/>

Breaking

Friday, May 7, 2021

अंबाला सेंट्रल जेल में हेरोइन तस्करी के खेल का भंडाफोड़

अंबाला सेंट्रल जेल में हेरोइन तस्करी के खेल का भंडाफोड़ 

अंबाला : अंबाला सेंट्रल जेल में अब चप्पलों के अंदर छुपाकर हेरोइन की तस्करी हो रही है। जेल प्रबंधन ने ऐसे दो मामले पकड़े हैं जिनमें बंदियों को चप्पलों के जरिए नशीले पदार्थ पहुंचाने की कोशिश हो रही थी। अब पुलिस ने बंदियों के साथ उन्हें मुलाकात के जरिए नशीले पदार्थ पहुंचाने वालों परिजनों के खिलाफ कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। बलदेव नगर पुलिस जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कह रही है। जब्त किए गए नशीले पदार्थ भी जांच के लिए लैब में भेजे गए हैं। हालांकि शुरूआती जांच में नशीला पदार्थ हेरोइन होने का खुलासा हुआ है। असल में अंबाला सेंट्रल जेल में बंद कैदी बृजपाल से बीते रोज करनाल के नीलोखेड़ी वासी आदर्श पुत्र रमेश कुमार मुलाकात करने आया था। आदर्श ने इस दौरान बृजपाल को एक जोड़ी चप्पल भी दी थी। इसी तरह हवालाती अमृतपाल से भी नीलोखेड़ी की रहने वाली निशा रानी मुलाकात करने आई थी। निशा ने भी अमृतपाल को एक जोड़ी चप्पल दी थी। जेल प्रबंधन की ओर से जानकारी दी गई कि आदर्श 4 मई को बृजपाल से मुलाकात करने के लिए जेल आया था। मगर उसकी मुलाकात नहीं हो पाई। बृजपाल के लिए वह कुछ सामान लेकर आया था जिसमें एक जोड़ी चप्पल भी थी। सामान पर एक पर्ची लिखकर आदर्श ने जेल कर्मचारियों से यह सामान बृजपाल तक पहुंचाने का आग्रह किया था।
 
कोरोना संक्रमण की वजह से जब 24 घंटे बाद इस सामान की तलाशी शुरू हुई तो चप्पलों पर शक हो गया। शक होने पर चप्पलों को काटा गया। तब उसमें से सात पैकेट हेरोइन जब्त किए गए। सफेद रंग के पॉलीथिन पाउच में बेहद खूबसूरती से ये पैकेट छुपाए हुए थे। इसी तरह हवालामी अमृतपाल से मुलाकात करने आई निशा द्वारा दिए गए सामान से भी एक जोड़ी चप्पल निकली। सामान को सैनिटाइज करने के बाद जब सामान की चेकिंग हुई तो उसमें से भी किकलाइट मार्का कंपनी की चप्पलें निकली। शक होने के बाद जब इन चप्पलों को चाकू से काटा गया तो उसमें से भी आठ पैकेट हेरोइन के जब्त किए गए। इन पैकेटों को भी बेहद खूबसूरती से चप्पलों में छुपाया हुआ था। एक जोड़ी चप्पल से पुलिस को 32 ग्राम 600 मिलीग्राम हेरोइन मिली जबकि दूसरी चप्पलों से 35 ग्राम 660 मिलीग्राम हेरोइन मिली। बलदेव नगर पुलिस ने दोनों जोड़ी चप्पलों को जब्त कर आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस के साथ 42 बंदी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

No comments:

Post a Comment