/>

Breaking

Friday, June 18, 2021

अभय बोलें- कोरोना काल में मंत्रियों ने दौरा कर प्रदेश का माहौल बिगाड़ा

अभय बोलें- कोरोना काल में मंत्रियों ने दौरा कर प्रदेश का माहौल बिगाड़ा
यमुनानगर : प्रदेश में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। इसमें सीएम व सीएमओ के भी लिप्त होने से इंकार नहीं किया जा सकता। तभी तो शराब व रजिस्ट्री घोटाले की जांचों को अभी तक सीएम द्वारा सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। प्रदेश में जो भी अधिकारी भ्रष्टाचार में संलिप्त मिलता है, उसे एक बार निलंबित कर कुछ दिन बाद बहाल कर मनचाही पोस्टिंग दे दी जाती है। इससे बढ़ा भ्रष्टाचार का कोई सबूत नहीं हो सकता।
आज प्रदेश सरकार का 600 दिन का कार्यकाल पूरा हो गया है पर सरकार के पास बताने के लिए एक भी विकास का काम ऐसा नहीं है, जिससे जनता को लाभ मिला हो। यह दावा इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने गुरुवार को पार्टी के जिला कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में किया।
अभय चौटाला ने कहा कि कोरोना के लिए पानीपत व हिसार में खोले गए विशेष अस्पतालों में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। करोड़ों रुपए की लागत से बने इन अस्पतालों में कोई मरीज इलाज कराने नहीं गया क्योंकि इनमें कोई सुविधा नहीं थी। योग्य चिकित्सकों की नियुक्त न होने से लोगों को अधिक पैसे खर्च निजी अस्पतालों में अपना इलाज कराना पड़ा।
उन्होंने कहा कि सराकर ने कोरोना के पीक में मंत्रियों के दौरे तय किए। इनकी सुरक्षा के लिए एक स्थान पर भारी पुलिस जुटाई, वहीं किसान विरोध करने के लिए जुटे। आरोप लगाया कि इस तरह से सरकार ने कोरोना कंट्रोल करने के स्थान पर इसे बढ़ाने का काम किया।
उन्होंने कहा कि क्वालिटी शिक्षा का दावा करने वाली इस सरकार ने प्रदेश के करीब डेढ़ हजार प्राइमरी स्कूलों को बंद कर दिया है। इससे गांवों में रहने वाले गरीब परिवारों के करीब 4 लाख बच्चों को अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी है।
बगैर परीक्षा पास किए गए दसवीं के बच्चों की नीति पर भी उन्होंने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि इससे मेधावियों को निराशा हुई है। वहीं सरकार बार-बार भर्तियां रद्द कर रही है, लेकिन जिन युवाओं से फार्म भरते समय फीस ली जाती है उसे वापस नहीं किया जा रहा। इस तरह से रोजगार के नाम पर युवाओं से लूट की जा रही है।
उन्होंने कहा कि सीएम हर रोज रोजगार बढ़ाने के दावे तो करते हैं, लेकिन वास्तव में युवाओं से रोजगार छीना जा रहा है। इन सब मुद्दों में विधान सभा में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेता सरकार को घेरने के स्थान पर अपनों को ही घेरने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि इनेलो में संगठन का काम 15 दिन में पूरा कर लिया जाएगा।
इसके बाद गांव-गांव, वार्ड-वार्ड में जाकर सरकार की जन विरोधी नीतियों को लोगों को बताया जाएगा। उन्होंने मांग की कि सरकार किसानों की मांगों को मांगकर इस आंदोलन को समाप्त कराए। उनके साथ में पूर्व विधायक दिलबाग सिंह, श्माम सिंह राणा, प्रकाश भारती व अश्वनी दत्ता भी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment