/>

Breaking

Tuesday, November 17, 2020

गोवंश पर फायरिंग:निर्मल सिंह के बचाव में आई चित्रा बोलीं- पिता किसान पुत्र हैं, वे बचपन से ही गोसेवा कर रहे

गोवंश पर फायरिंग:निर्मल सिंह के बचाव में आई चित्रा बोलीं- पिता किसान पुत्र हैं, वे बचपन से ही गोसेवा कर रहे

यूपी के बेहट थाने में चौधरी पर दर्ज हुआ है गोवंश पर फायरिंग करने का मामला

अम्बाला : हरियाणा-यूपी बॉर्डर पर यमुना क्षेत्र में गायों पर फायरिंग के आरोप में पूर्व मंत्री निर्मल सिंह पर बेहट थाने में केस दर्ज होने के बाद उनकी बेटी चित्रा सरवारा बचाव में आईं।
सोमवार को वीडियो के जरिये बयान जारी किया। उसमें कहा-निर्मल सिंह की पृष्ठभूमि गांव से है और बचपन से ही वह गाय-भैंसों के बीच रहे हैं। उनके स्टड फार्म में इस समय 100 से ज्यादा घोड़े व 50 से ज्यादा गाय पल रही हैं। फार्म हरियाणा-यूपी बार्डर पर बेलगढ़ में है। वहां कसाई घर है, जहां जानवरों का आघात हो जाता है। इन्हें बचाने के लिए वह पहले से ही लड़ाई लड़ रहे हैं।
*फार्म से पहले 24 फिर 5 गाय चोरी हो गईं थी। एक बार गाय चोरी की कोशिश हुई तो पथराव तक हुआ।* निर्मल सिंह पशुओं को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं, न कि उन्हें मारने की। पुलिस मामले में जांच कर रही है और सच्चाई जल्द सभी के सामने आ जाएगी। जिस क्षेत्र में यह घटना बताई जा रही है, वहां निर्मल सिंह वर्षों से गए तक नहीं।
जिस एक्ट में केस दर्ज हुआ उसे इसी साल योगी सरकार ने सख्त बनाया| यूपी के गांव बरथा कोरसी निवासी माम हुसैन ने बेहट थाना पुलिस को शिकायत दी थी कि 12 नवंबर को गोवंश को लेकर यमुना के पास चराने गया था।
गोवंश यमुना में पानी पी रहा था तभी हरियाणा की तरफ निर्मल सिंह 5 साथियों के साथ आए और गोवंश पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। वहां पर उस समय उसकी तीन गाय थी। दो गायों का पता नहीं लगा। वहीं एक घायल गोवंश को वह घर ले गया था।
बेहट पुलिस ने 14 नवंबर को निर्मल सिंह और अन्य के खिलाफ उत्तर प्रदेश गोवध निवारण अधिनियम की धारा 3, 5, 8 के तहत 14 नवंबर को केस दर्ज किया था। इस अधिनियम को इसी साल यूपी की योगी सरकार ने बदलाव करते हुए सख्त किया है।

*गोवंश का मालिक बोला- पहले भी मारा था तब 40 हजार दिए थे*

गोवंश को गोली मारने की घटना के बाद बेहट पुलिस और गोरक्षक मौके पर पहुंचे थे। वहां की एक वीडियो वायरल हो रही है। उसमें गोवंश का मालिक माम हुसैन कह रहा है कि इससे पहले भी उसके पशु को गोली मारी गई थी तब 40 हजार रुपए मुआवजा दिया था।
चर्चा है कि अब फिर फैसले की बात चल रही है। बेहट थाना प्रभारी का कहना है कि जांच चल रही है। गोली लगने से गोवंश घायल हुआ है।

No comments:

Post a Comment