/>

Breaking

Friday, November 6, 2020

खर्राटे ले रहे प्रशासनिक पुतले के साथ दुकानदार उतरे सड़क पर बंद रहा रोहतक रोड - अधिकारियों के आश्वासन के बाद मानें दुकानदार

 सड़क पर बंद रहा रोहतक रोड, अधिकारियों के आश्वासन के बाद मानें दुकानदार

जींद :(संजय तिरँगाधारी) सड़क की दुर्दशा के चलते जींद विकास संगठन और फर्नीचर एसोसिएशन के आहवान पर गुरुवार को रोहतक रोड़ पूर्ण बन्द रहा। एक भी दुकान खुली नजर नहीं आई। इस दौरान दुकानदारों ने अपनी-अपनी दुकानें बन्द करके रोहतक रोड़ बाईपास से ताऊ देवीलाल चौक तक कुम्भकर्णी प्रशासन की एक झांकी के साथ अनोखा प्रदर्शन किया। 

प्रदर्शन का नेतृत्व जींद विकास संगठन के अध्यक्ष राजकुमार गोयल के साथ-साथ फर्नीचर एसोसिएशन के प्रधान राकेश सिंघल ने किया। इस प्रदर्शन में सैकड़ों लोग शामिल हुए और काफी भीड़ उमड़ी। जहां व्यापारियों और आमजन की पूरी भागीदारी रहीं वहीं महिलाओं में भी जोश नजर आया। प्रदर्शन में कईं सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि, नगर पार्षद, प्रमुख चिकित्सक इत्यादि ने भी प्रमुख रूप से भाग लिया। 

वाहन पर खर्राटे भर रहा था प्रशासनिक पुतला

प्रदर्शन में आगे-आगे कुम्भकर्ण रूपी प्रशासन का पुतला एक वाहन पर लेटा हुआ जोर-जोर से खर्राटे भरता चल रहा था। पीछे पीछे बैण्ड-बाजे और ढोल-ढमाके वाले चल रहे थे जो कुम्भकर्णी प्रशासन को जगाने का प्रयास कर रहे थे। जिस वाहन पर आदम कद से बड़े साईज का पुतला खर्राटे भरता हुआ लेटा हुआ जा रहा था उस वाहन पर एक एसी भी लगा था। वाहन पर एक स्लोगन लिखा हुआ था, जिसमें लिखा था कि जींद में रोहतक रोड़ की दुर्दशा से जनता मर रही है और सरकार एयर कंडीशनर की हवा में कुम्भकर्णी नींद सो रही है। जागो सरकार जागो का एक स्लोगन लिखा फ्लैक्स भी झांकी के साथ लगाया गया था। यह दिखाने का प्रयास किया गया कि सरकार और प्रशासन एसी कमरों में सो रहे हैं और रोहतक रोड की परेशान जनता सड़क की दुर्दशा से मर रही है।

सीटीएम और डीएसपी पहुंचे

दुकानदारों के बंद को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट था। प्रशासन का अमला-झमला प्रदर्शन के साथ चल रहा था। डीएसपी कप्तान सिंह और जींद के सीटीएम प्रदर्शनकारियों की आवाज सुनने ताऊ देवीलाल चौक पर पहुंचे। यहां प्रशासन ने जींद विकास संगठन के अध्यक्ष राजकुमार गोयल, फर्नीचर एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश सिंघल और अन्य प्रतिनिधियों से बातचीत की। प्रशासन ने जल्द ही सड़क बनवाने का आश्वासन दिया लेकिन प्रदर्शनकारी इस पर मानने को तैयार नहीं हुए।  प्रदर्शनकारियों का कहना था कि जीन्द के डीसी से कम किसी अधिकारी से बातचीत नहीं करेंगे। राजकुमार गोयल ने कहा कि हमारी 5 प्रमुख मांगे है। 24 घण्टे के अन्दर बातचीत होनी चाहिए। सीटी मर्जिस्टेट ने जींद के डीसी से बातचीत की और बताया कि जल्द ही डीसी से बातचीत करा दी जाएगी। 

खर्राटे ले रहे प्रशासनिक पुतले के साथ दुकानदार उतरे,24 घण्टे के अन्दर जीन्द के डीसी से होगी बातचीत

जींद विकास संगठन के अध्यक्ष राजकुमार गोयल का कहना है कि प्रशासन ने 24 घण्टों के अन्दर जीन्द के डीसी से मिलवाने का आश्वासन दिया है। अगर जीन्द के डीसी आश्वस्त करते है तो ठीक है नहीं तो अगले आन्दोलनों की श्रंखला का ऐलान कर दिया जाएगा। जिसमें आने वाली दिवाली को रेत की दिवाली के रूप में मनाने का फैसला भी लिया जा सकता है। गोयल ने कहा कि हम रोहतक रोड रूपी रेत के रेगिस्तान से मिठाई के डिब्बों में रेत भर भरकर प्रशासन को पहुंचाने का काम करेंगे। डिब्बों पर लिखा होगा कि आप सब सहपरिवार दिवाली की इस रेत रूपी मिठाई को अवश्य खाएं। इसके अलावा रोहतक रोड़ पर एक लघु सचिवालय बनाकर भी हम प्रशासन की आंखे खोलने का काम करेंगे। यहां कुर्सी-मेज लगा दी जाएगी और हम प्रशासन से प्रार्थना करेंगे कि मात्र 24 घण्टे के लिए यहां लघु सचिवालय के सभी अधिकारियों को उड़ते रेत के बीच बैठाने का काम करें। इस प्रकार के कईं आन्दोलनों की घोषाणा की जा सकती है।

No comments:

Post a Comment