/>

Breaking

Monday, December 28, 2020

चार दुल्हा-दुल्हन मिले नाबालिग, शादियां रूकी ।

चार दुल्हा-दुल्हन मिले नाबालिग, शादियां रूकी ।

मौके पर ब्यान दर्ज करती जांच टीम ।
जीन्द  :( संजय तिरंगाधारी )  जिला महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी टीम ने गांव हाडवा में चार नाबालिग बच्चों के करवाए जा रहे विवाहों को रूकवाया है। विभाग द्वारा परिजनों से लिखित में चारो बच्चों के बालिग होने तक शादी नहीं करने का बयान लिए गए हैं। 
जिला महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी को गुप्त सूचना मिली थी कि गांव हाडवा में चार सगी बहनों की शादी करवाई जा रही है जिसमें छोटी दो लड़कियां नाबालिग हैं और गांव पाबडा जिला हिसार से आये चारों दुल्हों में से दो दुल्हे भी नाबालिग हैं । सूचना मिलते ही सहायक बाल विवाह निषेध अधिकारी रवि लोहान, एसआई राजबीर, सिपाही ओमप्रकाश, आरती, नीलम पिल्लूखेडा पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तो पाया कि बारात आई हुई थी। इस पर टीम ने यहां वर व वधु के जन्म से संबंधित कागजात मांगे तो बारात में हडकंप मच गया। मौके पर लड़के पक्ष ने जो कागजात दिए गए तो उसमें दोनों छोटे लडके नाबालिग मिले जबकि एक लड़की की उम्र 16 वर्ष व दूसरी लड़की की उम्र 14 वर्ष मिली। इस पर टीम ने शादी न करने के लिए दोनों पक्षों को समझाया व कहा कि लड़कियों की उम्र 18 वर्ष व लड़कों की उम्र 21 वर्ष  पूरी होने के बाद ही उनकी शादी करें अन्यथा उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाही की जाएगी। इस पर दोनों परिवार सहमत हो गए और शादी को स्थगित कर दिया गया। इसके बाद परिजनों ने लिखित बयान दर्ज करवाए कि उन्हें इस बारे में पता नहीं था और गलती से ऐसा कर रहे थे लेकिन अब वह अपने बच्चों के बालिग होने पर ही उनकी शादी करेंगे और बारात सिर्फ बड़ी दो दुल्हनों को लेकर वापिस लौट गई । 

No comments:

Post a Comment