/>

Breaking

Saturday, September 19, 2020

बैठक:राष्ट्रीय आजीविका मिशन के ऋण केसों का दस दिन में निपटारा करने के दिए निर्देश

बैठक:राष्ट्रीय आजीविका मिशन के ऋण केसों का दस दिन में निपटारा करने के दिए निर्देश


डीसी अजय कुमार ने शुक्रवार को बैंकों की जिला स्तरीय समीक्षा समिति की बैठक लेकर विभिन्न ऋण सहायता योजनाओं की समीक्षा की और उनके लक्ष्य को निर्धारित समयावधि में पूरा करने के निर्देश दिए। लीड बैंक मैनेजर बीके धींगड़ा ने सभी बैंकों की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की। डीसी ने बैंक अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे 23 सितंबर तक उनसे संबंधित किसान पशुधन क्रेडिट कार्ड योजना के तहत कार्ड बनाने के उनके पास पेंडिंग केसों का 50 प्रतिशत हर हाल में पूरा करें। उन्होंने कहा कि जिला का लक्ष्य इस महीने के अंत तक हर हाल में पूरा करना है।

इसी प्रकार से उन्होंने राष्ट्रीय आजीविका मिशन के ऋण केसों का भी दस दिन में निपटारा करने के निर्देश दिए। डीसी ने कहा कि कोविड की वजह से भले ही कुछ कार्य धीमा रहा हो, लेकिन इसे अब स्पीड देनी होगी। सभी बैंक अपने-अपने टारगेट निर्धारित समयावधि में पूरा करें। बैठक में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति बीमा योजना, मुद्रा योजना, डिजीटल ट्रांजक्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना, एनआरएलएम, किसान पशु क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री रोजगार गारंटी योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व पेंशन योजना सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि बैंक में लोन लेने के लिए आने वाले नागरिक से जरूरी दस्तावेज पहले ही मांगे और ताकि उनको ऋण के लिए बार-बार चक्कर न लगाने पड़ें। उन्होंने निर्देश दिए जरूरतमंदों को ऋण प्रदान करें ताकि वे अपना रोजगार शुरु कर सकें। डीसी ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों के खाते से बीमा राशि काटकर समय से बीमा कंपनी को प्रेषित करें और पोर्टल पर किसानों का डाटा समय से और सही तरह से अपलोड करें ताकि किसानों को बीमा कंपनी से उनकी खराब फसल का मुआवजा मिल सके।

एडीसी राहुल नरवाल ने कहा कि बैंक अधिकारी सरकार की ऋण संबंधी योजनाओं को सही ढंग से मूर्तरूप प्रदान करें। ये योजनाएं जरूरतमंदों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने वाली हैं। इस दौरान नाबार्ड से डीडीएम सोहनलाल ने भी नवीनतम योजनाओं की जानकारी दी। बैठक में विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment