Breaking

Showing posts with label Crime News. Show all posts
Showing posts with label Crime News. Show all posts

Saturday, January 23, 2021

January 23, 2021

52 साल पहले दादा की हत्या...28 साल के पोते ने अब लिया बदला, दिल दहला देगी वारदात

52 साल पहले दादा की हत्या...28 साल के पोते ने अब लिया बदला, दिल दहला देगी वारदात

रोहतक : हरियाणा के रोहतक के गांव मकड़ौली कलां में 52 साल पहले हुई दादा की हत्या का बदला लेने के लिए 28 साल के पोते ने 76 वर्षीय पड़ोसी रिटायर्ड फौजी की पेट में तलवार घोंपकर हत्या कर दी। इस बीच घर में खाना बना रही पूर्व फौजी की पुत्रवधू बचाने दौड़ी तो उस पर भी हमले की कोशिश कर आरोपी मौके से फरार हो गया। बाद में पुलिस ने एसपी राहुल शर्मा के दिशा निर्देश में कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को पुलिस आरोपी को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में वीरेंद्र की पत्नी मीना ने बताया कि वह मकड़ौली कलां गांव की रहने वाली है।
मीना ने बताया कि गुरुवार सुबह साढ़े 10 बजे वह घर पर खाना बना रही थी। उसका ससुर पूर्व फौजी नवल सिंह (76) घर के आंगन में बैठकर खाना खा रहा था। पति वीरेंद्र किसी काम से  बाहर गया था। उसी समय घर में पड़ोसी संदीप उर्फ गोला आया और वीरेंद्र के बारे में पूछने लगा। जिस पर मीना ने पति के बाहर जाने की बात कही। यह सुनकर संदीप चला गया।  कुछ देर बाद घर के अंदर तलवार लेकर आया। मीना रसोई के पास खड़ी थी। मीना के देखते देखते संदीप ने अपने हाथ में ली तलवार से ससुर नवल सिंह पर हमला कर दिया। संदीप ने नवल सिंह के पेट में तलवार घोंप दी। इसके बाद फिर से संदीप ने तलवार से और वार करने की कोशिश की जिस पर मीना चिल्ला उठी और संदीप को पकड़ने की कोशिश की।

इस दौरान संदीप ने मीना पर भी तलवार से जानलेवा हमला करने की कोशिश की। इस बीच मीना ने तलवार पकड़ ली, जिससे तलवार मौके पर ही गिर गई। आरोपी मीना, उसके पति और बेटे को जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया। खून से लथपथ हालत में नवल सिंह को पड़ोसी राजबीर और रविंद्र की सहायता से इलाज के लिए पीजीआई लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार 52 साल पहले आरोपी संदीप के दादा श्रीलाल की हत्या किसी विवाद के चलते मृतक नवल सिंह व उसके परिवार के सदस्यों ने की थी जिस मामले में सभी जेल भी गए थे।
मगर बाद में गांव में पंचायती तौर पर फैसला होने के बाद आरोपी कोर्ट से बरी हो गए थे। श्रीलाल की हत्या होने के ढाई माह बाद संदीप के पिता पैदा हुए थे। बाद में कुछ समय बाद दोनों परिवारों के बीच आना-जाना भी शुरू हो गया था। डीएसपी सदर सज्जन कुमार ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी संदीप ने बताया कि वह शादीशुदा है व एक बेटी का पिता है। वह पेशे से किसान है।

Monday, January 18, 2021

January 18, 2021

जींद में ताबड़तोड़ चली गोलियां, बेखौफ बदमाशों ने फैलाई दहशत

जींद में ताबड़तोड़ चली गोलियां, बेखौफ बदमाशों ने फैलाई दहशत

जींद:  जींद में अपराध चरम पर है। बतादें कि बदमाशों में पुलिस का बिलकुल भी खौफ नहीं है। बताना लाजमी है कि जींद जिले में बदमाश दिनदहाड़े लोगों में दहसत पैदा कर रहे है। दरअसल गांव किलाजफरगढ़ में चाय की दुकान के बाहर फायरिग करके दहशत फैलाने के एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित को अदालत में पेश करके एक दिन के रिमांड पर लिया है। पकड़े गए आरोपित ने खुलासा किया कि फायरिग करने के दौरान उसके दो साथी भी मौजूद थे। उन्होंने ढाबा पर उनके नाम की दहशत बनाने के लिए फायरिग की थी।
गांव किलाजफरगढ़ निवासी मुकेश ने जुलाना थाना पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसके छोटे भाई अनिल ने प्रिया कला फैक्ट्री के सामने चाय की दुकान की हुई है। उसका छोटा भाई अपनी गर्भवती पत्नी को पीजीआइ रोहतक में दिखाने के लिए गया हुआ था। इसलिए चाय की दुकान उसने खोल ली। सुबह के समय धुंध ज्यादा था। इसी दौरान बाइक सवार तीन युवक आए और उनकी दुकान के सामने बाइक को रोक लिया। इसी दौरान बाइक के पीछे बैठे युवक ने पिस्तौल निकाल ली और उसे लहराने लगा और फैक्ट्री के गेट के सामने गोली चला दी। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात युवकों के खिलाफ शस्त्र अधिनियम व दहशत फैलाने का मामला दर्ज किया था।
 पुलिस जांच में गांव असरफगढ़ निवासी सचिन का नाम सामने आया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। सचिन ने बताया कि 10 जनवरी को वह अपने दोस्त गांव रामराये निवासी ऋषि व गांव किलाजफरगढ़ निवासी गोविदा के साथ फैक्ट्री के साथ लगते ढाबे पर खाना खाने के लिए गए थे। वहां पर पहुंचने के बाद उन्होंने आरोपित ऋषि ने ढाबा संचालकों पर दहशत फैलाने के लिए फायरिग कर दी। इसके बाद वहां से फरार हो गए। पुलिस अब आरोपित ऋषि व गोविदा की तलाश कर रही है।

Saturday, January 16, 2021

January 16, 2021

जींद में भाई ने ले ली भाई की जान, मामूली कहासुनी में कुल्हाड़ी से काटा

जींद में भाई ने ले ली भाई की जान, मामूली कहासुनी में कुल्हाड़ी से काटा 

जींद : जींद के अलेवा थाना के अन्तर्गत संडील गांव में कल रात को 2 नशेड़ी भाइयों के बीच हुई कहासुनी मेें एक भाई ने दूसरे की जान ले ली। जानकारी मिलने पर मौके पर सीन ऑफ क्राइम टीम प्रभारी धमेंद्र, अलेवा थाना प्रभारी रामकुमार दहिया व नगूरां चौकी प्रभारी महेंद्र शर्मा ने घटना का जायजा लेते हुए जांच शुरू कर दी। घटना को अंजाम देकर हमलावर महीपाल मौके से फरार हो गया जबकि पुलिस ने मृतक कुलदीप का शव पोस्टमार्टम के लिए जींद के नागरिक अस्पताल पहुंचा दिया है जहां आज उसका पोस्टमार्टम करवाया जाएगा।


मिली जानकारी के अनुसार गांव संडील निवासी कुलदीप (35) का अपने बड़े भाई महिपाल से कहासुनी हो गई। जिस पर दोनों आपस में झगड़े हुए गांव के शमशान घाट पहुंच गए। जहां पर महिपाल ने अपने भाई कुलदीप की गर्दन पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया। जिस पर कुलदीप की मौके पर ही मौत हो गई। घटना को अंजाम देकर आरोपित मौके से फरार हो गया। बताया जाता है कि दोनों भाई शराब के आदी हैं।
मृतक कुलदीप अविवाहित था, जबकि बड़ा भाई महिपाल विवाहित है। कुलदीप अपनी भाभी के साथ झगड़ा करता था और उसके साथ मारपीट भी करता था। कल रात को कुलदीप ने अपनी भाभी के साथ झगड़ा किया, जिस पर महिपाल की अपने छोटे भाई से कहासुनी हो गई। दोनों भाई आपस में झगड़ते हुए शमशान घाट पहुंच गए और वहां पर महिपाल ने कुलदीप की गर्दन पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया।
मृतक तथा आरोपित के माता, पिता की मौत पहले हो चुकी है। बड़ी बहन शादीशुदा है और अपनी ससुराल रहती है। घटना की सूचना पाकर अलेवा थाना प्रभारी रामकुमार, सीन आफ क्राइम टीम के साथ मौके पर पहुंच गए और हालातों का जायजा ले शव को कब्जे में ले सामान्य अस्पताल पहुंचाया। अलेवा थाना पुलिस ने मृतक की बहन बिमला की शिकायत पर बड़े भाई महिपाल के खिलाफ हत्या समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी।
अलेवा थाना प्रभारी रामकुमार ने बताया कि मृतक तथा आरोपित की बड़ी बहन की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। हत्या के पीछे दोनों भाईयों के बीच झगड़ा होना बताया जा रहा है। दोनों शराब पीने के आदी थे। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। नगूरां चौकी प्रभारी महेंद्र शर्मा ने बताया कि मृतक की बहन के बयान दर्ज कर लिए हैं। आरोपी मौके से फरार है जिसको जल्द काबू कर लिया जाएगा। 
January 16, 2021

साजिश के तहत पति ने की थी पत्नी की हत्या, बताई ऐसी वजह

साजिश के तहत पति ने की थी पत्नी की हत्या, बताई ऐसी वजह

पानीपत : पानीपत जिला में हुए पूजा मर्डर केस में सदर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हत्या के आरोपित शूटिंग एकेडमी के संचालक निजामपुर के विकास को गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार को आरोपित को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।

डीएसपी वीरेंद्र सैनी ने बताया कि आरोपित विकास ने कूबूल कर लिया है कि पत्नी पूजा की हत्या की है। वे पत्नी का पसंद नहीं करता था। स्वजनों ने उसे जबरन चार दिसंबर को ससुराल सोनीपत के चिड़ाना भेज दिया और वे पूजा को घर ले आया।

इसके बाद भी पत्नी बार-बार टोकती थी कि किसी से फोन पर बात न किया करो। बुधवार शाम को साजिश के तहत विकास सैर करने के बहाने खेत की तरफ ले गया और गर्दन पर चाकू से वार कर हत्या कर दी। इसके बाद पत्नी के जेवर छिपाकर लूट का ड्रामा कर दिया कि तीन बाइकों से आए छह बदमाशों ने पूजा की हत्या कर दी। उस पर भी चाकू से वार कर मोबाइल फोन, अंगूठी और चेन लूट ली।

रिमांड के दौरान आरोपित विकास से वारदात में इस्तेमाल चाकू और जेवर बरामद किए जाएंगे। अगर इस हत्याकांड में और किसी की मिलीभगत मिली तो गिरफ्तार किया जाएगा। बता दें कि चिड़ाना गांव के संजीत ने पुलिस को शिकायत दी कि उसकी छोटी बहन पूजा को ससुराल वाले दहेज में कार व पांच लाख रुपये लाने के लिए प्रताड़ित कर रहे थे।

दहेज न लाने पर आरोपितों ने बहन की हत्या कर दी। थाना सदर पुलिस ने आरोपित पति विकास, ससुर चरण सिंह, सास सतवंती और देवर रिकू के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर रखा है।
January 16, 2021

हरियाणा में वकील की पत्नी का घर में घुसकर किया मर्डर, गोलियां दागी

हरियाणा में वकील की पत्नी का घर में घुसकर किया मर्डर, गोलियां दागी

फ़तेहाबाद : प्रदेश में लगातार बढ़ता क्राइम अब पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करने लगा है | ताजा मामला फतेहाबाद के टोहाना का है जहां अज्ञात बदमाश ने एडवोकेट चिमनलाल गोयल की धर्मपत्नी की आज गोली मारकर हत्या कर दी| बताया जा रहा है कि मृतका कुसुमलता रेलवे रोड स्थित पुरानी अनाजमंडी के बाहर अपने मकान में अकेली थी। तभी अज्ञात व्यक्ति घर में घुस आया और मृतका पर हमला कर दिया।

इस दौरान कुसुमलता ने अपने आपको बचाने का काफी प्रयास किया। वह घर के स्टोर रूप में भी छिपी, लेकिन कातिल ने यहां पहुंचकर उन्हें गोली मार दी| जिससे उनकी मौके पर मौत हो गई।

सूचना मिलने पर शहर थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की छानबीन में जुट गए और अब जांच के बाद ही साफ हो पाएगा की आखिर बदमाश ने इस खुनी वारदात को अंजाम क्यों दिया।

Wednesday, December 2, 2020

December 02, 2020

रिश्वतखोर पटवारी गिरफ्तार, किसान को कर रहा था परेशान

रिश्वतखोर पटवारी गिरफ्तार, किसान को कर रहा था परेशान

कैथल : कैथल में विजिलेंस की टीम ने एक पटवारी को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। हलका पटवारी पर आरोप है कि उसने इंतकाल के नाम पर गांव प्यौदा के एक व्यक्ति से ढाई हजार रुपये रिश्वत मांगी थी। इसमें एक हजार रुपये वह पहले ले चुका था और बाकि 1500 रुपये लेते हुए वह धरा गया। पटवारी का नाम मनजीत है।

