/>

Breaking

Showing posts with label haryana news. Show all posts
Showing posts with label haryana news. Show all posts

Wednesday, July 21, 2021

July 21, 2021

हरियाणा के लिए अलग बने विधानसभा की इमारत

चंडीगढ़ : हरियाणा के लिए अलग बने विधानसभा की इमारत ,विधानसभा स्पीकर ने लोकसभा स्पीकर को दी प्रोजैक्ट रिपोर्ट

चंडीगढ़। हरियाणा में नए परिसीमन के बाद विधायकों की संख्या में इजाफा होगा। जिसके चलते हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने लोक सभा स्पीकर ओम बिरला के साथ मुलाकात करके हरियाणा के लिए चंडीगढ़ में नई विधानसभा इमारत बनाए जाने की मांग की है।
लोकसभा स्पीकर से मुलाकात के बाद ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि हरियाणा विधानसभा की मौजूदा इमारत के बड़े हिस्से पर पंजाब का कब्जा है। मौजूदा समय में इस इमारत में कामकाज को सुचारू रूप से चलाने में कई तरह की दिक्कते आ रही हैं। एक-एक कमरे में दो-दो विभागों के कर्मचारी बैठ रहे हैं। नए परिसीमन के बाद हरियाणा में विधायकों की संख्या 120 से अधिक हो जाएगी। ऐसे में हरियाणा को चंडीगढ़ में विधानसभा के लिए नई इमारत की जरूरत है। गुप्ता ने कहा कि इस संबंध में चंडीगढ़ प्रशासन को पहले ही प्रोजैक्ट तैयार करके भेजा जा चुका है।
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने आज इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ भी बातचीत की है। स्पीकर ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात का समय मांगा गया है। मुख्य मंत्री मनोहर लाल की सुरक्षा में चूक को लेकर विधानसभा स्पीकर ने कहा कि बजट सत्र के दौरान जब अकाली विधायकों ने सीएम की सुरक्षा में सेंध लगाई गई उस समय आईपीएस पंकज नैन वहां मौजूद थे। सीएम की ओवर ऑल सुरक्षा का जिम्मा उन पर था। डीजीपी द्वारा दी गई रिपोर्ट में उनके समेत कई अन्यों को क्लीन चिट दे दी गई है। जिसके चलते यह मामला अब विधानसभा की विशेषाधिकार समिति को भेजा जाएगा।
*इसी में बाक्स—*
*केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव से भी की मुलाकात*

हरियाणा विधान सभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने दिल्ली दौरे के दौरान मोदी मंत्रीमंडल का हिस्सा बने भूपेंद्र यादव से शिष्टाचार भेंट की। प्रधानमंत्री ने भूपेंद्र यादव को केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन तथा श्रम और रोजगार मंत्रालयों की जिम्मेदारी सौंपी है। ज्ञान चंद गुप्ता ने उन्हें नए दायित्व की बधाई तथा उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच किसान आंदोलन जुड़ी गतिविधियों और हरियाणा के सामाजिक, राजनीति मसलों पर भी चर्चा हुई।
July 21, 2021

जींद में बढ़ी ट्रेनों की संख्या, 23 जुलाई से चलेगी ये जरूरी ट्रेन

कोरोनाकाल के बाद जींद में बढ़ी ट्रेनों की संख्या, 23 जुलाई से चलेगी ये जरूरी ट्रेन 
जींद: ( संजय कुमार ) दिल्ली-जींद-बठिंडा रेलवे लाइन पर पांच पैसेंजर ट्रेनों की शुरूआत के बाद अब धौलाधार एक्सप्रेस ट्रेन भी ट्रैक पर लौटी है। धीरे-धीरे अब ट्रेनों का सफर अनलाक होने लगा है। 23 जुलाई से 04037-36 धौलाधार एक्सप्रेस ट्रेन को शुरू हो रही है। जो सप्ताह में तीन दिन चलेगी। सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को यह ट्रेन जींद से सुबह एक बजकर पांच मिनट पर भठिंडा की तरफ जाएगी। मंगलवार, वीरवार और शनिवार को यह ट्रेन सुबह छह बजकर 55 मिनट पर जींद जंक्शन पर पहुंचेगी और दो मिनट रूकने के बाद दिल्ली की तरफ प्रस्थान करेगी।

