/>

Breaking

Wednesday, July 29, 2020

जाट धर्मशाला में एक अगस्त को होगी पेंशनर ज्वाइंट एक्शन कमेटी की बैठक

जाट धर्मशाला में एक अगस्त को होगी पेंशनर ज्वाइंट एक्शन कमेटी की बैठक


जींद, 29 जुलाई ( संजय तिरँगाधारी )
राजकीय पैंशनरज कर्मचारी-अधिकारी एसोसिएशन जींद के प्रधान एवं ज्वाइंट एक्शन कमेटी के संयोजक किताब सिंह भनवाला ने बताया कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के आधार पर केंद्रीय सरकार ने अपने सेवानिवृत्त कर्मचारियों से पूर्व रिटायर्ड होने वाले कर्मचारियों की पैंशन एक विशेष फार्मूले के तहत संशोधित करने के आदेशों के अनुसार 31 दिसंबर 2017 तक सभी कर्मचारियों की पैंशन संशोधित कर दी थी। उनसे कोई परफोर्मा या रिकार्ड भी नहीं मांगा था। इसी तर्ज पर हरियाणा सरकार ने भी अपने रिटायर्ड कर्मचारियों की पेंशन संशोधित करने के आदेश 10 जनवरी 2018 को कर दिये थे। उसके बाद चार बार अलग-अलग आदेश देकर केस मंगवाये गये, परंतु वित्त विभाग और महालेखाकार हरियाणा के बीच सही सांमजस्य न होने के कारण मामले लटके हुए हैं। अब पांचवीं बार नया परफोर्मा भेजाग या है। इसके अनुसार सभी पैंशनरों ने पुन: अपने केस भेजने हैं। यह परफोर्मा पैंशनरज के लिए 31 कालम का है और पारिवारिक पैंशन के लिए 32 कालम का है, जिसको भरना सरल नहीं है। पैंशन संशोधन के नाम पर बूढ़े वरिष्ठ नागरिकों को इतना परेशान किया गया है कि ब्यान करना कठिन है। इस पैंशन संशोधन प्रक्रिया में अनेक प्रकार की समस्याएं और विसंगतियां सरकार ने पैदा कर दी है। बार-बार मांग पत्र देने के बावजूद सरकार तथा वित्त विभाग, मंत्रियों तथा मुख्यमंत्री ने कोई ध्यान नहीं दिया हैं। अब नये परफोर्मा तथा सरकार द्वारा की गई अनदेखी बारे विचार-विमर्श करने के लिए ज्वाइंट एक्शन कमेटी की बैठक एक अगस्त को जाट धर्मशाला में बुलाई गई है।

No comments:

Post a Comment