/>

Breaking

Showing posts with label Poltical News. Show all posts
Showing posts with label Poltical News. Show all posts

Wednesday, July 21, 2021

July 21, 2021

हरियाणा के लिए अलग बने विधानसभा की इमारत

चंडीगढ़ : हरियाणा के लिए अलग बने विधानसभा की इमारत ,विधानसभा स्पीकर ने लोकसभा स्पीकर को दी प्रोजैक्ट रिपोर्ट

चंडीगढ़। हरियाणा में नए परिसीमन के बाद विधायकों की संख्या में इजाफा होगा। जिसके चलते हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने लोक सभा स्पीकर ओम बिरला के साथ मुलाकात करके हरियाणा के लिए चंडीगढ़ में नई विधानसभा इमारत बनाए जाने की मांग की है।
लोकसभा स्पीकर से मुलाकात के बाद ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि हरियाणा विधानसभा की मौजूदा इमारत के बड़े हिस्से पर पंजाब का कब्जा है। मौजूदा समय में इस इमारत में कामकाज को सुचारू रूप से चलाने में कई तरह की दिक्कते आ रही हैं। एक-एक कमरे में दो-दो विभागों के कर्मचारी बैठ रहे हैं। नए परिसीमन के बाद हरियाणा में विधायकों की संख्या 120 से अधिक हो जाएगी। ऐसे में हरियाणा को चंडीगढ़ में विधानसभा के लिए नई इमारत की जरूरत है। गुप्ता ने कहा कि इस संबंध में चंडीगढ़ प्रशासन को पहले ही प्रोजैक्ट तैयार करके भेजा जा चुका है।
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आज इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ भी बातचीत की है। स्पीकर ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात का समय मांगा गया है। मुख्य मंत्री मनोहर लाल की सुरक्षा में चूक को लेकर विधानसभा स्पीकर ने कहा कि बजट सत्र के दौरान जब अकाली विधायकों ने सीएम की सुरक्षा में सेंध लगाई गई उस समय आईपीएस पंकज नैन वहां मौजूद थे। सीएम की ओवर ऑल सुरक्षा का जिम्मा उन पर था। डीजीपी द्वारा दी गई रिपोर्ट में उनके समेत कई अन्यों को क्लीन चिट दे दी गई है। जिसके चलते यह मामला अब विधानसभा की विशेषाधिकार समिति को भेजा जाएगा।
*इसी में बाक्स—*
*केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव से भी की मुलाकात*

हरियाणा विधान सभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने दिल्ली दौरे के दौरान मोदी मंत्रीमंडल का हिस्सा बने भूपेंद्र यादव से शिष्टाचार भेंट की। प्रधानमंत्री ने भूपेंद्र यादव को केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन तथा श्रम और रोजगार मंत्रालयों की जिम्मेदारी सौंपी है। ज्ञान चंद गुप्ता ने उन्हें नए दायित्व की बधाई तथा उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच किसान आंदोलन जुड़ी गतिविधियों और हरियाणा के सामाजिक, राजनीति मसलों पर भी चर्चा हुई।
July 21, 2021

