/>

Breaking

Tuesday, May 25, 2021

स्टेडियम की दीवार फांदकर वकील को दौड़ा-दौड़ाकर गोलियों से भूना

स्टेडियम की दीवार फांदकर वकील को दौड़ा-दौड़ाकर गोलियों से भूना, लड़की के चक्कर में हत्या की आशंका


रोहतक : रोहतक में सोमवार देर शाम एक युवक की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई। पेशे से वकील यह युवक घटना के वक्त ग्राउंड पर कसरत कर रहा था। अचानक एक बाइक पर सवार होकर दो युवक वहां आए और उन्होंने 10 से ज्यादा राउंड फायरिंग की। जान बचाने के लिए युवक भागा, लेकि हमलावर पीछा करते रहे और गोली चलाते रहे। पुलिस ने इस संबंध में 6 युवकों के खिलाफ केस दर्ज करके आगे की जांच शुरू कर दी है। प्राथमिक जानकारी के अनुसार वारदात को लड़की के चक्कर में अंजाम दिए जाने का शक है।
*दिल्ली में वकालत करते हैं मृतक सिद्धार्थ के पिता*
वारदात सोमवार देर शाम करीब सवा 7 बजे वैश्य इंस्टीट्यूट के स्टेडियम की है। दिल्ली के विजय विहार निवासी अंकुश उर्फ सिद्धार्थ उर्फ गौरी गाजियाबाद में LLB अंतिम वर्ष का छात्र था। करीब डेढ़ महीने से रोहतक की जनता कॉलोनी अपनी दादी के साथ रह रहा था। सिद्धार्थ के पिता दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में वकालत करते हैं, वहीं कुछ दिन पहले ही उसने भी रोहतक कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की थी। सोमवार शाम सिद्धार्थ अपने दोस्त नितीश और कूकी के साथ वैश्य कॉलेज के स्टेडियम में घूमने के लिए गया था। तभी दो हमलावरों ने आकर ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी थी।
*चौकीदार ने बताया-दीवार फांदकर आए थे बदमाश*
वारदात के वक्त स्टेडियम में चौकीदार भी मौजूद था। चौकीदार ने बताया कि दो युवक दीवार कूदकर स्टेडियम में घुसे और सिद्धार्थ पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। वह जान बचाने के लिए भागा। हमलावरों ने पीछा करके उसे गोलियों से भून डाला। हमलावरों ने 10-12 राउंड फायर किए। 4-5 गोलियां सिद्धार्थ को बगलों, पीठ और सिर के पीछे लगी हैं। हत्या के बाद हमलावर दीवार फांदकर भाग गए।
सूचना के बाद DSP महेश कुमार, शिवाजी कॉलोनी थाने के प्रभारी बलवंत सिंह, FSL इंचार्ज डॉ. सरोज मलिक दहिया मौके पर पहुंचे। मौके से गोलियों के 10 के करीब खोल बरामद हुए हैं। जांच में बड़ा सवाल यह है कि लॉकडाउन के चलते स्टेडियम बंद है और ऐसे में सिद्धार्थ यहां कैसे पहुंचा। हो सकता है कि वह भी दीवार फांदकर ही स्टेडियम में घुसा हो। माना जा रहा है कि सिद्धार्थ यहां दौड़ लगाने आता है, इस बात का पता बदमाशों को पहले से ही था। हत्या के बाद पहचान न हो सके, इसलिए हमलावर उसका पर्स और मोबाइल भी ले गए।
*भाई ने दिया ये बयान*
इस बारे में सिद्धार्थ के भाई आकाश ने शिवाजी कॉलोनी थाने में दी शिकायत में बताया है कि सिद्धार्थ की हत्या लोकेश उर्फ गोगी, रोबिन अहलावत, दीपक छिल्लर, चिंटू खरावड़िया और तेजस बोहर ने साजिश के तहत कराई है, क्योंकि इन सभी ने कुछ साल पहले आकाश के दोस्त कपिल कादियान की हत्या कर दी थी। इसके अलावा सिद्धार्थ की एक लड़की से दोस्ती थी थी। लड़की के भाई गोलू मायना ने भी उसे धमकी दे रखी थी कि उसकी बहन से दूर रहे। आशंका है कि गोली मायना ने अपने साथी के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया है या किसी अन्य से हत्या कराई हो। जनता कॉलोनी के चौकी प्रभारी ASI राजेश कुमार का कहना है कि इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने 6 के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

No comments:

Post a Comment