/>

Breaking

Saturday, September 19, 2020

समस्या:एग्जाम खत्म हाेने पर आधे घंटे में जमा करनी होती है आंसर शीट, 3 दिन से परेशान छात्र भटक रहे

समस्या:एग्जाम खत्म हाेने पर आधे घंटे में जमा करनी होती है आंसर शीट, 3 दिन से परेशान छात्र भटक रहे

 

जिलेभर से स्टूडेंट्स पहुंच रहे शहर के प्रमुख कॉलेजों में, केयूके ने अब जारी की नई ईमेल आईडी

कॉलेजों में सभी कक्षाओं की परीक्षा चल रही है। ऐसे में कुछ विद्यार्थियों को अपनी आंसर शीट की कॉपी जमा करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं कुछ विद्यार्थियों ने आंसर शीट जमा तो की परंतु तीन दिन बाद उन्हें मेल सेंड न होने व मैसेज फेल का नोटिफिकेशन मिल रहा है। विद्यार्थियों को यह आंसर शीट परीक्षा खत्म होने के आधे घंटे के भीतर जमा करवानी है।

ऐसे में तीन दिन तक शीट जमा न होने से विद्यार्थियों ने परेशान होकर अपने कॉलेजों की ओर रूख किया। परंतु उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पाया। विद्यार्थियों को एक से दूसरे स्थान पर भेजा गया। नारनौ‌ंद से जाट कॉलेज में अपनी आंसर शीट जमा करवाने पहुंचे एक छात्र ने बताया कि उसने आंसर शीट तीन दिन पहले जमा की थी। परंतु तीन दिन बाद ईमेल फेल होने व शीट जमा न होने का नोटिफिकेशन मिला। जिसके बाद नारनौ‌ंद के कॉलेज में जाकर समस्या बताई।

उन्होंने जाट कॉलेज में भेज दिया। जिसके बाद वह जाट कॉलेज गया जिससे उसने अपनी पढ़ाई पूरी की थी। जब जाट कॉलेज में गया तो उन्होंने कहा कि शहर में कुवि का एकमात्र कॉलेज इंपीरियल कॉलेज है। बाकि दो कॉलेज शहर से बाहर हैं। वह तीनों में से किसी भी कॉलेज में जाकर जमा करवाएं। इंपीरियल कॉलेज को शीट जमा करने के लिए किसी भी प्रकार का लिखित आदेश प्राप्त नहीं था।

जिसके कारण उन्होंने शीट जमा नहीं की परंतु कॉलेज द्वारा विद्यार्थी की समस्या विवि के सीओई को दी गई। जिसके बाद कुवि ने कुछ अन्य ईमेल आईडी जारी की जिसपर विद्यार्थी अपनी आंसर शीट जमा कर सकते हैं। इसी प्रकार बरवाला, हांसी व शहर से भी काफी संख्या में विद्यार्थी इस समस्या को लेकर कॉलेजों में पहुंचे। इंपीरियल कॉलेज के डायरेक्टर डॉ. सत्य सुरेंद्र सिंगला ने बताया कि कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों की चल रही परीक्षाओं में उत्तर पुस्तिका अपलोड करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसे देखते हुए प्रशासन की ओर से उत्तर पुस्तिका अपलोड करने के लिए विद्यार्थियों को कई विकल्प दिए हैं।

No comments:

Post a Comment