राहुल गांधी की जासूसी करने पर भड़की कांग्रेस

पेगासस के जरिए राहुल गांधी की जासूसी करने पर भड़की कांग्रेस, सुरजेवाला बोले- ये देशद्रोह है, अमित शाह इस्तीफा दें
नई दिल्ली : जासूसी कांड के सामने आने के बाद से ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार लगातार घिरती जा रही है।
कांग्रेस का केंद्र सरकार पर सीधा आरोप है कि उनके नेता और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की जासूसी कराई गई है। राहुल गांधी की जासूसी की बात सामने आते ही कांग्रेस भड़क गई है।
कांग्रेस ने इस बहाने जमकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है और पीएम मोदी के साथ ही गृह मंत्री अमित शाह को भी लपेटे में लिया है।
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र की सरकार ने न सिर्फ राहुल गांधी बल्कि खुद अपने मंत्रियों की भी जासूसी कराई है और उनके फोन की टैपिंग कराई है।
सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र सरकार ने राहुल गांधी की फोन टैपिंग कराई है। ये बेहद दुखद है। यह सीधे देशद्रोह का मामला बनता है, इसीलिए गृह मंत्री अमित शाह को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।
सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए उन्हें टैपिंगजीवी करार दिया और कहा कि टैपिंगजीवी, राजनीतिक विरोधियों के साथ साथ अब आप पत्रकार, जज, उद्योगपति, खुद के वरिष्ठ मंत्रियों और आरएसएस तक को नहीं बख्शा। चुन चुन कर सबकी जासूसी और फोन टैपिंग कराई।
विभिन्न राजनीतिक दलों के अलावा कई पत्रकारों ने भी अपने फोन टैपिंग की बात कही है।
खबरों के मुताबिक इस जासूसी कांड में कई मीडिया समूहों के संपादकों की फोन टैपिंग की जा रही थी. करीब 40 भारतीय नागरिकों के फोन टैपिंग की सूचना है।
सुरजेवाला ने कहा कि अबकी बार जासूस सरकार ! वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरुर ने कहा कि इस तरह की जासूसी की घटना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से बेहद चिंताजनक है। इस मामले की स्वतंत्र तरीके से जांच कराए जाने की जरुरत है।
वहीं राहुल गांधी की जासूसी के मामले पर भाजपा पर प्रहार करते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा का नाम अब भारतीय जासूस पार्टी कर देना चाहिए।
इजरायली जासूसी साॅफ्टवेयर पेगासस के जरिए भारत में जासूसी की खबरों पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि देश के लोग ही अब यह कहने लगे हैं कि अबकी बार देशद्रोही जासूसी सरकार।
सुरजेवाला ने कहा कि ये केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की डिजिटल इंडिया नहीं बल्कि सर्विलांस इंडिया है. मोदी सरकार देश के संविधान की धज्जियां उड़ा रही है।
इस तरह से जासूसी कराने की घटनाओं से पता चलता है कि भाजपा सरकार को संविधान और लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है. ये लोगों के मौलिक अधिकार पर हमला है।

Monday, July 19, 2021

July 19, 2021

डिप्टी सीएम ने किया योजनाओं का बखान

डिप्टी सीएम ने किया योजनाओं का बखान, ‘महामारी में जरूरतमंदों की हमदर्द बनी हरियाणा सरकार’  

चंडीगढ़ : हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया है कि कोरोना काल में हरियाणा सरकार गरीबों की हमदर्द बनकर उभरी है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण प्रदेश के लाखों गरीब परिवार न तो दिहाड़ी पर जा पाए और न ही छोटी-मोटी नौकरी पर, ऐसे में ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के माध्यम से उनके घर-द्वार तक लगातार पांच किलो गेहूं प्रति सदस्य पहुंचाया जा रहा है। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि इस योजना के तहत राज्य में करीब 27 लाख परिवारों को अनाज मुफ्त दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हर माह गरीब परिवारों को करीब 60 हजार मीट्रिक टन गेहूं वितरीत हो रहा है, अगर चालू माह जुलाई की बात करें तो इस माह में प्रदेश के 27,04,846 राशन कार्ड धारकों को करीब 60,391 मीट्रिक टन गेहूं वितरित किया जा रहा है।
डिप्टी सीएम, जिनके पास खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग का प्रभार भी है, ने बताया कि कोरोना के संक्रमण के कारण पिछले वर्ष मार्च माह में पूरे देश में लॉकडाउन लगाना पड़ा। उन्होंने बताया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिक जैसे की सड़क पर रहने वाले, कूड़ा उठाने वाले, फेरी वाले, रिक्शा चालक, प्रवासी मजदूर आदि को खाने की समस्या का सामना न करना पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गरीब हितैषी सोच के मद्देनजर अप्रैल 2020 से ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ शुरू की गई। इसमें एएवाई (गुलाबी कार्ड), बीपीएल (पीला कार्ड) व ओपीएच (खाकी कार्ड) धारकों को पांच किलोग्राम गेहूं प्रति सदस्य मुफ्त उपलब्ध कराया गया। उन्होंने बताया कि यह अनाज पूर्व में चल रही ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना’ के तहत राशन कार्ड पर मिलने वाले तय कोटे के अतिरिक्त वितरित किया गया। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना से कुछ हालात सुधरने पर उद्योग-धंधे चलने के कारण उक्त योजना नवंबर 2020 तक चलाई गई और कोरोना सकंट के बीच सरकार ने इस योजना के तहत गरीब परिवारों को बड़ी राहत दी है।

