Breaking

Showing posts with label Social News. Show all posts
Showing posts with label Social News. Show all posts

Thursday, March 4, 2021

March 04, 2021

12वीं मंजिल से गिरी दो साल की बच्ची, डिलीवरी बॉय ने कैच कर बचाई जान

12वीं मंजिल से गिरी दो साल की बच्ची, डिलीवरी बॉय ने कैच कर बचाई जान

नई दिल्ली : सोशल मीडिया पर इन दिनों एक डिलीवरी बॉय का कारनामा छाया हुआ है। इस डिलीवरी बॉय ने दो साल की बच्ची की जान बचाने का काम किया है। दरअसल, वियतनाम में दो साल की बच्ची 12वीं मंजिल की बालकनी से गिरने वाली थी।  लेकिन न्गुयेन नागॉस नामक इस डिलीवरी बॉय ने उसकी जान बचा ली।
न्गुयेन की वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हो रही है।  न्गुयेन की उम्र 31 साल की है औऱ वो अपनी कार में सामान की डिलीवरी करने के लिए ग्राहक का इंतजार कर रहे थे। तभी उन्हें एक बच्ची की रोती हुई आवाज सुनाई दी।

न्गुयेन के मुताबिक डिलीवरी के दौरान उन्होंने देखा की एक बच्ची बालकनी पर रोते हुए लटक गई वह एकदम गिरने ही वाली थी । तभी वह अपनी कार से निकले और पास की एक इमारत पर चढ़ गए ताकि लड़की को लपकने के लिए उचित स्थान खोज सकें।

इस दौरान जब बच्ची गिरने लगी तो न्गुयेन ने अपनी सूझबूझ से बच्ची को कैच कर लिया और कोशिश की बच्ची सीधे मुंह के बल नीचे ना गिरे। न्गुयेन ने कहा, ‘सौभाग्य से बच्ची मेरी गोद में आ गिरी और मैंने जल्दी से उसे गले लगा लिया, फिर जब उसके मुंह से खून रिसता देखा, तो मैं बहुत डर गया था।’

बच्ची को नेशनल चिल्ड्रेन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने बताया कि उसके कूल्हे में चोट आई है, लेकिन वह ठीक हो जाएगी । अब बच्ची की जान बचाने के बाद से न्गुयेन काफी खुश हैं।
वहीं न्गुयेन की इस बहादुरी की लोग भी काफी तारीफ कर रहे हैं। लोग न्गुयेन को सुपरहीरो कहकर पुकार रहे हैं।

 

Tuesday, March 2, 2021

March 02, 2021

सरस्वती की जलधारा के लिए तीन गांवों के किसानों ने दी जमीन

सरस्वती की जलधारा के लिए तीन गांवों के किसानों ने दी जमीन

चण्डीगढ : - हरियाणा के खेल एवं युवा मामलेे राज्यमंत्री सरदार संदीप सिंह ने कहा कि सरस्वती नदी के प्रवाह को लेकर सरकार निरंतर प्रयास कर रही है।  इसके लिए यमुनानगर जिले के तीन गांवों के किसानों ने दादूपुर नलवी के तीन किलोमीटर तक की भूमि सरकार को देने का निर्णय लिया है।
इस संबंध में खेल एवं युवा मामले राज्यमंत्री सरदार संदीप सिंह से आज चण्डीगढ स्थित निवास पर यमुनानगर जिले के किसानों का प्रतिनिधिमण्डल मिला। सरदार संदीप सिंह ने कहा कि हरियाणा में सरस्वती नदी की धारा लगातार सालभर बहे और किसानों को इसका पूरा लाभ मिले। मुख्यमंत्री का भी यह विजन है कि सरस्वती नदी का प्रवाह निरंतर चलता रहे। इसके लिए स्यालवा, झाड़ चन्दना व उंचा चंदना सहित 3 गांवों के किसानों ने खुद आगे आकर सरकार को भूमि देने की पहल की है। उन्होंने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि वे मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल से बातचीत कर किसानों की जायज मांगों पर चर्चा करेंगे।

*क्षेत्र में जलस्तर बढ़ेगा*

खेल मंत्री ने कहा कि सरस्वती नदी से किसानों की आस्था जुड़ी हुई है। लेकिन दादूपुर नलवी के लगभग 3 किलोमीटर के दायरे में इस नदी का प्रवाह नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों का सरकार को भूमि देने के लिए स्वयं आगे आना सरकार के लिए गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि दादूपुर नलवी नहर का पानी सरस्वती नदी से जुड़ेगा तो इस क्षेत्र में जलस्तर स्तर भी बढ़ेगा।
अब जलधारा में कोई बाधा नहीं रहेगी
किसानों के प्रतिनिधि मण्डल ने बताया कि यमुनानगर के इन तीन गांवों की लगभग 60 एकड़ भूमि पर लिंक नहर न बनने के कारण सरस्वती नदी के प्रवाह में बाधा आ रही थी। इसलिए किसानों ने आगे आकर जमीन देने के लिए रुचि दिखाई है तथा दादूपुर नलवी नहर का यह क्षेत्र सरस्वती नदी से जुडऩे से अब सरस्वती नदी की जलधारा में कोई बाधा नहीं रहेगी। किसानों का कहना है कि अपनी आने वाली पीढिय़ों को जल उपलब्ध कराने के लिए वह हर प्रकार का त्याग करने को तैयार हैं। सरस्वती नदी के धरातल पर आने से उनके क्षेत्र के साथ-साथ हरियाणा के अन्य जिलों में भी पानी की समस्या दूर होगी। प्रतिनिधि मण्डल में सुभाष चौहान, रामपाल सिंह, जितेन्द्र सिंह, तेलू भगत, महावीर सिंह, वेदपाल, कवंरपाल, इन्द्रजीत, जोगेन्द्र सिंह, प्रताप सिंह महल आदि शामिल थे।

Monday, March 1, 2021

March 01, 2021

4 घंटे ऑपरेशन करके निकाला एक क्विंटल कचरा, न गाय बची और न गर्भ में पल रहा बच्चा

हमारी जरूरत बन रही गौवंश की मौत:फरीदाबाद में 4 घंटे ऑपरेशन करके निकाला एक क्विंटल कचरा, न गाय बची और न गर्भ में पल रहा बच्चा

फरीदाबाद : हमारी रोजमर्रा की जरूरत में शामिल प्लास्टिक कितना घातक है, इसका अंदाजा फरीदाबाद की एक घटना से सहज ही लग सकता है। यहां डॉक्टर ने 4 घंटे की मशक्कत के बाद एक गाय के पेट से करीब एक क्विंटल कचरा निकाला। इसमें 71 किलो तो सिर्फ पॉलीथिन ही था। इसके अलावा कंकड़, पत्थर, कांच और कील भी निकली। बावजूद इसके न तो गाय की जान बची और न ही उसके पेट में पल रही एक और नन्ही जान।
बेसहारा पशुओं की देखरेख करने वाली संस्था PFA के संचालक रवि दुबे ने बताया कि NIT-5 फरीदाबाद में एक गाय को किसी वाहन ने टक्कर मार दी थी। उसे फरीदाबाद के देवआश्रय अस्पताल ले जाया गया। यहां वह दर्द के कारण अपने पेट पर लात मार रही थी। इसके बाद उसका एक्स-रे और अल्ट्रासाउंड टेस्ट किया गया। टेस्ट में गाय के पेट के अंदर हानिकारक पदार्थों के होने की पुष्टि हुई तो डॉक्टरों की टीम ने उसकी जान बचाने के लिए ऑपरेशन शुरू की गई। पेट में कचरे की वजह से गाय को इन्फेक्शन हो गया था। इस वजह से उसकी मौत हो गई।
दुबे ने बताया कि हर साल 7 से 8 गाय की सर्जरी अपने अस्पताल में कराते हैं। इसमें गाय के पेट से 40 से 50 किलो तक पॉलिथीन निकलती है। इसके अलावा कंकड़-पत्थर, पेंच, कांच और कील भी निकलती है।
*पॉलीथिन का उपयोग बंद करने की अपील*

पशुओं के डॉक्टर अतुल मौर्य, डॉ. महेश कुमार वर्मा और डॉ. सुनील कुमार का कहना कि यदि हमें पशुओं और पर्यावरण को बचाना है तो पॉलीथिन का प्रयोग बंद करना होगा। ये हर जीव के लिए खतरा है। घर से निकलते वक्त लोग साग-सब्जी के टुकड़ों को पॉलीथिन में भरकर फेंकने की बजाय एकत्र करके किसी जानवर के आगे खुला डाल दें तो ज्यादा ठीक रहेगा।

