Breaking

Showing posts with label Crime News. Show all posts
Showing posts with label Crime News. Show all posts

Wednesday, September 14, 2022

September 14, 2022

भारत के समुद्री इलाके से पाकिस्तानी नाव जब्त, 200 करोड़ की ड्रग्स बरामद

भारत के समुद्री इलाके से पाकिस्तानी नाव जब्त, 200 करोड़ की ड्रग्स बरामद

भारतीय तटरक्षक बल (ICG) ने भारतीय समुद्री सीमा से एक पाकिस्तानी नाव जब्त की है। नाव से 40 किलोग्राम ड्रग्स (हेरोइन) बरामद की गई है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 200 करोड़ रुपए बताई जा रही है। नाव के साथ चालक दल के 6 लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। 

ये कार्रवाई गुजरात ATS के खुफिया इनपुट के आधार पर कई गई है। जानकारी के मुताबिक ICG को 13 सितंबर की रात को भारतीय समुद्री सीमा में पाकिस्तान नाव के होने की खुफिया जानकारी मिली। सूचना मिलते ही 2 जहाजों को फोरन गश्त के लिए भेजा गया। 
देर रात अचानक एक पाकिस्तानी नाव भारतीय जल समुद्री क्षेत्र में नजर आई. गश्ती कर रहे भारतीय जहाजों ने उन्हें रुकने का अलर्ट जारी किया। आरोपियों की थोड़ी टालमटोली के बाद नाव को जब्त कर लिया गया। 

नाव की तलाशी लेने पर उसमें 40 किलोग्राम ड्रग्स मिली। जांच एजेंसियों के द्वाच जांच लिए जाने के लिए नाव को जखाउ लाया जा रहा है। पिछले एक साल में भारतीय तटरक्षक बल और एटीएस गुजरात का इस तरह का यह पांचवां संयुक्त अभियान है। 
*पहले भी हुई ड्रग्स की बरामदगी*

1. 6 सितंबर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नार्को-टेरर पर बड़ी कार्रवाई की थी ।
पुलिस ने 1200 करोड़ रुपए की ड्रग्स जब्त की थी। इस ड्रग्स को बेचकर आने वाली रकम का इस्तेमाल हिंदुस्तान के खिलाफ आतंकी गतिविधियों में किया जाना था। 
2. 16 अगस्त को ACB के साथ मिलकर मुंबई पुलिस ने करीब 513 किलोग्राम एमडी (मेपेहड्रोन) दवा जब्त की थी। जब्त की गई दवाओं की कीमत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर करीब 1,026 करोड़ रुपए थी। एंटी नारकोटिक्स सेल की वर्ली यूनिट ने गुजरात के भरूच में इस ड्रग फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया था। यह फैक्ट्री अंकलेश्वर इलाके से चलाई जा रही थी। 
3. गुजरात के मुंद्रा पोर्ट पर भारी मात्रा में ड्रग्स पकड़ी गई थी। 3000 किलो पकड़े गए ड्रग्स के तार गुजरात से लेकर दिल्ली और अफगानिस्तान से लेकर दुबई तक से जुड़ते दिख रहे हैं। वहीं इस मामले में NIA की रडार पर दिल्ली का एक बड़ा बिजनेसमैन कबीर तलवार भी है, जो सम्राट होटल में Playboy नाम से एक प्राइवेट क्लब का मालिक है. उसे जल्द ही गिरफ्तार भी किया जा सकता है।

Monday, September 12, 2022

September 12, 2022

आयुष्मान कार्ड होने के बावजूद ऑपरेशन न करने पर बिफरे, डॉक्टर के आश्वासन पर माने

आयुष्मान कार्ड होने के बावजूद ऑपरेशन न करने पर बिफरे, डॉक्टर के आश्वासन पर माने

अस्पताल में धरने पर बैठे गांव जलालपुर कलां के ग्रामीण। 

जींद : हरियाणा में जींद के नागरिक अस्पताल में आयुष्मान कार्ड होने के बावजूद जब डॉक्टरों ने ऑपरेशन नहीं किया तो मरीज के परिजन बिफर गए और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए। गांव जलालपुर कलां निवासी राजेश ने बताया कि उसके भतीजे साहिल का 31 को रेलवे रोड के मोड पर बाइक से गिरकर पैर में फ्रैक्चर हो गया था। उसी दिन से साहिल नागरिक अस्पताल में एडमिट है।
साहिल के पिछले 10 दिनों से तमाम जरूरी टेस्ट तथा X-RAY करवाए जा चुके हैं। बाएं पैर में कुछ सामान डलना है और उसके लिए ऑपरेशन करना है। इनका आयुष्मान कार्ड भी बना हुआ है। 3 सितंबर को नागरिक अस्पताल के कमरा नंबर 112 में ओरिजिनल आयुष्मान कार्ड तथा आधार कार्ड जमा करवाए थे और इन्होंने कहा था कि एक-दो दिन में सामान की अप्रूवल मिल जाएगी।
एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी कोई अप्रूवल अभी तक नहीं मिली। डॉ. संतलाल ने उन्हें मेट्रो अस्पताल जाने की बात कही, जिस पर उन्होंने यहीं ऑपरेशन करने को कहा। नागरिक अस्पताल में ऑपरेशन के लिए सीएमओ तथा पीएमओ से मिले, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। डॉ. संतलाल ने पहले कहा था कि जो डीलर आयुष्मान का सामान देता है वो सामान नहीं देगा क्योंकि उसकी पहले ही पेमेंट अटकी हुई है। जिसके बाद डॉ.संतलाल धरने पर पहुंचे और आश्वासन दिया कि मंगलवार या बुधवार तक साहिल का ऑपरेशन कर दिया जाएगा।

Friday, September 2, 2022

September 02, 2022

हरियाणा में इस बीजेपी नेता की सरेआम गोली मारकर कर दी हत्या

हरियाणा में इस बीजेपी नेता की सरेआम गोली मारकर कर दी हत्या

गुरुग्राम : गुरुवार को साइबर सिटी गुरुग्राम ताबड़तोड़ फायरिंग से दहल उठा। भाजपा नेता की दिनदिहाड़े सदर बाजार में गोली मारकर हत्या कर दी गई। भाजपा नेता रेमंड के शोरूम पर खरीददारी करने के लिये आये थे, जहां अज्ञात हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। घायल नेता को जब तक अस्पताल पहुंचाया जाता उससे पहले ही उसने दम तोड़ दिया। मृतक का नाम सुखबीर उर्फ सुखी है, जो सोहना मार्केट कमेटी के पूर्व वाइस चेयरमैन थे।
मृतक सुखबीर गांव रिठौज के रहने वाले थे और सदर बाजार के पास गुरुद्वारा रोड पर रेमंड के शोरूम में कपड़े खरीदने के लिए पहुंचे थे। जब वो खरीददारी कर रहे थे तो पांच अज्ञात हमलावर शोरूम में दाखिल हुए और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। जिस समय सुखबीर को गोलियां मारी गई उस वक्त शोरूम में बड़ी संख्या में खरीददार और कर्मचारी भी मौजूद थे। लेकिन बेखौफ बदमाश हत्या की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गये।
वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस पहुंच गई और घायल को अस्पताल पहुंचाया। हत्या की ये वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। जिसमें हमलावर दिखाई दे रहे हैं। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हत्यारों की पहचान कर रही है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस भले ही आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा करे लेकिन सदर बाजार में हुई इस हत्या की वारदात ने दहशत पैदा कर दी है।
September 02, 2022

जींद में DEEO क्लर्क 2 लाख के साथ गिरफ्तार:स्कूल बंद करने की धमकी दे 5 लाख मांगे थे; अफसर का नाम भी आया

जींद में DEEO क्लर्क 2 लाख के साथ गिरफ्तार:स्कूल बंद करने की धमकी दे 5 लाख मांगे थे; अफसर का नाम भी आया

जींद : हरियाणा के जींद में विजिलेंस ने निजी स्कूल की कमियों को दूर करने की एवज में 2 लाख रुपए रिश्वत लेते शिक्षा विभाग के डाटा असिस्टेंट क्लर्क को गिरफ्तार किया है। इस मामले में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी का नाम भी सामने आया है। फिलहाल पुलिस ने डाटा असिस्टेंट क्लर्क के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उसे शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।
बताया गया है कि रोहतक के गांव भालोट के रहने वाले विजय ने विजिलेंस को दी शिकायत में बताया कि उसने जींद के विजय नगर में स्मार्ट किड्स के नाम से स्कूल खोला है। कुछ दिन पहले जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी (DEEO) की टीम ने स्कूल पर छापेमारी की थी। जिस पर कुछ कमियां मिलने पर उसे नोटिस जारी किया गया और स्कूल बंद करने की धमकी दी गई थी।
*2000 के 100 नोट दिए*

स्कूल बंद ना हो इसकी एवज में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा 5 लाख रुपए की रिश्वत मांगी गई। उसने इसकी शिकायत विजिलेंस को दी। नायाब तहसीलदार अजय को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया। टीम ने शिकायतकर्ता को 2000 के 100 नोट दे दिए। शिकायतकर्ता ने जैसे ही यह नोट डाटा असिस्टेंट क्लर्क घनश्याम को एसडी स्कूल के निकट दिए तो विजिलेंस टीम ने उसे काबू कर लिया। क्लर्क घनश्याम के पास से रिश्वत राशि के 2 लाख बरामद हो गए।
विजिलेंस के इंस्पेक्टर मुनीश कुमार ने बताया की रिश्वत राशि के साथ क्लर्क घनश्याम को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस क्लर्क से पूछताछ कर रही है। कोर्ट में पेश कर उसे रिमांड पर लिया जाएगा।
September 02, 2022

