/>

Breaking

Tuesday, December 15, 2020

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की हालत स्थिर, मेदांता अस्पताल में किया जा सकता है शिफ्ट

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की हालत स्थिर, मेदांता अस्पताल में किया जा सकता है शिफ्ट

रोहतक : प्लाज्मा थेरेपी देने के बाद स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की हालत स्थिर है। अनिल विज का पीजीआई में इलाज चल रहा है। कोरोना से संक्रमित अनिल विज को रविवार को प्लाज्मा थैरेपी दी गई थी। सूत्रों की माने तो उन्हें मेदांता में शिफ्ट करने की तैयारी है। हालांकि अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि नहीं की है। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री को हल्का बुखार भी था। चिकित्सकों ने उनके सभी जरूरी टेस्ट किए। अनिल विज को ऑक्सीजन भी दी जा रही है। साथ ही हो सकता है उन्हें मंगलवार को दोबारा प्लाजमा थैरेपी दी जाए। क्योंकि एक बार प्लाजमा थैरेपी देने के बाद 24 से 48 घंटे में दूसरी बार थैैरेपी दी जाती है। 

टीम की निगरानी में विज

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कोरोना संक्रमण होने के बाद निगरानी के लिए पीजीआईएमएस के वार्ड-24 में भर्ती है। चिकित्सकों का कहना है कि जब तक उनकी रिपोर्ट निगेटिव नहीं आ जाती तब तक उनसे मिलने अस्पताल में कोई ना आएं। स्वास्थ्य मंत्री के इलाज के लिए डॉक्टरों की एक टीम का गठन किया गया है जो उनके स्वास्थ्य पर लगातार नजर बनाए हुए है। मेदांता के डॉक्टरों की देखरेख में दी गई थैरेपी बता दें कि रविवार को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के इलाज के लिए गठित मल्टी स्पेशलिस्ट चिकित्सकों की टीम में एम्स के डायरेक्टर, मेदांता अस्पताल से डॉ. सुशीला, पीजीआई के पीसीसीएम विभाग के एचओडी व स्टेट नोडल अधिकारी डॉ. ध्रुव चौधरी व मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ. वीके कत्याल सहित एनेस्थीसिया विभाग के चिकित्सकों को शामिल किया गया है। मेदांता अस्पताल की कोविड-19 एक्सपर्ट डॉ. सुशीला रविवार को स्वास्थ्य मंत्री का हेल्थ अपडेट लेने पहुंची थी। सभी चिकित्सकों ने एम्स के डायरेक्टर से फोन पर संपर्क कर प्लाज्मा थैरेपी दिए जाने पर चर्चा की। जिसके बाद सभी ने सहमति जताई और शाम को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को सवा घंटे तक चली प्रक्रिया के जरिए प्लाज्मा थैरेपी दी गई l

No comments:

Post a Comment