शिकायतकर्ता का आरोप है कि हलका पटवारी मनजीत उसे कई महीने से तंग कर रहा था। बार-बार चक्कर कटवा रहा था। वह जायज काम के लिए भी रिश्वत मांग रहा था। इंतकाल में कई तरह की कमियां बताकर उससे प्रताड़ित कर रहा था। इसके चलते उसने विजिलेंस का सहारा लिया।

विजिलेंस की टीम के इंचार्ज इंस्पेक्टर सुरेश कुमार ने कहा कि हमें प्यौदा गांव के एक व्यक्ति ने शिकायत दी थी कि पटवारी मनजीत वसीयत के इंतकाल का इंतकाल जारी करने के नाम पर उससे ढाई हजार रुपये मांग रहा है। 1000 रुपये पहले ही उन्होंने पटवारी को दे दिए थे और शेष 1500 रुपये देने बकाया थे।

इसलिए उसने विजिलेंस की टीम से संपर्क किया और उनसे पाउडर लगाकर रखे गए नोट लेकर पटवारी को दिए। जैसे ही उसको नोट दिए तो विजिलेंस की टीम ने रेड की और देखा तो रंगे हुए पैसे उस पर मिले। हाथ धुलवाए थे तो पानी लाल हो गया।

विजिलेंस इंस्पेक्टर ने कहा कि हमने पटवारी को गिरफ्तार कर लिया है। इसका मेडिकल करवाकर न्यायालय में पेश किया जाएगा और नियम के अनुसार जो भी कार्रवाई होगी, वह की जाएगी। सुरेश कुमार ने कहा कि शिकायतकर्ता की पहचान गुप्त रखी जाएगी।

Wednesday, November 11, 2020

November 11, 2020

मर्डर केस:कांग्रेस के नेता विकास चौधरी की हत्या में शामिल 50 हजार का इनामी ढेर

मर्डर केस:कांग्रेस के नेता विकास चौधरी की हत्या में शामिल 50 हजार का इनामी ढेर

गुरुग्राम : मंगलवार अलसुबह नौरंगपुर तावडू इलाके में क्राइम ब्रांच और बदमाशों में मुठभेड़ में एक गैंगस्टर की मौत हो गई। एनकाउंटर में ढेर हुए बदमाश की पहचान गैंगस्टर रोहित निवासी कांकरौला के रूप में हुई है। जबकि घायल बदमाश भी 25 हजार रुपए का ईनामी है। बताया जा रहा है कि कुख्यात गैंगस्टर कौशल की गिरफ्तारी के बाद गैंग का संचालन रोहित ही कर रहा था।
वहीं, एनकाउंटर के दौरान एक अन्य गैंगस्टर सतेंद्र पाठक को भी गोली लगी, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। गुड़गांव पुलिस ने संदीप गाड़ोली के बाद इस एन्काउंटर में गुड़गांव में इस मुठभेड़ के बाद रोहित को ढेर किया है। हालांकि अभी कई बदमाश हैं, जिनकी पुलिस तेजी से तलाश कर रही है। इनमें सूबे गुर्जर हिट लिस्ट में हैं।
पुलिस के अनुसार दोनों स्विफ्ट डिजायर कार में थे। सूचना पर पुलिस ने कार को घेर लिया। इस बीच गुरुग्राम पुलिस क्राइम ब्रांच सेक्टर 17 की टीम के साथ बदमाशों की मुठभेड़ हो गई। इस दौरान दोनों ओर से हुई फायरिंग में बदमाश रोहित मारा गया, जबकि फायरिंग में दो पुलिसकर्मियों को भी गोली लगी है।
एसीपी क्राइम प्रीतपाल ने बताया कि दोनों बदमाशों को घायल होने के बाद सेक्टर-10 स्थित नागरिक अस्पताल में एडमिट कराया गया, लेकिन रोहित की उपचार के दौरान मौत हो गई।

कुख्यात गैंगस्टर कौशल के बाद बढ़ता जा रहा था रोहित का आतंक

एसीपी क्राइम प्रीतपाल का कहना है कि पुलिसकर्मी बुलेट प्रूफ जैकेट में थे। इस वजह से उनका बचाव हो गया। एनकाउंटर के दौरान दोनों तरफ से 10 राउंड से अधिक गोलियां चलीं। पटौदी इलाके में कुछ महीने पहले ही एक व्यक्ति के ऊपर रोहित ने गोलियां चलाई थी। रोहित ज्ञात गैंगस्टर राजेश भारती गैंग का भी प्रमुख सदस्य रहा था। रोहित को अपराध की दुनिया में लोग लंबू के नाम से जानते थे।

फरीदाबाद में हुई थी कांग्रेस नेता की हत्या शामिल था गैंगस्टर रोहित

कुछ महीने पहले ही रोहित ने बिलासपुर इलाके में एक कारोबारी के ऊपर 50 गोलियां चलाई थीं। इन दोनों हत्याकांड में भी बदमाश शामिल रहा था। ऐसे में पुलिस लगातार उसकी तलाश कर रही थी। यही वजह है कि रात 2 बजे मिली सूचना के बाद नौरंगपुर-बार गुर्जर क्षेत्र में पुलिस ने नाकेबंदी की थी। सुबह 3 बजे हुई मुठभेड़ में दोनों तरफ से पांच-पांच गोलियां चलाई गई, जिसमें दोनों बदमाश घायल हो गए, जबकि पुलिस कर्मी बुलेटप्रूफ जैकेट होने से बच गए।

Tuesday, November 10, 2020

November 10, 2020

दहेज की मांग पूरी न होने पर दिया:2 बार तीन तलाक और हलाला की शिकार हुई पत्नी, आठ आरोपियों पर केस

दहेज की मांग पूरी न होने पर दिया:2 बार तीन तलाक और हलाला की शिकार हुई पत्नी, आठ आरोपियों पर केस

जिले में एक महिला दो बार तीन तलाक व दो बार हलाला की शिकार हुई। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। फिलहाल एक भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। पीड़िता नगीना थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव की है। जिसकी शादी 14 अप्रैल 2012 को नूंह शहर में रहने वाले अब्दुल समी उर्फ ख्वाजा पुत्र रफीक अहमद के साथ हुई। पीड़िता ने पुलिस शिकायत दी कि ससुराल पक्ष दहेज को लेकर मारपीट व परेशान कर रहे थे।

दहेज में स्कॉर्पियों गाड़ी व 5 लाख रुपयों की मांग कर रहे थे। 2017 में पति अब्दुल समी ने दहेज की मांग पूरी न करने पर मेरी मौजूदगी में पिता को फोन पर तीन बार तलाक बोलकर कर तलाक दे दिया। इसके बाद मायके पहुंचने पर सास, ससुर, देवर, ननद, नन्देव घर पर आए और कहा कि अभी तलाक नहीं हुआ। पिता से कहा कि अपनी बेटी (पीड़िता) को बड़कली निवास पर भेज दो। बड़कली निवास पर पहुंचने पर रात को नन्देव जावेद कमरे में घुस गया और दुष्कर्म किया।

सुबह इस बारे सास, ननद आदि को बताया तो कहा कि तुम्हारा नन्देव के साथ हलाला के तौर पर निकाह कराया। अब इस बारे किसी को नहीं बताना। भविष्य में फिर इस तरह की घटना नहीं होगी। पीड़ि kता ने कहा कि बड़कली निवास पर 4 महीने तक घर के अंदर कैद रखा। फिर ससुराल नूंह में लेकर आए और ससुर ने पति के साथ पुन: निकाह पढ़ाया।

फिर दोबारा ऐसा ही हुआ। वहीं इस मामले में सिटी थाना नूंह ने पीड़िता की शिकायत पर पति अब्दुल समी उर्फ ख्वाजा, ससुर डॉ रफीक अहमद, सास जाकरा, देवर भावदीन, ननद तमन्ना, यासमीन निवासी नूंह शहर, ननद साहिना, नन्देव जावेद निवासी बडक़ली के खिलाफ 5 नवंबर को विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया।

Monday, November 9, 2020

November 09, 2020

शादियों का शौकीन NRI दूल्हा रोहतक से गिरफ्तार, चौथी पत्नी ने करवाया था केस

शादियों का शौकीन NRI दूल्हा रोहतक से गिरफ्तार, चौथी पत्नी ने करवाया था केस

टोहाना : शादियों के एक शौकीन के खिलाफ चौथी पत्नी ने दहेज की शिकायत की थी जिसके बाद आरोपी एनआरआई को अमेरिका से लौटते ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। टोहाना पुलिस इसके बाद आरोपी NRI को रोहतक से टोहाना लेकर पहुंची थी।

शिकायतकर्ता ने बताया कि आरोपी NRI नरेश कुमार ने तीन शादी पहले कर रखी थी और चौथी शादी फरवरी 2019 में की थी। इसके बाद आरोपी के साथ पत्नी रोहतक में रहने लगी थी।

महिला का आरोप है कि जरूरत के नाम पर एनआरआई और उसके परिवार ने सारा पैसा, जेवरात ले लिए और पैसे की मांग करके उसे प्रताड़ित करने लगे। पुलिस ने इसी साल 26 जनवरी को महिला की शिकायत पर रोहतक निवासी नरेश व उसके पिता अजीत पर धारा 420, 498ए, 406, 323, 506 व 34 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया था।

पीड़िता ने बताया कि आरोपी नरेश के साथ उसकी मुलाकात 30 नवंबर 2018 को हुई थी। उसके बाद आरोपी नरेश ने उसे जींद बुलाया था। उस दौरान आरोपी ने अपनी पहली शादी के बारे में बताया था।

पीड़िता ने बताया कि 8 फरवरी 2019 को नरेश ने फोन किया कि वह उससे शादी करना चाहता है। 18 फरवरी को शादी फाइनल कर दी गई। 18 फरवरी 2019 को शादी के बाद वह नरेश के साथ रोहतक चली गई। एक महीने बाद वहां से नरेश अमेरिका चला गया और उसके बाद फोन तक नहीं उठाए।
टोहाना के डीएसपी बिरम सिंह ने बताया कि अमेरिका से रोहतक पहुंचे एनआरआई नरेश को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी की पत्नी ने उस पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे।
November 09, 2020

वापस मांगने पर मारने की धमकी दी:धोखाधड़ी कर रिटायर्ड डीडीए से 3 बार में हड़पे 15 लाख रुपए, केेस दर्ज

वापस मांगने पर मारने की धमकी दी:धोखाधड़ी कर रिटायर्ड डीडीए से 3 बार में हड़पे 15 लाख रुपए, केेस दर्ज

कैथल : धोखाधड़ी कर 15 लाख रुपए हड़पने के आरोप में थाना सिविल लाइन पुलिस ने केस दर्ज किया है। हुडा सेक्टर-19 निवासी जगदीश पंवार ने बताया कि वह डीडीए के पद से रिटायर्ड हैं। सेक्टर-19 निवासी देवेंद्र मित्तल, राजिंद्र मित्तल उर्फ रिंकू, महिमा व हरिचरण की करनाल रोड पर तेल मिल है। उनके साथ उसके पारिवारिक संबंध थे। अगस्त 2019 में राजिंद्र मित्तल व हरिचरण ने कहा कि उन्हें मिल चलाने के लिए रुपयों की जरूरत है।
9 अगस्त को आरोपी घर आए और 3 लाख रुपए ले गए, उसके बाद 18 नवंबर 2019 को 4 लाख रुपए ले गए। 9 दिसंबर को फिर व्यापार व राजिंद्र मित्तल को दिल का मरीज होने का हवाला देते हुए 8 लाख रुपए मांगे। आरोपियों ने जल्द रुपए वापस देने की बात कही, लेकिन 4-5 महीने तक भी रुपए नहीं लौटाए।
अब 25 अगस्त को देवेंद्र मित्तल ने 15 लाख रुपए का चेक जारी किया, लेकिन खाता बंद मिला। रुपए वापस मांगे तो आरोपियों ने हाथापाई करते हुए उसे जातिसूचक गालियां दी, साथ ही जान से मारने की धमकी देने लगे। थाना सिविल लाइन से एसआई महाबीर ने बताया कि केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
November 09, 2020

मर्डर:पूंडरी तीर्थ से किडनैप कर हत्या, प्योंत ड्रेन में फेंका शव, परिजनों ने नहीं किया अंतिम संस्कार

मर्डर:पूंडरी तीर्थ से किडनैप कर हत्या, प्योंत ड्रेन में फेंका शव, परिजनों ने नहीं किया अंतिम संस्कार

