/>

Breaking

Monday, January 18, 2021

कोरोना के टीकाकरण का नया शेड्यूल, अब हर राज्य के लिए दिन तय, देंखे लिस्ट

कोरोना के टीकाकरण का नया शेड्यूल, अब हर राज्य के लिए दिन तय, देंखे लिस्ट

दिल्ली : कोरोना वायरस के टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार ने अब हर राज्य के लिए टीकाकरण के दिन तय कर दिए हैं। सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है कि दूसरी स्वास्थ्य सेवाओं पर असर न पड़े। पहले राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को हफ्ते में चार दिन टीके लगाने की सलाह दी गई थी। अब उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और गोवा में सबसे कम दो दिन और आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक हफ्ते में छह दिन टीके लगाए जाएंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय में अपर सचिव मनोहर अगनानी ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पहले हफ्ते में चार दिन टीकाकरण अभियान चलाने की सलाह दी गई थी ताकि दूसरी स्वास्थ्य सेवाओं पर इसका प्रतिकूल असर नहीं पड़े। अब इसमें बदलाव किया गया है। आंध्र प्रदेश में छह दिन तो मिजोरम में हफ्ते में पांच दिन टीके लगाए जाएंगे।

नए शेड्यूल के अनुसार उत्तर प्रदेश में गुरुवार, शुक्रवार, हिमाचल प्रदेश में सोमवार, मंगलवार, बिहार में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शनिवार, हरियाणा में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, जम्मू-कश्मीर में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, झारखंड में सोमवार, मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार, मध्य प्रदेश में सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शनिवा,  पंजाब में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, राजस्थान में सोमवार, मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार, उत्तराखंड में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, बंगाल में सोमवार, मंगलवार, शुक्रवार, शनिवार, चंडीगढ़ में मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, छत्तीसगढ़ में सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शनिवार और महाराष्ट्र में मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार, शनिवार को टीके लगाए जाएंगे।

मनोहर अगनानी ने कहा कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह, नगालैंड और ओडिशा में हफ्ते में तीन दिन टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा जबकि, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, दादर एवं नगर हवेली, दमन एवं दीव, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर में हफ्ते में चार दिन टीके लगाए जाएंगे। झारखंड, कर्नाटक, केरल, लद्दाख, मध्य प्रदेश महाराष्ट्र, मणिपुर, पुडुचेरी, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड और बंगाल में भी हफ्ते में चार दिन टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। गोवा, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में हफ्ते में दो दिन टीके लगाए जाएंगे।

अगनानी ने बताया कि टीकाकरण अभियान के दूसरे दिन छह राज्यों में 17,072 लाभार्थियों को टीके लगाए गए। इस तरह अब तक कुल 2,24,301 लाभार्थियों को वैक्सीन दी जा चुकी है। इनमें से सिर्फ 447 लोगों पर ही इसके प्रतिकूल प्रभाव पड़ने के मामले सामने आए हैं। प्रतिकूल मामलों में बुखार, सिरदर्द, उल्टी जैसी स्वास्थ्य संबंधी मामूली समस्याएं देखने को मिली हैं।

अगनानी ने कहा कि रविवार होने के चलते सिर्फ छह-आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, कर्नाटक, केरल, मणिपुर और तमिलनाडु में टीकाकरण अभियान चलाया गया और 553 सत्रों में कुल 17,072 लाभार्थियों को टीका लगाया गया। अभियान के पहले दिन यानी शनिवार को 2,07,229 लोगों को टीका लगाया गया था। सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में 21,291 लोगों को टीका लगाया गया है। इसके बाद आंध्र प्रदेश में 18,412, महाराष्ट्र में 18,328, बिहार में 18,169, ओडिशा में 13,746, कर्नाटक में 13,594 और गुजरात में 10,787 लाभार्थियों को टीका लगाया जा चुका है।

उल्‍लेखनीय है कि टीकाकरण के पहले दिन स्‍वा‍स्‍थ्‍य क्षेत्र से जुड़े प्रमुख लोगों ने भी वैक्‍सीन लगवाई थी। इन लोगों में एम्स दिल्ली के निदेशक रणदीप गुलेरिया, नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल, भाजपा सांसद महेश शर्मा और बंगाल के मंत्री निर्मल माजी शामिल रहे। स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों का कहना है कि टीकाकरण में मामूली या हल्‍के प्रतिकूल प्रभावों जैसे कि बुखार, सिरदर्द आदि को लेकर डरने की जरूरत नहीं है।

भारत में कोविशील्ड और कोवैक्सीन नामक दो टीकों के आपात उपयोग की मंजूरी दी गई है। कोवैक्सीन भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई है। कोविशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी एस्ट्राजेनेका ने विकसित किया है और पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बनाया है।

इस बीच भारत बायोटेक ने कहा है कि यदि उसकी कोविड वैक्सीन लेने के बाद किसी पर गंभीर दुष्प्रभाव पड़ता है तो वह पीडि़त व्यक्ति को मुआवजा देगी। भारत बायोटेक ने स्वदेशी कोवैक्सीन विकसित की है। सरकार ने इस वैक्‍सीन की 55 लाख डोज खरीदी हैं जिसका टीकाकरण में इस्तेमाल हो रहा है।

No comments:

Post a Comment