/>

Breaking

Sunday, June 6, 2021

खट्टर सरकार को किसानों ने दी चुनौती, बोले- दम है तो गिरफ्तार करे, देखते हैं जेल में कितनी जगह है

   

खट्टर सरकार को किसानों ने दी चुनौती, बोले- दम है तो गिरफ्तार करे, देखते हैं जेल में कितनी जगह है
नई दिल्ली : हरियाणा के टोहाना में जननायक जनता पार्टी के विधायक देवेंद्र बबली और किसानों के बीच हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस विवाद की वजह से हरियाणा सरकार एक बार फिर किसान संगठनों के निशाने पर आ चुकी है।
जिसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने जजपा विधायक देवेंद्र बबली से बैठक की है। दरअसल खट्टर सरकार द्वारा इस विवाद को जल्द से जल्द सुलझाने की कोशिश की जाने लगी है।
दूसरी तरफ से विधायक देवेंद्र बबली और किसान संगठन अपनी अपनी जिद पर अड़े हुए हैं।
मामला ये है कि विधायक देवेंद्र बबली और किसानों में 1 जून को अस्पताल में आई नई एक्स-रे मशीनों के उद्घाटन को लेकर विवाद हुआ था।
किसानों ने विधायक देवेंद्र बबली पर गाली गलौज करने का आरोप लगाकर धरना प्रदर्शन शुरू किया था। इस कड़ी में किसानों ने रोष जलूस भी निकाला और एसडीएम कार्यालय का घेराव भी किया।
इस कड़ी में किसान नेताओं द्वारा जजपा विधायक देवेंद्र बबली से माफी की मांग की जा रही है।
भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने ऐलान किया है कि अगर 6 जून तक किसानों से माफ़ी नहीं मांगी गई। तो 7 जून को जेलों का सभी पुलिस थानों का घेराव किया जायेगा।
अब भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने ट्वीट कर हरियाणा सरकार पर हमला बोला है।
उन्होंने लिखा है कि सरकार को किसान को जेल में डालने का इतना ही शौक है। तो सरकार अपनी जेल तैयार करें। हम सुबह गिरफ्तारी के लिए टोहाना आ रहे हैं। देख लेंगे सरकार के पास कितने जेलें हैं।
आपको बता दें कि कुछ लोगों द्वारा विधायक देवेंद्र बबली के आवास का घेराव भी किया है। जिसके बाद पुलिस ने कई युवाओं को गिरफ्तार कर लिया है।
इसके अलावा भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत के नेतृत्व में शनिवार को भी टोहाना थाने का घेराव किया गया है।

No comments:

Post a Comment