/>

Breaking

Showing posts with label Youth News. Show all posts
Showing posts with label Youth News. Show all posts

Friday, July 9, 2021

July 09, 2021

हरियाणा में स्कूलों और कॉलेजों को खोलने की तैयारी, जानिये सरकार क्या बना रही है फॉर्मुला ?

हरियाणा में स्कूलों और कॉलेजों को खोलने की तैयारी, जानिये सरकार क्या बना रही है फॉर्मुला ?


नई दिल्ली : कोरोना काल में स्कूल और कॉलेजों पर ताले लगे हुए है। लेकिन पिछले कुछ महीनों में कोरोना के केस कम हो गया है। जिसकी वजह से हरियाणा में स्कूल और कॉलेज को खोलने की तैयारी कर चल रही है। जिसके लिए मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने आदेश जारी कर दिए है।

हरियाणा पहला ऐसा प्रदेश होगा जहां नई शिक्षा नीति को लागू किया जाएगा। आने वाले 5 सालों में हरियाणा में यह नीति लागू की जाएगी। उम्मीद है कि ये नीति 2030 में लागू होगी, लेकिन हरियाणा में इसे 2025 में लागू कर दिया जाएगा।
राज्‍य के मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में इसको लेकर रोडमैप तैयार कर लिया गया। मुख्‍यमंत्री ने राज्‍य के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर और शिक्षा अधिकारियों के साथ नई शिक्षा नीति लागू करने को लेकर मंथन किया।
बैठक में प्राइमरी एजुकेशन, हायर एजुकेशन, सेकेंडरी एजुकेशन और टेक्निकल एजुकेशन से जुड़े अधिकारियों ने शिरकत की। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बैठक में निर्देश दिए कि दूसरी लहर में बंद हुए स्कूल-कालेजों को जल्द खोलने की योजना बनाई जाए।


नई नीति के तहक कोविड-19 प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करते हुए शिक्षण संस्थानों में पर्याप्त व्यवस्था दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्कूल छोड़ने वाले बच्चों का सौ फीसद दाखिला सुनिश्चित किया जाए।

बैठक में फैसला किया गया है कि कोविड की वजह से स्कूलों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए। इन स्कूलों में आवासीय सुविधा भी हो। इन स्कूलों के लिए क्लस्टर प्लान बनाया जाए। नई शिक्षा नीति तीसरी क्लास से लेकर हायर एजुकेशन पर लागू होगी।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय और महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक में केजी से पीजी तक की शिक्षा शुरू होगी। हरियाणा सरकार प्राइवेट सेक्टर के साथ मिलकर प्रदेश को शिक्षा का हब बनाएगी। नई शिक्षा नीति में अनुसंधान पर ज्यादा जोर रहेगा।

हरियाणा उच्चतर शिक्षा परिषद नई शिक्षा नीति को लागू करने की निगरानी करेगी। सीएम मनोहरलाल ने कहा कि अब तक देश में बच्‍चों की शिक्षा छह साल कर आयु से शुरू होती थी, लेकिन अब सरकार आंगनवाड़ी के जरिए तीन साल की आयु से ही बच्‍चों की शिक्षा शुरू करेगी।
बैठक में शिक्षामंत्री कंवर पाल गुर्जर ने बताया कि चार हजार प्ले-वे स्मार्ट स्कूलों में से एक हजार स्कूल बन कर तैयार हैं। जैसे ही शैक्षणिक संस्थान दोबारा खुलेंगे, वैसे ही इन प्ले-वे स्कूलों में दाखिला प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। शेष तीन हजार स्कूल खोलने का लक्ष्य भी इसी वर्ष प्राप्त कर लिया जाएगा।
मनोहरलाल ने कहा कि भविष्य की जरूरतों के हिसाब से पाठ्यक्रम में बदलाव किया जाएगा। अब तक बच्चे एक ही विषय को पढ़ पाते थे, लेकिन अब मल्टीपल सब्जेक्ट पढ़ाने की शुरुआत की जाएगी। ताकि, उनको दूसरे विषयों की भी जानकारी मिले।

अब तक सरकार ने 1418 कलस्टर बनाए हैं। हर क्लस्टर में एक साइंस स्कूल जरूर खोला जाएगा। उन्‍होंने कहा कि हरियाणा सरकार शिक्षा की गुणवत्ता और उसके स्तर पर जोर देगी। शिक्षा में बदलाव के चलते इस बार प्रदेश में अब तक एक लाख 60 हजार बच्चों ने सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया है।
बैठक में महिला एवं बाल विकास, स्कूल शिक्षा, उच्चतर शिक्षा और तकनीकी शिक्षा विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को वर्ष 2025 तक नई शिक्षा नीति के सफल कार्यान्वयन के लिए बनाई गई रूपरेखा से अवगत कराया।

Tuesday, May 25, 2021

May 25, 2021

क्या सुशील कुमार को रेलवे की नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा?

क्या सुशील कुमार को रेलवे की नौकरी से हाथ धोना पड़ेगा?

नई दिल्ली :  दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की ओर से रविवार की सुबह राष्ट्रीय राजधानी से गिरफ्तार किए गए दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार के लिए मुसीबत और भी बढ़ गई है, क्योंकि भारतीय रेलवे में उनकी नौकरी भी अब अधर में लटकी हुई है। सुशील कुमार, भारतीय रेलवे में कार्यरत हैं और छत्रसाल स्टेडियम में ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी (ओएसडी) के तौर पर तैनात हैं, जहां अभ्यास करने वाले एक पहलवान की हत्या होने के बाद विवाद पैदा हो गया था।
उत्तर रेलवे के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा, दिल्ली सरकार से पत्र मिलने के बाद हम नियमानुसार कार्रवाई करेंगे।
सुशील कुमार को उसके सहयोगी अजय कुमार के साथ रविवार सुबह गिरफ्तार किया गया था, जो चार मई को यहां छत्रसाल स्टेडियम में हुए विवाद के बाद पहलवान सागर धनखड़ की मौत के बाद कई राज्यों में 18 दिनों से फरार चल रहे थे।
धनखड़ ने बाद में अस्पताल में दम तोड़ दिया था।
दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के अनुसार, कुमार को पकड़ने के लिए पुलिस पूरा जो लगा रही थी और इन 18 दिनों के दौरान सुशील ने पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और हरियाणा की यात्रा की थी।
आखिरकार रविवार सुबह दिल्ली के मुंडका इलाके से उसे गिरफ्तार कर लिया गया, जब वह कुछ नकदी लेने आया था और राष्ट्रीय स्तर के एक खिलाड़ी से स्कूटी भी ली थी। दिल्ली पुलिस ने कुमार पर एक लाख रुपये और उसके सहयोगी अजय पर 50,000 रुपये के इनाम की भी घोषणा की थी।
स्पेशल सेल के अधिकारियों के मुताबिक, कुमार ने शहर में कुश्ती जगत के पहलवानों को डराने के लिए मोबाइल फोन पर धनखड़ की पिटाई की रिकॉडिर्ंग भी करवाई थी। कुमार को दिल्ली की एक अदालत ने छह दिन की हिरासत में भेज दिया है।
पुलिस ने अदालत को बताया कि कुमार ने अपने दोस्त प्रिंस से धनखड़ की पिटाई का वीडियो बनाने को कहा था। पुलिस ने अदालत को सूचित किया, वह दिल्ली में कुश्ती समुदाय में डर पैदा करना चाहता था।
कुमार ने 18 मई को नई दिल्ली की रोहिणी अदालत में अग्रिम जमानत की अर्जी दी थी, लेकिन अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी।
4 मई को छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के दो समूह आपस में भिड़ गए थे, जिससे 23 वर्षीय धनखड़ की मौत हो गई, क्योंकि वह विवाद के दौरान घायल हो गया था। दिल्ली की अदालत ने कुमार के खिलाफ गैर-जमानती वारंट (एनबीडब्ल्यू) भी जारी किया था।
दिल्ली पुलिस ने कुमार के लिए लुकआउट नोटिस भी जारी किया था, जिन्होंने 2008 बीजिंग ओलंपिक खेलों में कांस्य और 2012 लंदन ओलंपिक खेलों में 66 किलोग्राम वर्ग में रजत पदक जीता था।

