/>

Breaking

Saturday, September 19, 2020

शर्मनाक:पितृ पक्ष अमावस्या पर तला हुआ गो ग्रास खिलाने से 10 गायों की मौत, 36 की हालत बिगड़ी

शर्मनाक:पितृ पक्ष अमावस्या पर तला हुआ गो ग्रास खिलाने से 10 गायों की मौत, 36 की हालत बिगड़ी

पितृ पक्ष अमावस्या पर गुरुवार को शहर में अत्याधिक मात्रा में गो ग्रास खिलाने से हुई दस गायाें की मौत के विरोध में शुक्रवार को गो रक्षकों ने गोशाला में धरना दिया और प्रशासन के प्रति रोष जताया। साथ ही आरोपी लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की। गो रक्षकों ने गायों की मौत के लिए प्रशासन को भी जिम्मेदार ठहराया है। उधर बवानीखेड़ा में भी अत्याधिक गो ग्रास से एक दर्जन गाय बीमार हो गई।

पितृ पक्ष व अमावस्या पर गुरुवार को लोगों ने अपने पितृ पक्ष को खुश करने के लिए परंपरा के अनुसार गायों को गो ग्रास खिलाया। शहर में अनेक स्थानों पर खड़ी बेसहारा गायों को लोगों ने अत्याधिक मात्रा में पूरियांं खिला दीं। इससे शहर में 46 गाय बीमार हो गईं और 10 गायों की मौत हो गई। शेष गाय अभी भी जीवन व मौत के बीच संघर्ष कर रही है। इसके विरोध में शुक्रवार को गो रक्षकों ने संजय परमार के नेतृत्व में गोशाला में ही मृतक गायों के शव रखकर धरना दिया और प्रशासन के खिलाफ रोष जताया। घायल गायों का गोशाला में पशु चिकित्सक उपचार कर रहे हैं लेकिन 36 गायों की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है।

अपील की थी फिर भी हर वर्ष की तरह की गलती


गोरक्षकों ने कहा कि पितृ पक्ष अमावस्या पर हर वर्ष अत्याधिक गो ग्रास से होने वाली गायों की मौत के लिए प्रशासन जवाबदेही तय करें। गोरक्षा दल कई सालों से पितृपक्ष अमावस्या से कई दिन पहले ही शहर में प्रचार कर नागरिकों से तली हुई वस्तुएं अधिक मात्रा में गायों को न खिलाने की अपील करता है। फिर भी लोग गाय को अत्याधिक गो ग्रास देते हैं, इससे गायों की मौत हो जाती है। इस बार डीसी अजय कुमार ने भी आदेश जारी किए थे कि रोड पर खड़ी गाय को कोई भी गो ग्रास नहीं देगा लेकिन फिर भी लोगों ने प्रशासन के आदेशों की अवहेलना की गई।

अफारे और इंफेक्शन से हुईं मौत : पशु चिकित्सक


गोशाला में अत्याधिक गो ग्रास से दर्द में तड़प रही गायों का उपचार करने वाले पशु चिकित्सक मोहनलाल ने बताया कि पेट में अफारे व खून में इंफेक्शन के कारण गायों की मौत हुई। पितृपक्ष पर जिन गायों को अत्याधिक गाे ग्रास खिलाया गया उन गायों का स्वास्थ्य खराब हुआ है। 46 गाय बीमार हो चुकी है इनमें से 10 गायों की मौत भी हाे चुकी है।

No comments:

Post a Comment