/>

Breaking

Monday, August 31, 2020

इनेलो को मिला मजबूत साथ, पूर्व सीपीएस ने थामा इनेलो का दामन

इनेलो को मिला मजबूत साथ, पूर्व सीपीएस ने थामा इनेलो का दामन

चंडीगढ़ : पूर्व में सीपीएस रहे कांग्रेस नेता राजकुमार बाल्मीकि सैंकड़ो कार्यकर्ताओं के साथ रविवार को अभय सिंह चौटाला के नेर्तत्व में इनेलो में शामिल हुए। राजकुमार बालमीकि कांग्रेस की टिकट पर 1991 में करनाल जिले के जुंडला हलके से विधायक चुने गए और सीपीएस बने। 1998 और 2014 में कांग्रेस की टिकट पर लोक सभा का भी चुनाव लड़ चुके बालमीकि नें शामिल होने के बाद कहा कि वो अभय चौटाला की कार्य शैली से बहुत प्रभवित हुए हैं।

अभय चौटाला को किसानों का मसीहा बताते हुए कहा कि जहां मु य विपक्षी दल इस महामारी के दौर में अपने घरों में दुबके रहे वहीं इनेलो नेता चाहे मंडियों में किसानो व मजदूरों से हुई लूट हो या विधान सभा में जनता से हुई लूट जैसे मुद्दों को उठाने की बात हो, हमेंशा सबसे आगे खड़े मिले हैं। चाहे परिवार की बात हो या पार्टी को आगे बढ़ाने की बात हो अभय चौटाला नें अपना फर्ज बखुबी निभाया है। उन्होने कहा कि वह अपने पूूरे समाज के साथ इनेलो पार्टी को मजबूती दिलाने और सता दिलाने में साकारात्मक भूमिका निभाएंगे।

बाल्मीकि नें शैलजा व भूपेंद्र हुड्डा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि इन्होने मुझे धोखा दिया है और हमेशा बालमीकि समाज को वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया है। शैलजा को जब लगता था कि वो चुनाव हार जाएंगी तो मुझे टिकट दे कर बलि का बकरा बना देती थी। 2019 में भूपेंद्र हुड्ड नें निलोखेड़ी से टिकट काट कर बंताराम बाल्मीकि को दे कर मेरे और मेरे समाज के साथ जुल्म और अन्याय किया।
इनेलो नेता अभय चौटाला ने राजकुमार बाल्मीकि को अपने साथियों सहित पार्टी में शामिल होने पर कहा कि उन्हे पार्टी में पूरा मान स मान दिया जाएगा और वो ताऊ देवी लाल की नीतियों का अनुसरण करते हुए पार्टी को मजबूत करेंगे। बाल्मीकि नें दलितों के हकों की लड़ाई हमेंशा मुखर हो कर लड़ी और गोहाना व मिर्चपूर बाल्मीकि प्रकरण को सुलझाने में भी अहम भूमिका निभाई।

No comments:

Post a Comment