Sunday, May 23, 2021

May 23, 2021

पहलवान सुशील कुमार पंजाब से गिरफ्तार, दिल्ली लेकर पहुंचेगी पुलिस

पहलवान सुशील कुमार पंजाब से गिरफ्तार, दिल्ली लेकर पहुंचेगी पुलिस

नई दिल्ली : दिल्ली में बीते दिन छात्रसाल स्टेडियम में हुई हत्या को लेकर दिल्ली पुलिस ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार को पंजाब में गिरफ्तार कर लिया गया है। दिल्ली पुलिस ने पहलवान सुशील कुमार पर 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

आपको बता दें कि पुलिस का पूरे मामले को लेकर कहना है कि प्रथम दृष्या जांच में सामने आया है कि इस हत्याकांड को सुशील पहलवान व उनके साथियों ने अंजाम दिया है। जिसको लेकर सुशील से पूछताछ करनी जरूरी है। फिल्हाल पुलिस ने इस हत्याकांड को लेकर प्रिंस दलाल नामक युवक को गिरफ्तार किया है। वहीं पुलिस ने मौके से एक डबल बैरल गन भी बरामद की थी।
जानकारी के लिए आपको बता दें कि मंगलवार की देर रात मॉडल टाउन स्थित छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानो के दो गुटों में झगड़ा हुआ था। झगड़ा इतना बढ़ गया था कि सागर, सोनू महाल और अमित कुमार घायल हो गए थे। इस बीच सागर ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। वहीं अन्य का इलाज चल रहा है।
प्राथमिक जांच में पुलिस को पता चला है कि मॉडल टाउन में सुशील पहलवान का एक फ्लैट है जो उन्होंने सागर को रहने के लिए दिया था। हाल ही में उसने सागर को यह फ्लैट खाली करने के लिए कहा था। इसे लेकर उनके बीच विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते मंगलवार रात सागर की पीट पीटकर हत्या कर दी गई।
वहीं बता दें कि मरने वाला सागर मूल रूप से हरियाणा के सोनीपत का रहने वाला था। उसके पिता दिल्ली पुलिस में हवलदार है। वह कुश्ती में जूनियर नेशनल चैंपियन रह चुका है। वह दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में प्रैक्टिस करता था। वह सीनियर नेशनल कैम्प का हिस्सा था। घायल हुआ उसका साथी सोनू महाल कुख्यात बदमाश काला जठेड़ी का साथी है। वह हत्या एवं लूट के मामले में पहले गिरफ्तार हो चुका है।

Tuesday, May 18, 2021

May 18, 2021

फरार ओलंपियन सुशील कुमार पर 1 लाख का इनाम घोषित, गैरजमानती वारंट जारी

फरार ओलंपियन सुशील कुमार पर 1 लाख का इनाम घोषित, गैरजमानती वारंट जारी

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड मामले में ओलंपियन सुशील कुमार और उसके पीए अजय पर ही इनाम घोषित किया है। हत्याकांड मामले में फरार ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार पर दिल्ली पुलिस ने एक लाख रुपये इनाम का घोषित किया है। इसके अलावा सुशील के खास सहयोगी अजय पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया है। इस मामले में पुलिस सुशील और उनके सहयोगियों के खिलाफ गैरजमानती वारंट पहले ही जारी कर चुकी है।

हत्याकांड मामले में पहलवान सुशील की पुलिस को तलाश है। पुलिस रोहिणी कोर्ट से सुशील और 6 अन्य आरोपितों के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी हासिल कर चुकी है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अजय सुशील की गाड़ी चलाने के अलावा छत्रसाल स्टेडियम में एडहॉक पीटीआई भी है। जांच में सामने आया है कि पहलवान सागर धनखड़ की हत्या में सुशील के अलावा अजय ने प्रमुख भूमिका निभाई थी। दूसरी तरफ सुशील पहलवान की कई गैंगस्टरों से सांठगांठ सामने आई है। दिल्ली पुलिस की जांच में पता चला है कि गैंगस्टरों के गुर्गे छत्रसाल स्टेडियम में आते थे। उधर, दिल्ली पुलिस की कई टीमों ने रविवार को भी सोनीपत, पानीपत, झज्जर व गुरुग्राम समेत कई जगहों पर दबिश दी, मगर सुशील के बारे में कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। सागर की पिटाई के दौरान बीच-बचाव करने वाले तीन पहलवान भक्तू, सोनू और अमित का भी पुलिस ने बयान दर्ज किया है।

Friday, May 14, 2021

May 14, 2021

27 जून को होने वाली ये परीक्षा हुई रद्द, ये है परीक्षा की नई तारीख

27 जून को होने वाली ये परीक्षा हुई रद्द, ये है परीक्षा की नई तारीख



चंडीगढ़ : कोरोना संक्रमण से जहां बड़ी संख्या में देश की जनता पर समस्याओं का पहाड़ टूटा है तो छात्रों के भविष्य पर भी संकट आ चुका है। खासकर असर उन छात्रों पर पड़ा है, जो बड़ी बड़ी परीक्षाओं के लिए तैयारियों में लगे हैं। क्योंकि एक तरफ कोरोना के चलते कोचिंग संस्थान बंद हो चुके हैं तो दूसरी तरफ सिविल सर्विस के एक्जाम स्थगित हो रहे हैं। इस बीच अब कोरोना वायरस (कोविड-19) के चलते पैदा हालात को देखते हुए संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2021 को स्थगित कर दिया है।
यूपीएससी ने सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा 27 जून को होनी थी। जिसे संघ लोक सेवा आयोग ने मौजूदा कोरोना वायरस की दूसरी लहर के भयावय प्रकोप के कारण परीक्षा को स्थगित कर दिया है। हालांकि यूपीएससी ने अगली तारीख की भी घोषणा कर दी है। अब ये परीक्षा फिर से 4 महीने बाद अक्टूबर में होगी। सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा 10 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी। यूपीएससी ने गुरुवार को यह घोषणा तब की जब भारत ने 3,62,727 नए कोविड मामलों 4,120 मृत्यु की सूचना दी। सिविल सेवा परीक्षाओं के शीर्ष निकाय ने पिछले साल भी कोविड के संकट के कारण परीक्षाओं को स्थगित पुनर्निर्धारित किया था।
गौरतलब यह कि पिछले कुछ हफ्तों में देश में लगातार हर रोज 3 लाख से ज्यादा नए मरीज संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। बीच बीच में यह आंकड़ा 4 लाख के पार भी पहुंच चुका है। अगर बृहस्पतिवार को आए कोरोना के मामलों की बात करें तो देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,62,727 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले 2,37,03,665 हो गए। जबकि कोरोना वायरस संक्रमण से 4,120 लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 2,58,317 पर पहुंच गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 37,10,525 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 15।65 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर कुछ सुधरकर 83।26 प्रतिशत हो गई है। आंकड़ों के मुताबिक, बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 1,97,34,823 हो गई है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1।09 फीसदी दर्ज की गई है।
 

Thursday, May 13, 2021

May 13, 2021

हरिद्वार में एक बड़े योग गुरु के आश्रम में छिपा है ओलंपियन सुशील कुमार !

हरिद्वार में एक बड़े योग गुरु के आश्रम में छिपा है ओलंपियन सुशील कुमार !

नई दिल्ली : अब दिल्ली पुलिस को जानकारी मिली है कि मुख्य आरोपित ओलंपियन सुशील पहलवान देश के एक बड़े योग गुरु के हरिद्वार स्थित आश्रम में छिपा है। सुशील के बेहद खास रहे रोहतक निवासी भूरा ने पुलिस को दिए बयान में इस बात का राजफाश किया है। सुशील पर हत्या का आरोप लगने के कारण किसी न किसी दबाव में आकर पुलिस इससे जुड़े हर पहलुओं पर शुरू दिन से चुप्पी साध रखी है। भूरा के बयान को अत्यंत गोपनीय रखा गया है। इसके बयान को पुलिस अपनी तफ्तीश में शामिल करेगी या नहीं यह कहना मुश्किल है।
जांच से जुड़े पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पहलवान भूरा, सुशील का पहले सबसे खास होता था। सुशील के सारे काम का देखरेख वही करता था। लेकिन कुछ साल पहले किसी बात को लेकर सुशील ने उससे दूरी बना ली। उसके बाद सुशील ने अपने सभी कामकाज की जिम्मेदारी अजय और भूपेंद्र को सौंप दी। इस वक्त ये दोनों सुशील के सबसे खास हैं। भूपेंद्र फरीदाबाद का रहने वाला है और इसके खिलाफ फरीदाबाद के थानों में उगाही, आ‌र्म्स एक्ट आदि के सात मामले दर्ज हैं। अजय के बारे में पुलिस को अभी जानकारी नहीं मिली है। उसके पिता बक्कर वाला इलाके से कांग्रेस के निगम पार्षद बताए जा रहे हैं।
पुलिस का कहना है कि भूरा को सुशील ने भले ही किनारे कर दिया हो, लेकिन दोनों के बीच झगड़ा नहीं है। चार मई की देर रात छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के बाद सुशील और उसके साथ आए सभी पहलवान वहां से भाग गए थे। सभी अलग अलग जगहों पर जाकर छिप गए थे। अगले दिन सुबह 10 बजे सुशील को जब पता चला की सागर की सुश्रुत ट्रामा सेंटर में मौत हो गई और पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मुकदमें में उसका नाम भी है। तब सभी अलग-अलग दिल्ली से भाग निकले। अजय को सुशील समयपुर बादली छोड़ देने को कहा। वहां कुछ देर रुकने के बाद सुशील ने फोन कर भूरा को बुला लिया और बाबा के आश्रम हरिद्वार में छोड़ देने को कहा। भूरा उसे सीधे आश्रम ले जाकर छोड़ आया और कुछ देर वहां रुकने के बाद वापस रोहतक लौट गया। आश्रम पहुचने के बाद सुशील ने अपने सभी फोन बंद कर लिए।पुलिस की अंतिम लोकेशन वहीं की मिली। कॉल डिटेल से पुलिस को जब भूरा के बारे में पता लगा तब उसे रोहतक से हिरासत में ले लिया गया।
सुभाष प्लेस थाने के इंस्पेक्टर प्रताप सिंह को सौंपी। उसे तीन दिन तक सुभाष प्लेस थाने में रखकर पूछताछ की गई। पूछताछ में भूरा से सबकुछ सच्चाई बता दिया। उसने यह भी बताया कि जब वह सुशील को लेकर आश्रम पहुंचा तब बाबा ने उसके सामने दिल्ली पुलिस के एक संयुक्त आयुक्त को फोन कर सुशील को हर हाल में बचाने को कहा। इकबालिया बयान में भूरा से सबकुछ सही बता दिया। जिसके बाद उसे और दो अन्य को मंगलवार को छोड़ दिया गया।
छत्रसाल स्टेडियम में बीते चार मई की रात ओलंपियन सुशील पूरी तैयारी के साथ पहलवानों और बदमाशों को लेकर उभरते हुए पहलवान सागर धनखड़ की हत्या करने आया था। सागर के शरीर पर मिले चोट के निशान से परिजनों का कहना है कि सुनियोजित तरीके से उसकी हत्या की गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक सागर की छाती को छोड़कर पूरे शरीर पर लाठी और लोहे की रॉड से मारने के घाव थे। पैर से लेकर सिर तक 50 से अधिक गहरे घाव के निशान थे। सिर पर सबसे ज्यादा वार किया गया था।
परिजन का आरोप है कि स्टेडियम के सीसीटीवी कैमरे में सुशील की तस्वीर भी सागर को बुरी तरीके से मारते हुए कैद है। घटना वाली रात सागर के जिन तीन साथियों सोनू, भगत सिंह व अमित की भी सुशील के बदमाशों ने पिटाई की थी । शनिवार को उन सभी के बयान मॉडल टाउन थाने में दर्ज किए गए।

Sunday, May 9, 2021

May 09, 2021

हरियाणा से पहली बार 8 पहलवानों ने हासिल किया ओलिंपिक का कोटा

हरियाणा से पहली बार 8 पहलवानों ने हासिल किया ओलिंपिक का कोटा

सोनीपत : दंगल के राजा के नाम से विख्यात सुमित और घट में नटखट और नेशनल कैंप में बेहद गंभीर सीमा बिसला अब ओलिंपिक में भारतीय दल की हिम्मत बढ़ाने के लिए जुड़ गई हैं। दोनों ने सोफिया में आयोजित अंतिम ओलिंपिक क्वालीफाइंग में कोटा हासिल किया है। यह पहला मौका है, जब हरियाणा के 8 पहलवान ओलिंपिक में उतरेंगे।

खेल मंत्री संदीप सिंह ने सबको शुभकामनाएं दी हैं। इनमें 57 केजी में रवि कुमार, 65 केजी में बजरंग पूनिया, 86 केजी में दीपक पुनिया तथा 125 केजी में सुमित शामिल हैं। महिला वर्ग में 53 केजी में विनेश फोगाट, 57 केजी में अंशु मलिक व 62 केजी में सोनम मलिक ने ओलिंपिक कोटा हासिल किया है। अब 50 केजी में सीमा ने ओलिंपिक कोटा हासिल किया है।
*महज 20 दिन की उम्र में खो दी थी मां की गोद*

राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड मेडल जीत चुके सुमित का बचपन बेहद तनाव के माहौल में बीता है। सुमित ने महज 20 दिन में मां खो दी थी। इसके बाद बचपन ननिहाल में बीता। मामा के कुश्ती के प्रति जुड़ाव से पहले अखाड़े में अभ्यास के बाद तकनीकी ट्रेनिंग छत्रसाल स्टेडियम में की। 2015 व 2020 में दो बार ऑप्रेशन हुए। डॉक्टरों ने खेल से दूर रहने की नसीहत दी, लेकिन कुश्ती से प्रेम वापस उन्हें मैट पर ले आया। प्राथमिक तौर पर सुमित को कुश्ती सिखाने वाले उनके मामा नरेन्द्र सहरावत से वादा किया था कि इस बार ओलिंपिक कोटा जरूर हासिल करेंगे।

*1 बेटी की कामयाबी से दूसरी की मेहनत सफल*

पिता आजाद सिंह कबड्डी खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन खुद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नहीं पहुंचे, लेकिन इस टीस को बड़ी बेटी सुशीला ने समझा और छोटी बहन को शादी के बाद साथ ले गई। जीजा की तरह पहलवान बना दिया। बहन ने सेहत की जिम्मेदारी संभाली तो जीजा ने प्रशिक्षण की। दुनिया के तानों के बीच पिता के प्रोत्साहन का असर था कि सीमा ने परिणाम देने शुरू किए और अब अलमाटी में एशियाई चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली सीमा ने बेलारूस की अनास्तासिया यानोतावा को 8.0 से हराकर अपना ओलिंपिक कोटा सुनिश्चित किया।

Friday, May 7, 2021

May 07, 2021

आईटी कंपनियां कर्मचारियों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित, वर्क फ्रॉम होम दिया जा रहा है महत्व

आईटी कंपनियां कर्मचारियों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित, वर्क फ्रॉम होम दिया जा रहा है महत्व


गुरुग्राम : कोरोना महामारी की दूसरी लहर से हर वर्ग व कारोबार प्रभावित होता दिखाई देना शुरू हो गया है। हालांकि सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए अभी आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है। यदि हालात सामान्य नहीं रहते तो सरकार को लॉकडाउन की अवधि बढ़ानी पड़ सकती है। गुरुग्राम विश्व में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) के क्षेत्र में अपना विशेष स्थान रखता है। बड़ी संख्या में गुरुग्राम में आईटी कंपनियां कार्यरत हैं। इन कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को कोरोना के प्रकोप से बचाने के लिए गत वर्ष से ही कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम करने की अनुमति दे दी थी। यह सिलसिला पूरे वर्ष चलता रहा और कोरोना की दूसरी लहर में भी जारी है।

ये आईटी कंपनियां अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंतित होती नजर आ रही हैं। उन्होंने कर्मचारियों को कोरोना से बचाव को लेकर जारी सभी दिशा- निर्देशों का पालन करने का आग्रह भी किया। कंपनी संचालकों का कहना है कि कर्मचारी उनका मस्तिष्क हैं। इसलिए वे अपना पूरा ध्यान रखें। उनकी समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर समाधान कराया जाएगा। जानकारों का कहना है कि प्रबंधनों का इस प्रकार का निर्णय सराहनीय है। कोरोना काल में जहां कई आईटी कंपनियां बंद हो गई, वहीं अन्य कंपनियों के सामने भी विभन्नि प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो गई हैं। वे अपना अस्तत्वि बरकरार रखने के लिए संघर्षरत हैं। इन कंपनियों में कार्य कर रहे कर्मचारी भी कोरोना की भेंट चढ़े हैं। अब ये कंपनी संचालक जहां अपने कर्मचारियों को बेहतर सुविधाएं देने के पक्ष में हैं, वहीं वे स्वस्थ रहें इस सबको लेकर भी चिंतित दिखाई दे रहे हैं और उन्होंने कर्मचारियों से यह आग्रह भी किया है कि स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उन्हें अवश्य बताएं, जिनका समाधान कराया जाएगा। कंपनी संचालकों के इस आग्रह से वर्क फ्रॉम होम करने वाले कर्मचारियों में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है और वे उत्साहित भी दिखाई दे रहे हैं। जानकारों का यह भी कहना है कि कुछ ऐसी कंपनियां भी हैं, जिन्होंने कोरोना काल में अपने कर्मचारियों को काम से निकाल दिया था। इन कर्मचारियों को भारी समस्याओं का सामना भी करना पड़ रहा है। कंपनी संचालकों को इस विषय में गंभीरता से सोचना चाहिए।

Wednesday, May 5, 2021

May 05, 2021

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की सार्थक पहल, कोरोना पॉजिटिव कर्मचारियों को मुफ्त भोजन मिलेगा

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय की सार्थक पहल, कोरोना पॉजिटिव कर्मचारियों को मुफ्त भोजन मिलेगा

कुरुक्षेत्र :  वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर के कारण कोविड पॉजिटिव कर्मचारियों के लिए कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सोमनाथ सचदेवा जी ने एक सार्थक पहल की है। कुवि कुलपति प्रोफेसर सोमनाथ के निदेर्शानुसार कुवि के कोरोना पॉजिटिव कर्मचारियों के लिए मुफ्त भोजन व्यवस्था का इंतजाम किया जा रहा है। कोई भी कुवि कर्मचारी जो कोरोना से संक्रमित है उसे अपने भोजन की व्यवस्था के लिए परेशान होने की जरूरत नही है। संक्रमित कर्मचारियों को सही समय पर भोजन मिले उसके लिए चीफ वार्डन प्रोफेसर डीएस राणा की अनुशंसा पर तीन सदस्यों की समिति को दो घंटे पहले फोन पर बताया जा सकता है। समिति के सदस्यों में डॉक्टर गोपाल प्रसाद (8708290060), डॉक्टर जितेंद्र कुमार (9416219644) व यशवीर (9896192895) से उनके दिए गए फोन नंबरों पर फोन करके भोजन की व्यवस्था के लिए संपर्क किया जा सकता है। काउंसलिंग के लिए कुवि कर्मचारी या उनके परिवार के सदस्य डॉक्टर सीआर ड्रोलिया (9991140540) व डॉक्टर हरदीप लाल जोशी (9416785665) से संपर्क कर सकते है। कुवि कर्मचारियों की हर संभव सहायता के लिए कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय प्रशासन पूरी तरह से वचनबद्ध है।
May 05, 2021

अब सरकारी स्कूल को प्राथमिकता दे रहे अभिभावक

अब सरकारी स्कूल को प्राथमिकता दे रहे अभिभावक

चंडीगढ़ : हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर का कहना है कि लगभग दो लाख स्कूली बच्चों ने प्राइवेट स्कूल छोड़कर सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया है। शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने बताया हरियाणा में एक मई से सरकारी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है। शिक्षा और पर्यटन मंत्री कंवरपाल ने कहा की पिछली बार करीब 2 लाख बच्चों ने प्राइवेट स्कूल छोड़ कर सरकारी स्कूलों का रुख किया था । निजी स्कूलों द्वारा छात्रों को एसएलसी नहीं दिए जाने पर कहा की ये अनिवार्य है पर इसके बिना छात्रों को आरटीई के तहत अस्थाई रूप से दाखिला दे दिया जाएगा। विधानसभा में उठे 25 से कम बच्चों की संख्या वाले स्कूलों को बंद करने के फैसले में अब संशोधन किया गया है, अब 10 से कम बच्चों वाले स्कूलों को बंद किया जाएगा। इसके अलावा 10 से 25 की क्षमता वाले स्कूलों में एक शिक्षक किया जाएगा तैनात। बंगाल में बीजेपी समर्थकों के साथ की जा रही बदसलूकी और आगजनी हिंसा की घटनाओं पर कड़ी निंदा करते हुए कहा यह सेकुलरिज्म की हत्या है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में इस प्रकार की घटनाएं कलंक है। ऐसा करने वाले उपद्रवियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई होनी चाहिए।

स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट की अनिवार्यता बनी रहेगी -
आज एक दैनिक अखबार मे छपी खबर का खंडन करते हुए शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल ने कहा कि राज्य में दाखिले के संदर्भ में स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट की अनिवार्यता को समाप्त करने बारे कोई पत्र जारी नहीं किया गया है और इसकी अनिवार्यता ज्यों की त्यों बरकरार है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में 5 मई को एक समाचार-पत्र में निराधार खबर छपी है।

Monday, May 3, 2021

May 03, 2021

कोरोना के बढते मामलों की वजह से हरियाणा लोक सेवा आयोग ने HCS समेत 13 परीक्षाओं को स्थगित किया.

 कोरोना के बढते मामलों की वजह से हरियाणा लोक सेवा आयोग ने HCS समेत 13 परीक्षाओं को स्थगित किया.

May 03, 2021

अगले आदेशों तक स्थगित रहेंगी HPSC की सभी पूर्व निर्धारित परीक्षाएं, नौकरी चाहने वालों के लिए झटका

अगले आदेशों तक स्थगित रहेंगी HPSC की सभी पूर्व निर्धारित परीक्षाएं, नौकरी चाहने वालों के लिए झटका

चंडीगढ़ : कोरोना महामारी लगातार दूसरे साल लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। लॉकडाउन लगाने और बसें बंद करने के बाद हरियाणा सरकार ने एक और बड़ी घोषणा कर दी है। अगले आदेशों तक हरियाणा पब्लिक सर्विस कमीशन (HPSC) की सभी परीक्षाएं स्थगित रहेंगी। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

*हरियाणा पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा जारी किया गया लेटर।*

बंद की गई रोडवेज और प्राइवेट बसें

हरियाणा सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सोमवार सुबह ही एक फैसला लिया था। मनोहर सरकार ने रोडवेज और प्राइवेट बसें भी बंद कर दी। सरकार के अगले आदेशों तक सड़कों पर बसें नहीं दौड़ेंगी। अगर सवारियां ज्यादा होती हैं और बस स्टैंड इंचार्ज कहेंगे, तभी एक-दो बस चलेगी। अन्यथा बसें बंद रहेंगी, इसलिए सरकार ने लोगों से अपील की है तो इमरजेंसी हो तो ही सफर करें। वरना घर पर रहकर लॉकडाउन में सहयोग करें।

*रविवार को लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई थी*

हरियाणा सरकार ने रविवार को प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाते हुए 7 दिन के पूर्ण बंद का ऐलान किया था। हरियाणा में सोमवार सुबह 5 बजे से 10 मई सुबह 5 बजे तक रहेगा। राशन, दूध, सब्जी, कैमिस्ट शॉप आदि खुली रहेंगी। वैक्सीनेशन सेंटर चालू रहेंगे। कृषि विभाग ने मंडियों को भी इस अवधि में बंद करने का फैसला लिया है। जिसके चलते इस दौरान मंडियों में गेहूं की खरीद नहीं होगी। सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। सरकार ने सभी जिला मजिस्ट्रेटों को यह पाबंदियां सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गए हैं। जो लोग पालना नहीं करेंगे उनके चालान काटे जाएंगे।
May 03, 2021

