/>

Breaking

Friday, February 5, 2021

वर्ल्ड कैंसर डे:पानीपत में स्वास्थ्य विभाग नहीं, रोडवेज निगम से पता लगती है कैंसर रोगियों की संख्या

वर्ल्ड कैंसर डे:पानीपत में स्वास्थ्य विभाग नहीं, रोडवेज निगम से पता लगती है कैंसर रोगियों की संख्या


पानीपत : आज वर्ल्ड कैंसर डे है। किसी भी बीमारी और उसके मरीजों का आंकड़ा स्वास्थ्य विभाग के पास होता हैं, लेकिन पानीपत के कैंसर मरीजों का आंकड़ा स्वास्थ्य विभाग नहीं, रोडवेज निगम के पास होता है। दरअसल पानीपत में कैंसर के मरीजों की प्रारंभिक जांच की सुविधा नहीं है। कैंसर की प्रारंभिक जांच के लिए जिले के लोगों को रोहतक PGI जाना पड़ता है। इसके साथ हरियाणा में कैंसर मरीजों को फ्री बस पास जारी किए जाते हैं। पानीपत में भी फ्री बस पास की संख्या को ही कैंसर रोगियों की संख्या का आधार माना जाता है। 2020 में पानीपत में कैंसर रोगियों को 71 फ्री बस पास जारी किए गए।

*बीते तीन साल में 400, इस बार 71 नए मामले*

2020 वैसे तो लोगों के लिए दुखदायी रहा, लेकिन कैंसर के मामले में 2020 में कमी आई है। पानीपत में 2017 से 2019 तक कैंसर के 400 मरीज सामने आए थे। 2020 में 71 लोग ही कैंसर पीड़ित मिले। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि उद्योग नगरी पानीपत में दूसरे प्रदेशों के लोगों की संख्या अधिक है। प्रवासी लोग तंबाकू पदार्थों का सेवन अधिक करते हैं। जिससे मुंह के कैंसर के मामले सर्वाधिक हैं। इसके बाद महिलाओं में यूट्रस कैंसर और स्तन कैंसर के मामले आते हैं।

इस बार की थीम 'मैं हूं और मैं रहूंगा'

कैंसर के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से समय-समय पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इस बार कैंसर से लड़ने के लिए 'मैं हूं और मैं रहूंगा' थीम रखी है। इसी थीम पर आज सिविल अस्पताल, CHC और PHC में जागरूकता कार्यक्रम किए जाएंगे।
*ये हैं कैंसर के प्रमुख लक्षण*

*कब्ज होना, सामान्य से अधिक दस्त*

*स्तन या शरीर में गांठ होना, जिसमें दर्द न हो*

*घाव या छाला न भरना*

*कहीं से भी असामान्य रक्त बहना*

*मसा में अचानक बढ़ोत्तरी*

*लगातार खांसी, गले में खराश के साथ खून आना*

No comments:

Post a Comment