/>

Breaking

Thursday, October 8, 2020

नए कानूनों को वापस लेने की मांग:सिरसा में पथराव के विरोध में जिले के किसान संगठनों ने किए प्रदर्शन, बोड़ा में भाजपा व जजपा नेताओं की एंट्री बैन

नए कानूनों को वापस लेने की मांग:सिरसा में पथराव के विरोध में जिले के किसान संगठनों ने किए प्रदर्शन, बोड़ा में भाजपा व जजपा नेताओं की एंट्री बैन

फतेहाबाद : कृषि कानूनों के विरोध में सिरसा में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर आंसू गैस के गोले फैंकने, पथराव व अन्य घटनाक्रमों को लेकर जिले भर के विभिन्न संगठनों ने रोष जताया है। बुधवार को जिले में कई जगहों पर किसानों व अन्य संगठनों ने प्रदर्शन किया व मुख्यमंत्री व डिप्टी सीएम के पुतले फूंके। गांव बोड़ा में किसानों ने बैठक कर गांव के चारों तरफ चेतावनी होर्डिंग व पोस्टर लगाए हैं।
जिसमें लिखा है कि इस गांव में भाजपा व जजपा नेताओं का पूर्ण रूप से बहिष्कार किया जाता है। दोनों पार्टियों का कोई नेता गांव में आता है तो वह अपने जान माल का खुद जिम्मेवार होगा। गांव बोड़ा के किसान रणजीत सिंह, कुलदीप सिंह, सोनू, निर्मल सिंह, करनैल सिंह, स्वर्ण सिंह, गुरदयाल सिंह ने कहा कि गांव के लोग सरकार के कृषि कानून से नाराज है। सरकार और नेता इस किसान विरोधी कानून की तारीफ कर रहे है। किसानों पर लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले छोड़े जा रहे है। इसी को लेकर उन्होंने इन दलों के नेताओं का बहिष्कार किया है।
सिरसा में गिरफ्तार किए 94 किसानों में से 25 रतिया के
सिरसा में बुधवार को गिरफ्तार किये गये 94 किसानों में 25 किसान अकेले रतिया के है। इनमें नाली मोहल्ला निवासी निर्भय सिंह, 4 निवासी काला सिंह, वार्ड 5 निवासी मीठू सिंह,वार्ड 7 निवासी कुलविंद्र सिंह, भूदड़वास निवासी हरजीत सिंह, जगजीत सिंह, गुरप्रीत सिंह, जसकरण सिंह, कमाना निवासी जग्गी, नागपुर निवासी गुरमीत, हासंगा निवासी राम किशन, कृष्ण, मांगे राम, रतिया निवासी सुखजिंद्र सिंह, बाबू सिंह, दर्शन सिंह, रोजावाली बलजीत, जसवंत अमनदीप, हैप्पी, राजबीर सिंह, गुरसर निवासी राजदीप व शहर की जाखनदादी निवासी मलकीत शामिल है।
कृषि विधेयक के खिलाफ हसंगा, दिगोह, भूना में मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम का पुतला फूंका
कृषि विधेयक के खिलाफ किसान संघर्ष समिति ने अनाज मंडी भूना गेट के सामने उकलाना रोड पर मुख्यमंत्री का पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। व्यापार मंडल के प्रधान व आप के जिलाध्यक्ष एडवोकेट अजय कुमार के नेतृत्व में किसानों एवं मजदूरों ने नारेबाजी की। किसान नेता चांदी राम कड़वासरा ने कहा कि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार किसान- मजदूर एवं व्यापारी विरोधी फैसले लेकर हर वर्ग की कमर तोड़ रही है। किसानों पर लाठियां भांजी जा रही है और उन्हें जेलों में ठूंसा जा रहा है। सिरसा में किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़ने व वाटर कैनन से खदेड़ने पर निंदा की गई। उधर, गांव हसंगा व दिगोह में भी किसानों ने डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का पुतला फूंका और विरोध प्रदर्शन किया। इस अवसर पर रघुवीर सिंह सिहाग, बलवंत कुकणा, सतवीर मुंड, रामकुमार धारणिया आदि भी मौजूद थे।
नाली माेहल्ला में पोस्टर जलाकर विरोध जताया
किसानों ने बुधवार को शहर के नाली मोहल्ला में सीएम मनोहर लाल व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का पोस्टर व पुतला फूंका। किसानों ने नाली माेहल्ला में इकट्ठे होकर सिरसा में किसानों पर पथराव आदि की निंदा की।

No comments:

Post a Comment