करनाल / निसिंग : गांव प्योंत से गुजरने वाली ड्रेन में शनिवार दोपहर को संदिग्ध हालात में मिले युवक की पहचान पूंडरी के रहने वाले 24 वर्षीय बलराज के रूप में हुई है। युवक की हत्या से पहले अपहरण करने का सीसीटीवी फुटेज पुलिस के सामने आया है। फुटेज पूंडरी के पुंडरीक तीर्थ के पास की है, जिसमें बलराज स्कूटी पर आता दिखाई पड़ता है और स्विफ्ट कार में 3 से 4 लोग उसको जबरन कार में बैठाते नजर आ रहे हैं।
इस मामले में पुंडरी थाना में लापता का केस दर्ज किया गया था, लेकिन मृतक के शव की शिनाख्त होने पर कैथल पुलिस ने अपहरण व हत्या का केस दर्ज किया है। शनिवार दोपहर को जिले के गांव प्योंत के पास ड्रेन में शव पड़ा मिला था। पुलिस ने मौके पर पहुंच एफएसएल टीम को बुलाकर नमूने जुटाए गए और शव की शिनाख्त कराई गई।
परिजनों के अुनसार बलराज पुंडरी में ही एक कंप्यूटर की दुकान पर नौकरी करता था। परिजनों ने घटना को साजिशन हत्या बताया है। इसी बात को लेकर पुंडरी के रविदास मंदिर में देर शाम तक समुदाय के लोगों में आपस में बातचीत चलती रही। परिजन पुलिस से लगातार आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग कर रहे है। परिजन पुंडरी के रविदास मंदिर में हत्यारोपियों की जल्द गिरफ्तारी को लेकर शव फ्रीज में रखकर डटे हैं। पुलिस ने परिजनों से आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 2 दिन का समय मांगा है।
युवक की डेडबॉडी मिलते ही शव को पोस्टमार्टम व शिनाख्त के लिए करनाल भेजा गया था। रविवार सुबह शव की शिनाख्त हुई। जिसके बाद थाना पुलिस ने धारा 174 के तहत कार्रवाई कर शव का पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया है। मामले में अगली कार्रवाई कैथल पुलिस करेगी।
-रामफल, एसएचओ, थाना निसिंग

Sunday, November 8, 2020

November 08, 2020

किसान से दिनदहाड़े लूट:कैथल में आंखों में स्प्रे मारकर व्यक्ति से 7 तोले सोना लूटा, मास्क पहनकर तीन बदमाशों ने की वारदात

किसान से दिनदहाड़े लूट:कैथल में आंखों में स्प्रे मारकर व्यक्ति से 7 तोले सोना लूटा, मास्क पहनकर तीन बदमाशों ने की वारदात

कैथल : गांव महमूदपुर के पास बाइक सवार 3 बदमाश किसान से सोना के 7 तोले सोने के जेवरात लूटकर फरार हो गए। किसान गोल्ड लोन चुकाकर पत्नी के जेवरात घर ले जा रहा था। महमूदपुर निवासी भूपिंद्र सिंह ने पुलिस शिकायत में बताया कि वह खेती करता है। एक साल पहले पत्नी के 7 तोले सोने के जेवरात गिरवी रखकर फाइनेंस कंपनी से 213973 रुपए का गोल्ड लोन लिया था।
शुक्रवार सुबह साढ़े 10 बजे वह लोन के रुपए चुकाकर जेवरात लेकर बाइक पर घर जा रहा था। 15 मिनट बाद अजीमगढ़ से करीब 700 मीटर आगे लिंक रोड पर महमूदपुर की तरफ पहुंचा तो पीछे से बिना नंबर की एक बाइक पर तीन युवक आए। उन्होंने मुंह पर काले रंग के मास्क लगाए हुए थे। युवकों ने उसे रुकने का इशारा किया तो उसने बाइक रोक ली।
उसी समय एक लड़के ने हाथ में पकड़ी बोतल से उसकी आंखों में स्प्रे मारा और युवक जेवरात लूटकर फरार हो गए। एक-दो मिनट बाद उसे दिखाई दिया लेकिन तब तक युवक फरार हो चुके थे। बदमाश एक सोने का कड़ा, चेन, गले का हार, एक अंगूठी व कानों के दो झुमके लूटकर फरार हो गए। गुहला थाना से एएसआई राजबीर सिंह ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ लूट का केस दर्ज कर लिया है। जांच की जा रही है।

Saturday, November 7, 2020

November 07, 2020

हरियाणा में जहरीली शराब का मामला:मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए देगी राज्य सरकार, बेचने वालों पर भी होगी कड़ी कार्रवाई

हरियाणा में जहरीली शराब का मामला:मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए देगी राज्य सरकार, बेचने वालों पर भी होगी कड़ी कार्रवाई

चंडीगढ़ / सोनीपत : हरियाणा में जहरीली शराब के सेवन से पिछले 5 दिन में 47 लोगों की जान जा चुकी है। राज्य सरकार ने शनिवार को मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है। साथ ही शराब को अवैध रूप से बेचने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात की जा रही है। यह अलग बात है कि मौतों के आंकड़े को लेकर प्रदेश की सरकार और हकीकत में बहुत बड़ा झोल है। शुक्रवार यह मसला विधानसभा सेशन में भी उठा और इस दौरान गृह मंत्री अनिल विज ने सिर्फ 9 लोगों की मौत की बात कही।
बताते चलें कि पिछले पांच दिन में जहरीली शराब के सेवन से हरियाणा में 47 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें सबसे ज्यादा सोनीपत में 36, पानीपत में 8 और फरीदाबाद में 3 की मौत शराब से होने की बात सामने आई है। जहरीली शराब से जान गंवाने वाले सोनीपत जिले के गांव गूमड़ निवासी जयपाल के अलावा दूसरे जिलों में जान गंवाने वाले लोगों के परिजन मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग कर रहे हैं।
शुक्रवार को गूमड़ के 40 वर्षीय जयपाल और 30 वर्षीय प्रदीप का शव पोस्टमॉर्टम के बाद मिला तो परिजनों और गूमड़ के लोगों ने गन्नौर-खुबडू़ सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। दोपहर करीब 12 बजे से देर रात तक ये लोग धरने पर डटे रहे। प्रदर्शनकारी आरोपियों पर कार्रवाई, परिजनों को 25-25 लाख रुपए मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग कर रहे थे। इसी प्रदर्शन के मद्देनजर सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।
इस बारे में मुख्यमंत्री कार्यालय के प्रवक्ता ने बताया कि सोनीपत और पानीपत जिलों में जहरीली शराब के सेवन से जिन 9 लोगों की जान गई है, उनके परिवारों को दो लाख रुपए की राहत राशि हरियाणा मुख्यमंत्री राहत कोष से दी जाएगी। साथ ही जहरीली शराब बेचने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। अब दूसरी ओर देखा जाए तो मरने वालों की संख्या को लेकर बड़ा झोल है। बीते दिन इस मुद्दे पर विधानसभा में जब विपक्ष ने गृहमंत्री अनिल विज को घेरा तो विज ने महज नौ लोगों (पानीपत में 5 और सोनीपत में 4) की मौत जहरीली शराब से होने की बात कही।

 पड़ताल- ये हैं जान गंवा चुके 32 लोगों के नाम

पानीपत में धनसौली निवासी बलबीर सिंह, सतपाल, काला उर्फ इस्लाम, बिजेन्द्र उर्फ बीजा, शिवकुमार, इंद्रसिंह, नंगला पार निवासी मेहरसिंह, सुशील उर्फ काला
सोनीपत शहर निवासी अरुण कौशिक, राजू, मुकेश, चांदराम, सतीश, मंदीप, बलराज, महावीर, बलराज, धर्मवीर, बलजीत, रणवीर, राजेश, मनोज, रिंपा, रघुवीर, भूखड़, दिनेश
गन्नौर में गूमड़ गांव निवासी: जयपाल, सुरेंद्र, राकेश, प्रदीप, तीर्थ और विक्रम
November 07, 2020