गौर हो कि कोरोना वायरस के कारण पिछले साल लगे लाकडाउन से पहले दिल्ली-बठिंडा रेलवे लाइन पर करीब 50 एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनें जींद से होकर गुजरती थी। पंजाब के अंतिम छोर से लेकर दक्षिण भारत तक की कनेक्टिविटी जींद के साथ थी लेकिन लाकडाउन में सभी ट्रेनें बंद हो गई थी। डेढ साल बाद अब कुछ ट्रेनें टैक पर लौटी जरूर हैं लेकिन अभी भी करीब 60 फीसद ट्रेनें बंद पड़ी हैं। 19 जुलाई से पांच पैसेंजर ट्रेनें चलने के बाद अब 23 जुलाई से धौलाधार एक्सप्रेस ट्रेन शुरू होगी।

बेशक कुछ ट्रेनें टैक पर लौट आई हैं लेकिन दिल्ली से जींद होकर कुरुक्षेत्र की तरफ जाने वाली और जींद से सोनीपत जाने वाली पैसेंजर ट्रेनें पिछले डेढ़ साल से बहाल नहीं हो पाई है। इन ट्रेनों के चलने का यात्रियों को इंतजार है। दिल्ली से जींद होते हुए कुरूक्षेत्र के लिए डीईएमयू ट्रेन का ही परिचालन होता है।
दैनिक यात्री वैलफेयर ने भी इन ट्रेनों के चलाने की मांग की है। जींद और नरवाना क्षेत्र के सैकड़ों लोग हर रोज कुरुक्षेत्र की तरफ जाते हैं। सैकड़ों विद्यार्थी कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी में पढ़ते हैं, जो पहले हर रोज अप और डाउन कर लेते थे लेकिन अब उन्हें परेशानी आ रही है। जींद रेलवे जंक्शन के स्टेशन अधीक्षक जयप्रकाश ने कहा कि 23 जुलाई से त्रि-साप्ताहिक धौलाधार एक्सप्रेस ट्रेन शुरू हो रही है। इसके अलावा 12 ट्रेनें जींद रेलवे जंक्शन से होकर गुजरने लगी हैं।
July 21, 2021

राहुल गांधी की जासूसी करने पर भड़की कांग्रेस

पेगासस के जरिए राहुल गांधी की जासूसी करने पर भड़की कांग्रेस, सुरजेवाला बोले- ये देशद्रोह है, अमित शाह इस्तीफा दें
नई दिल्ली : जासूसी कांड के सामने आने के बाद से ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार लगातार घिरती जा रही है।
कांग्रेस का केंद्र सरकार पर सीधा आरोप है कि उनके नेता और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की जासूसी कराई गई है। राहुल गांधी की जासूसी की बात सामने आते ही कांग्रेस भड़क गई है।
कांग्रेस ने इस बहाने जमकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है और पीएम मोदी के साथ ही गृह मंत्री अमित शाह को भी लपेटे में लिया है।
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र की सरकार ने न सिर्फ राहुल गांधी बल्कि खुद अपने मंत्रियों की भी जासूसी कराई है और उनके फोन की टैपिंग कराई है।
सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र सरकार ने राहुल गांधी की फोन टैपिंग कराई है। ये बेहद दुखद है। यह सीधे देशद्रोह का मामला बनता है, इसीलिए गृह मंत्री अमित शाह को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।
सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए उन्हें टैपिंगजीवी करार दिया और कहा कि टैपिंगजीवी, राजनीतिक विरोधियों के साथ साथ अब आप पत्रकार, जज, उद्योगपति, खुद के वरिष्ठ मंत्रियों और आरएसएस तक को नहीं बख्शा। चुन चुन कर सबकी जासूसी और फोन टैपिंग कराई।
विभिन्न राजनीतिक दलों के अलावा कई पत्रकारों ने भी अपने फोन टैपिंग की बात कही है।
खबरों के मुताबिक इस जासूसी कांड में कई मीडिया समूहों के संपादकों की फोन टैपिंग की जा रही थी. करीब 40 भारतीय नागरिकों के फोन टैपिंग की सूचना है।
सुरजेवाला ने कहा कि अबकी बार जासूस सरकार ! वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरुर ने कहा कि इस तरह की जासूसी की घटना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से बेहद चिंताजनक है। इस मामले की स्वतंत्र तरीके से जांच कराए जाने की जरुरत है।
वहीं राहुल गांधी की जासूसी के मामले पर भाजपा पर प्रहार करते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा का नाम अब भारतीय जासूस पार्टी कर देना चाहिए।
इजरायली जासूसी साॅफ्टवेयर पेगासस के जरिए भारत में जासूसी की खबरों पर कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि देश के लोग ही अब यह कहने लगे हैं कि अबकी बार देशद्रोही जासूसी सरकार।
सुरजेवाला ने कहा कि ये केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की डिजिटल इंडिया नहीं बल्कि सर्विलांस इंडिया है. मोदी सरकार देश के संविधान की धज्जियां उड़ा रही है।
इस तरह से जासूसी कराने की घटनाओं से पता चलता है कि भाजपा सरकार को संविधान और लोकतंत्र पर भरोसा नहीं है. ये लोगों के मौलिक अधिकार पर हमला है।
July 21, 2021

