/>

Breaking

Saturday, June 26, 2021

स्मार्ट बनें और नशे से दूर रहे : डा. भोला

स्मार्ट बनें और नशे से दूर रहे : डा. भोला 
नशीली दवाओं के दुरुपयोग से बचाव को लेकर हुआ सेमिनार 
जींद : (संजय कुमार ) हरियाणा स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के तत्वावधान में जींद के सिविल अस्पताल में सेमिनार हुआ। इसमें नागरिक अस्पताल के डिप्टी एमएस डा. राजेश भोला, डा. संदीप लोहान, डा. राघव, सतीश देशवाल, अभिषेक, सरोज मौजूद रहे। यहां डा. राजेश भोला ने नशीली दवाओं के दुरुपयोग के बारे में मरीजों और उनके तिमारदारों काे जानकारी दी। डा. राजेश भोला ने कहा कि नशा हर वर्ग के लिए हानिकारक है। अगर युवा नशे की गिरफ्त में आएगा तो खुद के साथ-साथ परिवार और समाज के लिए भी खतरा बन सकता है। 
21 जून से लेकर 26 जून तक एचआईवी एड्स और नशे से बचाव को लेकर जागरूकता अभियान चलेगा। इसमें दो गाड़ियां दो दिनों तक शहर में लोगों को जागरूक करने का काम करेंगी। वहीं ट्रक यूनियन और स्लम एरिया में जागरुकता कैंप का भी आयोजन किया गया। यहां डा. संदीप लोहान और डा. राजेश भोला ने कहा कि किसी भी देश का भविष्य और तरक्की उस देश के युवाओं पर टिकी होती है और अगर युवा ही नशे की चपेट में आ गए तो देश की तरक्की में बाधा पैदा हो जाएगी। इसलिए युवा वर्ग को नशे से बचाना बहुत जरूरी है। अगर जींद के सिविल अस्पताल की बात की जाए तो यहां 342 लोगों का इलाज चल रहा है, जो नशे को छोड़ना चाहते हैं। यूं तो नशा कई प्रकार का होता है लेकिन कई युवा इंजेक्शन के जरिए नशा करते हैं, इससे एचआईवी का खतरा बढ़ जाता है। अगर कोई व्यक्ति नशा छोड़ना चाहता है तो प्रदेश सरकार द्वारा ओएसडी कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसमें इंजेक्शन का नशा करने वालों को खाने की गोलियां दी जाती हैं, जिससे एचआईवी और दूसरे खतरे को रोका जा सकता है। सरकार के कार्यक्रम के तहत जो ओएसटी की गाेलियां दी जाती है, वह पूरी तरह से सुरक्षित हैं और डाक्टर की निगरानी में ही दी जाती हैं। इनका असर 24 से 72 घंटे तक रहता है। यह गोलियां पीसकर जीभ के नीचे रखी जाती हैं। इससे नशे की लत पर काबू पाया जा सकता है। डा. राजेश भोला ने कहा कि 26 तक चलने वाले इस अभियान में लोगों को जागरूक करते हुए नशे से दूर रहने का आह्वान किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment