/>

Breaking

Saturday, September 25, 2021

September 25, 2021

क्या नया राजनीतिक ठौर-ठिकाना ढूंढ रहे हैं वीरेंद्र सिंह

 सम्मानजनक आंकड़ा जरूर छुआ मगर पिछले सालों से कमजोर रही रैली
-सवाल-क्या नया राजनीतिक ठौर-ठिकाना ढूंढ रहे हैं वीरेंद्र सिंह
जींद ÷ ( संजय कुमार ) ÷ सम्मान दिवस रैली लोगों की हाजिरी की लिहाज से सम्मानजनक रही, मगर ताऊ देवी लाल की जयंती के मौके पर चौटाला परिवार द्वारा आयोजित आज तक हुई सभी रैलियों से फीकी रही। रैली में शामिल लोगों में पहले की रैलियों की भांति उत्साह कम था। नारों के अभाव रहा। हालांकि भाजपा नेता वीरेंद्र सिंह की उपस्थिति ने एकबारगी तो भीड़ में एक बार तो उत्साह भरने का काम किया। भाजपा में हाशिये पर चल रहे वीरेंद्र सिंह के संबंध में यह सवाल भी उठ रहे हैं कि क्या वे नया ठोर ठिकाना ढूंढ रहे हैं।
पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह के आगमन की सूचना को आयोजकों ने पूरी तरह अंतिम समय तक गुप्त रखा, मगर उनके आगमन पर स्वागत की तैयारियां पूरी रखी। सबसे पहले मंच पर पहुंचने वालों में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री सरदार प्रकाश सिंह बादल जेडीयू नेता केसी त्यागी के साथ पहुंचे। उसके करीब आधा घंटा बाद रैली के मुख्य वक्ता व हरियाणा के पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला, जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला के साथ करीब अढ़ाई बजे मंच पर पहुंचे। तब तक यह भी स्पष्ट हो चुका था कि पूर्व प्रधानमंत्री एसके देवगौड़ा व यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह, फ़िल्म अभिनेता राजबब्बर व किसान नेता शिरकत नहीं करेंगे। सभी प्रमुख नेता मंच पर अग्रिम पंक्ति में बैठे। आयोजकों ने अग्रिम पंक्ति की एक कुर्सी खाली रखी। इसके बाद से जानकारों ने यह अंदाजा लगा लिया कि कोई बड़ा नेता चौंकाने वाले स्टाइल में शिरकत जरूर करेगा। ठीक सवा 3 बजे मंच पर पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह का आगमन हो गया। ऐलनाबाद से पूर्व विधायक अभयसिंह चौटाला जींद जिले के इनलो नेता व पूर्व विधायक रामफल कुंडू के साथ हाथ में फूलों का बुक्का लेकर अगुआई करने दौड़े। सम्मान से इन्हें मंच पर लाया गया। रैली के मंच पर अचानक वीरेंद्र सिंह को देखकर सुस्त पड़े इनेलो कार्यकर्ताओं में जोश भर गया। वे रह रहकर नारेबाजी करने लगे। रैली में उपस्थित लोगों ने खड़े होकर तालियां बजाकर भाजपा नेता का अभिनंदन किया। वीरेंद्र सिंह की अचानक उपस्थिति ने लोगों में जोश भरने का काम किया।
*-जींद व आसपास की हाजिरी रही नाममात्र-*
रैली में अधिकांश लोग सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, अम्बाला, कुरुक्षेत्र, भिवानी आदि जिलों से पहुंचे थे। जींद, सोनीपत, रोहतक, झज्जर, मेवात व महेंद्र गढ़ आदि जिलों से रैली में हाजिरी काम ही दिखाई दी। फिर भी हाजिरी के लिहाज से रैली संख्या का सम्मानजनक आंकड़ा छू गई। लेकिन पहले के सालों में ताऊ देवीलाल की जयंती पर आयोजित हुई रैलियों से कमजोर रही।