सावधान! वायरल लिंक मैसेज पर क्लिक करना पड़ सकता है भारी

सावधान! वायरल लिंक मैसेज पर क्लिक करना पड़ सकता है भारी
बहादुरगढ़ : यदि आपके मोबाइल  पर किसी नामी ई-कॉमर्स कंपनी की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में गिफ्ट मिलने का लिंक-मैसेज आया है तो उस पर क्लिक न करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो वारदात का शिकार हो सकते हैं। खुद इस नामी कंपनी व साइबर एक्सपर्ट ने लोगों को इस संबंध में जागरूकता बरतने की अपील की है। दरअसल, इन दिनों साइबर अपराध लगातार बढ़ रहा है। अपराधी नए-नए तरीके से वारदात को अंजाम दे रहे हैं। अब नामी ई-कॉमर्स कंपनियों के नाम पर लोगों को अपने चंगुल में फंसाने का काम चल रहा है। इन दिनों एक कंपनी की 15वीं वर्षगांठ का मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। मुफ्त मोबाइल व अन्य उपहार के लालच में लोग भी अंधाधुंध इस मैसेज को शेयर कर रहे हैं। इस वायरल मैसेज में एक लिंक भेजा जा रहा है। जिस पर क्लिक करते ही एक वेबपेज खुल जाता है। देखने में यह पेज बिलकुल नामी कंपनी जैसा है। पेज खुलते ही उस पर 15वीं एनिवर्सरी का जिक्र आता है और एक-एक करके चार आसान सवाल पूछे जाते हैं। इसके बाद कुछ गिफ्ट बॉक्स स्क्रीन पर नजर आते हैं। इस पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है। दूसरे या तीसरे चांस पर इस बॉक्स में मोबाइल या अन्य उपहार दिखाकर विजेता होने की बधाई दे देती है।
आंखों के सामने फिर पेज पर लिखा आता है कि गिफ्ट पाने के लिए इसे ग्रुपों में शेयर करें। उधर, जब इस कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पड़ताल की तो सामने आया है इस तरह की कोई स्कीम कंपनी ने नहीं निकाली है। कंपनी के अधिकारियों ने लोगों से सतर्क रहने की अपील की है। साइबर एक्सपर्ट भूपेश का कहना है कि लोगों को ठगने या उनका डाटा चोरी करने के लिए साइबर ठग ऐसा जाल बुनते हैं। ऐसी स्थिति में मोबाइल में मौजूद फोटो, वीडियो व अन्य जरूरी डाटा चोरी होने की प्रबल आशंका रहती है। लोगों को समझना चाहिए कि मुफ्त में कोई भी किसी को कुछ नहीं देता। इसलिए लालच से बचना चाहिए। किसी भी फिशिंग लिंक मैसेज पर क्लिक न करें और न ही इन्हें वायरल करें। यदि कोई सेल/डिस्काउंट संबंधित मैसेज भी आए तो कंपनी की आधिकारिक एप या वेबपेज पर जाकर जांच करें। तभी आगे का कदम उठाएं।

 ‍
July 21, 2021

कोरोना मरीजों से ओवरचार्ज वसूल करने वाले प्राइवेट अस्पतालों के खिलाफ जांच शुरू

कोरोना मरीजों से ओवरचार्ज वसूल करने वाले प्राइवेट अस्पतालों के खिलाफ जांच शुरू
अंबाला : कोरोना काल में मरीजों से उपचार के नाम पर अतिरक्ति पैसे की वसूली करने वाले प्राइवेट अस्पतालों  के खिलाफ जांच शुरू हो गई है। प्रशासन की ओर से इसके लिए एक जांच कमेटी गठित की गई है। डीसी विक्रम सिंह ने जांच कमेटी को जरूरी दिशा निर्देश दिए हैं। दरअसल प्रशासन की ओर से कोरोना मरीजों के उपचार के लिए 10 प्राइवेट अस्पतालों पैनल पर लिया था। इन अस्पतालों में कोरोना मरीज के उपचार पर होने वाले खर्च को तय किया था। इसके बावजूद कुछ अस्पतालों से तय खर्च से अतिरक्ति पैसे की वसूली मरीजों से की है। इस सिलसिले में कुछ मरीजों ने प्रशासन के अलावा गृहमंत्री अनिल विज को भी शिकायत दी थी। अब इन अस्पतालों के खिलाफ जांच के लिए एक कमेटी गठित की गई है। 
*आंखों के सामने हर मरीज से पूछताछ से आदेश* :डीसी

