/>

Breaking

Thursday, October 8, 2020

गुस्सा:घरावठी के निजी स्कूल में महंगी किताबें बेचने पर अभिभावकों ने किया हंगामा

गुस्सा:घरावठी के निजी स्कूल में महंगी किताबें बेचने पर अभिभावकों ने किया हंगामा

रोहतक : कोरोना काल में स्कूल संचालक अभिभावकों को लूटने में पीछे नहीं हट रहे। ऐसा ही एक मामला मंगलवार को घरावठी गांव में संचालित निजी स्कूल में मिला। अभिभावकों ने स्कूल संचालक पर एक्स्ट्रा फीस लिए जाने और किताबों पर प्रिंट रेट से ज्यादा राशि लिए जाने का आरोप लगाकर स्कूल के बाहर हंगामा किया।
अभिभावकों का गुस्सा बढ़ते देख स्कूल संचालक ने लापरवाही मानते हुए ज्यादा रुपए देने वाले अभिभावकों को राशि रिफंड किए जाने का आश्वासन दिया। अभिभावक अजय, सोनू सहित परिजनों का आरोप है कि स्कूल संचालक छोटे बच्चों को स्कूल बुलाते हैं।
अभिभावकों से एडमिशन फीस के नाम पर मोटी राशि वसूल की जा रही है। जबकि कोरोना काल में ट्यूशन फीस के अलावा कोई राशि नहीं ले सकते। अभिभावकों ने बताया कि किताब पर 180 रुपए प्रिंट है और उस पर लेमिनेशन करके 245 रुपए लिखकर बेचा जा रहा है। ऐसा एक ही तकरीबन हर क्लास के बच्चों को बेची जाने वाली किताबों पर मनमाने दाम वसूल रहे हैं।

जिला परिषद की मीटिंग में उठ चुका है निजी स्कूलों की मनमानी का मुद्दा

जिला परिषद की मीटिंग में चेयरमैन सतीश भालौठ के समक्ष निजी स्कूलों की ओर से की जा रही मनमानी का मुद्दा उठ चुका है। जिसके बाद चेयरमैन ने प्राइवेट स्कूलों में जाकर नोटिस बोर्ड पर फीस का ब्योरा चस्पा न होना पाया था। लगातार मनमानी का मुद्दा उठने के बाद भी डीईओ कार्यालय की ओर से कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। अब अभिभावकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

No comments:

Post a Comment