पूछताछ के लिए उठाया

होटल मालिक के बाद दिल्ली पुलिस ने दो कर्मचारियों को पूछताछ के लिए उठाया

फतेहाबाद :  पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस (Sidhu Moose Wala Murder Case) में दिल्ली पुलिस लगातार फतेहाबाद में इस हत्याकांड के सुराग तलाश रही है। वीरवार को दिल्ली पुलिस की टीम ने भट्टू रोड स्थित एक होटल के मालिक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था, जिसे बाद में छोड़ दिया गया। शुक्रवार को दिल्ली पुलिस टीम ने इसी होटल पर काम करने वाले दो कर्मचारियों विक्रम और कालू को हिरासत में लेकर पूछताछ की और हत्यारोपियों बारे जानकारी ली। इन्हीं कर्मचारियों ने हत्या के बाद यहां पहुंचे चार हत्यारों को कमरा दिया था। जांच में यह बात भी सामने आई है कि हत्यारोपियों ने होटल में बादली के एक व्यक्ति की आईडी देकर कमरा बुक करवाया था। फिलहाल दिल्ली पुलिस ने घंटों की पूछताछ के बाद होटल के दोनों कर्मचारियों को छोड़ दिया है।
After the hotel owner, Delhi Police picked up two employees for questioning
पुलिस होटल में दी गई आईडी की भी जांच कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद शूटर्स फतेहाबाद के सावंरिया होटल पर पहुंचे। वे देर रात करीब 1 बजे इस होटल पर पहुंचे और खाना खाया। इसके बाद इन्होंने झज्जर के एक व्यक्ति की आईडी देकर होटल में कमरा लिया और रातभर यहीं आराम किया। अगले दिन 30 मई को दोपहर करीब 2 बजे शूटर्स यहां से निकले। मूसेवाला हत्याकांड की जांच कर रही दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम को सोनीपत के शूटर प्रियवर्त फौजी की गिरफ्तारी के बाद मिले सुराग के बाद शूटर्स के इस होटल में ठहरने का पता चला। इसके बाद पुलिस ने पहले इस होटल के मालिक पवन व उसके साथी को हिरासत में लेकर पूछताछ की और बाद में उन्हें छोड़ दिया। शुक्रवार को दिल्ली पुलिस फिर इसी होटल पर पहुंचे और यहां काम करने वाले दो कर्मचारियों को अपने साथ ले गई। इन कर्मचारियों से घंटों तक पूछताछ की गई और बाद में इन्हें भी छोड़ दिया गया। 
After the hotel owner, Delhi Police picked up two employees for questioning
*आल्टो कार में आए थे चार युवक :* 

होटल मालिक दिल्ली क्राइम ब्रांच की पूछताछ में होटल मालिक पवन ने बताया कि 29 मई की रात एक आल्टो कार में चार युवक आए और उन्होंने बादली निवासी सुमित की आईडी देकर होटल में कमरा लिया। इन्हें होटल का कमरा नंबर 207 दिया गया था। इसके बाद रातभर उन्होंने कमरे पर शराब व बीयर पी और अगले दिन दोपहर को वे कमरे का किराया देकर चले गए।
June 25, 2022

आदमी पार्टी ने की पिहोवा नगर पालिका का चुनाव रद्द करने की मांग, जानें क्यों ?

आदमी पार्टी ने की पिहोवा नगर पालिका का चुनाव रद्द करने की मांग, जानें क्यों ? 

पिहोवा :आम आदमी पार्टी के पिहोवा नगर पालिका चेयरमैन प्रत्याशी अनिल धवन ने चुनाव में धोखाधड़ी कर बीजेपी प्रत्याशी को जिताने का आरोप लगाया है। उन्होंने इसकी शिकायत केंद्रीय चुनाव आयोग और राज्य चुनाव आयोग में की है। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर भी मिलीभगत कर बीजेपी प्रत्याशी जिताने की बात कही है। आम आदमी पार्टी चेयरमैन प्रत्याशी अनिल धवन ने कहा कि पिहोवा नगर पालिका के चुनाव में कुल 20419 वोट पोल हुए थे। इसका ब्यौरा राज्य चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी दिया गया था। लेकिन गिनती वाले दिन केवल 20363 वोटों की गिनती की गई। उन्होंने बताया कि आखिरी राउंड तक वे बढ़त बनाए हुए थे। अंतिम राउंड में उन्हें 55 वोटों से हारा दिखाकर बीजेपी प्रत्याशी को चेयरमैन घोषित कर दिया गया। जबकि 20363 वोटों की गिनती की गई।
Aadmi Party demands cancellation of election of Pehowa Municipality, know why?
56 वोटों की नहीं की गिनती आम आदमी पार्टी चेयरमैन प्रत्याशी अनिल धवन ने बताया कि अंत में 56 वोटों की गिनती नहीं की गई। और ना ही रिटर्निंग अधिकारी ने इन 56 वोटों के बारे में कोई स्थिति स्पष्ट की। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि 56 वोटों को खुर्द बुर्द कर दिया गया। ऐसा बीजेपी प्रत्याशी को जिताने के लिए किया गया। चुनाव आयोग निष्पक्ष जांच करे आम आदमी पार्टी चेयरमैन प्रत्याशी अनिल धवन ने केंद्रीय चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और राज्य चुनाव आयुक्त धनपत सिंह से पिहोवा नगर पालिका के चेयरमैन के चुनाव को निरस्त कर निष्पक्ष जांच करने की मांग की और 56 वोटों के बारे में स्थिति स्पष्ट करने की बात कही। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर इस मामले में प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत के सुबूत मिलते हैं तो चुनाव आयोग जिम्मेदार अधिकारियों को सस्पेंड करें और दोबारा से गिनती कर 56 वोटों की स्थिति को स्पष्ट करें, और चेयरमैन के चुनाव को अमान्य घोषित करे।
June 25, 2022