दुष्यंत चौटाला ने बताया कि इस साल फिर कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ मई 2021 से दोबारा शुरू कर दी गई ताकि गरीब व्यक्ति भूखा न सोए, इस योजना की समयावधि को दिवाली तक बढ़ा दिया गया है, यानि मुफ्त राशन नवंबर 2021 तक मिलता रहेगा।

उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा पहले से ही राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम,2013 के तहत एएवाई (गुलाबी कार्ड) बीपीएल (पीला कार्ड) व ओपीएच (खाकी कार्ड) धारकों को खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा आटा, बाजरा, चीनी, नमक, सरसों तेल उनकी पात्रता के अनुसार उपलब्ध करवाया जाता है। उन्होंने कहा कि ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के तहत इन श्रेणी के कार्ड धारकों को पांच किलोग्राम गेहूं प्रति सदस्य प्रति माह जो मुफ्त उपलब्ध करवाया जा रहा है उससे गरीब तबके के लोगों को बहुत लाभ हुआ है।
July 19, 2021

कांग्रेस ने पूछा- 18 घंटे काम करने वाले ‘साहेब’ दूसरों के फोन की जासूसी में कितना समय बिताते हैं?

कांग्रेस ने पूछा- 18 घंटे काम करने वाले ‘साहेब’ दूसरों के फोन की जासूसी में कितना समय बिताते हैं?

नई दिल्ली : भारत के 40 से ज्यादा पत्रकारों और विपक्ष नेताओं के फोन टैपिंग का मामला सामने आने से मोदी सरकार एक बार फिर विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है।
इंटरनेशनल मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, फोन टैपिंग मामले में इजरायल द्वारा निर्मित पेगासस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया गया है।
दरअसल कुछ वक्त पहले भी भारत के कुछ पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के फोन टेप किए जाने का मामला सामने आया था।
जिसके बाद पेगासस ने यह कहा था कि उनका सॉफ्टवेयर सिर्फ सरकारी कंपनियों के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
रिपोर्ट के मुताबिक इजराइल के इस जासूसी सॉफ्टवेयर के जरिए पत्रकारों, मंत्रियों के साथ-साथ बड़ी संख्या में कारोबारियों और अधिकार कार्यकर्ताओं के मोबाइल भी हैक किए जाने की आशंका है। इसमें भाजपा के दिग्गज नेताओं के नाम भी शामिल हैं।
इस मामले में कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा है कि
“टैपिंगजीवी जी, राजनीतिक विरोधियों के साथ-साथ अब पत्रकार, जज, उद्योगपति, खुद के वरिष्ठतम मंत्री और यहाँ तक की आरएसएस की लीडरशिप को भी नहीं बख्शा, आपने तो। ठीक ही कहा- अबकी बार, जासूस सरकार !
दूसरे ट्वीट में लिखा- “साहेब, देश पूछता है। रोज़ाना 18 घंटे काम करते समय दूसरों के फ़ोन की जासूसी में कितना समय बिताते हो? 

https://twitter.com/rssurjewala/status/1416978038688948237?s=20

भाजपा पर उठ रहे सवालों पर सफाई देते हुए मोदी सरकार ने कहा है कि इस रिपोर्ट का कोई ठोस आधार नहीं है। भारत एक मजबूत लोकतंत्र है जो अपने सभी नागरिकों के निजता के अधिकार को सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।
आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस संदर्भ में ट्वीट कर पहले ही जानकारी दे दी थी।
उन्होंने कहा था कि वाशिंगटन पोस्ट और लंदन गार्जियन भारत के मंत्रियों और पत्रकारों के फोन टैपिंग की जानकारी साझा करने वाली एक रिपोर्ट जल्द ही प्रकाशित करने वाले हैं। जिसमें बड़ा खुलासा हो सकता है

इससे पहले साल 2019 में भी भारत समेत दुनियाभर के 100 से ज्यादा पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं के व्हाट्सएप अकाउंट की जासूसी की गई थी। जिसके बाद मोदी सरकार पर जासूसी करवाने के गंभीर आरोप लगे थे।

Friday, July 9, 2021

July 09, 2021

अशोक तंवर बोले- इन दो लोगों ने सांसद बृजेंद्र को नहीं बनने दिया केंद्र में मंत्री

अशोक तंवर बोले- इन दो लोगों ने सांसद बृजेंद्र को नहीं बनने दिया केंद्र में मंत्री

