/>

Breaking

Saturday, September 26, 2020

15 मिनट का खूनी मंजर कैमरे में कैद:हथौड़ा लेकर पेट्रोल पंप पर आया साइको किलर, सो रहे तीन लोगों पर किया ताबड़तोड़ वार, मैनेजर की 4 पसलियां टूटकर फेफड़ों में घुसने से मौत

15 मिनट का खूनी मंजर कैमरे में कैद:हथौड़ा लेकर पेट्रोल पंप पर आया साइको किलर, सो रहे तीन लोगों पर किया ताबड़तोड़ वार, मैनेजर की 4 पसलियां टूटकर फेफड़ों में घुसने से मौत

हिसार : सिरसा चुंगी के पास हाई-वे पर गोयल ब्रदर्स पेट्रोल पंप पर गुरुवार देर रात दिलदहला देने वाली वारदात हुई। सीसीटीवी में कैद हुआ 15 मिनट का खूनी मंजर रोंगटे खड़े करता है। साइको किलर ने पंप परिसर में करीब रात 2 बजकर 15 मिनट पर कदम रखा। 2 बजकर 30 मिनट पर वारदात कर चला गया। पंप कर्मी सोए हुए थे उन्हें संभलने का मौका भी नहीं मिला।
मैनेजर हुनमान की मौत हाे गई तो एक कारिंदा व ऑपरेटर गंभीर घायल हो गए। पुलिस ने मैनेजर के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सिर पर पांच वार और छाती पर चार से पांच वार होना पाया है। सिर में गंभीर चाेटें लगी थी। पसलियां टूटकर फेफड़ों में घुस गईं थी। जिससे उसकी मौत हो गई।
सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक नकाबपोश सबसे पहले पंप के पुराने ऑफिस रूम में पलंग पर सो रहे मैनेजर हनुमान पर हमला करता है। फिर मुख्य ऑफिस के बाहर सो रहे कारिंदे घनश्याम और प्रदूषण जांच केंद्र के ऑपरेटर बृजेश के पास पहुंचता है। पहले बृजेश पर हथौड़े से एक के बाद एक पांच वार करता है। फिर घनश्याम पर सात वार करता है। फिर बृजेश पर दोबारा चार और वार करता है। घनश्याम पर एक वार करता है। दोनों सिर व मुंह के पास लगी चोटाें के कारण बेसुध हो गए। आरोपी उनकी जेबों और पास रखी अलमारी की दराजें खंगालता है। फुटेज में आरोपी के कुछ हाथ लगा है या नहीं, जेब में कुछ था या नहीं इसका पता नहीं चल सका है। लूट हुई है या नहीं इस बारे में घनश्याम व बृजेश ही बता सकते हैं लेकिन इनकी हालत गंभीर बनी है।

मंजर देख घबरा गया था, आंखों के सामने छा गया था अंधेरा : टी स्टॉल संचालक

पेट्रोल पंप के साथ चाय का खोखा है। रूटीन काम में पांच बज गए थे। देखा कि पंप की लाइट्स ऑन नहीं हुई है। जाकर देखा तो पंप के मेन ऑफिस के बाहर पलंग पर कंबल ओढ़े दो कर्मी सोते दिखे। लगा कि उनमें एक फूली उर्फ फूल सिंह उर्फ गुरचरण सो रहा है। पलंग के पास गया तो चप्पल पर कुछ चिपकने का अहसास हुआ। नीचे देखा तो खून था। कुछ समझ नहीं आया। दोनों के मुंह से कंबल हटाए तो होश उड़ गए। चेहरा पहचान में नहीं आ रहा था। मैं तुरंत मैनेजर हनुमान को जगाने उसके कमरे में गया। देखा तो वह आवाज सुनकर प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है। पास जाकर हिलाया मगर नहीं उठा। सांस थमी मिली। सिर व मुंह पर खून से सना था। यह देखकर बहुत घबरा गया था। आंखों के सामने कुछ पल के लिए अंधेरा छा गया था। वहां टायर पंक्चर वाला पहुंच गया। उसे घटना के बारे में बताया और कहा कि जैसे तैसे पंप मालिकों को सूचना पहुंचाया। -जैसा कि ढंढूर वासी टी स्टॉल संचालक विनोद ने बताया।

छुट्‌टी पर गया था कारिंदा, जिसकी जगह सोया था बृजेश

पेट्रोल पंप पर मैनेजर हनुमान कभी परिसर में तो कभी कमरे में सोता था। घटना की रात वह कमरे में सो गया था। मिलगेट वासी एक कारिंदा छुट्‌टी पर था। ऐसे में उसकी जगह ऑपरेटर बृजेश कारिंदे घनश्याम के साथ अलग पलंग पर सो गया था। ऐसे में छुट्‌टी पर कारिंदा नहीं गया होता तो शायद बृजेश की जगह वह साइको किलर का शिकार बनता।

करीब साढ़े तीन घंटे तक तड़पते रहे तीनों

नकाबपोश आरोपी ढाई बजे करीब वारदात कर चला गया। इसके बाद मैनेजर, कारिंदा व ऑपरेटर खून से लथपथ तड़पते रहे। सीसीटीवी के अनुसार घनश्याम एक बार उठने की कोशिश करता है मगर वापस पलंग पर गिर जाता है। छह बजे के बाद उन्हें अस्पताल पहुंचाया जाता है। ऐसे में करीब साढ़े तीन घंटे तक उनका काफी खून भी बह चुका था।

अलमारियां टूटी मिली हैं, आज संभालेंगे

पेट्रोल पंप संचालक संजय गोयल ने बताया कि वारदात के चलते पेट्रोल पंप को सीज किया हुआ है। लूटपाट के इरादे से किलर ने अलमारी का लॉक तोड़ा हुआ है। दराज भी खंगाली हैं। शनिवार को अलमारियां, तेल की सेल व क्लेक्शन इत्यादि संभालेंगे जिससे लूटपाट के नुकसान का पता चल पाएगा। अंदेशा है कि यह साइको प्रवृति या फिर नशेड़ी का काम हो सकता है।

No comments:

Post a Comment