/>

Breaking

Sunday, July 26, 2020

मात्र दस रुपये में किसी भी प्रदेश में राखी पहुंचाएगा डाक विभाग, विभाग ने जारी किया लिफाफा

मात्र दस रुपये में किसी भी प्रदेश में राखी पहुंचाएगा डाक विभाग, विभाग ने जारी किया लिफाफा

]


हिसार : डाक विभाग ने भाई-बहनाें काे एक और ताेहफा दिया है। मात्र दस रुपये में देश के किसी भी प्रदेश में राखी पहुंचाई जा सकेगी। इसके लिए डाक विभाग ने एक लिफाफा जारी किया है। इसका लाभ प्रतिदिन बहनें ले रही हैं। यही नहीं राखी पहुंचाने के लिए प्रतिदिन बढ़ती जा रही लाेगाें की भीड़ काे देखते हुए डाक विभाग के अधिकारी सभी डाकघराें में एक और काउंटर खाेलने की तैयारी में हैं।
दरअसल, इस बार 3 अगस्त काे भाई-बहन के प्यार का प्रतीक रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाएगा। इसकाे लेकर भाई और बहनाें ने तैयारी शुरू कर दी है, हालांकि काेराेना का असर भी इस बार रक्षाबंधन पर्व पर भी देखने काे मिल रहा है। इस बार घर से दूर रहने वाले भाइयाें काे राखी पहुंचाने के लिए बहनाें और परिवार के अन्य सदस्याें की भीड़ भी डाकघराें में उमड़ रही है। ताकि कोरोना काल में त्योहार पर ट्रेवल न करना पड़े।
हिसार डाक मंडल के अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि भाई-बहन काे रक्षाबंधन के पर्व पर ताेहफा दिया गया है। इसके तहत इस बार मात्र दस रुपए में राखी एक से दूसरे स्थान पर पहुंचाई जा सकेगी। इसके लिए लिफाफा जारी किया है। हालांकि विदेशाें में राखी भेजने के रेट अलग है। मंडल अधीक्षक का कहना है कि प्रयास है कि राखी पहुंचाने में लाेगाें काे किसी भी तरह की परेशानी न हाे।

भीड़ काे देखते हुए बढ़ाया जा सकता है एक और काउंटर

हिसार के अलावा फतेहाबाद, सिरसा, भिवानी के डाकघराें में प्रतिदिन लाेगाें की बढ़ रही भीड़ काे देखते हुए एक की बजाय काउंटर दाे करने पर मंथन चल रहा है। भीड़ बढ़ते ही काउंटरों की संख्या दाे कर दी जाएगी।
कोरोना के चलते मास्क का भी किया जा रहा वितरण
काेराेना से बचाव के मद्देनजर सभी डाकघराें में सेनिटाइजर की उचित व्यवस्था की गई है। मास्क पहनकर नहीं पहुंचने वालाें काे मास्क भी उपलब्ध कराया जा रहा है। सभी लाेगाें काे भी सेनिटाइजर से लेकर मास्क का प्रयाेग करने के निर्देश दिए गए हैं।
राखियाें काे समय पर पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले विभाग के कर्मचारियों का ब्याेरा जुटाया जा रहा है। ऐसे कर्मचारियाें काे रक्षाबंधन के बाद सम्मानित किया जाएगा, ताकि उनका हाैसला बढ़े। साथ ही अन्य कर्म चारी भी सीख ले सकें।'' -संजय कुमार , मंडल अधीक्षक

No comments:

Post a Comment