/>

Breaking

Tuesday, May 18, 2021

हिसार मे स्कॉलर ने लैब में जहर निगलकर दी जान,मौके से मिले सुसाइड नोट की जांच में जुटी पुलिस

-जीजेयू में पीएचडी रिसर्चर का खौफनाक कदम-

हिसार मे स्कॉलर ने लैब में जहर निगलकर दी जान,मौके से मिले सुसाइड नोट की जांच में जुटी पुलिस
हिसार : गुरु जंभेश्‍वर विश्‍वविद्यालय (जीजेयू ) में सोमवार को पीएचडी की एक स्कॉलर ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। वह शहर की ही रहने वाली थी। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाते हुए मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि युवती लैब से मशीनें दूसरे विभाग में भेजे जाने से परेशान थी।
मृतक की पहचान हिसार के 12 क्‍वार्टर की रहने वाली सोनिया डबास के रूप में हुई है। वह जीजेयू  के बायोटैक विभाग में पीएचडी रिसर्चर थी। सोमवार दोपहर करीब 1 बजे उसने विश्वविद्यालय की लैब में ही जहर निगल लिया। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि युवती लैब से मशीनें दूसरे विभाग में भेजे जाने से परेशान थी। उसे लग रहा था कि उसका प्रोजेक्‍ट पूरा नहीं हो पाएगा। इसके लिए उसने वाइस चांसलर को एक पत्र भी लिखा था। यह सब खुलासा मौके से मिले डेढ़ पेज के इंग्लिश में लिखे एक सुसाइड नोट से हुआ है। बरामद सुसाइड नोट के मुताबिक युवती खुद को कमजोर बता रही है। साथ ही पूरा प्रयास करने की बात भी कह रही है। सोनिया ने लिखा है कि वह अच्‍छी बेटी नहीं है, मगर उनकी मां बहुत मजबूत है। सोनिया ने लिखा है 'मैं हार चुकी हूं। मेरी आत्‍मा चोटिल है। मुझे माफ कर देना'। पुलिस इस मामले में पता लगा रही है कि आखिर क्‍या युवती पढ़ाई के कारण ही इतनी परेशानी थी या कुछ और भी कारण रहा है। वहीं स्‍वजनों से भी पुलिस इस मामले में बात कर रही है। पुलिस विभाग की चेयरपर्सन नमिता से भी इस मामले में बातचीत कर सकती है। लड़की के पिता का कहना है कि वो कार्रवाई चाहते हैं,बेटी का एक कंप्‍यूटर था, जिसे दूसरी जगह भेज दिया गया, उसी कंप्‍यूटर में बेटी का डाटा था। मगर बार बार कहने के बाद भी लड़की की बात नहीं सुनी गई।

No comments:

Post a Comment