/>

Breaking

Friday, September 18, 2020

कुरुक्षेत्र:इफको ने राष्ट्रीय पोषण दिवस कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बांटे न्यूट्री गार्डन के लिए बीज पैकेट

कुरुक्षेत्र:इफको ने राष्ट्रीय पोषण दिवस कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बांटे न्यूट्री गार्डन के लिए बीज पैकेट

कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ संयोजक डॉ. प्रद्युम्मन भटनागर ने कहा कि असंतुलित आहार व अपर्याप्त भेजन के लिए सदैव धन की कमी ही जिम्मेदार नहीं होती बल्कि लोगों को आहार एवं पोषण का बुनियादी ज्ञान होना आवश्यक है। महिलाओं के पोषण स्तर में सुधार लाने के लिए पोषण वाटिका न्यूनतम निवेश वाला लाभकारी उपक्रम है।

डवे गुरुवार को कृषि विज्ञान केंद्र में इफको के राष्ट्रीय पोषण दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। कार्यक्रम में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया और इफको की ओर से न्यूट्री गार्डन के लिए बीज पैकेट वितरित किए गए। कार्यक्रम की अध्यक्षता इफको जिला प्रबंधक डॉ. शमशेर सिंह ने की। कार्यक्रम का संचालन केवीके की वरिष्ठ गृह विज्ञान वैज्ञानिक डॉ. प्रेम लता ने किया और उन्होंने महिलाओं को पोषण थाली में तिरंगा भोजन शामिल करने का आह्वान किया।

इफको जिला प्रबंधक डॉ. शमशेर सिंह सागवाल ने कहा कि महिलाओं के पोषण को लेकर जागरुकता जरूरी है। इफको की ओर से समय-समय पर महिलाओं व किसानों को न्यूट्री गार्डन के बीज पैकेट उपलब्ध कराए जाते हैं ताकि वे घर में ही सब्जियों का उत्पाद कर सकें, जिससे आहार संतुलित हो और पोषण की मात्रा भी बढ़े।

इफको के डीजीएम डॉ. ओंकार सिंह ने कहा कि इफको की गतिविधियों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि न्यूट्री गार्डन में रासायनिक उर्वरकों की बजाय बायो फर्टिलाइजर व बायोसीड बायो पेस्टी साइड का उपयोग किया जाता है, जिसमें पोषण की मात्रा ज्यादा होती है। केंद्र के पादप रोग वैज्ञानिक डॉ. फतेह सिंह ने बायो फोर्टिफाइड किस्मों के बारे में विस्तार से बताया।

No comments:

Post a Comment