 विक्रम सिंह ने जांच कमेटी को प्राइवेट अस्पताल में उपचार के आदेश दिए हैं। उन्होंने जांच कमेटी के हर सदस्य को सभी कोविड मरीजों का रिकॉर्ड लेकर हर मरीज से पूछताछ करने की बात कही है ताकि यह पता चल सके कि मरीज कितने दिन किस अस्पताल में दाखिल रहा। उसने उपचार के दौरान कितने पैसे अस्पताल को दिए। यह पूरी जानकारी रोगी से मोबाइल फोन या फिर व्यक्तिगत तौर पर उससे संपर्क के जरिए हासिल की जा सकती है। सिटी मजिस्ट्रेट को अहम जिम्मेदारी : डीसी ने सीटीएम आंचल भास्कर के नेतृत्व में जांच कमेटी बनाई है। इसके अलावा जांच टीम में मेडिकल ऑफिसर डॉ. कर्तव्य प्रताप सिंह, आईएमए के अध्यक्ष डॉ. अशोक सारवाल, डीईओ ऑफिस के एकाउंट ऑफिसर मदन लाल तथा जीएम हरियाणा रोडवेज कार्यालय के सेक्शन ऑफिसर मुकेश यादव को बतौर सदस्य शामिल किया गया है। यह कमेटी जिला में कोविड-19 प्राइवेट अस्पताल में जांच करेगी। मीटिंग के दौरान जांच टीम के सभी सदस्य व चेयरपर्सन भी मौजूद थी।

 ‍

Tuesday, July 20, 2021

July 20, 2021

कार की बॉडी से बनाई अद्भुत नंदी सफारी

फतेहाबाद में कार की बॉडी से बनाई अद्भुत नंदी सफारी, सैलानियों को आ रही है खुब रास

फतेहाबाद : सफारी नाम सुनते ही मन अपने आप पुलकित हो उठता है। वह चाहे रेगिस्तान सफारी हों या अन्य, रोमांच पैदा हो जाता है। कुछ ऐसा ही सुखद अहसास टोहाना की शिव नंदीशाला में होता है। लेकिन यहां रेगिस्तान सफारी में ऊंट की अहमियत से उपर कार और बैल, दोनों की संयुक्त सफारी का आनंद उठाया जा सकता है। कार की बॉडी वाली इस सफारी में सामाजिक सरोकारों से जुड़े मानव- मूल्यों के दर्शन होते हैं। साथ ही, सरकार के भरोसे गोवंश संवर्द्धन की बांट जोहने वाली गौशालाओं को आत्मनिर्भरता का मैसेज भी मिलता है।

यह अनूठी पहल है , सैलानियों के लिए सुहाने सफर के माध्यम से नंदीशाला को आत्मनिर्भर बनाने का। आइडिया यूं आया कि शिव नंदीशाला के संयोजक व एक निजी स्कूल के प्रिंसिपल धर्मपाल सैनी जब अपने स्कूल के बच्चों को टूर पर ले जाते तो बच्चे धरोहर दर्शन के दौरान बैलगाड़ी देखकर बहुत खुश होते थे। यहीं से मन में ख्याल आया कि क्यों न नंदीशाला में नंदी के सहारे सफारी की पहल की जाएं। प्लान किया गया कि कार की बॉडी और एक बहलवान के साथ नंदी का उपयोग किया जाएं।

कोशिश परवान चढ़ी और तैयार हो गई सफारी और नाम दिया गया नंदी सफारी। फिर चल पड़ी हरियाली से पर्यावरण संरक्षण, रोजगार से ग़रीबी उन्मूलन, जोहड़ से जल संरक्षण आदि जैसे जीवन -मूल्यों के दर्शन की सफारी… . सफारी से होने वाली आमदनी से नंदीशाला की आत्मनिर्भरता… इस जज्बे को सलाम।