पुलिस की गुंडागर्दी:चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मी ने युवक को पीट, विरोध में दुकानदारों ने जमकर हंगामा किया

पुलिस की गुंडागर्दी:चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मी ने युवक को पीट, विरोध में दुकानदारों ने जमकर हंगामा किया

कैथल : चेकिंग करते हुए युवक को थप्पड़ जड़ना पीसीआर पर तैनात पुलिस कर्मचारी को महंगा पड़ गया। इस घटना ने जमकर बवाल भी कराया। मामला हरियाणा में कैथल जिले का है। कबूतर चौक पर चेकिंग के दौरान पीसीआर पुलिस कर्मचारियों ने एक युवक को मास्क व हेलमेट न लगाने पर थप्पड़ जड़ दिए।
यह घटना चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई, जिसमें पुलिस कर्मचारी युवक को थप्पड़ मारते हुए साफ दिख रहे हैं। वहीं इस घटना के विरोध में चौक पर बनी दुकानों के मालिकों ने जमकर बवाल काटा। हंगामा बढ़ता देखकर थाना सिटी एसएचओ मौके पर पहुंचे और उन्होंने थप्पड़ मारने की घटना को सिरे से नकारा।
एसएचओ ने कहा कि आपसी कहासुनी हो गई थी, जिसको अब सुलझा लिया गया है। जबकि युवक को थप्पड़ मारने की पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है, जिसमें साफ तौर पर दिख रहा है कि दो पुलिस कर्मी एक स्कूटी सवार युवक को रोकते हैं और फिर दोनों कर्मचारी उसे थप्पड़ मारते हैं।
बता दें कि सेवा सुरक्षा सहयोग का नारा देने वाली हरियाणा पुलिस के कर्मचारियों का यह रवैया पहली बार दिखाई नहीं दिया है। इससे पहले भी हरियाणा पुलिस द्वारा लोगों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के मामले सामने आते रहे हैं।
November 07, 2020

जींद में चोरों ने किया कमाल , दीवारों के नीचे से ले गए जैक

जींद में चोरों ने किया कमाल , दीवारों के नीचे से ले गए जैक


जींद : जींद चोरों के हौसले इस कदर बुलंद हो चुके हैं कि खुद की जिंदगी दांव पर लगा पड़ोसियों की जिंदगी भी जोखिम में डालने से परेहज नहीं करते। ऐसा ही मामला पटेल नगर में सामने आया। बतादें कि बीती रात चोर मकान को ऊंचा उठाने के लिए लगाए गए जैकों में से 40 जैकों को चोरी कर ले गए। घटना का उस समय पता चला जब मजदूरों तथा मिस्त्रियों का ध्यान जैकों की तरफ गया। जब उन्होंने जैकों की गिनती की तो उनकी संख्या कम मिली और साथ ही जैकों के बीच की दूरी भी ज्यादा मिली। गनीमत यह रही कि 40 जैक चोरों द्वारा चोरी किए जाने के बाद भी दो मंजिला इमारत सुरक्षित खड़ी रही और हादसा होने से बच गया। ठेकेदार दलबीर की शिकायत पर शहर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। दरअसल पिछले एक पखवाड़े से कुलबीर मजदूरों के साथ जैकों की सहायता से मकान को ऊंचा उठा रहे हैं और लगभग अढ़ाई फीट तक सुरक्षित रूप से मकान को उठाया जा चुका है। मकान में 170 जैकों का प्रयोग किया गया है। 
गौरतलब है कि बस्ती के बीच चोरी हुए जैकों की घटना पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा कर रही है। मकान को ऊंचा उठाने वाले ठेकेदार की शिकायत पर शहर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। गांव जुलानी निवासी दिलबाग ने पटेल नगर में दो हजार स्क्वायर फीट  में दो मंजिला मकान बनाया हुआ है। मकान का लेवल गली से नीचा होने के चलते उन्होंने गांव पेटवाड़ निवासी कुलबीर को मकान ऊंचा उठाने का ठेका दिया हुआ है। 

November 07, 2020

पूर्व सीएम ओपी चौटाला को हाईकोर्ट से झटका , पुश्तैनी कोठी में पोतों की शादी पर रोक

पूर्व सीएम ओपी चौटाला को हाईकोर्ट से झटका , पुश्तैनी कोठी में पोतों की शादी पर रोक

चंडीगढ़ : हरियाणा के पांच बार मुख्यमंत्री रहे ओमप्रकाश चौटाला को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट से राहत नहीं मिली है। हाई कोर्ट ने चौटाला के तेजाखेड़ा स्थित फार्म हाउस में बनी पुश्तैनी कोठी में उनके पोतों की शादी की अनुमति पर रोक लगा दी है। हाई कोर्ट के जस्टिस एजी मसीह व जस्टिस राजेश भारद्वाज पर आधारित पीठ ने यह आदेश प्रवर्तन निदेशालय (इडी) द्वारा दायर एक अपील पर सुनवाई करते हुए जारी किया।

इसी के साथ हाई कोर्ट ने ओम प्रकाश चौटाला व अन्य प्रतिवादी पक्ष को 11 नवंबर के लिए नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।
मामले की सुनवाई के दौरान प्रवर्तन निदेशालय के वकील अरविंद मौदगिल ने बेंच को बताया कि पिछले साल ओमप्रकाश चौटाला की तेजाखेड़ा स्थित फार्म हाउस में बनी पुश्तैनी कोठी को प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने अटैच कर लिया था।

नवंबर माह के अंतिम सप्ताह में ओमप्रकाश चौटाला के दो पौत्रों करण चौटाला व अर्जुन चौटाला के विवाह हैं। दोनों अभय सिंह चौटाला के पुत्र हैं। इसके लिए ओमप्रकाश चौटाला की तरफ से अटैच तेजाखेड़ा स्थित फार्म हाउस में बनी पुश्तैनी कोठी को विवाह के लिए प्रयोग करने की मांग की गई।

चौटाला परिवार सात दिसंबर को यह कोठी दोबारा प्रवर्तन निदेशालय को वापस कर देगा। प्रवर्तन निदेशालय ने अपीलय ट्रिब्यूनल के आदेश को रद करने की मांग करते हुए कहा कि जब प्रवर्तन निदेशालय ने किसी संपति को अटैच किया हुआ हो और ट्रायल जारी हो तो कैसे संपति को छोड़ा जा सकता है। प्रापर्टी प्रिवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट 2002 की धारा 8 (4) के तहत यह संपति प्रवर्तन निदेशालय के कब्जे में है।

भ्रष्टाचार का मामला प्रवर्तन निदेशालय ने कन्फर्म कर दिया है। ऐसे में किसी अटैच संपति आरोपित को नहीं दी जा सकती। प्रवर्तन निदेशालय की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि अपीलीय ट्रिब्यूनल ने छह नवंबर से पहले कोठी चौटाला को देने का आदेश दिया है। प्रवर्तन निदेशालय के वकील की दलील सुनने के बाद हाई कोर्ट अपीलीय ट्रिब्यूनल के आदेश पर रोक लगाते हुए ओम प्रकाश चौटाला से जवाब तलब किया है।
 

Friday, November 6, 2020

November 06, 2020

निकिता तोमर मर्डर केस:हत्यारों को सजा दिलाने के लिए SIT ने 600 पेज की चार्जशीट बनाई, एक्सपर्ट्स के साथ 5 घंटे सलाह-मशवरा किया

निकिता तोमर मर्डर केस:हत्यारों को सजा दिलाने के लिए SIT ने 600 पेज की चार्जशीट बनाई, एक्सपर्ट्स के साथ 5 घंटे सलाह-मशवरा किया

फरीदाबाद : फरीदाबाद के निकिता तोमर हत्याकांड में आरोपियों को सजा दिलाने की पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। SIT ने 600 पन्नों की चार्जशीट तैयार की है। इसे गुरुवार को तो फाइल नहीं किया जा सका, लेकिन शुक्रवार को फाइल किए जाने की पूरी संभावना है। चार्जशीट में 60-61 गवाहों के बयान दर्ज किए गए हैं, जिनमें निकिता की सहेली के बयान को सबसे अहम माना जा रहा है।
26 अक्टूबर को फरीदाबाद के सेक्टर-23 स्थित अपना घर सोसायटी में रह रही हापुड़ मूल के परिवार की बेटी निकिता का कत्ल कर दिया गया था। 21 साल की बेटी निकिता बी-कॉम थर्ड ईयर की छात्रा थी और घटना के वक्त बल्लभगढ़ के अग्रवाल कॉलेज से पेपर देकर बाहर निकली थी। इसी दौरान इकतरफा प्यार में नूंह से कांग्रेस विधायक आफताब अहमद के चचेरे भाई तौसीफ ने अपने एक दोस्त रेहान की मदद से कार में निकिता को अगवा करने की कोशिश की। इसी कोशिश में तौसीफ ने निकिता को गोली मार दी थी। पुलिस तौसीफ, रेहान और पिस्तौल उपलब्ध कराने वाले एक अन्य मददगार अजरुद्दीन को गिरफ्तार कर चुकी है। मामले में SIT जांच कर रही है। सरकार ने इस मामले की सुनवाई फास्टट्रैक कोर्ट में किए जाने की मंजूरी दे दी है।
गुरुवार को पुलिस प्रवक्ता आदर्शदीप सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया कि एसआईटी की चार्जशीट पूरी तरह से तैयार है। एक्सपर्ट से भी जांच-पड़ताल करा ली गई है। इसी प्रक्रिया के चलते गुरुवार को इसे फाइल नहीं किया जा सका, पर शुक्रवार को उसे कोर्ट में पेश कर दिया जाएगा। पुलिस अधिकारी की मानें तो गुरुवार को पुलिस ने चार्जशीट पुख्ता बनाने के लिए डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी से सलाह की। इसका अध्ययन करने में 4 से 5 घंटे का वक्त लग गया, *इसीलिए गुरुवार को फाइल नहीं हो सकी।*
दूसरी ओर माना जा रहा है कि पुलिस ने चार्जशीट में हत्यारों को फांसी तक पहुंचाने के लिए सभी साक्ष्य एकत्र कर लिए हैं। करीब 600 पेज की चार्जशीट में 60-61 गवाहों के बयान दर्ज किए गए हैं और इनमें सबसे अहम गवाह निकिता तोमर की वह सहेली है, जिसने हत्यारों से उसे बचाने का हरसंभव प्रयास किया था।
November 06, 2020

मर्डर केस:सिर में गोली लगने के 39 घंटे बाद युवती ने दम तोड़ा, दोस्त से पूछताछ कर स्कैच बनवा रही पुलिस

मर्डर केस:सिर में गोली लगने के 39 घंटे बाद युवती ने दम तोड़ा, दोस्त से पूछताछ कर स्कैच बनवा रही पुलिस

गुरुग्राम : गोली लगने से घायल हुई 26 वर्षीय महिला इंजीनियर पूजा शर्मा ने 39 घंटे वेंटीलेटर पर रहने के बाद गुरुवार दोपहर बाद करीब तीन बजे दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
मामले में अब पुलिस मृतक के दोस्त सागर की मदद से स्केच बनवाने में जुटी है। पुलिस ने आसपास क्षेत्र में लगे करीब 10 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रात की फुटेज होने के कारण इनमें केवल वाहनों की हेडलाइट जलती नजर आ रही है। इससे भी कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।
डीसीपी साउथ धीरज कुमार ने बताया कि प्रारंभिक जांच के दौरान पूजा शर्मा व सागर मनचंदा के कार्यस्थल पर भी पुलिस ने दौरा किया। इस दौरान दोनों के बारे में जानकारी हासिल की गई। यहां पूछताछ के बाद ऐसा कोई सुराग हाथ नहीं लगा, जिसमें उनकी किसी से रंजिश हो। इसके अलावा परिवार वालों से बातचीत में भी ऐसा कोई क्लू हाथ नहीं लगा है। ऐसे में रंजिश में वारदात को अंजाम देने का कोण सामने नहीं आया है।
November 06, 2020

एसडीएम पर गिरी गाज:रेकी में पीएम व रीडर का नाम आने के तीसरे दिन एसडीएम लाडवा का तबादला, अधिकारी बोले- यह रुटीन ट्रांसफर

एसडीएम पर गिरी गाज:रेकी में पीएम व रीडर का नाम आने के तीसरे दिन एसडीएम लाडवा का तबादला, अधिकारी बोले- यह रुटीन ट्रांसफर

कुरुक्षेत्र : आरटीए व एसडीएम की रैकी कर वाट्सएप पर ट्रांसपोर्टरों को सूचनाएं देने वाले गिरोह के साथ एसडीएम कार्यालय के रीडर व पीएन का नाम सामने आने के तीन दिन बाद एसडीएम लाडवा अनिल यादव का तबादला कर दिया। अब उन्हें हरियाणा टेक्निकल एजुकेशन में डिप्टी सेक्रेटरी लगाया है। उनकी जगह फिलहाल किसी की नियुक्ति नहीं है। कोई आला अधिकारी इसकी पुष्टि नहीं कर रहा।
अधिकारियों का तर्क है कि उनका रूटीन में तबादला हुआ है। उधर सीएम फ्लाइंग द्वारा पकड़े गए तीनों आरोपियों को कोर्ट ने ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजा है। एसडीएम अनिल यादव पिछले काफी समय से कुरुक्षेत्र में हैं। वे पहले थानेसर एसडीएम रहे थे। इसके बाद उन्हें लाडवा में एसडीएम नियुक्त किया गया। वे पहले से कोरोना पॉजिटिव होने के कारण छुट्टी पर घर में ही आइसोलेट हैं।
यादव के मुताबिक उन्हें तबादले की जानकारी मिली है । सरकार जहां भी नियुक्त करेगी, वहां काम करेंगे। काम में व्यस्त रहने के चलते कभी यह अहसास नहीं हुआ कि कोई उनकी रैकी करता है। न ही कभी रीडर व पीएन के बारे में शिकायत सामने आई थी। उन्हें तो उक्त दोनों का नाम शामिल होने बारे बाद में पता चला।

यह था मामला

बता दें कि सोमवार को सीएम फ्लाइंग ने एसडीएम व आरटीए की रैकी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था। यह गिरोह ओवरलोडिंग वाले वाहनों की चेकिंग करने निकलने वाले एसडीएम व आरटीए की गुपचुप सूचना संबंधित ट्रांसपोर्टरों को देता था। लाडवा से होकर रोजाना रेत बजरी के सैकड़ों ट्रक निकलते हैं। जब भी एसडीएम या आरटीए चेकिंग या कहीं और निकलते, तो उक्त गिरोह पहले ही वाट्सएप पर इसकी सूचना सांझी करता। सदस्यों ने कबूला कि उनकी एसडीएम कार्यालय के एक रीडर मनजीत व पीएन प्रवीण से सेटिंग थी। बताया कि जब भी कोई गाड़ी फंसती तो वे रीडर मनजीत व प्रवीण की मदद से उसे छुड़वा लेते थे। उक्त गिरोह के तार पूरे हरियाणा के कई वाट्सएप ग्रुप से जुड़े मिले थे।
डीसी शरणदीप कौर बराड़ के मुताबिक उनके पास एसडीएम अनिल यादव के तबादले के आदेश हैं। उनका रूटीन में तबादला हुआ है। सरकार ही तय करती है कि किस अधिकारी को कहां नियुक्त किया जाए। जांच अधिकारी डीएसपी रविंद्र तोमर के मुताबिक आरोपियों से रिमांड के दौरान पूछताछ की गई। फिलहाल जांच चल रही है।

Saturday, October 24, 2020

October 24, 2020

पानीपत में दृश्यम जैसी मिस्ट्री:18 महीने से लापता था टेक्नीशियन, घर में निकला नर कंकाल; पत्नी पर हत्या का शक

पानीपत में दृश्यम जैसी मिस्ट्री:18 महीने से लापता था टेक्नीशियन, घर में निकला नर कंकाल; पत्नी पर हत्या का शक

पानीपत : पानीपत में शुक्रवार को दृश्यम फिल्म जैसी मिस्ट्री सामने आई है। यहां विकास नगर में 18 महीने से लापता 31 वर्षीय टेक्नीशियन हरबीर सिंह के घर में खुदाई के दौरान नरकंकाल मिला। आशंका है कि कंकाल टेक्नीशियन का ही है। हत्या का शक पत्नी पर है। *डीएनए टेस्ट से ही मामला साफ हो पाएगा।*
हरबीर के बड़े भाई हरिओम ने आरोप लगाया कि हरबीर की पत्नी और अन्य ने गुपचुप तरीके से कंकाल को घर में ही दूसरी जगह दबा दिया था। मेरे बेटे ने निर्माण कार्य के लिए हो रही खुदाई के दौरान खोपड़ी देखी तो आकर बताया। फिर खुदाई कर कंकाल को निकाला गया। फोरेंसिक एक्सपर्ट डॉ. नीलम आर्या, थाना प्रभारी राजबीर सिंह मौके पर पहुंचे। ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त कराकर कंकाल को कब्जे में लिया। शनिवार को पोस्टमॉर्टम होगा, जिससे पता चलेगा कि कंकाल पुरुष का है या महिला का।

पत्नी पर शक के 6 कारण

1. मायके का ही राजमिस्त्री क्यों? हरिओम ने बताया कि जिस घर में हरबीर रहता था, उसकी पत्नी ने उसी घर में करीब 3 दिन पहले चिनाई का काम लगाया था। उसकी मां और मौसी का बेटा भी आए थे और मायके का ही राजमिस्त्री लाए थे।
2. पत्नी ने पुलिस को सूचना क्यों नहीं दी? शुक्रवार को बाथरूम के लिए गड्ढा खोदा जा रहा था। दोपहर करीब 12 बजे हरिओम का 15 वर्षीय बेटा विशेष चाची के साथ काम कराने लगा। 4 फुट खुदाई के बाद नरकंकाल मिला तो विशेष ने खोपड़ी देख ली। पर पत्नी ने पुलिस को जानकारी नहीं दी।
3. कंकाल को शिफ्ट क्यों किया? आरोप है कि पत्नी और अन्य ने कंकाल को गड्‌ढे से करीब 5 फुट दूर फिर से दबा दिया।
4. कुत्ते का कंकाल क्यों कहा? पूछने पर चाची ने बच्चे को बताया कि तेरे चाचा हरबीर ने कुत्ता दबा रखा था। तब विशेष ने घर जाकर पिता हरिओम को इसकी जानकारी दी। इसके बाद परिजन मौके पर पहुंचे।
5. बच्चे की निशानदेही पर खुदाई करने गए परिजन से झगड़ा क्यों? हरिओम बेटे और भाइयों के साथ आकर खुदाई करने लगे। भाई की पत्नी ने कुदाली छीनकर फेंक दी। कहासुनी होने पर वे घर चले गए। मां के आने पर खुदाई में कंकाल बरामद हुआ।
6. पत्नी ने लापता होने के 3 महीने बाद FIR दर्ज कराई थी। लापता होने के 3 महीने बाद 20 जुलाई 2019 को उसकी पत्नी ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

*भाई ने कहा- कंकाल की डीएनए जांच हो*

हरिओम ने कहा कि कंकाल हरबीर का भी हो सकता है। पुलिस डीएनए टेस्ट करा मामले की गहराई से जांच करे। इससे पता चल सके कि कंकाल किसका है। कंकाल को दोबारा दबाने के आरोप से शक के दायरे में आई पत्नी को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। हरबीर की दो बेटी 11 वर्षीय तनु और 9 वर्षीय मीनाक्षी और 7 वर्षीय बेटा रितिक है।