*-नया राजनीतिक ठिकाना ढूंढ रहे हैं वीरेंद्र सिंह?*
पिछले काफी समय से भाजपा में वीरेंद्र सिंह एक तरह से हाशिये पर चल रहे हैं। यदाकदा उनकी टीस भी अप्रत्यक्ष तौर पर अपनी ही पार्टी व सरकारों के खिलाफ की गई बयानबाजी से झलकती रहती है। पिछले दिनों जींद दौरे पर आए आप नेता व राज्यसभा सदस्य सुशील गुप्ता के साथ उनकी मुलाकतभी सुर्खियां बनी थी। किसान आंदोलन को लेकर वे कई मर्तबा खुलकर अपनी ही पार्टी की केंद्र व राज्य सरकार को निशाने पर ले चुके हैं। यह भी सर्वविदित है कि वे अपने सांसद बेटे को केंद्र में मंत्री बनाना चाहते है। उस प्रयास में वे असफल भी हुए हैं।
आप नेता सुशील गुप्ता से पिछले महीने मुलाकात के बाद आज सम्मान दिवस रैली में अचानक शामिल होकर भाजपा नेता वीरेंद्र सिंह ने राजनीतिक सवाल को जन्म दे दिया है कि क्या वे नया राजनीतिक ठोर ढूंढ रहे हैं, ताकि भविष्य में उनकी व परिवार की राजनीति सुरक्षित रह सकें। यह भाजपा में प्रेशर पोलटिक्स की ओर भी माना जा सकता है और भविष्य में उन द्वारा किये गए किसी राजनीतिक बदलाव की ओर भी संकेत कर रहा है।
September 25, 2021

आम आदमी पार्टी का 13 सूत्री मांगों को लेकर पांचवें दिन लघु सचिवालय पर अनिश्चितकालीन धरना व क्रमिक अनशन

आम आदमी पार्टी का 13 सूत्री मांगों को लेकर पांचवें दिन लघु सचिवालय पर अनिश्चितकालीन धरना व क्रमिक अनशन
जींद , एनसीआर हरियाणा ( संजय कुमार ) ÷ हरियाणा संयोजक निकाय पंचायत चुनाव राजेंद्र गुप्ता ने की उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार हमारी मांगों को न मानकर तानाशाही पूर्ण रवैया अपना रही है। सभी मांगे जनकल्याण हरियाणा के भलाई व सुख सुविधा के लिए है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया की आम आदमी पार्टी हरियाणा में निकाय व पंचायत चुनाव पार्टी के सिंबल पर लड़ेगी। चाहे चुनाव पार्षदों का हो या चेयरमैन का हो या नगर निगम का हो।  पार्टी  मैदान में साफ छवि व जनता के लिए काम करने वाले जमीन से जुड़े प्रत्याशियों को मैदान में उतारेगी। उन्होंने कहा की हरियाणा सरकार की नीति और नियत में खोट है। भ्रष्टाचार, महंगाई, कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ चुकी है। मीडिया प्रभारी गणेश कौशिक ने कहा किसान आंदोलन के दौरान मृतक किसानों के परिजनों को सरकार नौकरी में उचित मुआवजा देने का काम करे व नए भूमि कानून को रद्द करे,  जमीनों की खेवट बंटवारा निश्चित समय में किया जाए। जींद के मेडिकल कॉलेज को विश्वकर्मा मेडिकल कॉलेज नाम दिया जाए।  कुछ प्रमुख मांगें हैं। जिनको सरकार तुरंत माने व लोगों की भावनाओं पर खरा उतरे इस धरने में राजेंद्र गुप्ता, संयोजक , मीडिया प्रभारी डॉ. गणेश कौशिक , जुलाना अध्यक्ष  वीरेंद्र आर्य, जिला उपप्रधान राज सिंह मलिक , जगत सिंह रेढू , सूरजभान , लहना सिंह नंबरदार , कंवरजीत, बलवंत सिंह, होशियार सिंह, बलदेव, पाला राम,  नवीन राठौर , प्रवीण ,सतवीर सिंह , मनजीत पांचाल, सूरजमल फौजी , रेनू मलिक, जगत सिंह आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

Thursday, September 23, 2021

September 23, 2021

पुलिस के पीछा करने पर बदमाश ने घर की छत पर चढ़कर खुद को मारी तीन गोली, पीजीआई रेफर

पुलिस के पीछा करने पर बदमाश ने घर की छत पर चढ़कर खुद को मारी तीन गोली, पीजीआई रेफर 

- आरोपित के खिलाफ भिवानी में दर्ज हैं आपराधिक मामले, गांव आधे घंटे चला ड्रॉमा 

- पीछा करते हुए रेवाड़ी के सुठाना गांव पहुंची थी सीआईए भिवानी की टीम 
 रेवाड़ी : ( पंकज कुमार ) ÷ भिवानी में दर्ज तीन आपराधिक मामलों में नामजद आरोपित की लॉकेशन ड्रेस कर गिरफ्तारी के लिए रेवाड़ी के सुठाना गांव पहुंची भिवानी सीआईए को पीछा करते देख आरोपित ने एक घर की छत्त पर चढ़कर खुद को पेट व टांग सहित तीन गोली मारी। घायल अवस्था में सीआईए ने आरोपित को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया, जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। गांव में करीब 20 मिनट चले हाई वोल्टेज ड्रामें से ग्रामीणों में दशहत देखने को मिली। आरोपित के खुद को गोली मारने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ है। 
जानकारी के अनुसार भिवानी के गुवार फैक्ट्री क्षेत्र निवासी राजन व तोशाम बाईपास स्थित डाबल कालोनी निवासी महेंद्र के खिलाफ कुछ दिन पूर्व हत्या प्रयास का मामला दर्ज हुआ था। इस मामले में दोनों आरोपित फरार चल रहे थे। बुधवार को दोनों की लोकेशन रेवाड़ी में मिलने के बाद भिवानी सीआईए की टीम पीछा करते हुए रेवाड़ी पहुंची तथा सुठाना गांव के पास दोनों को घेर लिया। महेंद्र के पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद राजन फायरिंग करते हुए एक घर की छत्त पर चढ़ गया तथा वहां पहुंचकर खुद को (दो पेट व एक टांग) में तीन गोलियां मारने के बाद पिस्तौल नीचे फेंक दी। इसी बीच एक जवान ने घायल अवस्था में उसे पकड़ा तथा गाड़ी से ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया। जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए चिकित्सकों ने रोहतक रेफर कर दिया। 
*30 मिनट चला ड्रामा*

आरोपितों के पुलिस घेरे में आने के बाद गांव सुठाना में करीब आधा घंटे तक ड्रॉमा चला। पुलिस गिरफ्त से बचने के लिए राजन ने पुलिस पर कई राउंड फायर किए। इसके बावजूद भी पुलिस ने पीछा करना जारी रखा तो आरोपित एक घर में घुसा तथा खुद को गोली मारने से पहले आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए अपनी कनपटी पर पिस्तौल तानकर खड़ा रहा। पिस्तौल के साथ आरोपित के अपने घर में घुसने से घर में मौजूद परिवार के सदस्य आरोपित के पकड़े जाने तक दहशत में रहे तथा खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। घटना स्थल के आसपास जमा हुए ग्रामीणों में दशहत में रहे। 
*पुलिस टीम पर फायरिंग के बाद खुद को मारी गोली*

बावल के डीएसपी राजेश चेची ने बताया कि राजन ने पीछा कर रही पुलिस टीम पर कई राउंड फायरिंग की। इसके बाद आरोपित हथियार लहराते हुए एक घर में घुसा तथा छत्त पर जाकर खुद को तीन गोली मार ली। जिसे घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां से उसे रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया गया है। 
*गांव में फैली दहशत*

पुलिस पर कई राउंड फायर करने के बाद राजन सीधे एक घर में घुस गया। घर में मौजूद लोग उसके हाथ में पिस्टल और खून से सना होने के कारण घबरा गए। इस बीच पीछा करते हुए सादी वर्दी में पुलिसकर्मी भी पहुंच गए। राजन सीधे घर की छत पर चढ़ गया। परिवार के लोगों ने खुद को कमरों में बंद कर लिया। इस दौरान करीब 20 मिनट तक ड्रामा चला। मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। बाद में उसे घायल अवस्था में काबू कर लिया गया।
September 23, 2021

मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता करने आए संपूर्ण आनंद पर हमला, अस्पताल में भर्ती

मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता करने आए संपूर्ण आनंद पर हमला, अस्पताल में भर्ती 
- अहीर कॉलेज विवाद में सीएम विंडो पर शिकायत दर्ज करवाने से पहले मीडिया के सामने अपना पक्ष रखने के लिए आए थे संपूर्ण आंनद
रेवाड़ी : बुधवार को अहीर कॉलेज विवाद में मीडिया से रूबरू होने के लिए आए स्वामी संपूर्ण आनंद पर मीडिया सेंटर परिसर में ही हमला कर दिया। हमलावरों ने उनकी गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। घायल अवस्था में संपूण आंनद को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया। शहर में हमले की सूचना तेजी से फैल गई तथा पुलिस के आला अधिकारियों के साथ पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने घटना स्थल का दौरा करने के बाद ट्रॉमा सेंटर में उपचाराधीन स्वामी से मिलकर पुलिस से हमलावरों के खिलाफ हत्या प्रयास सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करने की मांग की। 
 ज्ञात रहे कि अहीर कॉलेज को पट्टे पर दी जमीन कोड़ियों के भाव सोसायटी के नाम करवाने का मामला पिछले कई दिनों से सुर्खियों बना हुआ है। इस मामले में पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। माना जा रहा है कि स्वामी संपूर्ण आंनद इसी मामले में राव इंद्रजीत सिंह के खिलाफ मीड़िया से बातचीत करने के लिए बुधवार को मीडिया सेंटर आए हुए थे। स्वामी के मीडिया सेंटर पहुंचने के बाद कार में सवार होकर आए कुछ लोगों ने उन्हें घीसटकर मीडिया सेंटर से बाहर निकालकर राड व डंडों से हमला कर दिया। हमले के बाद स्वामी की गाड़ी को क्षतिग्रस्त करने के बाद गाड़ी में डालकर उन्हें अपने साथ ले गए। जिसके बाद उन्हें सड़क पर फेंक दिया। घायल अवस्था में उन्हें ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया।  
*कानून व्यवस्था का निकल चुका है जनाजा : कैप्टन*

पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने कहा कि सरकारी परिसर में पुलिस हैडक्वाटर से चंद कदम दूर पत्रकार वार्ता करने आए व्यक्ति पर हमला से जिले में कानून व्यवस्था की पोल खोलने के लिए काफी है। पुलिस को चाहिए कि मीडिया सेंटर व सामने वाले मकान पर लगे सीसीटीवी फुटेज लेकर हमलावरों के खिलाफ हत्या प्रयास का मामला दर्ज कर उन्हें तत्काल गिरफ्तार करें। लोकतंत्र के मंदिर में भू-माफियाओं की पोल खोलने वाले संत प्रवृत्ति की व्यक्ति पर इस प्रकार की घटना को सभ्य समाज में बर्दास्त नहीं किया जा सकता।