Sunday, February 28, 2021

February 28, 2021

प्रेम विवाह से नाराज लोगों ने दामाद के घर में घुसकर की तोड़फोड़ और मारपीट

प्रेम विवाह से नाराज लोगों ने दामाद के घर में घुसकर की तोड़फोड़ और मारपीट

सोनीपत : सोनीपत शहर के ककरोई रोड स्थित श्याम नगर में बेटी के प्रेम विवाह से नाराज एक पक्ष के लोगों ने रविवार दोपहर युवक के परिवार वालों के पांच घरों पर पथराव व तोड़फोड़ कर दी। इतना ही नहीं तीन राउंड फायरिंग भी की गई। आरोप है कि युवती के मायके वालों संग करीब 100 लोगों ने आधे घंटे तक जमकर उत्पात मचाया। घटना के बाद पीड़ित परिवारों ने जाम लगा दिया। आरोप है कि बाद में पुलिस की मौजूदगी में आरोपी पक्ष के तीन घरों में भी तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने प्रेम विवाह करने वाली युवती के बयान पर उसके मायके वालों व 100 अन्य के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। करोई रोड स्थित श्याम नगर की रहने वाली वर्षा ने करीब एक वर्ष पहले ककरोई रोड निवासी साजन के साथ प्रेम विवाह किया था। इससे वर्षा का पिता रणबीर व अन्य परिजन मुकेश, दलराज व अन्य नाराज थे। वर्षा व साजन घर से भागकर रोहतक में रहे थे। बाद में मामला शांत हो गया और वर्षा अपनी ससुराल ककरोई रोड पर साजन और उसके माता-पिता के साथ रहने लगी। शनिवार को साजन के मामा के लड़के उनके घर शादी का कार्ड देने आए थे। आरोप है कि इसकी सूचना मिलने पर रणबीर पक्ष के लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी, जिसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने मामले में दोनों पक्षों को रविवार को चौकी में बुलाया था। पुलिस को दी शिकायत में वर्षा ने बताया कि इसी रंजिश के चलते रविवार को उसके पिता, चाचा, भाई अन्य लडकों व रिश्तेदारों के साथ आकर पहले सन्नी व उसके परिजनों के घर पर हमला कर तोड़-फोड़ कर दिया। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने तीन राउंड हवाई फायरिंग भी की। उकने साथ करीब 100 अन्य लोग थे। इसके बाद लोगों ने उसके घर व पति के मीट शॉप पर हमला करते हुए जमकर तोड़-फोड़ कर दी। हमलावरों ने एसी, फ्रिज, बिजली के मीटर, खिड़कियों के शीशे आदि तोड़ दिए। घरों और गली में ईंट-पत्थर बिखरे पड़े थे। करीब आधे घंटे तक उन्होंने जमकर बवाल काटा। हमले में संजय, साजन, अभिषेक और मनोज घायल हो गए हैं। इनको अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 
दूसरी तरफ इससे नाराज लोगों ने ककरोई रोड पर जाम लगा दिया और धरने पर बैठ गए। लोगों ने सेक्टर-23 पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। सूचना मिलने पर जब पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो लोग भडक उठे और उन्होंने आरोपियों के घरों पर हमला बोल दिया। वहां भी पथराव और डंडों से तोडफोड़ की गई। पुलिस व कालोनी के अन्य लोगों की मदद से मामला शांत कराया गया। पुलिस ने फिलहाल वर्षा के बयान पर उसके मायके वालों के साथ ही 100 अन्य लोगों पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

*ननंद के अपहरण का किया प्रयास* 

वर्षा ने आरोप लगाया कि हमलावरों ने उसकी ननद के अपहरण का प्रयास किया। वह उसे जबरन उठाकर ले जाने का प्रयास कर रहे थे। वर्षा का आरोप है कि उसके साथ भी मारपीट की गई। उसके मासूम बेटे लक्ष पर भी हमला किया गया। बचाव में आए पति साजन को भी पीटा गया। उसके मायके पक्ष की महिलाओं ने उसकी सास व ननद को गालियां दी और मारपीट की।
February 28, 2021

महिला सशक्तिकरण : कैथल की इस महिला के हरियाणवी लहजे से प्रभावित हुए थे अमिताभ बच्चन

महिला सशक्तिकरण : कैथल की इस महिला के हरियाणवी लहजे से प्रभावित हुए थे अमिताभ बच्चन

कैथल : जिला कैथल की महिलाएं हर क्षेत्र में अपनी काबिलियत का आभास राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर करवा रही हैं। इस कड़ी में कलायत उप मंडल के गांव कौलेखां की बहु अनीता सहारण सामाजिक जागृति की दिशा में नीत नई इबारत लिख रही हैं। वे कौन बनेगा करोड़पति की सेलिब्रिटी रह चुकी हैं। गांव से महानगरों की डगर तय करते हुए किसी प्रकार महिलाएं अपनी संस्कृति का असर नामी हस्तियों पर कर सकती हैं इसका उदाहरण वे पेश कर चुकी हैं। बिग बी अमिताभ बच्चन के सवालों का जिस प्रकार उन्हाेंने बगैर विचलित हुए जवाब दिया उसके कारण वे हमेशा चर्चा में रही हैं। अनीता सहारण के हरियाणवी लहजे से अमिताभ बच्चन बेहद प्रभावित हुए और उनके साथ ग्रामीण परिवेश में महिलाओं की स्थिति पर खुलकर चर्चा की थी। फिल्म जगत में महान विभूतियों की छवि के साथ छेड़छाड़ करने वाले निर्माताओं के खिलाफ उन्होंने खुलकर आवाज उठाई है। वे हमेशा इस बात की पक्षधर रही हैं कि फिल्मों, नाटकों और अन्य कार्यक्रमों में किसी प्रकार की फूहड़ता का स्थान नहीं होना चाहिए। प्रसारण ऐसा हो कि परिवार के तमाम सदस्य एक साथ बैठकर देखने में किसी प्रकार का संकोच न करें। 

 इससे देश का भविष्य परिवार से अलग नहीं होगा। परिणामस्वरूप एक जुड़ाव कुनबे में कायम रहेगा। भारतीय संस्कृति में नाटकों, कहानियों, सांग, रामलीला मंचन सहित तमाम तरह के मंचों ने निरंतर संस्कृति को सुदृढ़ करने का काम किया है। यह रिवायत सांस्कृतिक विरासत के लिए महत्वपूर्ण रही है। अनीता का कहना है कि जब-जब फिल्मों और नाटकों के साथ-साथ तमात तरह के आदर्श मंचनों का इतिहास लिखा जाएगा उसमें भारत का नाम सबसे पहले आएगा। इसके साथ ही महिलाओं को घूंघट से बाहर लाते हुए राष्ट्र निर्माण में अपनी सहभागिता दर्ज करवाने के लिए प्रेरित करती आई हैं। ग्रामीणों को मतदान के प्रति उत्साहित करने की दिशा में अनीता ने वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव में अनूठी पहल की थी। इसके तहत मतदान कंेद्रों पर दीपावली की तरह दीप जलाते हुए चुनाव को शांति पूर्व ढंग से पर्व की तरह मनाने की अलख जगाई।
 

पति के साथ, ससुर व ग्रामीण परिवेश के संस्कारों ने बदली जीवन की दिशा अनीता सहारण ने बताया कि उनके पति धर्मवीर कौलेखां ने सामाजिक कार्यों में उनका खुलकर साथ दिया है। किसान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष होने के नाते धर्मवीर कौलेखां जमीन से जुड़े रहे हैं। इसके साथ ही उनके ससुर स्वर्गीय चमेला राम ने गांव के मुखिया रहते हुए जिस प्रकार ग्रामीणों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर विकास व महिला शिक्षा की अलख जगाई उससे वे प्रभावित रही हैं। कलायत स्थित श्री कपिल मुनि महिला कालेज को मजबूत देने के लिए कमरों और अन्य निर्माण कार्यों में ससुर का योगदान रहा। इस प्रकार के सांझे प्रयासों से ही कलायत क्षेत्र की बेटियों को उच्च शिक्षा का अवसर अपने इलाके की दहलीज पर मिला जो कि नारी सशक्तिकरण में बड़ा कदम है।
February 28, 2021

