/>

Breaking

Friday, September 18, 2020

स्कूल खोलने की अधूरी तैयारी:जिले में 3 दिन में करवाने होंगे 3 हजार शिक्षकों और कर्मियों के कोरोना टेस्ट, शिक्षा विभाग की प्लानिंग नहीं, डीसी आज लेंगे बैठक

स्कूल खोलने की अधूरी तैयारी:जिले में 3 दिन में करवाने होंगे 3 हजार शिक्षकों और कर्मियों के कोरोना टेस्ट, शिक्षा विभाग की प्लानिंग नहीं, डीसी आज लेंगे बैठक

जींद : शिक्षा विभाग 21 सितंबर से नौवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को परामर्श देने के लिए स्कूल खोल रहा है। स्कूल खोलने से पहले सरकारी व प्राइवेट स्कूलों के शिक्षकों व स्टाफ के कोरोना टेस्ट अनिवार्य किए गए हैं। अब तक कोरोना टेस्ट को लेकर न तो शिक्षा विभाग ने स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया है और न ही स्कूलों को कोई गाइडलाइन जारी की गई है। विभागीय अधिकारियों ने कोरोना टेस्ट कराने का जिम्मा अपने स्तर पर स्कूलों पर छोड़ दिया है।
जींद जिले में सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में (9वीं से 12वीं) लगभग 3 हजार से ज्यादा शिक्षक व 700 से ज्यादा गैर शैक्षणिक स्टाफ है। स्कूल खुलने में 3 दिन का समय है, लेकिन अब तक अधिकतर स्कूलों के शिक्षकों के कोरोना टेस्ट नहीं हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिलेभर में प्रतिदिन 800 से 900 टेस्ट किए जा रहे हैं, ऐसे में 3 दिन में सभी 3700 शिक्षक और गैर शैक्षणिक स्टाफ के कोरोना टेस्ट होना मुमकिन नहीं है। टेस्ट कराने को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारी भी गंभीर नहीं हैं।
टेस्ट कराने के लिए अब तक सरकारी व प्राइवेट किसी स्कूल को जिला स्तर पर गाइडलाइन जारी नहीं हुई है। शिक्षक अपने स्तर पर भी कोरोना टेस्ट अभी नहीं करवा रहे हैं। वह भी जिलास्तर पर विभागीय आदेशों का इंतजार कर रहे हैं। 14 सितंबर तक सरकारी व निजी स्कूलों के दसवीं व बारहवीं कक्षा में पढ़ने वाले 18 हजार 65 छात्रों में से मात्र 2859 ने ही गूगल फार्म भरकर सहमति या असहमति प्रदान की है। अब तक 15206 अभिभावकों ने अपनी सहमति या असहमति नहीं दी है।

स्कूलों को सेनिटाइज करने का काम शुरू

21 सितंबर से स्कूल खोलने के निर्देश मिलने के बाद जिले के हाई व सीसे. स्कूलों को सेनिटाइज करने का काम शुरू कर दिया गया है। कमरों, लैब, शौचालयों, मुख्य गेट को सेनिटाइज किया जा रहा है। विभाग द्वारा सेनिटाइजर, मास्क आदि के लिए बजट जारी किया गया है। कई जगह बजट की कमी के कारण गांवों में सेनिटाइज करने के लिए मशीन उधार लेकर काम चलाया जा रहा है।

सीधी बात (मदन चोपड़ा, जिला शिक्षा अधिकारी)

Q. विभाग 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं के स्कूल खोलने की तैयारी कर रहा है। उसके लिए जिलास्तर पर क्या प्रबंध किए गए हैं? A. स्कूलों को सेनिटाइज करने के निर्देश दिए गए हैं। कोविड-19 के नियमों का पूरी तरह से पालन कराया जाएगा। Q. कोरोना टेस्ट के लिए क्या व्यवस्था की गई है। अब तक स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया गया है? A. कोरोना टेस्ट के लिए स्वास्थ्य विभाग व स्कूल अपने स्तर पर समन्वय करेंगे। हमारी तरफ से कोई संपर्क स्वास्थ्य विभाग से नहीं किया गया है। Q. स्कूल खुलने में 4 दिन शेष है? क्या सरकारी व प्राइवेट के लगभग 4 हजार शिक्षकों व गैर शैक्षणिक स्टाफ के टेस्ट हो पाएंगे? A. यह व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग को करनी है। उन द्वारा मुख्यालय व सीएससी स्तर पर टेस्ट किए जा रहे हैं। वह स्कूल मुखियाओं से संपर्क कर टेस्ट करें। Q. स्कूल खोलने पर सहमति अब तक कितने अभिभावकों ने दी है? A. इसकी जानकारी नहीं है। यह स्कूल स्तर का काम है।
ऐहतियातन यह उठाने होंगे कदम

*स्टूडेंट्स में कम से कम 6 फीट की दूरी होगी।*

*फेस कवर व मास्क अनिवार्य होगा।*

*कम से कम 20 सेकंड के लिए हाथ सैनिटाइज करना अनिवार्य।*

*छींकते व खांसते वक्त टिशु व रूमाल का प्रयोग करना होगा।*

No comments:

Post a Comment