*यूं बनी अद्भुत नंदी सफारी*
कार मार्केट से 13 हजार रुपए में एक पूरानी इंडिका कार खरीदी गई। फिर नंदीशाला में ही गेट वगैरह का काम करने वाले नारायणगढ़ के प्रकाश को आइडिया से अवगत कराया। कार का इंजन वाला हिस्सा काटकर हटा दिया गया। शेष हिस्से को जूहा से जोड़ा गया। कार वाले हिस्से में म्यूजिक सिस्टम लगा दिया। तैयार हो गई अनूठी सफारी एक नंदी के सहारे यह चलतीं है।
*दस रुपए टिकट*
नंदीशाला परिसर लगभग सात एकड़ में फैला हुआ है। यहां राधिका गाय है तो कन्हैया नंदी भी। पूरे परिसर में हरियाली मौजूद है। परिसर में फैले मानव- मूल्यों के दर्शन करने में नंदी सफारी से दस मिनट का समय लगता है। टिकट का मूल्य 10 रुपए है।

*शहर में भी चलाने की योजना*
नंदीशाला संयोजक धर्मपाल सैनी ने बताया कि शनिवार और रविवार को सफारी के रोमांच का आनंद उठाने वालों की अच्छी- खासी भीड़ होती है। इस आमदनी से नंदीशाला में गोवंश के पालन-पोषण के लिए काफी सहायता मिलती है। अब इसे शहर में चलाने की योजना बनाई गई है।
हमें Google News www.haryanabulletinnews.com पर फॉलो करें- क्लिक करें । हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़ें
July 20, 2021

हरियाणा में बारिश का कहर

हरियाणा में बारिश का कहर: गुरुग्राम में मॉल की छत गिरी, देखिये मौके की तस्वीरें
गुरुग्राम :  मानसून आ रखा है और ऐसे में झमाझम बारिश हो रही है और यह भारी बारिश कहीं कोई पूरी की पूरी इमारत को ढा दे रही है तो कहीं छत पर अपना कहर बरपा रही है। हरियाणा के गुरुग्राम में भारी बारिश का कहर देखने को मिल रहा है। बारिश के चलते गुरुग्राम में सोमवार को एंबिएंस मॉल की छत गिर गई जिसके कारण मॉल को बंद करना पड़ा। हालांकि छत गिरने से किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

*अंदर भरा पानी….*
अब जब मॉल की छत गिर गई तो ऊपरी हिस्सा खुल जाने के कारण मॉल में बारिश का पानी आने लगा और देखते ही देखते काफी पानी मॉल के अंदर भर गया। बताया जाता है कि मॉल की तीसरे मंजिल की छत गिरी। बतादें कि, इससे पहले बीती रात गुरुग्राम के खवासपुर इलाके में एक तीन मंजिला इमारत ढह गई थी। इस हादसे में तीन लोगों की जान चली गई है। 
*– गुरुग्राम इमारत गिरने की घटना: चल रहा था रेस्क्यू ऑपरेशन, मिलीं इतनी लाशें*

*गुरुग्राम की एक यह भी खबर पढ़िए*
इमारत गिरने की दर्दनाक घटनाएं कई जगह से सामने आती हैं और अब खासकर जब बरसात का मौसम शुरू हो गया है तो ऐसे में कमजोर इमारतों को ढहने में देर नहीं लगती। खबर हरियाणा से है। जहां, बीते रविवार की रात को गुरुग्राम के खवासपुर इलाके में एक तीन मंजिला इमारत ढह गई। देखते ही देखते इमारत मलबे में तब्दील हो चुकी थी। वहीं, इस घटना से इलाके में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। सूचना फौरन पुलिस और प्रशासन को दी गई। जिसके बाद पुलिस और प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंची और बचाव कार्य शुरू किया गया।
बताया गया जब इमारत गिरी उस वक्त इसमें कुछ लोग मौजूद थे जो कि इमारत गिरने के साथ मलबे में दब गए। जिन्हें बचाव कार्य की कड़ी में बाहर निकालने की कोशिश की गई। बतादें कि, बचाव कार्य अभी भी जारी है और बताया जाता है कि बचाव कार्य में अबतक तीन लाशें बरामद हो चुकी हैं। जबकि एक को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।
घटना के संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि, इमारत अच्छी स्थिति में नहीं थी और एक पिलर टूटने से पूरी बिल्डिंग ढह गई। इमारत में गोदाम चलता था ऐसा बताया जाता है। जिसमें घटना के वक्त कुछ मजदूर थे जो कि इमारत गिरने की चपेट में आ गए। फिलहाल, शुरू किया बचाव कार्य अब समाप्ति की ओर है। पूरे मलबे को लगभग साफ़ कर लिया गया है। अगले 1-2 घंटों में मलबा पूरी तरह से साफ हो जाएगा।FacebookTwitterWhatsAppShare www.haryanabulletinnews.com