JJP नेता को ब्लैकमेल करने वाले पकड़े:पुलिस ने महिला और उसके साथी को 2 लाख लेते दबोचा, 6 महीने पहले हुई थी मुलाकात

JJP नेता को ब्लैकमेल करने वाले पकड़े:पुलिस ने महिला और उसके साथी को 2 लाख लेते दबोचा, 6 महीने पहले हुई थी मुलाकात

जींद ; हरियाणा के जींद में जजपा नेता को ब्लैकमेल कर पैसे लेने वाली महिला और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों को अदालत में पेश किया, जहां से अदालत ने महिला को जेल और आरोपी को पुलिस को दो दिन के रिमांड पर सौंप दिया है।
भिवानी हाल आबाद अर्बन एस्टेट निवासी एवं जजपा कार्यालय उचाना के प्रभारी जगदीश सिहाग ने सिविल लाइन थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि लगभग छह माह पहले कुरूक्षेत्र निवासी एक महिला मनजीत यूट्यूबर बन उनसे मिली थी। इसके बाद महिला कभी नौकरी तो कभी ट्रांसफर करवाने के सिलसिले में उससे मिली।
अप्रैल 2022 में उसके फोन पर एक महिला का फोन आया और खुद को बेसहारा बताते हुए बेटी के दाखिले के लिए आर्थिक सहायता मांगी। जिस पर उसने दो बार में 30 हजार रुपए दे दिए। इसके बाद से लगातार उसे तंग किया जाने लगा। गत 28 जुलाई को निरंजन नांदल नाम एक व्यक्ति उससे मिला और उसके पास मनजीत के व्हाट्सएप मैसेज होने की बात कहते हुए सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी।
12 अगस्त को निरंजन नांदल ने ब्लैकमेल कर पांच लाख रुपए ले लिए। इसके बाद फिर उससे आठ लाख रुपए मांगने लगा। पुलिस ने शिकायत पर कार्रवाई करते हुए इंस्पेक्टर डॉ. सुनील के नेतृत्व में छापामार दल का गठन किया। टीम ने जींद के विश्राम गृह में मनजीत और निरंजन को जगदीश सिहाग से दो लाख रुपए लेते काबू कर लिया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ ब्लैकमेल कर फिरौती वसूलने, आईटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस अधीक्षक नरेंद्र बिजरानिया ने बताया कि ब्लैकमेल करने के मामले में महिला और उसके साथी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया है। अदालत ने महिला को जेल और सहयोगी को रिमांड पर पुलिस को सौंपा है।

Thursday, September 1, 2022

September 01, 2022

मुख्यमंत्री और गृह मंत्री साजिश से वाकिफ इसलिए नही हो रही सोनाली की मौत की सीबीआई जाँच : नवीन जयहिन्द

मुख्यमंत्री और गृह मंत्री साजिश से वाकिफ इसलिए नही हो रही सोनाली की मौत की सीबीआई जाँच :  नवीन जयहिन्द

गोवा पुलिस का मतलब है सबूत गायब पुलिस - नवीन जयहिन्द

हिसार : बीते वीरवार नवीन जयहिंद सोनाली फोगाट की तेहरवी की रस्म क्रिया में हिसार पहुंचे जयहिन्द ने बताया कि जिस प्रकार से गोवा पुलिस इस केस की जांच कर रही है उस प्रकार से मुझे लगता है कि गोवा पुलिस मतलब सबूत गायब पुलिस है। अगर पुलिस से ही जांच करवानी थीं तो गोवा पुलिस की जगह हरियाणा पुलिस से जांच करवा लेते। जब हरियाणा सरकार ने भी गोवा के मुख्यमंत्री को सोनाली फोगाट केस की सीबीआई जांच होने बारे लिखकर दे दिया हैं तो गोवा के सीएम सीबीआई जांच क्यो नही करवा रहे हैं, गोवा सरकार किन लोगों को बचाना चाहती है। जितनी देरी इस केस में सरकार जांच करवाने में लगा रही है मुझे लगता है सरकार सबूतों को मिटाना चाहती है।
नवीन जयहिन्द ने सोनाली केस में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व गृह मंत्री अनिल विज को नसीहत देते हुए कहा है इस केस की सारी सच्चाई तभी पता चल सकती है। जब पूरा केस सीबीआई के हवाले कर दिया जाए ओर सीबीआई और हाईकोर्ट के सिटिंग जज के द्वारा इस केस की जांच हो और हरियाणा पुलिस इस केस में अपना सहयोग करे।