राम रहीम ने डेरे के नाम फिर भेजी चिट‍्ठी, देखें इस बार क्या लिखा पत्र में

राम रहीम ने डेरे के नाम फिर भेजी चिट‍्ठी, देखें इस बार क्या लिखा पत्र में

 रोहतक : डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह ने सुनारिया जेल से अपनी मां, डेरा प्रबंधन व अनुयायियों के नाम पत्र लिखा है। रविवार को डेरे में आयोजित सत्संग कार्यक्रम के दौरान डेरा प्रमुख की चिट्ठी पढ़ कर सुनाई गई। पत्र में डेरा प्रमुख ने किसान संगठनों व केंद्र सरकार के बीच चल रहे विवाद का जिक्र किया है। डेरा प्रमुख ने लिखा कि हम सतगुरु राम से प्रार्थना करते हैं कि देश के अन्नदाता व देश के राजा में जो विवाद चल रहा है, प्रभु आप दोनों को रास्ता दिखाएं। ताकि देश, जोकि अभी भी कोरोना जैसी महामारी से लड़ रहा है, वो तरक्की के रास्ते पर एकजुट होकर आगे बढ़े। देश व संसार में सुख, शांति व खुशहाली के दरवाजे खुल जाएं। बाकी प्रभु उसी में खुश रखना जिसमें तेरी रजा है। वर्णनीय है कि इससे पहले भी डेरा में आयोजित होने वाले सत्संग कार्यक्रम के दौरान डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह द्वारा लिखी चिट्ठी पढ़कर डेरा अनुयायियों को सुनाई जाती है। रविवार को सत्संग के पश्चात यह चिट्ठी इंटरनेट मीडिया पर खूब वायरल हुई। रविवार को डेरा सच्चा सौदा के दूसरे गुरु शाह सतनाम सिंह की गुरुगद्दी पर बैठने के 61वें दिवस को महारहमोकर्म दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में डेरा अनुयायियाें ने भाग लिया। सत्संग पंडाल में बड़ी स्क्रीनों के माध्यम से डेरा प्रमुख का रिकार्डिड सत्संग सुनाया गया। इस मौके पर डेरा मे चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया गया। 
 राम रहीम की डेरा अनुयायियों के नाम चिट्ठी, जो वायरल हो रही है डेरा प्रमुख द्वारा भेजी गई चिट्ठी पर जेल प्रशासन की 26 फरवरी की मुहर लगी हुई है। चिट्ठी में डेरा प्रमुख ने अपनी मां को समय पर दवाइयां लेते रहने का परामर्श देते हुए लिखा है कि हम जल्दी आकर आपका पूरा इलाज जरूर करवाएंगे। डेरा प्रमुख ने लिखा कि सतगुरु राम जो भी करते हैं 100 प्रतिशत ठीक करते थे, करेंगे भी 100 प्रतिशत ठीक। डेरा अनुयायियों को घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाने का भी परामर्श दिया है। इसके साथ ही देश की सुख शांति के लिए एक दिन का व्रत रखने और जरूरतमंदों को राशन देने के लिए लिखा है।
February 28, 2021

एक मार्च से टीका मार्च:60 साल से अधिक उम्र के लोग लगवा सकेंगे टीका, वैक्सीन लगवाने को कोविन एप पर करना होगा रजिस्ट्रेशन

एक मार्च से टीका मार्च:60 साल से अधिक उम्र के लोग लगवा सकेंगे टीका, वैक्सीन लगवाने को कोविन एप पर करना होगा रजिस्ट्रेशन

पानीपत : जिले में काेराेना के केस लगातार बढ़ रहे हैं। इसके बाद भी लाेग काेराेना गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। यह लापरवाही भारी पड़ सकती है, क्योंकि शनिवार को भी काेरोना पाॅजिटिव के 10 नए केस आए है। बड़ी बात यह है कि लॉकडाउन के चौथे महीने जून-20 को भी फरवरी-21 ने पीछे छोड़ दिया है।
जून-20 के 30 दिनों में कोरोना के 138 केस आए थे, वहीं दूसरी ओर फरवरी-21 के 27 दिनों में ही अब तक 148 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। यह फिर से खतरनाक होता जा रहा है, पड़ोसी जिले करनाल में रोजाना 30-35 की औसत से केस आ रहे हैं।
शनिवार को मॉडल टाउन, गीता कॉलोनी, रिफाइनरी टाउनशिप, मॉडल टाउन पुरुथी चौक व बिंझौल में पॉजिटिव केस मिले हैं। सिर्फ दो मरीज डिस्चार्ज किए गए। स्थिति गंभीर हो सकती है, क्योंकि न तो कहीं सख्ती नजर आ रही और न ही सजगता।
ये लापरवाही हो सकती है भारी, कोरोना गाइडलाइन का करें पालन
फरवरी 8वां ऐसा महीना है, जिसमें नए केस जून-2020 से ज्यादा मिले हैं। दाे लाेगाें की काेराेना से माैत भी हुई है। जिले में काेराेना के केस 10 हजार 885 हाे चुके हैं। इसमें 10 हजार 656 रिकवर हो चुके हैं। शनिवार को 368 सैंपल लिए गए हैं। 71 केस एक्टिव हैं। तीन केस अनट्रेस हैं। जिले मेें अब तक 155 लाेगाें की माैत हाे चुकी है।
*राहत: कोरोना का नया स्ट्रेन नहीं, 50 रिपोर्ट निगेटिव*
सीएमओ ने कहा कि काेराेनाे के नए स्ट्रेन काे जानने के लिए 5 प्रतिशत पाॅजिटिव सैंपल दिल्ली की लैब में भेज रहे हैं। जब भी 100 पाॅजिटिव सैंपलाें का स्लाॅट पूरा हाेता है, 5 पाॅजिटिव केस विभाग दिल्ली की लैब में भेज रहा है। अक्टूबर से अब तक लगभग 50 पाॅजिटिव सैंपलाें काे दिल्ली की लैब में भेज चुका है, इनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है।

*45 से ज्यादा उम्र के बीमार भी लगवा सकते हैं टीका, सरकारी अस्पताल में फ्री लगेंगे*

कल से वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू हो रहा है। मतलब कि आम पब्लिक वैक्सीन लगवा सकती है, लेकिन इसके लिए कुछ शर्तें रखी गई हंै। 45 साल से अधिक उम्र वाले बीमार को ही टीके लगेंगे। वहीं, 60 साल वाले सभी को टीके लगेंगे। कुछ प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन लग सकती है, वहां एक डोज लगवाने पर 250 रुपए लगेंगे। जिले में अभी तक किसी प्राइवेट अस्पताल ने वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है।
कुछ निजी अस्पतालों मसलन- प्रेम अस्पताल, पार्क अस्पताल, रविंद्रा अस्पताल, सिग्नस महाराजा अग्रसेन अस्पताल, रेनबो अस्पताल और छाबड़ा अस्पताल में फ्रंट लाइन वर्करों की वैक्सीनेशन हुई है। 1 मार्च से लाेगाें के लिए काेविन एप शुरू हाेगा, इस पर खुद रजिस्ट्रेशन करना हाेगा। यह एप रविवार को खुल सकता है और लोग इसपर पंजीकरण करा सकते हैं।
*आयुष्मान योजना के पात्रों को मिल सकती है छूट*
नाेडल अधिकारी डाॅ. मनीष पाशी ने कहा कि हो सकता है कि आयुष्मान याेजना के लाभार्थियाें को निजी अस्पतालाें में टीका लगवाने पर भी कुछ छूट मिले। इस बारे में साेमवार तक पूरी गाइडलाइन मिलेगी। डॉ. पाशी ने बताया कि जिले में करीब 3 लाख लाेग ऐसे हैं, जिनकी उम्र 45 या उससे ज्यादा है। लेकिन इनमें करीब सवा एक डेढ़ लाेगाें काे टीका लगना हैं क्याेंकि 60 से ज्यादा उम्र के 1 लाख 36064 लाेग हैं।
*गंभीर बीमारी होने का सर्टिफिकेट दिखाना होगा*
जिनकी उम्र 60 साल या ज्यादा है, उन्हें रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन के वक्त भी आईडी कार्ड साथ रखना होगा। 45 से 60 साल के लोगों को मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा, जिससे साबित हो सके कि वे गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। सरकार लिस्ट जारी करने वाली है कि किन गंभीर बीमारियों को प्राथमिकता दी जाएगी।
February 28, 2021