चंडीगढ़ : अपना भारत मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक एवं पूर्व सांसद डॉ अशोक तंवर ने कहा है कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा भाजपा के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इसी के चलते भाजपा के निर्देश पर हुड्डा बहुत जल्द नई पार्टी का गठन करेंगे और यही वजह हैं कि कांग्रेसी विधायक कुमारी सैलजा का लगातार विरोध कर रहे हैं ताकि हुड्डा को नई पार्टी बनाने का बहाना मिल सके।
अशोक तंवर गुरुवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में रहते हुए चौधरी बीरेंद्र सिंह को कभी केंद्र में मंत्री नहीं बनने देने वाले भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ मिलकर सांसद ब्रिजेन्द्र सिंह को केंद्र में मंत्री नहीं बनने दिया।
उन्होंने कहा कि केंद्र ने मंत्रिमंडल विस्तार के समय हरियाणा में हिस्सा बढ़ोतरी की बजाए एक मात्र दलित केंद्रीय मंत्री रतन लाल कटारिया को हटाकर कटौती कर हरियाणा का अपमान किया है।
उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साथ साथ कल केंद्रीय मंत्री मंडल में हरियाणा से एक भी प्रतिनिधि और सांसद को शामिल न करके ये साबित कर दिया कि भाजपा के मंत्री और सांसद निक्कमे और नकारा है।
अशोक तंवर ने हुड्डा का नाम लिए बगैर कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने रोहतक लैंड डील को पूर्व सीएम के संबंध में सराहनीय फैसला किया है लेकिन इस पूरे मामले में भाजपा कटघरे में खड़ी है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों ने वर्ष 2014 में भाजपा को उस समय के भ्रष्ट सिस्टम के खिलाफ वोट दी थी लेकिन सात साल बाद भी भाजपा ने दस साल राज करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की। इसी बात से पता चलता है कि इनकी भाजपा से सांठगांठ है और ऐसे लोग आज भी खुलेआम घूम रहे हैं।

हरियाणा कांग्रेस में मचे घमासान पर बोलते हुए अशोक तंवर ने कहा कि कुछ लोग अनुशासनहीनता को अपना जन्मसिद्ध अधिकार मानते हैं और यही गुटबाजी की बड़ी वजह है। यह सब भाजपा के इशारे पर हो रहा है।
उन्होंने कहा कि जब वह कांग्रेस अध्यक्ष थे तो कुमारी सैलजा ने कभी उनका साथ नहीं दिया इसके बावजूद उनका मानना है कि सैलजा फ़िलहाल पूरी तरह से सुरक्षित हैं और उन्हें नहीं बदला जाएगा।
उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि संकट और संघर्ष के समय में उनकी भावनाएं उनके साथ है। इस अवसर पर मोर्चे के वरिष्ठ नेता पवन वालिया, नरेश मग्गू, संजीव चौधरी, जेडी सिंह समेत कई नेता मौजूद थे।
July 09, 2021

सिरसा ब्रांच नहर से घसो के जलघर में 196 लाख रुपए में पहुंचा पानी

सिरसा ब्रांच नहर से घसो के जलघर में 196 लाख रुपए से पहुंचा पानी
-घसो कलां, घसो खुर्द में पीने के पानी की किल्लत होगी दूर, हर समय पानी से भरेंगे टैंक

