/>

Breaking

Friday, September 18, 2020

कांट्रेक्ट फार्मिंग:प्रदेश में 333 जगह हो रही कांट्रेक्ट फार्मिंग, एक सीजन में पता चल जाएगा कृषि अध्यादेश कितने लाभकारी: सीएम मनोहर लाल

कांट्रेक्ट फार्मिंग:प्रदेश में 333 जगह हो रही कांट्रेक्ट फार्मिंग, एक सीजन में पता चल जाएगा कृषि अध्यादेश कितने लाभकारी: सीएम मनोहर लाल

चंडीगढ़ : सीएम ने कहा कि वर्तमान समय में प्रदेश में 333 जगहों पर कांट्रेक्ट फार्मिंग हो रही है। इसमें सबसे अधिक सिरसा में 1100 एकड़ में खेती होती है। इसके दो भाग हैं बिजाई से पूर्व की कांट्रेक्ट और फसल पैदा होने के बाद की। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर सीएम ने कहा कि इसकी 201 रिक्मेंडेशन मान ली गई हैं, केवल एक बकाया है। जो कि जमीन की कीमत के आधार पर फसलों के भाव तय करने की है। इसे हरियाणा में लागू करने में दिक्कत है, क्योंकि महेंद्रगढ़ में जमीन के रेट कम हैं और गुड़गांव या फरीदाबाद में करोड़ों में हैं।
सीएम ने किसान संगठनों द्वारा केंद्र सरकार के कृषि से संबंधित तीन अध्यादेशों के विरोध को लेकर विपक्ष को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि विपक्ष किसानों को गुमराह कर रहा है। अब धान की खरीद होगी, यह दो माह में पूरी की जाएगी। इसी सीजन से पता चल जाएगा कि किसानों के लिए यह अध्यादेश कितने लाभकारी हैं। हम किसानों को अध्यादेशों को लेकर जागरूक कर रहे हैं। 10 हजार से अधिक किसानों ने फसल अवशेष प्रबंधन योजना फसलों के इन-सीटू यानी खेत में ही प्रबंधन के लिए कृषि यंत्रीकरण को प्रोत्साहन के तहत कृषि उपकरणों के लिए आवेदन करके कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा फसल अवशेष जलाने के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा जाहिर की है।
कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने बताया कि व्यक्तिगत किसानों और सोसायटियों से 21 अगस्त तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए थे। इसके परिणामस्वरूप 13620 उपकरणों के लिए 10967 किसानों ने आवेदन किया, जबकि लक्ष्य 3561 उपकरणों का था। इनमें से 2300 आवेदन सीएचसी से उपकरण किराए पर लेने के लिए और 11311 आवेदन व्यक्तिगत लाभार्थियों के हैं।
सरकार वहन करेगी लस्टर लॉस
सीएम ने कहा कि अबकी बार सरकार लस्टर लॉस वहन करेगी। वर्ष 2019 में 19.37 करोड़ रुपए का खर्च सरकार ने उठया था। अबकी बार यह करीब 26 करोड़ रुपए है। इसे सरकार ही वहन करेगी। उन्होंने कहा कि अबकी बार दूसरे राज्यों का बाजरा या फिर मक्का हरियाणा में नहीं खरीदा जाएगा।
किसी भी परिस्थिति से भागें नहीं, डटकर सामना करें
सीएम मनोहर लाल ने युवाओं से कहा कि वे अपने जीवन से भय शब्द को निकल दें। जीवन की किसी भी परिस्थिति में भय से भागें नहीं, बल्कि उसका डटकर सामना करें। यदि वे ऐसा करते है तो भय शब्द उनके जीवन से हमेशा समाप्त हो जाएगा। वे गुरुवार को पीएम नरेंद्र मोदी के 70वें जन्मदिवस के उपलक्ष्य में जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा आयोजित युवा प्रेरणा दिवस कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। केंद्र सरकार द्वारा जारी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति -2020 का उल्लेख करते हुए।
उन्होंने कहा कि इस नीति में जो नए सुधार किए गए हैं वे निश्चित रूप से देश के युवाओं को प्रेरित करेंगे। इसी तरह, केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) के रूप में भर्ती सुधार करोड़ों युवाओं के लिए एक वरदान साबित होगा। उन्होंने कहा कि खेलों को प्रमुख रूप देने के साथ-साथ युवाओं को शारीरिक रूप से मजबूत बनाने के लिए कई नई नीतियों और कार्यक्रमों को लागू किया गया है जिनमें खेलों इंडिया कार्यक्रम भी एक है। उन्होंने युवाओं से भी आह्वान किया वे अपनी ऊर्जा को सही दिशा में ले जाने का संकल्प लें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गतिशील नेतृत्व में देश को विकास के पथ पर आगे ले जाएं।

No comments:

Post a Comment