हरियाणा सरकार ने गुरु रविदास जयंती पर हरियाणावासियों को दिया ये बड़ा तोहफा, इन परिवारों को मिलेंगे 80 हजार रूपये

हरियाणा सरकार ने गुरु रविदास जयंती पर हरियाणावासियों को दिया ये बड़ा तोहफा, इन परिवारों को मिलेंगे 80 हजार रूपये
 चंडीगढ़ : हरियाणा सरकार ने गुरु रविदास जयंती पर राज्य के लोगों को बड़ा तोहफा दिया है। डा. बीआर अंबेडकर आवास नवीनीकरण योजना का लाभ अब सभी बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) परिवारों को मिलेगा।
अभी तक यह लाभ केवल अनुसूचित जाति के बीपीएल परिवारों को ही मिल रहा था। योजना के तहत घर की मरम्मत के लिए वित्तीय सहायता 50 हजार रुपये की जगह 80 हजार रुपये मिलेगी। इसके अलावा अनुसूचित जाति को उत्पीड़न के मामले में दी जाने वाली कानूनी सहायता को 11 हजार से बढ़ाकर 21 हजार रुपये कर दिया गया है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को अपने निवास पर संत शिरोमणि गुरु रविदास की 644वीं जयंती पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में यह घोषणाएं की। इस दौरान बिजली एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह उनके साथ थे। इस दौरान सभी 22 जिलों में एक साथ जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किए जिनसे सीएम वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये जुड़े।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली अप्रैल से बीपीएल परिवारों के लिए वार्षिक आय स्लैब को एक लाख 20 हजार रुपये से बढ़ाकर एक लाख 80 हजार रुपये कर दिया जाएगा। महान संतों द्वारा जातिवाद जैसे बुराइयों को दूर करने और सामाजिक सद्भाव एवं भाईचारे के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार संत महापुरुष विचार सम्मान एवं प्रसार योजना की शुरुआत करने जा रही है।
इसके तहत सामाजिक और धार्मिक संगठनों को ब्लाक एवं ग्राम स्तर पर महापुरुषों की जयंती पर कार्यक्रम आयोजित करने के लिए न्यूनतम 50 हजार रुपये और अधिकतम एक लाख रुपये प्रदेश सरकार देगी। नए वित्त वर्ष में इसके लिए 11 करोड़ रुपये का बजट रख जाएगा।

पहली अप्रैल को लांच होगी मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना को पहली अप्रैल को लांच कर दिया जाएगा। इसके तहत परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) बनने के बाद प्रदेश में सबसे कम आय वाले एक लाख परिवारों का चयन कर उन्हें गरीबी रेखा से ऊपर उठाकर मुख्यधारा में लाने का प्रयास किया जाएगा।
ऐसे परिवारों की पारिवारिक आय न्यूनतम आठ हजार से नौ हजार रुपये मासिक सुनिश्चित करने के हर संभव प्रयास करेंगे। प्रदेश में फिलहाल 65 लाख परिवारों में से 54 लाख के पीपीपी कार्ड बन चुके हैं। शेष कार्य भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा।
 
February 28, 2021

हाई कोर्ट ने सेलिब्रिटीज को दी नसीहत, सोशल मीडिया पर इन शब्दों से बनाएं दूरी, जानिए पूरा मामला

हाई कोर्ट ने सेलिब्रिटीज को दी नसीहत, सोशल मीडिया पर इन शब्दों से बनाएं दूरी, जानिए पूरा मामला
 चंडीगढ़ : पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने सेलिब्रिटीज को नसीहत दी है कि वह ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने में सावधानी बरतें, जिनकी गलत व्याख्या हो सकती है। हाई कोर्ट के जस्टिस अमोल रतन सिंह ने क्रिकेटर युवराज सिंह द्वारा इंटरनेट मीडिया पर चैट करते हुए अनुसूचित जाति के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर दर्ज एफआइआर को रद करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणियां की हैं।
बेंच ने अपने फैसले में कहा कि प्रत्येक व्यक्ति और विशेष रूप से सेलेब्रिटी को किसी भी शब्द के उपयोग में सावधानी बरतनी चाहिए, जिसका गलत अर्थ निकाला जा सकता है। कोर्ट ने कहा कि यह देखा जाना आवश्यक है कि 1989 का अधिनियम समाज के एक ऐसे वर्ग के हितों की रक्षा के लिए बनाया गया, जिसे युगों से उत्पीड़ित माना जाता है।

स्वाभाविक रूप से उक्त अधिनियम के प्रावधानों के किसी भी उल्लंघन से निपटने के लिए कड़ाई से पेश आना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि समाज के ऐसे वर्गों के प्रति भलाई की भावना पैदा हो,  इसलिए प्रति प्रत्येक व्यक्ति और विशेष रूप से हस्तियों शब्दों के चयन को लेकर सावधान रहना चाहिए।
मामले की सुनवाई के दौरान युवराज सिंह की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील पुनीत बाली ने कहा कि याचिकाकर्ता द्वारा मुकदमा एक जातिसूचक शब्द के प्रयोग पर दर्ज करवाया है, जबकि उस शब्द का आशय नशे का सेवन करने वाले व्यक्ति से होता है। युवराज के वकील ने यह भी तर्क दिया था कि यह टिप्पणी संबंधित व्यक्ति (युजवेंद्र चहल) के संदर्भ में की गई थी। पिछले साल 20 अप्रैल को इंस्टाग्राम में युवराज और रोहित शर्मा की बात हो रही थी। बड़े ही हलके फुल्के और मजाकिया अंदाज में हो रही उस बातचीत में उन्होंने अन्य क्रिकेट खिलाड़ी यजुवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को मित्रतापूर्वक ढंग से उस शब्द से संबोधित कर दिया था।
उनका किसी समुदाय विशेष की भावनाओं को आहत करने की कोई मंशा नहीं थी। उसके दोस्त युजवेंद्र चहल दलित समुदाय से नहीं थे। बावजूद इसके उन्होंने 5 जून को एक प्रेस बयान जारी कर इसके लिए माफी भी मांग ली थी। सभी पक्षों को सुनने के बाद बेंच ने कहा कि प्रथम दृष्टया इस शब्द का अर्थ दो व्याख्याओं के अधीन है, अर्थात क्या इसका उपयोग किसी विशेष समुदाय के खिलाफ किया गया था।
याची के साथी युजवेंद्र चहल के लिए जो अनुसूचित जाति से संबंधित नहीं है। युवराज के वकील की तरफ से दलील दी गई कि 14 फरवरी को इसी मामले को लेकर हांसी के रजत कलसन ने हांसी पुलिस थाने में एफआइआर दर्ज करवा दी । शिकायतकर्ता कई बार उससे संपर्क करने की कोशिश कर चुका है और उसे ब्लैकमेल करना चाहता था। वैसे भी शिकायतकर्ता इस शिकायत को दर्ज करवाने का अधिकार ही नहीं रखता है। एक तो वह खुद इस समुदाय से नहीं है, दूसरा वह खुद इस मामले में पीड़ित नहीं है।
इस पर शिकायतकर्ता के वकील अजुर्न श्योराण ने आरोपों से इन्कार किया कि युवराज को नहीं जानता है और इसलिए शिकायतकर्ता की ओर से पैसे की मांग करने के लिए उन्हें फोन करने का सवाल ही नहीं उठता। सभी पक्षों को सुनने के बाद हाई कोर्ट ने एफआइआर की जांच पर रोक लगाने से इन्कार करते हुए सरकार को आदेश दिया कि वह जांच जारी रखे व चार सप्ताह के भीतर राजपत्रित अधिकारी द्वारा इस मामले की जांच रिपोर्ट कोर्ट में पेश करे। कोर्ट ने अगली सुनवाई तक एफआइआर पर युवराज के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई न करने का आदेश दिया है लेकिन यह जांच रिपोर्ट पर निर्भर करेगा। इस मामले में अगली सुनवाई 26 मार्च को होगी।

Thursday, February 25, 2021

February 25, 2021

ऑन थिएटर ग्रुप द्वारा पिल्लूखेड़ा खंड के गांवों में नाटकों का मंचन किया गया

ऑन थिएटर ग्रुप द्वारा पिल्लूखेड़ा खंड के गांवों में नाटकों का मंचन किया गया

जींद : महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में शैडो चिल्ड्रन रिसर्च सेंटर फॉर थिएटर एंड टीवी के द्वारा किए जा रहे नुक्कड़ नाटकों पोषण अभियान का समापन सफीदों के साहनपुर व धर्मगढ़ में किया गया। गांवो में महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों का भरपूर समर्थन मिला। सफीदों खंड की सीडीपीओ सुमित्रा लाठर ने नौ टीमों का चयन किया और नाटक के द्वारा अभियान के संदेश पोषण अभियान एक जनआंदोलन को जन-जन तक पहुंचाया। ऑन थिएटर ग्रुप द्वारा पिल्लूखेड़ा खंड के गांवों में नाटकों का मंचन किया गया। जिला  कार्यक्रम अधिकारी रामरती चहल ने कहा कि सभी टीमों ने गुणवत्तापूर्ण कार्य किया। कार्यक्रम अधिकारी प्रीति कुंडू ने कहा कि इन नाटकों के माध्यम से पोषण अभियान का जो संदेश देने का प्रयास किया गया है वो सफल होगा। सीडीपीओ सुमित्रा लाठर ने कहा कि नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से पोषण अभियान के प्रचार, प्रसार और महिलाओं में खून की कमी, स्वच्छता, कुपोषण, मां का दूध, पौष्टिक भोजन का प्रभावशाली ढंग से प्रचार प्रसार किया गया है। नाटकों का निर्देशन सुनीता भाटी ने किया। कलाकारों में कपिल, गौतम, सत्यराज, महाबीर, लोक कलाकार व एकतारा वादक बलवान, ढोलक पर मासूम, हारमोनियम पर प्रवीन, रिषी, धुलाराम, दीपक आदि कलाकार अपनी कला का जादू बिखेरा। 
February 25, 2021

किशोरावस्था में अधिकतर छात्र-छात्राएं किसी भी विषय में सही निर्णय लेने में असफल हो जाते हैं जो उनके जीवन के लिए घातक सिद्ध होता : पुष्पा खत्री

किशोरावस्था में अधिकतर छात्र-छात्राएं किसी भी विषय में सही निर्णय लेने में असफल हो जाते हैं जो उनके जीवन के लिए घातक सिद्ध होता : पुष्पा खत्री

जींद : जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान ईक्कस के तत्वावधान में चल रहे हैल्थ एवं वैलनेस प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के जिला किशोरावस्था स्वास्थ्य अधिकारी डा. पुष्पा ने रीप्रोडक्टिव हैल्थ एंड एचआईवी एड्स पर अपना वक्तव्य प्रस्तुत किया। इसमें 50 अध्यापक- अध्यापिकाओं ने अपनी प्रतिभागीता की। यह कार्यक्रम स्वास्थ्य मंत्रालय तथा शिक्षा मंत्रालय का सांझा कार्यक्रम है जिसमें ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाना निश्चित है। जिला जींद के विद्यालयों के 2-2 अध्यापकों को प्रशिक्षित किया जाना है जिसमें एक महिला अध्यापक का होना आवश्यक है इस प्रशिक्षण का उद्देश्य किशोर, किशोरियों को पढ़ाई के साथ-साथ स्वास्थ्य की पूर्ण जानकारी देना है। किशोरावस्था में अधिकतर छात्र-छात्राएं किसी भी विषय में सही निर्णय लेने में असफल हो जाते हैं जो उनके जीवन के लिए घातक सिद्ध होता है। इस प्रशिक्षण का टारगेट यही है कि किशोर छात्र-छात्राएं अपने उद्देश्य से भटकें ना तथा अपनी रोजमर्रा की समस्याओं को स्वयं निपटाने में कुशल साबित हों। इस प्रशिक्षण में 11 माड्यूल पर चर्चा की गई है जो छात्र-छात्राओं में पढ़ाई के साथ-साथ स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता, समाज के प्रति दायित्व, माता-पिता के प्रति कर्तव्य तथा देश के प्रति सेवा भावना को जागृत करना है। प्रथम सत्र में डा. पुष्पा ने सभी अध्यापकों को रीप्रोडक्टिव हैल्थ तथा एचआईवी एवं एड्स से किशोर-किशोरियों को कैसे जागरूक करना है, यह सिखाया तथा पूर्ण जानकारी दी। दूसरे सत्र के प्रारंभ में पूनम यादव विषय विशेषज्ञ एससीईआरटी गुरुग्राम ने हिंसा और चोट के खिलाफ  सुरक्षा विषय पर छात्रों के लिए क्या-क्या आवश्यक है,  कैसे हिंसा से बचें ,चाहे वह मानसिक पीड़ा हो या शारीरिक या सामाजिक उसे कैसे सुरक्षा करें इस पर चर्चा की। संस्थान के प्राचार्य नवीन नारा ने कहा कि यह कार्यक्रम निश्चित रूप से हमारे किशोर एवं किशोरियों के लिए लाभदायक होगा। जिला कार्यक्रम समन्वयक डा. सुरेंद्र गौड ने बताया कि यह प्रशिक्षण समूचे जिले के 650 अध्यापक-अध्यापिका को दिया जाना है जो अपने-अपने विद्यालय के हैल्थ अंबेसडर बनेंगें। 
February 25, 2021

कभी भी गलत दिशा में अपने वाहन को नहीं चलाना चाहिए : राजेश कुमार

कभी भी गलत दिशा में अपने वाहन को नहीं चलाना चाहिए : राजेश कुमार

जींद : ( संजय तिरँगाधारी ) चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय जींद में एनएसएस टीम द्वारा सड़क सुरक्षा को लेकर प्रोग्राम का आयोजन किया गया इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में जींद ट्रैफिक पुलिस के एस एच ओ राजेश कुमार पहुंचे और कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉक्टर जितेन्द्र कुमार NSS कोऑर्डिनेटर ने की । उन्होंने प्रोग्राम में उपस्थित स्वयंसेवकों को सुरक्षा के नियमों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह हमें हमेशा सुरक्षा के नियमों का पालन करना चाहिए हमें हमेशा ध्यान पूर्वक चलना चाहिए।
कभी भी गलत दिशा में अपने वाहन को नहीं चलाना चाहिए दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का प्रयोग करना चाहिए और नियंत्रण के साथ चलाना चाहिए ।चौराहों पर लगे सुरक्षा के संकेतों को ध्यान में रखना चाहिए और हमेशा रेड लाइट पर रुकना चाहिए। पुलिस को देखकर कभी भी उलटी दिशा में वाहन नहीं चलाना चाहिए। इससे सड़क दुर्घटना होने का खतरा बढ़ जाता है गाड़ी चलाते समय हमेश सीट बेल्ट का प्रयोग करना चाहिए और अपने कागजात पूरे रखने चाहिए सुरक्षा के नियमों का पालन करने के साथ-साथ हमें दूसरों को भी के बारे में जानकारी देनी चाहिए। गाड़ी चलाते समय हमेशा संयम और समझदारी का प्रयोग करना चाहिए और सुरक्षा के नियमों का कभी भी उल्लंघन नहीं करना चाहिए क्योंकि सरकार यह नियम जनता की सुरक्षा के लिए ही बनाती है दो पिया वाहन और और गाड़ी चलाते समय जो नियम सरकार ने बनाए हैं उनका हमेशा पालन करना चाहिए और उनके बारे में सतर्क रहना चाहिए हमें अपने वाहनों के कागज हमेशा पूरे रखने चाहिए जैसे कि दुवा प्रति हेलमेट इंश्योरेंस आरसी पैरों में जूते पहनने चाहिए इस प्रोग्राम का संचालन डॉक्टर संदीप कर रहे  थे विश्वविद्यालय के एनएसएस अधिकारी डॉक्टर जितेंद्र कुमार ने बताया कि रोड सुरक्षा के जो नियम है वह सरकार आम आदमी की सुरक्षा के लिए ही बनाती है हमें उन नियमों का हमेशा अच्छे से पालन करना चाहिए और लोगों को सुरक्षा के नियमों के बारे में जागरूक भी करना चाहिए क्योंकि जान है तो जहान है ऐसा करके हम अपनी ही नहीं बल्कि दूसरों की जिंदगी भी बचाते हैं ।
वाहन चलाते समय कभी भी गलत दिशा गलत मुड़ना ऐसा नहीं करना चाहिए किसी भी दिशा में मोड़ने के लिए हमें हमेशा संकेतों का ध्यान रखना चाहिए और पीछे आ रहे वाहन को सही संकेत देना चाहिए अपने कागजात हमेशा पूरे रखने चाहिए कभी भी दूसरे वाहन को गलत तरीके से ओवरटेक नहीं करना चाहिए वाहन चलाते समय गति का हमेशा ध्यान रखना चाहिए और भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में आराम से अपने वाहन को चलाना चाहिए व  एसoएचoओo राजेश को स्मृति चिन्ह भेंट कर आभार व्यक्त किया इस अवसर पर विश्वविध्यालय के तीनो यूनिटों के पी ओ डॉ संदीप पुरवा डॉक्टर नवीन लडवाल और डॉ सुनीति मौजूद रहे।
February 25, 2021

हरियाणा में एक साल में बढ़ गए 5 लाख मतदाता, देखे सभी जिलों की डिटेल

हरियाणा में एक साल में बढ़ गए 5 लाख मतदाता, देखे सभी जिलों की डिटेल

चंडीगढ़ : भारतीय चुनाव आयोग के निर्देशानुसार हरियाणा के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ ) द्वारा प्रदेश के सभी 22 ज़िलों में कुल रजिस्टर्ड मतदाताओं की ताजा संख्या को इस वर्ष 1 जनवरी 2021 की योग्यता तिथि के आधार पर संशोधित (अपडेट) किया गया जिसे बीती 15 जनवरी 2021 को प्रकाशित कर सार्वजनिक किया गया। फाइनल मतदाता सूचियों के अनुसार हरियाणा में अब कुल 1 करोड़ 89 लाख 17 हजार 901 मतदाता है जिनमें से 1 लाख 9 हजार 579 सर्विस ( फौज/सेना आदि में कार्यरत) मतदाता हैं।
बहरहाल, इसी बीच पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने चुनाव आयोग के आंकड़ों का अध्ययन कर बताया कि हरियाणा के कुल 90 विधानसभा हलकों में से गुडगाव जिले का बादशाहपुर विधानसभा सभा हलका मतदाताओं की संख्या की दृष्टि से प्रदेश में सबसे बड़ा हलका है जिसमे वर्तमान में मतदाताओं की संख्या 4 लाख 3 हजार 399 है जबकि इस आधार पर महेंद्रगढ़ जिले का नारनौल विधानसभा हल्का प्रदेश में सबसे छोटा है जहां बादशाहपुर के आधे से भी कम अर्थात 1 लाख 46 हजार 452 मतदाता हैं।
हेमंत ने प्रदेश के जिलेवार एवं हलकेवार मतदाताओं की संख्या का गहन अध्ययन करने के बाद बताया कि प्रदेश में कुल मतदाताओं की संख्या जो अप्रैल-मई,2019 में हुए अर्थात पिछले 17 वीं लोक सभा आम चुनावो में 1 करोड़ 80 लाख 56 हजार 896 थी और जो अक्टूबर, 2019 में अर्थात पिछले हरियाणा विधानसभा आम चुनावो में 1 करोड़ 83 लाख 90 हजार 525 हो गई थी, अब गत सवा वर्ष में यह संख्या पांच लाख बढ़ गई है।
प्रदेश के 22 जिलो में सबसे अधिक मतदाता फरीदाबाद में 15 लाख 65 हज़ार 561 जबकि सबसे कम चरखी दादरी जिले में 3 लाख 85 हज़ार 888 हैं। पंचकूला जिले में यह संख्या 4 लाख 762, अम्बाला जिले में 8 लाख 76 हज़ार 799, यमुनानगर जिले में 8 लाख 53 हज़ार 754 हैं, कुरुक्षेत्र में 7 लाख 29 हजार 523 ,कैथल में 7 लाख 86 हज़ार 149 है, करनाल में 11 लाख 25 हज़ार 759 , पानीपत में 8 लाख 56 हजार 608 हैं, सोनीपत में 11 लाख 17 हजार 745 हैं, जींद में 9 लाख 66 हजार 94, फतेहाबाद में 6 लाख 86 हजार 149, सिरसा हलके में यह 9 लाख 60 हजार 800, हिसार में 12 लाख 72 हज़ार 441, भिवानी में 8 लाख 30 हज़ार 570 , रोहतक में 8 लाख 2 हज़ार 636 , झज्जर में 7 लाख 58 हजार 891, महेंद्रगढ़ में 6 लाख 94 लाख 667, रेवाड़ी में 6 लाख 88 हजार ५२४, गुरुग्राम में 12 लाख 32 हजार 58, मेवात में 5 लाख 63 हजार 570 और पलवल में 6 लाख 53 हजार 374 है।
हेमंत ने यह भी बताया कि वर्तमान 22 जिलों में सबसे अधिक विधानसभा क्षेत्र हिसार जिले में सात है जबकि फरीदाबाद और सोनीपत में यह छः-छः हैं, करनाल, जींद और सिरसा में पांच पांच, अम्बाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र,कैथल, पानीपत, भिवानी, रोहतक, झज्जर, महेंद्रगढ़, गुरुग्राम में चार -चार, फतेहाबाद, मेवात, रेवाड़ी और पलवल में तीन- तीन एवं पंचकूला और चरखी दादरी में दो-दो विधानसभा हलके हैं।

Wednesday, February 24, 2021

February 24, 2021

योजना:स्टेडियम या कोचिंग से संबंधित परेशानी को लेकर ऐप पर शिकायत या सुझाव दे सकेंगे खिलाड़ी

योजना:स्टेडियम या कोचिंग से संबंधित परेशानी को लेकर ऐप पर शिकायत या सुझाव दे सकेंगे खिलाड़ी

चंडीगढ़ : अब प्रदेश के खिलाड़ियों को खेल से संबंधित हर इवेंट की जानकारी समय पूर्व मिलने लगेगी। खेल विभाग एक ऐप बना रहा है, इसमें खेल से संबंधित ताजातरीन जानकारी खिलाड़ियों तक हर समय उपलब्ध होती रहेगी। खेल नीति की पूरी डिटेल भी इसी ऐप में डाली जाएगी। ताकि किसी खिलाड़ी को पहले से पता हो कि वह जिस खेल में भविष्य तलाश रहा है, उसमें किस तरह की सुविधाएं उसे मिल सकती हैं।
यही नहीं हर प्रकार के खेलों के सभी इवेंट की जानकारी खिलाड़ियों को पहले से मिलने लगेगी। जिन खिलाड़ियों को स्टेडियम या कोचिंग से संबंधित किसी तरह की दिक्कत है तो वे इसी ऐप पर अपनी शिकायत या सुझाव भी दे सकेंगे। बाद में इसी ऐप के साथ खिलाड़ियों को दिए जाने वाले अवार्ड्स को भी जोड़ने की योजना पर तेजी से काम चल रहा है।
अब तक दूर दराज में रहने वाले खिलाड़ियों को मालूम नहीं हो पता कि कब किस जिले में किस आयु वर्ग की कौन सी खेल प्रतियोगिता होने जा रही है। अब ऐप पर भविष्य में होने वाले सभी इवेंट के बारे में अपडेट किया जाएगा। यही नहीं जो इवेंट हो चुके होंगे, उनकी पूरी जानकारी भी ऐप पर उपलब्ध रहेगी। इनमें न केवल राष्ट्रीय बल्कि राज्य स्तर, जिला स्तर और ब्लॉक स्तर के खेलों का पूरा विवरण उपलब्ध कराया जाएगा। ताकि खिलाड़ियों को उसी अनुसार तैयारी करने का मौका मिल सके।
ऐप से बड़े खेलों के ताजा अपडेट भी मिलते रहेंगे, ऑलिंपिक, कॉमनवेल्थ और अंतरराष्ट्रीय पदक पदक विजेता खिलाड़ियों का ब्यौरा भी मिलेगा। कहां पर कौनसी प्रतियोगिता हो रही है और उसके नतीजे क्या हैं। इसकी जानकारी भी मिलेगी। विभाग की योजना है कि इस तरह की पूरी जानकारी ऐप पर 31 मार्च से पहले होगी।
-संदीप सिंह, खेल मंत्री, हरियाणा।
February 24, 2021

शिविर में 38 ने किया रक्तदान-जिला रेडक्रॉस सोसायटी ने लगाया स्वैच्छिक रक्तदान शिविर

शिविर में 38 ने किया रक्तदान-जिला रेडक्रॉस सोसायटी ने लगाया स्वैच्छिक रक्तदान शिविर

जींद : ( संजय तिरँगाधारी )जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा मंगलवार को नागरिक हस्पताल की टीम के सहयोग से स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी सुनीता दुग्गर ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपनिदेशक एवं जिला सूचना व विज्ञान अधिकारी एमजेडआर बदर ने शिरकत की।
मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी सुनीता दुग्गर ने रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यों की सराहना की। रेडक्रॉस भवन में आयोजित रक्तदान शिविर में 38 युवाओं ने रक्तदान किया। जिसमें रैडक्रॉस सोसाईटी जींद के कार्यालय के अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान किया गया। जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव राजकपूर सूरा द्वारा अब तक 47 बार रक्तदान किया जा चुका है। सहायक सचिव सुरेन्द्र श्योराण द्वारा 17 बार, दिनेश कुमार फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा 19 बार, एमएजे सिद्दकी ने 8 बार व प्रदीप कुमार द्वारा 19 बार रक्तदान किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त वी प्लस यू के बीआईओ अतुल व जिला रैडक्रॉस सोसयटी द्वारा रैडक्रॉस भवन में दी जाने वाली प्राथमिकता सहायता प्रशिक्षण के प्रशिक्षणार्थियों का विशेष सहयोग रहा।
रक्तदान कैम्प में कोविड-19 के नियमों का विशेष तौर पर ध्यान रखा गया। जिला रैडक्रॉस सोसायटी द्वारा प्रतिदिन प्राथमिक सहायता का प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षणार्थियों को प्राथमिक सहायता के साथ- साथ स्वैच्छिक रक्तदान करने बारे जागरूक किया गया।
February 24, 2021

गांवों में जाकर सरकार की योजनाओं जानकारी देंगे अधिकारी

गांवों में जाकर सरकार की योजनाओं जानकारी देंगे अधिकारी

चंडीगढ़ : हरियाणा के सहकारिता और अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दूर-दराज गांव के लोगों तक पहुंचे ताकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अंत्योदय का सपना साकार हो सके। बनवारी लाल यहां प्रदेश में समाज कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा के लिए जिला कल्याण अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे महीने में दो दिन किसी भी गांव में जाकर सरकार की योजनाओं की जानकारी दें। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं चला रही है । ऐसा न हो कि जानकारी के अभाव में लोग उनका लाभ उठा पाने से वंचित रह जाएं । डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि सही व्यक्ति को योजनाओं का हर हाल में लाभ मिलना चाहिए। इस दौरान लापरवाह अधिकारियों के प्रति सख्त रुख अपनाने की बात भी उन्होंने कही और लंबित मामलों का समय से निस्तारण करने के निर्देश भी दिए। 
उन्होंने कहा कि गांव में प्रवास के दौरान सरपंच, ब्लॉक समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्यों को साथ लेकर लोगों के बीच जाएं और उन्हें योजनाओं की जानकारी दें। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार का उद्देश्य समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति का उत्थान करना है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए अधिकारी तत्परता से कार्य करें। बैठक के दौरान अधिकारियों को अपने कार्यालय में सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी को दर्शाने वाले बोर्ड लगाने और उनका फोटो मुख्यालय भेजने के लिए भी कहा गया। बैठक में मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना, डॉ. भीमराव अंबेडकर आवास नवीकरण योजना, डॉ. अम्बेडकर मेधावी छात्र संशोधित योजना, अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग से सम्बंधित संस्थाओं एवं सोसायटियों को वित्तीय सहायता, मुख्यमंत्री सामाजिक समरसता अंतरजातीय विवाह शगुन योजना, अत्याचारों से पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता, कानूनी सहायता, पंचायतों को प्रोत्साहन आदि योजनाओं की समीक्षा की गई।
February 24, 2021

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला:अगर जन्म प्रमाणपत्र में बच्चे का नाम अपडेट नहीं है तो 31 दिसंबर 2024 तक करा सकते हैं, सरकार ने लागू किया नया नियम

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला:अगर जन्म प्रमाणपत्र में बच्चे का नाम अपडेट नहीं है तो 31 दिसंबर 2024 तक करा सकते हैं, सरकार ने लागू किया नया नियम

फरीदाबाद : किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पताल अथवा घर पर पैदा होने वाले बच्चों का नगर निगम से जन्म प्रमाण पत्र बनवाना अनिवार्य है।

सैकड़ों लोग ऐसे हैं, जिनके बच्चों का नाम अभी तक जन्म प्रमाण पत्र में नहीं चढ़ पाया है

अगर आपके बच्चे का नाम उसके जन्म प्रमाणपत्र में अपडेट नहीं है तो आपके लिए अच्छी खबर है। प्रदेश सरकार ने जन्म प्रमाण पत्र में नाम चढ़वाने की समय सीमा बढ़ाकर 31 दिसंबर 2024 कर दी है। राज्य सरकार ने इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी है।
अभी तक जन्म प्रमाण पत्र के लिए लोगों को चंडीगढ़ तक धक्के खाने पड़ते हैं। लेकिन, अब ऐसा नहीं करना पड़ेगा। इसके अलावा एक खास बात यह है कि नई सुविधा नगर निगम में ही मिलेगी। अभिभावकों को सिर्फ जरूरी कागजात उपलब्ध कराने होंगे। नगर निगम जन्म एवं मृत्यु रजिस्ट्रेशन के नोडल अफसर राजेंद्र दहिया ने कहा कि जिन लोगों ने अपने बच्चों के प्रमाण पत्र मेंं नाम नहीं चढ़वाया है, उन्हें सरकार ने मौका दिया है तो फायदा उठाएं।
बता दें कि किसी भी सरकारी अथवा प्राइवेट अस्पताल अथवा घर पर पैदा होने वाले बच्चों का नगर निगम से जन्म प्रमाण पत्र बनवाना अनिवार्य है। क्योंकि बगैर प्रमाण पत्र के स्कूलों में दाखिले नहीं होते। अब अन्य बहुत से कार्याें के लिए भी जन्म प्रमाण पत्र अनिवार्य हो गया है। वैसे तो अस्पतालों में पैदा होने वाले बच्चों का रिकार्ड खुद ब खुद नगर निगम के रिकार्ड में आ जाता है। लेकिन उसमें सिर्फ अस्पताल का नाम, जन्मदिन, मां और बाप का नाम ही लिखा होता है। बच्चे का नाम नहीं होता, इसी के लिए नई सुविधा दी गई है।
February 24, 2021

सोशल मीडिया बना रहा है कानून, पोस्ट डालने से पहले बतानी होगी ये बात

सोशल मीडिया बना रहा है कानून, पोस्ट डालने से पहले बतानी होगी ये बात

अभी तक मीडिया हाउस और टेक कंपनियां ही सोशल मीडिया रेगुलेशन के दायरे में आते थीं, लेकिन अब सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर भी रेगुलेशन के दायरे में आएंगे। इंफ्लुएंसर को अब कोई भी पोस्ट करने से पहले बताना होगा कि वह पोस्ट एक आम पोस्ट है या प्रमोशनल। ऐसे में किसी भी कंपनी या प्रोडक्ट को सोशल मीडिया के जरिए प्रमोट करना अब आसान काम नहीं रह जाएगा।

एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड काउंसिल ऑफ इंडिया (एएससीआई) इस मामले में पारदर्शिता लाने के लिए जल्द ही दिशानिर्देश जारी करने जा रही है। दिशानिर्देश के मसौदे के मुताबिक सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर को किसी ब्रांड या प्रोडक्ट के प्रमोशन से जुड़ी सामग्री के बारे में अपने पोस्ट में पूरी जानकारी देनी होगी।
अगले महीने इस पर मुहर लग सकती है, हालांकि दिशानिर्देश को अमलीजामा पहनाने से पहले इस पर देश की जनता की राय भी ली जाएगी।

सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर के लिए दिशानिर्देशों के प्रस्तावित मसौदे में कहा गया है कि विज्ञापन वाले पोस्ट में डिसक्लोजर लेबल हाइलाइट करने होंगे। यह कंटेंट में ऊपर होना चाहिए, ताकि लोगों को पहली नजर में ही पता चल जाए कि यह पोस्ट आम पोस्ट है या प्रमोशनल। प्रस्ताव में कहा गया है कि डिसक्लोजर लेबल्स किसी प्लेटफॉर्म पर डाले गए कंटेंट की पहली दो पंक्तियों में नजर आने चाहिए। एएससीआई के अप्रूव्ड लेबल्स में ऐड, कोलैब, प्रोमो, स्पॉन्सर्ड या पार्टनरशिप शामिल हैं। सोशल मीडिया पर ऐड कंटेंट डालने वाले को इन्हीं में से किसी एक का इस्तेमाल करना होगा।
भारत में 543-1,087 करोड़ रुपये का है सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर का बाजार
डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी एडलिफ्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर का बाजार सालाना 543-1,087 करोड़ रुपये के बीच है। देश में हर रोज सोशल मीडिया इस्तेमाल करने वालों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में इंफ्लुएंसर का बाजार भी तेजी से बढ़ेगा।

Monday, February 22, 2021

February 22, 2021

रेलवे:मेल व एक्सप्रेस का किराया लगेगा, अम्बाला से लुधियाना तक पैसेंजर ट्रेनें आज से चलेगी

रेलवे:मेल व एक्सप्रेस का किराया लगेगा, अम्बाला से लुधियाना तक पैसेंजर ट्रेनें आज से चलेगी

अम्बाला : रेलवे सोमवार से 35 पैसेंजर ट्रेनें फिर से शुरू कर रहा है। इन्हें मेल व एक्सप्रेस में तब्दील किया गया है। किराया भी उसी हिसाब से लगेगा। इनमें एक ट्रेन सुबह 5:35 बजे कुरुक्षेत्र से चलकर 9:45 बजे दिल्ली के निजामुद्दीन पहुंचेगी। शाम 6:10 बजे निजामुद्दीन से चलकर रात 10:30 बजे कुरुक्षेत्र पहुंचेगी।
एक ट्रेन सुबह 5:40 बजे अम्बाला कैंट से चलकर सुबह 8:10 बजे लुधियाना पहुंचेगी। वापसी में शाम 4:10 बजे लुधियाना से चलकर शाम 6:45 बजे अम्बाला कैंट पहुंचेगी। एक ट्रेन सहारनपुर से प्रात: 6:30 बजे चलेगी। यह सुबह 8:00 बजे अम्बाला कैंट व दोपहर 12:15 बजे ऊना हिमाचल पहुंचेगी।
वापसी में दोपहर 1:30 बजे ऊना से चलकर शाम 5:35 बजे अम्बाला कैंट और शाम 7:10 बजे सहारनपुर पहुंचेगी। यात्री बिना रिजर्वेशन यात्रा कर सकेंगे। काउंटर से टिकट ले सकेंगे। उधर, हिसार से जयपुर के बीच 2 ट्रेनें शुरू करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है।
February 22, 2021

एक ही दिन में 3 ठगी:वेटरनिटी चिकित्सक समेत तीन उपभोक्ताओं के खाते से ठग ने निकाले सवा 2 लाख रुपए

एक ही दिन में 3 ठगी:वेटरनिटी चिकित्सक समेत तीन उपभोक्ताओं के खाते से ठग ने निकाले सवा 2 लाख रुपए

कुरुक्षेत्र : साइबर ठग पुलिस व आमजन के लिए परेशानी का सबब बने हैं। भले की करीब 20 दिन पहले जिला पुलिस में साइबर ठगी पर रोक लगाने के लिए साइटर इन्वेस्टिगेशन यूनिट बनाई है। इसके बावजूद जिले में साइबर ठग रोजाना लोगों को नए-नए तरीकों से ठग रहे हैं।
ठगों ने जिले में एक वेटरनिटी चिकित्सक सहित तीन उपभोक्ताओं को बातों में उलझाकर सवा दो लाख रुपए की चपत लगा दी। शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर ठगों की तलाश शुरू की है। उधर बैंक अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों का कहना है, जबतक आमजन खुद जागरूक नहीं होगा। तब तक ऐसी ठगी रोकना संभव नहीं।
जानकारी के अभाव में हो रहे लोग ठगी का शिकार-एलडीएम लीड बैंक मैनेजर राजीव रंजन का कहना है,जागरुकता के अभाव में लोग रोजाना ठगी का शिकार हो रहे हैं । कभी भी अनजान व्यक्ति के कहने या भेजे गए किसी लिंक पर क्लिक न करें।
इसके अलावा पब्लिक टर्मिनल और पब्लिक वाईफाई के प्रयोग से मोबाइल ट्रांजक्शन करने से बचना चाहिए। अनसेफ सर्फिंग के कारण ठग डाटा चोरी कर सकते हैं। ठग नेट पर एक जैसे दिखने वाले लोगो व डोमेन ने के साथ फर्जी साइट बना लेते हैं। जो दिखने में असली लगती है।
साइबर इन्वेस्टिगेशन यूनिट के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर सुभाष चंद का कहना है, उन्होंने कुछ रोज पहले ही चार्ज संभाला है। उन्होंने कहा आमजन की जागरुकता बेहद जरूरी है। किसी तरह की लॉटरी या अन्य लालच में न आएं।
पब्लिक वाईफाई के प्रयोग से मोबाइल ट्रांजक्शन करने से बचें,सैलरी डालने के बहाने निकाले खाते से पैसे
दुर्गा कॉलोनी निवासी एक वेटरनिटी चिकित्सक के बेटे के मोबाइल नंबर पर अनजान नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने अपना नाम गगनदीप बताया। साथ ही बातों में उलझाकर कहा आपके पिता के खाते में इस माह कम सैलरी आई होगी। कॉल करने वाला कहने लगा, सैलरी सेटल करनी है, अपके पिता जी के खाते में सैलरी डालनी है। उनके खाते के साथ ही मोबाइल नंबर अटैच है।
आप फोन पे एप खोलकर उसपर पे ऑप्शन ओके कर दो। जैसे ही कॉल करने वाले व्यक्ति द्वारा बताए अनुसार किया, तो शिकायतकर्ता के वेटरनिटी चिकित्सक पिता के खाते से 7650 रुपए कट गए। कॉल करने वाले ने एक बार और पे ऑफ फोन ऑप्शन ओके करने को कहा, इस तरीके से दूसरे खाते से भी 89999 रुपए यानी कुल 97 हजार 649 रुपए कट गए। बाद में ठगी का एहसास होने पर बैंक को सूचित किया। साथ ही पुलिस को सूचित किया। जांच अधिकारी सब इंस्पेक्टर इल्म सिंह का कहना है, शिकायत पर केस दर्ज कर जांच शुरू की है।
*कस्टमर केयर पर किया फोन, कट गए खाते से पैसे*
इसी तरह सेक्टर-सात निवासी यमन ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। उसने पीएनबी कस्टमर केयर नंबर-180042123530 पर कॉल कर कॉल कर अपने खाते की लिमिट बढ़ाने के लिए फोन किया था। शिकायतकर्ता का कहना है, कॉल उठाने वाले अधिकारी द्वारा डेबिट कार्ड का पूछा गया नंबर उसने उसे बता दिया। शाम के चार बजे के करीब मोबाइल पर खाते से एक लाख चार हजार रुपए निकले का मैसेज आया। यह देख बैंक में संपर्क किया। यह पैसा पेटीएम के जरिए खाते से निकाला गया है।
*जानकार बता पैसे भेजने को कहकर लिंक पर कराया क्लिक*
भिवानी के गांव सांगवान निवासी संजय कुमार ने शाहाबाद थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। वह मोहड़ी केसरी रोड पर एक कंपनी में काम करता है। उसके मोबाइल नंबर पर एक अनजान नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने बातों में उलझा लिया। बोला कि आपके पास रणजीत नाम के व्यक्ति का फोन आएगा। जो आपके मोबाइल पर पैसे ट्रांसफर करेगा। कुछ देर बाद एक और नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने एक लिंक भेजकर उसे खोलने बारे कहा। जैसे ही शिकायतकर्ता ने उस लिंक पर क्लिक किया, उलटा उसके ही खाते से साढ़े 12 हजार रुपए कट गए।