 जयहिन्द ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि जब हत्या के आरोपियों के परिवार वाले भी बोल रहे हैं कि पूरे केस की सीबीआई जांच होनी हमारे बच्चे किसी दबाव में है तो क्यों नही सीबीआई जांच करवा रहें हैं। सीएम खट्टर इस केस की अच्छी तरह से जांच पड़ताल कराए ताकि दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिल सके ।
*पुरी दाल ही नहीं पुरी सरकार ही काली है : जयहिंद*

नवीन जयहिंद ने मुख्यमंत्री खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा मुख्यमंत्री और गृह मंत्री को सब पता है कि किन लोगो ने साजिश रची है। इसीलिए ये जानबूझकर सीबीआई जांच नही करवा रहें हैं क्योंकि सीबीआई जांच होने पर सोनाली फोगाट हत्याकांड मामले में इनके नजदीकी फस जाएंगे  इस देश के कानून के मुताबिक सीएम और गृह मंत्री सीबीआई जांच करवा सकते हैं।
जयहिंद ने कहा जिस प्रकार से ये केस चल रहा है। मुझे लगता है कि पुरी दाल ही नही पुरी सरकार ही काली है ओर मनोहर लाल  सीबीआई जांच ना कराके असली आरोपियो को बचाने का काम कर रहे हैं ,जब मुख्यमंत्री अपनी पार्टी की नेत्री की बेटी को न्याय नही दिलवा सकते तो आम जनमानस ओर कार्यकर्ता का क्या होगा ये बात एक आम जन को समझनी चाहिए।
September 01, 2022

जींद में 5वें दिन किसानों-प्रशासन में सहमति:बद्दोवाल टोल से उठाएंगे किसान का शव; DC का आश्वासन- परिवार को नौकरी, केस वापस होगा

जींद में 5वें दिन किसानों-प्रशासन में सहमति:बद्दोवाल टोल से उठाएंगे किसान का शव; DC का आश्वासन- परिवार को नौकरी, केस वापस होगा

जींद : हरियाणा के जींद के गांव बडनपुर में पंचायती जमीन से कब्जा हटवाने की कार्रवाई के दौरान किसान इंद्र सिंह की मौत के बाद पांचवें दिन प्रशासन तथा धरना कमेटी के बीच वार्ता सफल रही और परिजन तथा किसान शव को बद्दोवाल टोल से उठाने को राजी हो गए। गुरुवार को डीसी डा. मनोज कुमार ने धरना कमेटी से बातचीत की और उनकी समस्याओं तथा मांगों को सुना। जिस पर किसान बद्दोवाल टोल से शव उठाने को राजी हो गए।
*ये थी किसानों की मांग*

गौरतलब है कि गांव बडनपुर निवासी किसान इंद्र सिंह द्वारा पांच दिन पहले कब्जा कार्रवाई के दौरान जहरीला पदार्थ निगल लिया गया था। जिसकी बाद में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। परिजन मृतक के शव को लेकर बद्दोवाल टोल पर बैठ गए थे और बीडीपीओ, ग्राम सचिव, बोली देने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई, 50 लाख रुपए मुआवजा, सदस्य को सरकारी नौकरी, जमीन की मालकीयत दिए जाने की मांग करने लगे थे।
तब से लेकर लगातार प्रशासनिक अधिकारियों व धरना कमेटी के बीच लगातार बातचीत हो रही थी और हर बार बेनतीजा रह रही थी। जिस पर परिजनों ने वीरवार को बद्दोवाल व खटकड़ टोल को फ्री करवाने का ऐलान किया था।

कंडेला खाप के प्रधान ओमप्रकाश कंडेला ने बताया कि बुधवार को अधिकारियों के साथ काफी देर तक बैठक हुई लेकिन मांगों को लेकर बात सिरे नहीं चढ़ पाई थी। जिस पर वीरवार से बद्दोवाल व खटकड़ टोल को फ्री करवाने का निर्णय लिया गया था।
*मांगों पर ये बनी सहमति*

गुरुवार को डीसी डा. मनोज कुमार अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ पहुंचे और बातचीत की। जिसमें सहमति बनी की मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता का मुआवजा दिया जाएगा व 2 नौकरी डीसी रेट पर योग्यता के हिसाब से दी जाएंगी। मामले की गंभीरता से जांच करवाई जाएगी ओर जो भी दोषी पाया गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। जब तक कोर्ट का फैसला नहीं आता तब तक 8 एकड़ पंचायती जमीन बडनपुर पर कब्जा मृतक के परिवार का रहेगा और जो कब्जा कार्यवाही के दौरान बीडीपीओ की शिकायत पर मृतक परिवार के लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था वह वापस लिया जाएगा।