/>

Breaking

Sunday, May 16, 2021

हरियाणा में घटने लगे मरीज, 24 दिनों बाद नए केस 10 हजार से कम मिले

हरियाणा में घटने लगे मरीज, 24 दिनों बाद नए केस 10 हजार से कम मिले

रेवाड़ी :9 मई को अधिकतम 1,18,630 सक्रिय मरीज थे, 6 दिन में ही कम होकर 93,699 रह गए, नए मरीजों की ग्रोथ भी घटी
इंतजार- पीक गुजरा है या नहीं इस नतीजे पर पहुंचने के लिए ग्रामीण क्षेत्र की रिपोर्ट का इंतजार करना होगा, अगले 7 दिन अहम

प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर का पीक गुजरने के संकेत दिख रहे हैं। नए मरीजों की वृद्धि दर और सक्रिय मरीजों में करीब एक हफ्ते से कमी का ट्रेंड है। 4 मई को सर्वाधिक 16,246 नए मरीज थे। इसके बाद चार दिन तक यह आंकड़ा 14-15 हजार पर स्थिर रहा। एक सप्ताह से नए मरीज लगातार घट रहे हैं।

सक्रिय मरीजों की संख्या भी 9 मई को अधिकतम 1,18,630 थी। अब यह घटकर 93,699 रह गई है। सरकार ने भी 15 मई तक ही प्रदेश में पीक की उम्मीद जताई थी। हालांकि, अभी नए केस गुड़गांव, फरीदाबाद, पंचकूला जैसे शहरी क्षेत्रों में ही घटे हैं। अगले हफ्ते गांवों में भी नए मरीज कम रहे तो ही पीक माना जाएगा। प्रदेश में शनिवार को 9,955 नए मरीज मिले। नए मरीज 24 दिन बाद 10 हजार से कम रहे हैं। 12,593 लोग ठीक भी हुए।

 स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ी तो सक्रिय मरीजों की दर में देश और पंजाब से हुए बेहतर

*4 मई को मिले थे अधिकतम*
अप्रैल माह में नए मरीज निरंतर बढ़ रहे थे। 4 मई को अधिकतम 16,246 हो गए, जो अब कम होकर 9,955 तक आ गए हैं।
अप्रैल माह में नए मरीज निरंतर बढ़ रहे थे। 4 मई को अधिकतम 16,246 हो गए, जो अब कम होकर 9,955 तक आ गए हैं।
 10 दिन में 14 हजार औसत
अप्रैल के मध्य तक प्रतिदिन औसतन 2500 मरीज स्वस्थ हो रहे थे, यह औसत पिछले 10 दिनों में 14 हजार तक है।
अप्रैल के मध्य तक प्रतिदिन औसतन 2500 मरीज स्वस्थ हो रहे थे, यह औसत पिछले 10 दिनों में 14 हजार तक है।
*1 लाख से नीचे आए*
अप्रैल में सक्रिय मरीज तेजी से बढ़े। 9 मई को अधिकतम 1,18,630 थे जो अब फिर से 1 लाख से कम रह गए हैं।
अप्रैल में सक्रिय मरीज तेजी से बढ़े। 9 मई को अधिकतम 1,18,630 थे जो अब फिर से 1 लाख से कम रह गए हैं।

 *पंजाब से जल्दी सुधार*

सक्रिय दर मई की शुरुआत में देश और पंजाब से हमारी काफी तेज थी, जिसमें हमने तेजी से सुधार किया, अब दोनों से कम है।
सक्रिय दर मई की शुरुआत में देश और पंजाब से हमारी काफी तेज थी, जिसमें हमने तेजी से सुधार किया, अब दोनों से कम है।
 *मौतें और गंभीर मरीज*
मौतों का आंकड़ा अभी भी चिंताजनक है। 24 घंटे में 164 मरीजों ने दम तोड़ा है। इन आंकड़ों में स्थिरता बनी हुई है और लगातार 150 से अधिक मौतें हो रही हैं। अब तक 6,935 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है।
प्रदेश में गंभीर मरीज भी चिंता का विषय बने हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल के अनुसार, सीरियस मरीजों की संख्या भी अभी 13,679 बनी हुई है। हालांकि, सरकारी बुलेटिन में इनका आंकड़ा 1759 दिखाया जा रहा है।

* ग्रामीण जांच का इंतजार*

विशेषज्ञों का कहना है कि राज्य में पीक चला गया, यह कहना अभी जल्दबाजी होगा। यह सही है कि एनसीआर समेत कुछ शहरी इलाकों में हम कह सकते हैं कि नए मरीजों की संख्या कम हुई है या अभी स्थिर है।
परंतु ग्रामीण क्षेत्र वाले जिलों में केसों की संख्या नहीं घटी है। अभी गांवों में जांच होनी बाकी है। उसके सात दिनों के परिणामों में यदि केस कम होते हैं तो हम कह सकेंगे कि पीक जा चुका है। केस घट रहे हैं तो यह अच्छे संकेत जरूर हैं।

No comments:

Post a Comment