CBSE : नई नीति के तहत 10वीं का परिणाम तैयार करेंगे स्कूल

CBSE : नई नीति के तहत 10वीं का परिणाम तैयार करेंगे स्कूल

बहादुरगढ़ : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ( CBSE) की नई गाइडलाइंस के अनुसार अब इंटरनल असेस्मेंट के आधार पर स्कूल ही दसवीं के परीक्षार्थियों  का परिणाम तैयार करेंगे। स्कूलों द्वारा आयोजित इंटरनल असेस्मेंट, पीरियोडिक या यूनिट टेस्ट, अर्धवार्षिक परीक्षा और प्री-बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट का औसत निकालकर फाइनल परिणाम तैयार किया जाएगा। स्कूल रिजल्ट तैयार कर सीबीएसई की वेबसाइट पर अपलोड करेंगे और बोर्ड इसे जारी करेगा। महामारी के दौर में सीबीएसई ने देशभर के स्कूलों के लिए एक फार्मूला तैयार किया है। स्कूल के प्रिंसिपल व पांच भिन्न विषयों के शिक्षकों समेत एक परिणाम कमेटी बनेगी। जो स्कूल में हुए टेस्ट के आधार पर रिजल्ट तैयार करेगी। इस फार्मूले के तहत 10 अंक पीरियोडिक टेस्ट के, अर्धवार्षिक परीक्षा के 30 अंक और 40 अंक प्री-बोर्ड के होंगे। वहीं 20 अंक पहले की तरह इंटरनल असेस्मेंट के रहेंगे। सीबीएसई के अनुसार स्कूल के पिछले तीन साल के रिजल्ट औसत से दो फीसद ऊपर-नीचे ही रिजल्ट होना चाहिए। विषयवार अंकों का औसत भी पिछले तीन सालों में मिले अंकों के आस-पास होना चाहिए। इसकी जांच के लिए सीबीएसई स्कूलों के रिकॉर्ड की जांच कर सकता है। सीबीएसई ने स्कूलों को पांच मई परिणाम कमेटी बनाते तथा 5 जून तक सभी छात्रों का रिजल्ट तैयार कर उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं। ताकि सीबीएसई की ओर से 20 जून को 10वीं का रिजल्ट जारी किया जा सके।

Sunday, May 2, 2021

May 02, 2021

कनाडा के काॅलेज में एडमिशन के नाम पर 4.59 लाख की ठगी

कनाडा के काॅलेज में एडमिशन के नाम पर 4.59 लाख की ठगी

अंबाला : आइलट्स क्लियर कर चुके एक युवक को कनाडा के काॅलेज में एडमिशन दिलाने के नाम पर पटियाला की एनआईएसपी वीजा सर्विसेज ने 4.59 लाख रुपए की ठगी की। बलदेव नगर पुलिस ने जग्गी काॅलोनी फेस 2 के मनिंदर सिंह की शिकायत पर वीजा सर्विसेज के मालिक गुरप्रीत सिंह, संत सिंह भंगू, हेड काउंसलर हरजीत कौर, शमशेर सिंह, मालिक की पत्नी तरनप्रीत कौर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

मनिंद्र सिंह ने कहा कि वीजा सर्विसेज के विज्ञापन देखकर गुरप्रीत सिंह से संपर्क किया। आरोपियों ने उसे कनाडा काॅलेज में एडमिशन दिलाने के लिए प्रोसेसिंग फीस के 25 हजार रुपए लिए। एम्बेसी फीस के 16 हजार रुपए लिए।

कनाडा में एडमिशन दिलाने के लिए 5.40 लाख रुपए की फीस देने के लिए कहा। इसके अलावा आरोपियों ने 15 लाख रुपए एफडीआर के तौर पर फंड बैंक में जमा करने के लिए कहा। उससे सभी प्रकार की औपचारिकताएं पूरी कराई। बाद में आरोपियों ने उससे कहा कि वीजा कैंसिल हो गया है। उन्होंने पैसे मांगे तो उन्हें धमकी देनी शुरू कर दी।

Saturday, May 1, 2021

May 01, 2021

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 16 मई तक शिक्षण अवकाश

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 16 मई तक शिक्षण अवकाश

कुरुक्षेत्र :  कोविड-19 वैश्विक महामारी के बढ़ते प्रभाव के कारण और राज्य सरकार से प्राप्त नवीनतम दिशा-निदेर्शों के अनुसार कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा के आदेशानुसार कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय 31 मई 2021 शिक्षण कार्य के लिए बंद रहेगा। विश्वविद्यालय के यूटीडी/ संस्थान/सम्बद्धित कॉलेज में 1 मई से 16 मई तक शिक्षण अवकाश रहेगा तथा शिक्षक 17 मई से 31 मई तक अपनी ड्यूटी, अध्यापन तथा परीक्षाओं आदि का कार्य आनलाइन अपने घर से करेंगे। लोक संपर्क विभाग के उपनिदेशक डॉक्टर दीपक राय बब्बर ने बताया कि यदि शिक्षण दिनों की संख्या किसी कारणवश 180 दिन से कम हो जाती है तो विभागाध्यक्ष/निदेशक/प्रिंसीपल की जिम्मेदार होगी कि वो अतिरिक्त ऑनलाईन मोड कक्षाओं के माध्यम से परिस्थितियों के अनुसार इन कक्षाओं को पूर्ण करवाएंगे।

Thursday, April 29, 2021

April 29, 2021

हरियाणा शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी अब करेंगे वर्क फ्रॉम होम

हरियाणा शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी अब करेंगे वर्क फ्रॉम होम


भिवानी :  में कोरोना मरीजों की संख्या में बेहताशा बढोतरी होने की वजह से हरियाणा शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी अब वर्क फरोम होम से कार्य करेंगे। हालांकि शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने बाहर से आने वाले लोगों के काम निपटाने के निर्देश दिए है,लेकिन बाकी कर्मचारी व अधिकारी दो दिनों तक अपने घर से ही कार्य निपटाएंगे। इस बारे में शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने सभी कर्मचारी व अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए है। जानकारी के अनुसार शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने 29 व 30 अप्रैल को शिक्षा बोर्ड के भवन व परिसर को सेनिटाइज करवाए जाने का फैसला लिया है। जिसके चलते शिक्षा बोर्ड ने दो दिनों तक कर्मचारी व अधिकारियों को अपने घर से कार्य करने के निर्देश दिए है। इसके अलावा बाहर से बोर्ड के कार्य से आने वाले व्यक्ति को बोर्ड परिसर में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा,लेकिन उसके कार्य को स्टूडेंट होम से कार्य निपटाया जाएगा। इसके लिए शिक्षा बोर्ड प्रशासन ने सभी शाखाओं के कर्मचारियों को तैनात किया गया है। 

