/>

Breaking

Wednesday, July 21, 2021

कोरोना मरीजों से ओवरचार्ज वसूल करने वाले प्राइवेट अस्पतालों के खिलाफ जांच शुरू

कोरोना मरीजों से ओवरचार्ज वसूल करने वाले प्राइवेट अस्पतालों के खिलाफ जांच शुरू
अंबाला : कोरोना काल में मरीजों से उपचार के नाम पर अतिरक्ति पैसे की वसूली करने वाले प्राइवेट अस्पतालों  के खिलाफ जांच शुरू हो गई है। प्रशासन की ओर से इसके लिए एक जांच कमेटी गठित की गई है। डीसी विक्रम सिंह ने जांच कमेटी को जरूरी दिशा निर्देश दिए हैं। दरअसल प्रशासन की ओर से कोरोना मरीजों के उपचार के लिए 10 प्राइवेट अस्पतालों पैनल पर लिया था। इन अस्पतालों में कोरोना मरीज के उपचार पर होने वाले खर्च को तय किया था। इसके बावजूद कुछ अस्पतालों से तय खर्च से अतिरक्ति पैसे की वसूली मरीजों से की है। इस सिलसिले में कुछ मरीजों ने प्रशासन के अलावा गृहमंत्री अनिल विज को भी शिकायत दी थी। अब इन अस्पतालों के खिलाफ जांच के लिए एक कमेटी गठित की गई है। 
*आंखों के सामने हर मरीज से पूछताछ से आदेश* :डीसी

 विक्रम सिंह ने जांच कमेटी को प्राइवेट अस्पताल में उपचार के आदेश दिए हैं। उन्होंने जांच कमेटी के हर सदस्य को सभी कोविड मरीजों का रिकॉर्ड लेकर हर मरीज से पूछताछ करने की बात कही है ताकि यह पता चल सके कि मरीज कितने दिन किस अस्पताल में दाखिल रहा। उसने उपचार के दौरान कितने पैसे अस्पताल को दिए। यह पूरी जानकारी रोगी से मोबाइल फोन या फिर व्यक्तिगत तौर पर उससे संपर्क के जरिए हासिल की जा सकती है। सिटी मजिस्ट्रेट को अहम जिम्मेदारी : डीसी ने सीटीएम आंचल भास्कर के नेतृत्व में जांच कमेटी बनाई है। इसके अलावा जांच टीम में मेडिकल ऑफिसर डॉ. कर्तव्य प्रताप सिंह, आईएमए के अध्यक्ष डॉ. अशोक सारवाल, डीईओ ऑफिस के एकाउंट ऑफिसर मदन लाल तथा जीएम हरियाणा रोडवेज कार्यालय के सेक्शन ऑफिसर मुकेश यादव को बतौर सदस्य शामिल किया गया है। यह कमेटी जिला में कोविड-19 प्राइवेट अस्पताल में जांच करेगी। मीटिंग के दौरान जांच टीम के सभी सदस्य व चेयरपर्सन भी मौजूद थी।

 ‍

No comments:

Post a Comment