/>

Breaking

Wednesday, October 14, 2020

योजना:30 दिसंबर तक पूरा होगा डायल-112 प्रोजेक्ट, अंग्रेजी, हिंदी, हरियाणवी और पंजाबी में सुनी जाएंगी शिकायत

योजना:30 दिसंबर तक पूरा होगा डायल-112 प्रोजेक्ट, अंग्रेजी, हिंदी, हरियाणवी और पंजाबी में सुनी जाएंगी शिकायत

चंडीगढ़ : धीमी गति से चल रहे इमरजेंसी रिस्पांस एंड स्पोर्ट सिस्टम डायल-112 प्रोजेक्ट की समीक्षा करने के लिए गृह मंत्री अनिल विज ने होम और पुलिस डिपार्टमेंट के अधिकारियों के साथ मीटिंग। समीक्षा करने के बाद विज ने कहा कि 30 दिसंबर तक प्रोजेक्ट का काम पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद पूरे राज्य में 15 से 20 मिनट में सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच जाएगी।
यह प्राेजेक्ट शुरू होने पर पुलिस से संबंधित काम हो या फायर ब्रिगेड जैसी आपातकालीन सेवा, सभी के लिए यही नंबर काम करेगा। कंट्रोल रूम में प्रदेशभर से आने वाली फोन काॅल को सुनकर आगे रिस्पांस टीम तक संदेश भेजे जाएंगे। शहरी क्षेत्रों में अधिकतम 15 मिनट और ग्रामीण क्षेत्रों में 20 मिनट में शिकायतकर्ता के पास टीम पहुंचेगी।
इस पूरी घटनाक्रम का बैक-अप डीजीपी कार्यालय में होगा और सी-डैक हैदराबाद में भी पूरा डाटा सुरक्षित रहेगा। इस संबंध में कोई भी शिकायतकर्ता वायस काॅल, मैसेज, मेल, वेब अलर्ट और सोशल मिडिया के माध्यम से भी अपनी शिकायत भेज सकेगा। कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रत्येक थाने में 2-2 गांडियां उपलब्ध करवाई जाएगी।

पिछले साल के मुकाबले अपराध में 6% आई कमी: विज

गृह मंत्री अनिल विज का दावा है कि पिछले साल की अपेक्षा इस साल सितंबर तक प्रदेश में अपराध में 6 फीसदी की कमी आई है। 2019 के पहले 9 माह के दौरान 102831 मामलों की तुलना में इस साल 96672 केस दर्ज हुए। 2018 की तुलना में भी 2019 में अपराध में कमी दर्ज की गई थी।महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों में 17 प्रतिशत की कमी दर्ज की है जबकि हत्या के मामलों को हल करने में 88 प्रतिशत सफलता हासिल की है।
बलात्कार के मामलों में भी 13.57 प्रतिशत की कमी आई है। 93 प्रतिशत बलात्कार के मामलों को सुलझाया गया है। प्रदेश में अपहरण की वारदातो में 20.73 प्रतिशत कमी आई है। सड़क दुर्घटना के मामलों में भी 20.23 प्रतिशत की गिरावट आई है। मादक पदार्थ अधिनियम के तहत 2240 मामले दर्ज कर भारी मात्रा में नशीले पदार्थ बरामद किए हैं। पुलिस ने 1241 पिस्टल, 37 रिवाल्वर व 2463 कारतूस बरामद किए हैं। सितंबर तक 198 आपराधिक गैंग का पर्दाफाश करते हुए 182 मोस्ट वांटेंड अपराधियों को पकड़ा है। 2806 गुमशुदा लोगों को तलाश किया गया।

No comments:

Post a Comment