पुलिसवालों के बच्चाें को NO ADMISSION:हरियाणा पुलिस और DAV पुलिस पब्लिक स्कूल में ठनी, DGP ने मांगी रिपोर्ट

पुलिसवालों के बच्चाें को NO ADMISSION:हरियाणा पुलिस और DAV पुलिस पब्लिक स्कूल में ठनी, DGP ने मांगी रिपोर्ट

पानीपत : हरियाणा पुलिस और DAV पुलिस पब्लिक स्कूल के बीच इन दिनों किसी बात को लेकर ठनी हुई है। जो स्कूल स्पेशल पुलिसकर्मियों के बच्चों के लिए बनाए गए हैं, उनमें आज स्थिति यह है कि इन्हीं स्कूलों में पुलिसकर्मियों के बच्चों को एडमिशन नहीं दिया जा रहा है। कारण फिलहाल अज्ञात है।


प्रदेश भर से लगातार यह समस्या सामने आने के बाद डीजीपी हरकत में आ गए। उन्होंने सभी जिलों के एसपी को आदेश दिए हैं कि अगले एक सप्ताह के भीतर उन पुलिसकर्मियों की कारण सहित रिपोर्ट दी जाए, जिनके बच्चों को स्कूल में एडमिशन नहीं दिया जा रहा है।
*एसपी पानीपत द्वारा जारी आदेश।*

डीजीपी ने 22 को व एसपी ने 24 को जारी किए आदेश

पानीपत एसपी शशांक कुमार सावन द्वारा जारी आदेश पत्र में लिखा गया है कि 22 जून 2022 को DGP कार्यालय से एक पत्र जारी हुआ है, जिसमें DAV पुलिस पब्लिक स्कूलों के द्वारा पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बच्चों को दाखिला देने से मना करने के बारे में सूचना मांगी गई है।

एसपी ने आदेश दिए कि उपरोक्त विषय के संबंध में सभी को निर्देश दिए जाते हैं कि सभी अपने कार्य क्षेत्र में तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अवगत कराएं कि यदि स्थानीय डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल के द्वारा किसी भी पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी के बच्चों को दाखिला देने से मना किया जाता है तो संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी एक सप्ताह के भीतर-भीतर इस कार्यालय में तैनात भलाई निरीक्षण को लिखित में कारण सहित अपनी रिपोर्ट देंगे, ताकि रिपोर्ट DGP को समय पर भेजकर सूचना उपलब्ध करवाई जा सके।
*रिटायर्ड डीजीपी बीएस संधू।*

रिटायर्ड डीजीपी संधू ने स्कूल बनाने का किया था प्लान

करीब 2 माह पहले को दिए इंटव्यू में रिटायर्ड डीजीपी बीएस संधू ने बताया था कि बात 1994-95 की है, जब मैं रोहतक से एसपी पद से ट्रांसफर होकर अंबाला आया था। बेटे का दूसरी कक्षा में एडमिशन करवाना था। मैं कैंट में कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल गया। उसी साल इस स्कूल में लड़कों के दाखिले बंद करके सिर्फ लड़कियों को दिए गए थे।

मुझे महसूस हुआ कि जब आईपीएस अफसर होते हुए मेरे बच्चे को एडमिशन नहीं मिला तो हमारे सिपाही-थानेदार को अपने बच्चों को एडमिशन करवाने में कितनी मुश्किल होती होगी। तब पुलिस कर्मचारियों के बच्चों के लिए पुलिस लाइन में ही स्कूल बनाने का प्लान किया, ताकि पुलिस कर्मचारियों की टेंशन खत्म हो सके। उस समय प्रदेश के डीजीपी लक्ष्मण दास थे और डीआईजी आरएस दलाल हुआ करते थे। उस दौरान डीजीपी लेवल पर ही स्कूल बनाने की परमिशन मिल गई थी।
*डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल की खासियतें*

1995-1996 में 116 विद्यार्थियों, 10 टीचर व 12 कमरों के साथ स्कूल शुरू किया गया। पुलिस व पब्लिक के संयुक्त सहयोग से 30 लाख खर्च करक स्कूल शुरू हुआ। मैं अंबाला में 2 साल से ज्यादा रहा। इसके बाद धीरे-धीरे प्रदेश के अन्य जिलों में भी डीएवी स्कूल बनने लगे। सरकार ने फैसला लिया तो 2017 तक प्रदेश के 20 जिलों में डीएवी स्कूल बन गए थे।

डीएवी स्कूल की खास बात यह है कि प्रदेशभर के सभी जिलों में एक ही यूनिफार्म, किताबें व फीस स्ट्रक्चर है। पुलिस कर्मचारियों के बच्चों को 50 प्रतिशत छूट भी है। पुलिस कर्मचारी ट्रांसफर होकर प्रदेश के किसी भी जिले में चला जाए, बच्चे को एडमिशन दिलाने में कोई दिक्कत नहीं होती। क्योंकि वह किसी भी महीने में वहां जाएगा तो उसके बच्चे का दाखिला स्कूल में होगा।

सिलेब्स भी वहीं से शुरू होगा। डीएवी संस्थान की प्रधान पूनम सूरी हैं। अभी मैं उनके एडवाइजर के तौर पर बिना किसी चार्जिस पुलिस व स्कूलों के साथ कॉर्डिनेशन का काम देखता हूं।