/>

Breaking

Tuesday, May 25, 2021

पत्रकार बोलीं- खुद को कोरोना हुआ तो कोरोनिल क्यों नहीं लिए?

   खट्टर के मंत्री का ऐलान- 1 लाख कोरोनिल बांटेगी सरकार, पत्रकार बोलीं- खुद को कोरोना हुआ तो कोरोनिल क्यों नहीं लिए?

चंडीगढ : बीते हफ्ते हरियाणा की खट्टर सरकार द्वारा हिसार में कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन किया गया था। खट्टर सरकार का कहना है कि कोरोना महामारी में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करने के लिए उनकी सरकार पूरी तरह से प्रतिबंध है।
इसी बीच हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के बयान ने हंगामा मचा दिया है।
दरअसल खट्टर सरकार अब कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए लोगों को पतंजलि की कोरोनिल किट बांट रही है।
इस मामले में भाजपा नेता और राज्य स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर कहा है कि “हरियाणा में कोविड मरीजों के बीच एक लाख पतंजलि की कोरोनिल किट मुफ्त बांटी जाएंगी । कोरोनिल का आधा खर्च पतंजलि ने और आधा हरियाणा सरकार के कोविड राहत कोष ने वहन किया है।”
हरियाणा सरकार के इस फैसले के चलते भाजपा एक बार फिर विपक्षी दलों के निशाने पर आ चुकी है। दरअसल बाबा रामदेव ने हाल ही में एलोपैथी दवाओं को लेकर विवादित बयान दिया था।
इस मामले में पत्रकार तनुश्री पांडे ने भी भाजपा सरकार को घेरा है। उन्होंने लिखा है कि “आपने Coronil खाई थी जब आपको Covid हुआ था? जिस अस्पताल में आपका इलाज हुआ क्या वहां आपको क्या डॉक्टरों ने आपको कोरोनिल दी थी?
नहीं उन्होंने आप का इलाज एलोपैथी दवाओं के साथ किया था। मतलब नेताओं के लिए बड़े हॉस्पिटल और जान बचाने वाली दवाई और जनता के लिए सिर्फ कोरोनिल।”

जानकारी के लिए आपको बता दें कि आईसीएमआर ने बाबा रामदेव द्वारा तैयार की गई कोरोनिल को मंजूरी नहीं दी थी। वहीँ एलोपैथी को लेकर दिए गए बयान पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन भी काफी नाराज है।
अब पतंजलि द्वारा कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों को संक्रमण से बचाने के लिए भी कोरोनिल किट को असरदार बताया गया है।
माना जा रहा है कि देश में वैक्सीन की किल्ल्त होने के चलते भाजपा शासित हरियाणा में मरीजों को कोरोनिल किट बांटी जा रही है।

No comments:

Post a Comment