/>

Breaking

Monday, November 9, 2020

नहीं हो रहा बिजली उत्पादन:प्रदेश में बिजली की डिमांड घटने से थर्मल की सातों यूनिट बंद, खाली बैठे हैं कर्मी

नहीं हो रहा बिजली उत्पादन:प्रदेश में बिजली की डिमांड घटने से थर्मल की सातों यूनिट बंद, खाली बैठे हैं कर्मी

चंडीगढ़ :  राज्य सरकार के हरियाणा के सभी थर्मल प्लांट इस वक्त बंद हो गए हैं। कहीं भी बिजली का उत्पादन नहीं हो रहा है। अब डिमांड के अनुसार सप्लाई बाहर से हो रही है। जिसमें प्राइवेट कंपनियों से लेकर सेंट्रल प्लांटों में राज्य का शेयर शामिल है। फिलहाल मौसम बेहतर है और बिजली की खपत कम हो गई। इसलिए बिजली निगम ने प्रदेश के थर्मल की सभी सातों यूनिट बंद कर दी है।
इनमें पानीपत प्लांट की तीन यूनिट, हिसार और यमुनानगर की दो-दो यूनिट शामिल है। राज्य में इस मौसम में करीब 6300 मेगावॉट बिजली की डिमांड है। जबकि राज्य सरकार के पास हरियाणा के थर्मल प्लांटों और बाहर से मिलने वाली कुल 11,948 मेगावॉट इंस्टॉल की क्षमता है।

प्रदेश में बिजली की स्थिति


हरियाणा में 11948 मेगावॉट बिजली इंस्टॉल की क्षमता है। इसमें 2582 मेगावॉट का उत्पादन हरियाणा के थर्मल प्लांटों में होता है। इसके अलावा 846 मेगावॉट भाखड़ा से मिलती है।

3020 मेगावॉट सेंट्रल पावर शेयर यूनिट से आता है। 5500 मेगावॉट बिजली प्राइवेट कंपनियों से हरियाणा खरीद रहा है।

फिलहाल 7200 मेगावॉट बिजली की जरूरत है। उत्पादन से सस्ती बिजली खरीद पर सरकार को पड़ती है।

अधिकांश यूनिट बंद है। क्योंकि डिमांड कम है। हमारे पास करीब 12 हजार मेगावॉट की क्षमता है। बिजली की कहीं कोई दिक्कत नहीं है।
रणजीत सिंह, बिजली मंत्री।

No comments:

Post a Comment