/>

Breaking

Saturday, October 10, 2020

दौरा:मंडियों में पहुंचे तो पता चली हकीकत, किसान बोले-साहब हम तो अनपढ़ हैं मैसेज पढ़ना नहीं जानते तो डीसी ने मैसेज के साथ फोन करने के दिए निर्देश

दौरा:मंडियों में पहुंचे तो पता चली हकीकत, किसान बोले-साहब हम तो अनपढ़ हैं मैसेज पढ़ना नहीं जानते तो डीसी ने मैसेज के साथ फोन करने के दिए निर्देश

सिरसा : जिला की मंडियों में चल रही धान की खरीद देखने के लिए डीसी आरसी बिढान शुक्रवार को खुद दौरा करने निकले। इस बात की भनक मंडी प्रशासन को लगी तो उनके हाथ पांव फूल गए। उन्होंने सुबह से व्यवस्थाएं सुधारने के प्रयास शुरू कर दिए थे। मंडी दौरे में साहब को कोई कमी या अनियमितताएं ना दिख जाए। इसके लिए डीसी से पहले एसडीएम ने भी दौरा करके सारी व्यवस्थाएं चेक कर ली थी।
कई जगह स्पेशल पानी के कैंपर भी रखवा दिए गए। जबकि इससे पहले मंडी में पानी की बड़ी दिक्कत थी। वाटर कूलरों में पानी गर्म चल रहा था। जब डीसी दौरा करने पहुंचे तो मंडी में व्यवस्थाएं चकाचक मिली। डीसी के दौरे के दौरान एक किसान ने डीसी से कहा कि साहब हम अनपढ़ किसान है। हमें मैसेज तो पढ़ना आता नहीं है।
इसलिए वे मंडी में समय पर फसल भी नहीं ला पाते। इस पर डीसी ने रिकार्ड जांचा, तो उसमें पीआर धान के सिर्फ दो टोकन ही कटे हुए मिले। इससे डीसी को समझ आ गया कि किसानों को सूचना मिलने में प्रॉब्लम आ रही है। इसलिए धान कम आ रहा है। जिस पर डीसी ने संज्ञान लेते हुए मार्केट कमेटी सचिव को मैसेज के अलावा किसानों को फोन करने और खरीद केंद्र के बाहर सूची चस्पा करने के निर्देश दिए।

कोविड-19 से बचाव की व्यवस्था पुख्ता

डीसी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के लिए सभी प्रकार के इंतजामों की सुचारू रूप से व्यवस्था की गई है। मंडी में सामाजिक दूरी और मास्क पहनना सुनिश्चित किया जाए। किसानों से भी अपील की कि वे मॉस्क व सामाजिक दूरी को आवश्यक बनाएं।

एसो. आढ़तियान की जल सेवा को डीसी ने सहराया

अनाज मंडी सिरसा में दि एसोसिएशन आढतियान की ओर से जल सेवा लगाई है। जल सेवा मंडी में आने वाले किसानों व अन्य काम करने वाले लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाना है। डीसी रमेश चंद्र बिढाण ने अनाज मंडी निरीक्षण दौरे के दौरान इस जल सेवा के लिए दि एसोसिएशन के पदाधिकारियों की सराहना की।

22 मंडियों में पीआर धान खरीदने के आदेश जारी

सरकार ने 1 अक्टूबर से मंडियों में धान, बाजरा व कॉटन की सरकारी खरीद का ऐलान किया था। लेकिन खरीद सबंधी पोर्टल अपडेट नहीं हो पाया था। एक सप्ताह बीतने के बाद मात्र 6 खरीद केंद्रों जिसमें सिरसा, दड़बी, रोड़ी, रानियां, कालांवाली, डबवाली व गोरीवाला पर पीआर धान खरीद होने लगा जबकि पीआर धान के 22 केंद्रों को निर्धारित किया गया था।

किसानों को नहीं आने दी जाएंगी दिक्कतें- सुशील

सीसीआई शाखा सिरसा के कॉमर्शियल ऑफिसर सुशील कुमार ने बताया कि कपास मंडी सिरसा में कॉटन की सरकारी खरीद जारी है। शुक्रवार को 190 किसान नरमा की ट्रॉलियां लेकर पहुंचे। जिसके कारण 6 फैक्ट्रियों में नरमा की फसल भेजनी पड़ी। जिसमें नमी की मात्रा 8 प्रतिशत से ज्यादा पाई जाती है, तो उसका निर्धारित मापदंडों के अनुसार दाम लगता है। इसलिए किसान भाई कपास को सूखाकर लाएं, ताकि नमी की अधिक मात्रा होने पर उनको किसी प्रकार की परेशानी न हो।

No comments:

Post a Comment