Wednesday, September 22, 2021

September 22, 2021

लॉकडाउन में भी रेलमपेल चलती रही हरियाणा के मंत्रियों की गाडिय़ां

लॉकडाउन में भी रेलमपेल चलती रही हरियाणा के मंत्रियों की गाडिय़ां
आरटीआई में खुलासा- हजारों किलोमीटर का सफर तय कर लाखों का तेल फूंका 
चंडीगढ : लॉकडाउन में जब लोग घरों के अंदर बंद थे और व्यापार से लेकर लोगों का सब काम धंधा ठप हो गया था, तब भी हरियाणा सरकार की गाडिय़ां सात माह तक रेलमपेल चलती रही। हरियाणा मंत्रीमंडल के लिए 2021-22 वित्त वर्ष में मुख्यमंत्री के लिए 36 लाख रुपये प्रति गाड़ी कीमत की चार गाडिय़ों की खरीद हुई। जबकि गृहमंत्री अनिल विज के लिए सबसे महंगी 65 लाख 75 हजार रुपये की मर्सिडीज गाड़ी खरीदी गई। विपक्षी नेता पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए भी सीएम की तर्ज पर 36 लाख रुपये की एक गाड़ी खरीदी गई। लॉकडाउन में किसी का घर से बाहर निकलना व आना-जाना बंद था, तब भी हरियाणा के मंत्रियों ने हजारों किलोमीटर का सफर तय कर डाला और लाखों का तेल फूंक दिया। यह खुलासा आरटीआई के तहत मांगी गई 
जानकारी में हुआ है। 
स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के प्रदेश अध्यक्ष बृजपाल सिंह परमार ने सरकार के मुख्य सचिव से जनसूचना अधिकार अधिनियम के तहत 27 जुलाई को सूचना मांगी थी। जिसमें पूछा गया था कि सरकार के मंत्रियों व मुख्यमंत्री एवं अन्य वीआईपी लोगों के लिए कितनी गाडिय़ां खरीदी गई हैं और जनवरी से जुलाई माह तक कितने किलोमीटर गाडिय़ां चली हैं और इनमें कितने रुपये का तेज खर्च आया है। इसका जवाब सरकार की तरफ से भेजा गया है। जिसमें बताया गया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के लिए चार गाड़ी, गृहमंत्री अनिल विज के लिए एक मर्सिडीज गाड़ी, डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा, शिक्षामंत्री कंवरपाल, परिवहन मंत्री मूलचंद शमा, बिजली मंत्री रणजीत सिंह, कृषिमंत्री जेपी दलाल, को-आपरेटिव मंत्री बनवारी लाल, राज्यमंत्री ओमप्रकाश यादव, राज्यमंत्री कमलेश ढांडा, राज्यमंत्री अनूप धानक, राज्यमंत्री संदीप सिंह, विपक्षी नेता पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के लिए एक-एक नई गाड़ी खरीदी गई। इन गाडिय़ों की खरीद हाल ही में नए वित्त वर्ष के दौरान दर्शायी गई है। अहम बात यह है कि सीएम से लेकर मंत्रियों व राज्यमंत्री की प्रत्येक गाड़ी 36, 30657 में खरीदी गई है, जबकि गृहमंत्री अनिल विज की एक गाड़ी 65 लाख 75 हजार में खरीदी गई जो सबसे महंगी है।
---------
ये चली सीएम से लेकर मंत्री की जनवरी से जुलाई तक गाड़ी

पद का नाम किलोमीटर तेल पर खर्च राशि 

1. मुख्यमंत्री मनोहरलाल 20503 218114

2. परिवहनमंत्री मूलचंद शर्मा 88090 858527

3. विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता              51976 563572

4. गृहमंत्री अनिल विज 54260 477112

5. शिक्षामंत्री कंवरपाल 28287 879540

6. कृषिमंत्री जेपी दलाल 27980 296968

7. ओमप्रकाश यादव राज्यमंत्री 116456 1155360

8. डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा 107988 1099656

9. बनवारीलाल कोआपरेटिव मंत्री 42918 515224

10. संदीप सिंह राज्यमंत्री  71814 822918

11. रणजीत सिंह बिजली मंत्री 91952 905905

12. अनूप धानक राज्यमंत्री 83624 827800

13. कमलेश ढांडा राज्यमंत्री 80950 863984

14. दुष्यंत सिंह चौटाला डिप्टी सीएम 27351 329617
September 22, 2021

थाने में 2 दिनों से सरकारी गेंहू से भरा ट्रक खड़ा बना चर्चा का विषय

थाने में 2 दिनों से सरकारी गेंहू से भरा ट्रक खड़ा बना चर्चा का विषय
 जींद/सफीदों ÷ सफीदों के सिटी थाने में पिछले 2 दिनों से खड़ा सरकारी गेंहू से भरा ट्रक चर्चा का विषय बना हुआ है। इस मामले में सफीदों पुलिस कुछ भी बोलने में कन्नी काट रही है। मिली जानकारी के अनुसार सफीदों पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि संदिग्ध परिस्थितियों में जींद रोड स्थित एक सरकारी गोदाम से गेंहू से भरा एक ट्रक निकला है और वह किसी दूसरे गोदाम में जा रहा है। सूचना के आधार पर पुलिस ने ट्रक को काबू करके उसे सिटी थाना में खड़ा कर दिया। पुलिस ने ट्रक के ड्राइवर और हेल्पर को भी काबू किया है। हालांकि इस ट्रक को पकड़े हुए बहुत लंबा समय हो चुका है लेकिन पुलिस इस मामले में कुछ भी बताने को तैयार नही है। वैसे पुलिस ने इस मामले में हैफेड के आलाधिकारियों को सूचित किया है। सफीदों पुलिस ने यह गेंहू से भरा ट्रक सफीदो के हैफेड गोदाम के पास से पकड़ा है। इस ट्रक में करीब 300 बोरियां भरी हुई है और हर बोरी सरकारी मार्का लगा हुआ है। बताया जा रहा है कि इस गेंहू को हैफेड के एक गोदाम से दूसरे गोदाम में अवैध तरीके से भेजा जा रहा था। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली तो उसने ट्रक को गोदाम के पास से ही काबू कर लिया। वही इस मामले सूत्र बताते है कि हैफेड के एक  गोदाम में अधिकारियों व कर्मचारियों के द्वारा चोरी से गेंहू बाजार में बेच दिया गया था और बेचते वक्त वे स्टाक का हिसाब लगाना भुल गए। जब बाद में स्टाक मिलाया गया तो वह कम निकला। उसके बाद अधिकारियों व कर्मचारियों में हडकंप मच गया। आननफानन में उस कम गेंहू को पूरा करने के लिए अधिकारियों व कर्मचारियों ने दूसरे गोदाम से संपर्क किया। वहां पर सैटिंग बैठाकर अवैध रूप से गेंहू का ट्रक भरवाया और उसे दूसरे गोदाम के लिए रवाना किया गया लेकिन इसी बीच किसी इस घालमेल की सूचना पुलिस को दे दी और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ट्रक को पकड़ लिया। पुलिस द्वारा पकड़े गए ट्रक में किस-किस की मिलीभगत है यह तो पुलिस जांच में सामने आएगा। वहीं यह भी पता चला है हैफेड के बड़े अधिकारी सफीदों पहुंचे है। अधिकारियों ने पहले तो गोदामों को सील किया। उसके बाद एक-एक गोदाम को खुलवाकर स्टाक की जांच कर रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक अधिकारी जांच कर रहे थे। वैसे इस मामले की गहराई से जांच की जाए जो बहुत बड़ा घोटाला सामने आ सकता है।
September 22, 2021

सफाई कर्मचारी की संदिग्ध हालात में मौत

सफाई कर्मचारी की संदिग्ध हालात में मौत
-पिछले 8 साल से रेक्सन होटल में था कार्यरत
जींद --( संजय कुमार )÷ शहर के सब्जी मंडी स्थित रेक्शन होटल में सफाई कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मृतक की पहचान यूपी के बहराइच जिला के छेदीपुर निवासी 35 वर्षीय गौरी शंकर के रूप में हुई है। घटना की सूचना मिलने पर सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के साथियों के बयान दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में लाया गया।
होटल संचालक जतिन ने सिटी थाना पुलिस को दिए बयान में बताया कि गौरी शंकर पिछले 8 वर्ष से होटल में उसके पास सफाई का काम कर रहा था। बबलू के परिवार और गांव के और भी कई कर्मचारी होटल में काम करते हैं। सोमवार रात को लगभग साढ़े 12 बजे गौरी शंकर खाना खाकर कमरे में चला गया था, इसकी सीसीटीवी फु टेज हैं, लेकिन रात को उसकी हृदय गति रुकने से मौत हो गई। इसके बारे में किसी को जानकारी नहीं लगी। सुबह वह काम पर नहीं आया तो उसकी तलाश की गई, लेकिन उसका पता नहीं लगा। जब उसके मोबाइल पर कॉल की तो सीढिय़ों में मोबाइल की घंटी बजती सुनाई दी। जिसके बाद सीढिय़ों में जाकर देखा तो वह सीढिय़ों पर पड़ा हुआ था और उसकी मौत हो चुकी थी। 
*-परिजनों के बयान पर होगी कार्रवाई : दिनेश*

सिटी थाना प्रभारी दिनेश ने बताया कि मृतक के शरीर पर किसी प्रकार के निशान नहीं हैं। गौरी शंकर की मौत किन कारणों से हुई है। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम के बाद ही हो पाएगी।  मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है। उनके आने के बाद बयान दर्ज कर आगामी कार्रवाई की जाएगी।