/>

Breaking

Wednesday, September 23, 2020

रोहतक में चाइल्ड हेल्पलाइन का छापा: मां ने 56 हजार रुपए लेकर 17 साल की बेटी का 40 साल

रोहतक में चाइल्ड हेल्पलाइन का छापा: मां ने 56 हजार रुपए लेकर 17 साल की बेटी का 40 साल के व्यक्ति से कर दिया विवाह, दिल बहलाने के लिए 12 साल की सहेली को भी साथ भेजा

यमुनानगर : 17 साल की लड़की की मां ने 56 हजार रुपए लेकर 40 साल के व्यक्ति के साथ बेटी की शादी कर दी। शादी के दौरान उसके साथ उसकी सहेली की 12 साल की लड़की को दिल बहलाने के लिए भेज दिया लेकिन इसी बीच 12 साल की लड़की का मन नहीं लगा और सूचना चाइल्ड हेल्पलाइन रोहतक के पास पहुंच गई क्योंकि लड़की की शादी रोहतक के ही एक गांव के व्यक्ति से की गई थी। इसके बाद दोनों किशोरियों को रेस्क्यू किया गया।
इसके बाद उनकी काउंसलिंग की तो खरीद-फरोख्त और नाबालिग होते हुए शादी की बात खुली। शिकायत रोहतक पुलिस को दी गई। बाल कल्याण समिति चेयरमैन की शिकायत पर रोहतक सदर पुलिस ने केस दर्ज किया। मामले की शुरुआत यमुनानगर से हुई तो वहां की पुलिस से केस को हमीदा चौकी में ट्रांसफर कर दिया। पुलिस ने धारा-370, 366, जेजे एक्ट और चाइल्ड मैरिज एक्ट में शादी कराने के नाम पर पैसे लेने वाले झासू, शादी करने वाले विक्रम और किशोरी की मां पर केस दर्ज किया है।
लड़की ने बाल कल्याण समिति के सामने यह बताया हमीदा निवासी किशोरी ने बाल कल्याण समिति को बताया कि गांव धामड़ के झासू ने उसकी मां से उसे खरीदा और उसकी शादी गांव के ही 40 वर्षीय विक्रम से करा दी। समिति गांव में पहुंची और जांच की तो पता लगा कि किशोरी को खरीदकर लाया गया है। जब उसे शादी कर भेजा गया तो उसके साथ 12 साल की उसकी सहेली की बहन को भी भेजा गया था। बाद में टीम ने दोनों को रोहतक के बाल आश्रम में भेज दिया था। अब दोनों वहीं पर हैं।

हम लड़की के बयान लेकर आगे जांच बढ़ाएंगे

हमीदा चौकी इंचार्ज शमशेर सिंह ने बताया कि पीड़िता फिलहाल रोहतक में है। उसे वहां से लाया जाएगा। इसके बाद उसके मजिस्ट्रेट बयान कराए जाएंगे। बयानों में जो भी बात सामने आएगी, उसके अनुसार आगे कार्रवाई की जाएगी।

काउंसलिंग में बताया- झासू ने मां को 56 हजार दिए थे

बाल कल्याण समिति ने जब किशोरियों की काउंसलिंग की तो उसने बताया कि विक्रम अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ यमुनानगर में आया था। यहां किशोरी के परिजनाें को झासू नाम के व्यक्ति ने 56 हजार रुपए दिए जिसके बाद किशोरी को उसकी सहेली की 12 वर्षीय बहन के साथ रोहतक भेज दिया गया। यहां मंदिर में विक्रम ने उसकी मांग भरी और शादी कर ली। अन्य लोगों के दबाव में किशोरी द्वारा भी विक्रम को जयमाला पहनाई गई जिससे किशोरी व उसके साथ आई 12 वर्षीय बच्ची आहत है और अपने घर जाना चाहती है जिस पर टीम ने दोनों को रेस्क्यू किया।

No comments:

Post a Comment