जींद, 8 जुलाई ( संजय कुमार ) सिरसा ब्रांच नहर से घसो के जलघर तक जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगभग  7 किलोमीटर पाइप लाइन बिछा कर जलघर में बने टैंकों में पानी पहुंचाया है। दोनों गांव में पीने के पानी की किल्लत को दूर करने के लिए सिरसा ब्रांच नहर से पाइप लाइन बिछा कर पानी पहुंचाने की मांग की जाती रही है। इस मांग पर बीती भाजपा सरकार में काम शुरू हो गया था। अब पाइप लाइन का कार्य पूरा होने के बाद जलघर में सिरसा ब्रांच नहर से पानी पहुंच रहा है। जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा पाइप लाइन से लेकर अन्य कार्य पर 196 लाख की राशि खर्च की गई है।  
घसो कलां के संदीप, दिलवार, अमरजीत, घसो खुर्द के रणबीर, राजेश, सुशील, राजीव, सुभाष ने कहा कि काफी लंबे समय से सिरसा ब्रांच से पाइप लाइन से गांव के जलघर में बने टैंक में पानी पहुंचाने की मांग करते आ रहे है। बीती सरकार में तत्कालीन विधायक प्रेमलता, तत्तकालीन केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह द्वारा मांग को सीएम मनोहर लाल से पूरी करवाई। पाइप लाइन बिछाने का काम शुरू हो गया था जो अब पूरा हो गया है। सिरसा ब्रांच से नहर का पानी आने से जो जलघर में टैंक है वो खाली नहीं होंगे।
उन्होंने कहा कि पीने के पानी की किल्लत घसो कलां, घसो खुर्द में बहुत पुरानी है। इस किल्लत को दूर करने का काम बीती सरकार में विधायक रही प्रेमलता सिंह द्वारा किया गया। सांसद बृजेंद्र सिंह द्वारा निरंतर इस पाइप लाइन को लेकर संबंधित विभाग के अधिकारियों से संपर्क साधा गया। अब यह काम पूरा हो गया है। जन स्वास्थ्य विभाग की एसडीओ सुनीता ने बताया कि करीब 196 लाख रुपए की राशि हुई है। पाइप लाइन से घसो जलघर में पानी पाइप लाइन से सिरसा ब्रांच का पहुंच रहा है।
July 09, 2021

तिरंगा यात्रा के बहाने फील्ड में उतरेगी मनोहर सरकार

तिरंगा यात्रा के बहाने फील्ड में उतरेगी मनोहर सरकार
चंडीगढ़ : पिछले करीब आठ माह से किसान आंदोलन के चलते फील्ड में उतरने से गुरेज कर रही मनोहर सरकार ने जनता के बीच जाने के लिए नया कार्यक्रम तैयार कर लिया है। भाजपा के सभी नेता, विधायक और मंत्री अगस्त माह के पहले पखवाड़े के दौरान प्रदेश में तिरंगा यात्रा निकालेंगे।

*साइकिल, बाइक और ट्रैक्टर यात्रा भी निकलेंगी*
 मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में बुधवार को हुई विधायक दल की बैठक में यह फैसला लिया गया। इस यात्रा के दौरान भाजपा के नेता एवं विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में पैदल मार्च के अलावा साइकिल, बाइक और ट्रैक्टर यात्रा भी निकालेंगे। आठ माह से चल रहे किसान आंदोलन के बीच सरकार का यह पहला बड़ा आयोजन होगा। इस बैठक में केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह व कृष्णपाल गुर्जर भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक से जुड़े। बैठक में तिरंगा यात्रा निकालने का निर्णय लिया गया। एक पखवाड़े में प्रदेश के सभी नब्बे विधानसभा क्षेत्रों को कवर करने का निर्णय लिया है। तिरंगा यात्रा का नेतृत्व सीएम मनोहर लाल खट्टर के अलावा केंद्र व राज्य सरकार के मंत्री व वरिष्ठ नेता करेंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा गठबंधन सरकार के मंत्रियों, विधायकों व नेताओं के कार्यक्रमों का विरोध किया जा रहा है। कई बार टकराव भी हो चुका है। किसान आंदोलन के अलावा कोरोना संक्रमण की वजह से भी मंत्रियों-विधायकों के कार्यक्रम रुके हुए थे। विभिन्न जिलों में मंत्रियों द्वारा ग्रीवेंस कमेटी की बैठकें भी नियमित रूप से नहीं हो पा रही थी। अब तिरंगा यात्रा के बहाने गठबंधन सरकार सडक़ों पर नजऱ आएगी।

*प्रदेश वासियों को भी किया जाएगा यात्रा में शामिल*

तिरंगा यात्रा में आम लोगों को भी जोड़ा जाएगा। सरकार के इस कदम को किसानों के विरोध को कम करने से भी जोडकऱ देखा जा रहा है। सरकार यह मानकर चल रही है कि तिरंगा यात्रा का विरोध किसान नहीं करेंगे। इस बैठक में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ के अलावा पार्टी के सभी सांसद तथा जिला अध्यक्ष भी जुड़े। बैठक में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़, संगठन महामंत्री रविंद्र राजू, प्रदेश महामंत्री – एडवोकेट वेदपाल, मोहन लाल बड़ौली व डॉ़ पवन सैनी भी मौजूद रहे।