/>

Breaking

Friday, May 28, 2021

साईबर ठगों से बचें, किसी भी अनचाहे लिंक या एप पर ना करें क्लिक-एसपी वसीम अकरम

साईबर ठगों से बचें, किसी भी अनचाहे लिंक या एप पर ना करें क्लिक-एसपी वसीम अकरम

कहा-अपनी निजी जानकारी जैसे पासवर्ड, क्रेडिट/डेबिट कार्ड नंबर को ईमेल या किसी अन्य माध्यम से प्रेषित ना करें
-लॉकडाउन में घर से कम्प्यूटर  पर काम करने वाले कर्मचारियों को सचेत रहने की जरुरत
जींद : (संजय कुमार ) पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने आम जनता को साईबर अपराधियों से बचने के उपाय सुझाए। उन्होंने आज जिले के सभी मीडिया कर्मियों से वार्तालाप में कहा कि मीडिया और पुलिस को एक साथ काम करना चाहिए। जनता की सेवा करना उन्हे सुरक्षा प्रदान करना और उनका सहयोग करना हमारा कर्तव्य है। 
उन्होंने कहा कि प्रिंट व ईलेक्ट्रिक मीडिया के माध्यम से लोंगों को साईबर अपराधों के प्रति जागरुक करने की आवश्यकता है। साईबर अपराध से बचने का सबसे उत्तम उपाय साईबर अपराध के तरीकों की जानकारी होने के साथ-साथ सतर्क होना भी आवश्यक है। सरकार द्वारा साईबर थाने खोले जा रहे हैं, हिसार रेंज में एक साईबर थाना हिसार में ही खुल चुका है जिसमें पर्यवेक्षक अधिकारी उपासना एएसपी हिसार की नियुक्ति की गई है। 
साईबर थाना हिसार के पर्यवेक्षक अधिकारी व एएसपी उपासना ने साईबर अपराध बारे लोगों को जागरुक करते हुये बतलाया कि कोविड-19 व लॉकडाउन के चलते विभिन्न आईटी कम्पनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रोम होम (घर पर रहकर कार्य करने का) विकल्प दिया जा रहा है। इस कार्य के लिये कम्पनी के तकनीकि सहायता द्वारा कम्पनी कर्मचारियों के लैपटोप इत्यादि में टीम व्युवर, एनिडेस्क इत्यादि ऐप इन्सटाँल किये जा रहे है। साईबर अपराधियों द्वारा इन ऐप्स का दुरुपयोग करके टेक स्पोर्ट स्कैम किया जा रहा है।
साईबर अपराधी सबसे पहले विभिन्न सोशल साईट जैसे – Linkdin app, facebook  इत्यादि का प्रयोग करके कम्पनी कर्मचारी व उसकी कम्पनी से संबधित जानकारी इकट्ठा करते है व फिर साईबर अपराधी तकनीकी सहायता एक्जिक्यूटिव बनकर शिकार को कॉल करते है। शिकार को एनीडेस्क, टीम व्युवर इत्यादि ऐप्स इन्स्टाल करने के लिये प्रेरित करते है। जैसे ही इनको शिकार के डिवाइस का एक्सेस मिलता है तो मलिसियस सोफ्टवेयर इन्सटाल कर देते है और शिकार के डिवाईस से संवेदनशील जानकारियाँ जैसे कि पासवर्ड, बैंक डिटेल इत्यादि चुरा कर सिस्टम को हैक कर लेते है।
-ये हैं बचाव के उपाय-
1. किसी भी अन्जान व्यक्ति द्वारा कॉल करने पर अपने डिवाईस में संदिग्ध ऐप डाउनलोड ना करे
2. अपने डिवाईस का रिमोट एक्सेस देने से पहले (टेक स्पोर्ट) तकनीकी सहायता कालंर की पहचान अच्छे से कर ले
3. समय समय पर अपने कम्प्यूटर के पासवर्ड बदले व समय समय पर अपने सिस्टम की फुल सिस्टम वायरस स्क्रनिंग करे
4 किसी प्रकार का साईबर फ्रोड होने पर तुरन्त साईबर थाना हिसार 01662-298199 या www.cybercrime.gov.in या अपने संबधित थाना में शिकायत दर्ज करें।

No comments:

Post a Comment