इस दौरान ये कर्मचारी सोशल डिस्टेंस की पालना करेंगे और मुंह पर मास्क लगाकर बैठेंगे। उल्लेखनीय है कि शिक्षा बोर्ड में करीब दो दर्जन कर्मचारी व अधिकारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। उन कर्मचारियों को घर पर रहने की पहले से ही हिदायत दी हुई है।

Tuesday, April 27, 2021

April 27, 2021

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने जारी की पीजी परीक्षाओं की Date Sheet, 17 मई से शुरू होंगी परीक्षाएं

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने जारी की पीजी परीक्षाओं की Date Sheet, 17 मई से शुरू होंगी परीक्षाएं

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा के निदेर्शानुसार विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा ने पीजी परीक्षाओं की डेटशीट जारी कर दी है। लोक सम्पर्क विभाग के उपनिदेशक डॉ. दीपक राय बब्बर ने बताया कि पीजी परीक्षाएं 17 मई से शुरू होंगी।

उन्होंने बताया कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय शिक्षण विभागों/संस्थानों के लिए स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों और संबद्ध कॉलेजों/संस्थानों में संचालित किए जाने वाले कुछ पाठ्यक्रमों की परीक्षाओं को अंतिम रूप दिया है। परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह ने बताया कि परीक्षा किस मोड में होगी, यह परीक्षा शुरू होने के एक सप्ताह पहले बताया जाएगा। उन्होंने बताया कि 17 मई से शुरू होने वाली परीक्षाओं की डेटशीट विश्वविद्यालय की वेबसाईट पर अपलोड कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में सभी संस्थानों को सूचित कर दिया गया है। इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाईट पर उपलब्ध है।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह ने बताया कि 17 मई से शुरू होने वाली परीक्षाओं में एमए दर्शन चतुर्थ सेमेस्टर, एमएससी जूलॉजी व एमएससी फोरेंसिक साइंस चतुर्थ सेमेस्टर, एमएससी भूगोल चतुर्थ सेमेस्टर, एमएससी एप्लाइड जियोलॉजी चतुर्थ सेमेस्टर व एमटेक अप्लाइड जियोलॉजी चैथा, छठा व आठवां सेमेस्टर, एमएससी भौतिकी, एमकॉम, एमएससी पर्यावरण विज्ञान चतुर्थ सेमेस्टर, एमए हिंदी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं होंगी। उन्होंने बताया कि जारी की गई डेटशीट में एमसीए चतुर्थ व छठा सेमेस्टर, एमएससी सॉफ्टवेयर चतुर्थ सेमेस्टर, एमए एवं एमएससी मॉस कम्यूनिकेशन चतुर्थ सेमेस्टर, बीटेक प्रिंटिंग, ग्राफिक्स एंड पैकेजिंग चतुर्थ, छठे व आठवें सेमेस्टर की परीक्षाएं शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि बीए एलएलबी के चतुर्थ, छठे, आठवें व नौंवे सेमेस्टर, एमएससी बायोटेक्नालाजी चतुर्थ सेमेस्टर, एमए राजनीति विज्ञान, एमए डिफेंस स्टडीज, एमएससी बॉटनी, एमए पंजाबी, एमएससी माइक्रोबायोलॉजी, एमए अंग्रेजी, एमपीईडी व एमए योगा चतुर्थ सेमेस्टर, एमटीटीएम, एमए फाइन आर्ट्स व मास्टर ऑफ फाइन आर्ट्स (एमएफए) द्वितीय व चतुर्थ सेमेस्टर, एमएससी बायोकैमेस्ट्री चतुर्थ सेमेस्टर, एमए संस्कृत चतुर्थ सेमेस्टर, एमए लोक प्रशासन चतुर्थ सेमेस्टर, एमए मनोविज्ञान, एमएससी गृह विज्ञान, एमएससी सांख्यिकी, एमए सोशल वर्क, बीएड स्पेशल एजुकेशन व एमए एजुकेशन के चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं शामिल हैं।

Sunday, April 25, 2021

April 25, 2021

निजी अस्पतालों में 50% बेड रिजर्व होंगे - सरकार ने नए दिशा-निर्देश जारी किये

निजी अस्पतालों में 50% बेड रिजर्व होंगे - सरकार ने नए दिशा-निर्देश जारी किये

चंडीगढ : प्रदेश में 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को सरकारी अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन मुफ्त लगेगी। 28 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन होगा। निजी अस्पताल में टीका फ्री नहीं होगा। यह घोषणा सीएम मनोहर लाल ने की है। सीएम ने कोरोना मरीजों के लिए निजी अस्पतालों को 50% बेड रिजर्व रखने के आदेश दिए हैं।

अस्पतालों की स्थिति पर निगरानी के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास को राज्य नोडल अधिकारी बनाया गया है। पीजीआई रोहतक में 1000 व अन्य मेडिकल कॉलेजों में 1250 ऑक्सीजन बेड बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। बोकारो स्टील प्लांट से करीब 6000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ एक विशेष रेल की व्यवस्था की जाएगी। केंद्र से कोटा 162 से बढ़ाकर 200 मीट्रिक टन करने की मांग की 

डिवीजनल कमिश्नर को 5-5 जिले सौंपे हैं। जहां ऑक्सीजन कम रह जाएगी, वे रेड अलर्ट करेंगे। 24 घंटे में हर अस्पताल में ऑक्सीजन मिलेगी। विदेश से 25 प्लांट्स लाए जा रहे हैं। इनमें से एक को हरियाणा लाने की कोशिश रहेगी। भीड़ रोकने को डीसी को धारा-144 लगाने, कंटेनमेंट जोन बनाने के लिए अधिकृत किया गया है। सरकार ने भीड़ को लेकर नए निर्देश भी जारी किए हैं। सबसे संक्रमित गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, हिसार, करनाल, पंचकूलामें पूरी सख्ती करने को कहा गया है।

नए दिशा-निर्देश

पीजीआई में मरीज लाचार: ट्रॉमा सेंटर के बाहर ही स्ट्रेचर पर ऑक्सीजन लेनी पड़ी

अब 30 से 50 की भीड़
सिनेमा, बार, होटल, क्लब, जिम और अन्य कार्यक्रमों में इनडोर में अधिकतम 30 लोग इकठ्‌ठे हो सकते हैं। खुले में 50 लोग एकत्रित हो सकेंगे। दाह संस्कार में 20 लोग शामिल हो सकेंगे।

डीएम की मंजूरी जरूरी
कंटेनमेंट जोन के बाहर सांस्कृतिक, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक, खेल, शैक्षणिक आदि कार्यक्रमों के लिए जिला मजिस्ट्रेट से मंजूरी जरूरी।

6 जिलों में वर्क फ्रॉम होम
गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत, हिसार, करनाल, पंचकूला की आईटी, आईटीईएस इकाइयां व कॉर्पोरेट कार्यालय 3 मई तक घर से संचालित होंगे। डीसी धारा 144 पर विचार करेंगे।

मेडिकल छात्रों से मदद लेंगे
मेडिकल के फाइनल ईयर के छात्रों को अस्पतालों में लगाया जाएगा। रिटायर्ड कर्मचारियों की सेवा ली जाएंगी। प्लाज्मा बैंक सक्रिय करने के निर्देश।

पानीपत में 16 मरीजों की जान बची

प्रेम अस्पताल ने डिप्टी सीएम को फोन कर मांगी ऑक्सीजन
पानीपत के प्रेम अस्पताल में शनिवार सुबह 6:00 बजे ऑक्सीजन खत्म होने को हुई तो हड़कंप मच गया। उस समय 16 मरीज ऑक्सीजन पर थे। अस्पताल प्रबंधक ने जिला प्रशासन, डिप्टी सीएम, सांसद को फोन किए, तब ड्रग कंट्राेलर विभाग ने 2 सिलेंडर पहुंचाए। 15 मिनट में ऑक्सीजन खत्म हो गई। प्रबंधन ने कर्मचारियों को भर्ती न करने की बात कही तो रिफाइनरी ने ऑक्सीजन दी।

पुलिस ने रोकी ऑक्सीजन की गाड़ी मैक्स अस्पताल ने कहा- कुछ ही घंटे की ऑक्सीजन बची है
गुड़गांव के मैक्स अस्पताल ने सोशल मीडिया पर कहा कि सिर्फ 2 घंटे की ऑक्सीजन बची है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने ऑक्सीजन की गाड़ी को 2 घंटे रोके रखा। इससे कई अस्पतालों की ऑक्सीजन सप्लाई बाधित हुई। वहीं, सोनीपत के निजी अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी बता मरीजों को शिफ्ट करने को कहा तो परिजनों ने जमकर हंगामा किया।

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए 3 बड़े फैसले

1. भीड़ रोकेंगे: सभी डीसी को धारा-144 लगाने की पावर दी, सबसे संक्रमित छह जिलों में पूरी सख्ती के आदेश दिए

2. बेड बढ़ेंगे: पीजीआई रोहतक में 1000 और अन्य मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीजन युक्त 1250 बेड बढ़ाने के निर्देश दिए

3.ऑक्सीजन: बोकारो से 6000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ एक विशेष ट्रेन की व्यवस्था होगी, केंद्र से 200 एमटी कोटा मांगा

Saturday, April 24, 2021

April 24, 2021

मनमानी फीस वृद्धि के विरोध में डीएवी स्कूल गेट पर नारेबाजी

मनमानी फीस वृद्धि के विरोध में डीएवी स्कूल गेट पर नारेबाजी

-महामहिम के नाम नगराधीश को सौंप ज्ञापन
जींद : ( आरती शर्मा ) शुक्रवार को शहर के अर्बन एस्टेट स्थित डीएवी स्कूल प्रबंधन द्वारा मनमानी फीस वृद्धि के खिलाफ अभिभावकों ने स्कूल गेट पर इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन किया। इसकी अध्यक्षता रिटायर्ड सदर कानूनगो धर्मवीर भुक्कल ने की। इस दौरान जोरदार नारेबाजी भी की गई।
इस दौरान स्कूल की मनमानी फीस वृद्धि व एडमिशन फीस, डेवलपमेंट चार्जिंग के विरोध में  अभिभावकों में भारी रोष दिखाई दिया। आरोप लगाया गया कि इस करोना महामारी के अंदर कुछ अभिभावकों ने एडमिशन फीस नहीं जमा कराने के कारण ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली के तहत उन बच्चों को ग्रुप से रिमूव कर के शिक्षा से वंचित करने का काम किया गया है, जबकि देश के संविधान में देश के हर व्यक्ति को शिक्षा का अधिकार मिला हुआ है।
 इस मौके पर सैकड़ों की तादाद में अभिभावक स्कूल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री के नगराधीश दिनेश यादव को ज्ञापन सौंप। ज्ञापन में उपरोक्त तमाम मुद्दों का हल निकालने के लिए मुख्यमंत्री से अपील की गई। अभिभावकों ने चेतावनी भी दी अगर स्कूल प्रशासन अपनी गलत नीतियों से बाज नहीं आता तो वे बड़ा आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे, जिसकी जिम्मेवारी स्कूल प्रशासन की होगी।
इस मौके पर एडवोकेट अरविंदर नरवाल, एडवोकेट सुरेश गोयल, एडवोकेट देशराज सरोहा, एडवोकेट विजेंद्र सिंह, एडवोकेट संदीप दुहन, एडवोकेट नवीन सिंगला, एडवोकेट सतीश अत्री, रेखा नरवाल, मीनू दुहन, नीतू गोयल, जोगिंदर शर्मा,ज्योति, सविता, रिंकू गर्ग, जयप्रकाश, मोनिका, संध्या, भूपेंद्र, चरण सिंह, गीता सिंगला आदि काफी संख्या में उपस्थित रहे।

Wednesday, April 21, 2021

April 21, 2021

हरियाणा सरकार द्वारा फैसला , कल से 31 मई तक के लिए घोषित हुई छुटियाँ:- कंवरपाल गुज्जर, शिक्षा मंत्री

शुक्रवार से हरियाणा के स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां, कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया गया हरियाणा सरकार द्वारा फैसला , कल से 31 मई तक के लिए घोषित हुई छुटियाँ:- कंवरपाल गुज्जर, शिक्षा मंत्री

-अध्यापक लगातार स्कूल आ रहे है, बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए पहले स्कूल बंद करने का फैसला लिया था ऐसे में अध्यापकों की सुरक्षा भी हमारी जिम्मेवारी इसलिए गर्मियों की छुट्टियां एडवांस में कई गयी :- कंवरपाल

-*आगे की स्थिति पर  लिया जाएगा फैसला की छुट्टियां बढ़ानी है या नही*
-कोविड वैक्सीन खराब होने पर बोले कंवरपाल -कहा ऐसी कोई बात नही शुरुयात में लोगो को गुमराह किया गया था इसलिए उस समय खराब हुई पर अब लोग जागरूक और लगातार वैक्सीन लग रही है सही जानकारी मंत्री दे सकते है 
-12वीं की परीक्षायों को लेकर फैसला अभी नही लिया परीक्षाएं होंगी चाहे वह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन :- कंवरपाल