/>

Breaking

Thursday, June 3, 2021

जब वोट लेने होते है तब ही इनको नजर आते है किसान : चढूनी

जब वोट लेने होते है तब ही इनको नजर आते है किसान : चढूनी
कहा : 5 जून को जलाएंगे पूरे देश में तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां
जींद /उचाना :टोहाना के जेजेपी विधायक देवेंद्र बबली द्वारा टोहाना में हुए उनके विरोध पर दिए बयॉन पर संयुक्त किसान मोर्चा सदस्य एवं किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि जब इनको वोट लेने होते है तो तब इनको किसान नजर आते है। जब इनका मतलब निकल जाता है तो पता नहीं क्या-क्या बोलते है। टोहाना विधायक देवेंद्र बबली द्वारा जो किसानों को भद्र शब्द बोल कर अपने मानसिक स्तर का परिचय दिया है। हम उसकी कड़े शब्दों में निंदा करते है। किसानों को दी गई गालियों पर प्रशासन को चाहिए कि जेजेपी टोहाना विधायक के खिलाफ मामला दर्ज करें। किसानों को देवेंद्र बबली द्वारा गालियां निकाल कर उनको भड़काने का काम किया है। बुधवार को वे पालवां गांव में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
चढूनी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा, जजपा के नेता अगर किसी कार्यक्रम में आते है तो उनका विरोध जारी रहेगा। अब इसको पूरे देश में करेंगे। जो कृषि के काले कानून केंद्र सरकार लेकर आई है, उनको एक साल 5 जून को होगा। इस दिन पूरे देश में किसान इन काले कानूनों की प्रतियां सभी भाजपा एवं उसके सहयोग दलों के नेताओं के घरों के आगे जलाएंगे।
बीते दिनों बनाई गई फेडरेशन पर गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि फेडरेशन क्या है जो संगठन अभी तक आंदोलन में शामिल नहीं है उन सभी संगठनों को एकत्रित करके फेडरेशन बनाई है। हम सब किसान मोर्चा के नीचे काम करते रहेंगे। अब यूपी में भी टोलों पर धरने शुरू हो गए है। हम यूपी, उत्तराखंड के किसान भी जैसे हरियाणा में आंदोलन हो रहा है यहां भी बीजेपी की सरकार है वहां भी बीजेपी की सरकार है उनके विधायकों, मंत्रियों का विरोध करना शुरू करें। ये जहां भी जाते है वहां इनका विरोध काले झंडे, नारे लगाकर करें। पूरे देश में इनका विरोध शुरू कर देना चाहिए। 
इस मौके पर आजाद पालवां, अनूप खटकड़, रामनिवास करसिंधु, मेवा सिंह मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment