/>

Breaking

Wednesday, September 23, 2020

शिक्षा को पटरी पर लाने की तैयारी:कोरोना काल में सप्ताह में तीन घंटे की कक्षाएं लगा सकेंगे विवि-कॉलेज के स्टूडेंट्स, डीएचई ने शेड्यूल तैयार कर मांगे सुझाव

शिक्षा को पटरी पर लाने की तैयारी:कोरोना काल में सप्ताह में तीन घंटे की कक्षाएं लगा सकेंगे विवि-कॉलेज के स्टूडेंट्स, डीएचई ने शेड्यूल तैयार कर मांगे सुझाव

रोहतक : कोराेना काल में स्कूलों के बाद उच्चतर शिक्षा विभाग ने विवि और कॉलेजों को खोलने का मन बना लिया है। इसके लिए शिक्षकों से रायशुमारी मांगी है कि कॉलेज व विवि को खोलने के लिए किस तरह का पैटर्न प्रयोग किया जाए। फिलहाल कॉलेजों व विवि में दाखिला प्रक्रिया चल रही है। फाइनल की परीक्षा कराना बड़ी चुनौती है। अब स्कूलों की तर्ज पर विवि व कॉलेज खोलने की भी तैयारी की जा रही है।
इसके लिए 25 सितंबर तक सभी विवि के रजिस्ट्रार, कॉलेजों के प्रिंसीपल व निजी विवि से भी रायशुमारी मांगी गई है। इसी के आधार पर अब आगामी शेड्यूल तैयार किया जाएगा। ऐसे में 26 सितंबर को सुझाव के मुताबिक ट्रायल भी करवाया जा सकता है। फिलहाल उच्चतर शिक्षा निदेशालय ने अपनी ओर से एक शेड्यूल बनाकर सभी विवि व कॉलेजों के मुखियाओं को भेजा है कि यदि सप्ताह में दो कक्षा को सिर्फ दो ही दिन लगाया जाए तो इसका किस तरह का असर रहेगा। चूंकि विवि व कॉलेजों में स्टूडेंट्स को सिर्फ सवालों के समाधान के लिए ही बुलाया जाएगा। जबकि पढ़ाई ऑनलाइन तरीके से ही चलती रहेगी।

फ्रेश बैच की 1 नवंबर से कक्षाएं

केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक 30 सितंबर तक सभी शैक्षिक संस्थान में पढ़ाई संबंधी गतिविधियों को बंद किया है। राज्य सरकार ने तय किया कि यूजी के पहले और दूसरे वर्ष की कक्षाओं के अलावा पीजी पहले वर्ष की कक्षाओं को निर्धारित टाइम टेबल पर लगाया जाए। फ्रेश बैच के लिए 1 नवंबर से कक्षाएं लगाने की सलाह दी है।

कॉलेज खोलना छात्र हित में

हरियाणा कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. दयानंद मलिक कहते हैं कि विवि व कॉलेज को खोलना स्टूडेंट्स के हित में रहेगा। चूंकि कई विषयों के न्यूमेरिकल हो या अन्य तरह के सवालों को बच्चा ऑनलाइन नहीं समझ पाता है। यह कक्षाओं में ही संभव है। प्रिंसीपल को नियमों की पालना अनिवार्य तौर पर करानी होगी।
अभी डीएचई ने तैयार किया यह शेड्यूल

कक्षा समय दिन बीए प्रथम वर्ष सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक सोमवार-मंगलवार बीकॉम और बीएससी प्रथम वर्ष दोपहर 12:30 बजे से 3:30 बजे तक सोमवार-मंगलवार बीएड वर्ष सुबह 9:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक बुधवार-गुरुवार बीकॉम द्वितीय और बीएससी द्वितीय वर्ष दोपहर 12.30 बजे से 3.30 बजे तक बुधवार-गुरुवार बीए द्वितीय वर्ष और पीजी प्रथम वर्ष सुबह 9 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक शुक्रवार शनिवार बीकॉम तृतीय, बीएससी तृतीय और पीजी दोपहर 12.30 बजे से 3.30 बजे तक शुक्रवार शनिवार

स्टूडेंट्स यूनियन भी चाहती हैं कॉलेज खुले, पर सभी तैयारी पहले पूरी हो जाएं

प्रदेश में विवि-कॉलेजों को खोलना स्टूडेंट्स के हित में हैं, लेकिन विवि व कॉलेजों को पहले तैयारी कर लेनी चाहिए। फिर 50 किमी दूर यानि बाहर से आने वाले स्टूडेंट्स के लिए हॉस्टल भी खोले जाने चाहिए। परीक्षाओं में हॉस्टल की सुविधा नहीं दी गई। -प्रदीप देशवाल, प्रदेशाध्यक्ष, इनसो।

जब स्कूल खोले जा सकते हैं तो विवि और कॉलेज क्यों नहीं : एनएसयूआई

जब स्कूल खोले जा सकते हैं तो प्रदेश के विवि-कॉलेज को भी सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगवाने के साथ खोला जा सकता है। हॉस्टल लेने वाले स्टूडेंट का कोविड-19 का पहले टेस्ट करवाया जाए। इसके बाद ही हॉस्टल का रूम दिया जाए। -अमन वशिष्ठ, राज्य प्रवक्ता, एनएसयूआई।

No comments:

Post a Comment