/>

Breaking

Friday, February 5, 2021

किसानों को उकसाने वाला गिरफ्तार, लाल किले हिंसा का रचा था षडयंत्र

किसानों को उकसाने वाला गिरफ्तार, लाल किले हिंसा का रचा था षडयंत्र

नई दिल्ली : किसान आंदोलन के 71वें दिन दिल्ली पुलिस ने लाल किले पर हिंसा भड़काने के एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। क्राइम ब्रांच ने वीरवार को बताया कि गिरफ्तार किया गया धर्मेंद्र सिंह हरमन 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान अपनी कार में बैठकर किसानों को उकसा रहा था। वो दिल्ली के अर्जुन नगर का रहने वाला है और शाहीन बाग के प्रदर्शन के वक्त भी काफी सक्रिय था।
किसान आंदोलन को लेकर पुलिस के साथ केंद्र सरकार भी सक्रिय है। गृह मंत्री अमित शाह ने हालात पर चर्चा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव को संसद बुलाया। वीरवार देर शाम तक तीनों के बीच हाईलेवल मीटिंग हुई। ये बैठक गाजीपुर बॉर्डर पर हलचल बढऩे के बाद बुलाई गई थी। गाजीपुर बॉर्डर पर शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर बादल समेत 10 विपक्षी दलों के 15 नेता किसानों से मिलने पहुंचे थे। पुलिस ने इन्हें रोक दिया।
*पुलिस ने सड़क से कीलें हटाईं, फिर सफाई दी*
पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को रोकने के लिए कुछ दिन पहले कई लेयर की बैरिकेडिंग करने के साथ ही सड़कों पर कीलें भी लगा दी थीं। इस पर किसान नेताओं और विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा था। लेकिन, गुरुवार को इन कीलों को हटाने के फोटो और वीडियो सामने आए। इसके बाद पुलिस ने सफाई दी कि कीलों को एक जगह से हटाकर दूसरी जगह लगाया जाएगा। साथ ही कहा कि बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं होगा।

सोनीपत व झज्जर जिलों को छोड़ सभी में इंटरनेट चालू

हरियाणा सरकार ने दो जिलों सोनीपत और झज्जर में वॉयस कॉल को छोड?र इंटरनेट सेवाओं (2जी/3जी/4जी/ सीडीएमए/ जीपीआरएस), एसएमएस सेवाओं (केवल ब्लक एसएमएस) और मोबाइल नेटवर्क पर दी जाने वाली सभी डोंगल सेवाओं को पांच फरवरी शाम पांच बजे तक रोक बढ़ा दी है। सरकारी प्रवक्त ने वीरवार की शाम बताया कि दूरसंचार अस्थायी सेवा निलंबन (लोक आपात या लोक सुरक्षा) नियम, 2017 के नियम 2 के तहत इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश दिए गए हैं।
बीएसएनएल (हरियाणा अधिकार क्षेत्र) सहित हरियाणा की सभी टेलिकॉम सेवाएं देने वाली कंपनियों को इस आदेश का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। क्षेत्र में शांति बनाए रखने और सार्वजनिक व्यवस्था में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए यह आदेश जारी किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति इन आदेशों के उल्लंघन का दोषी पाया गया तो वह संबंधित प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा। प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने एसएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक ट्विटर आदि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से दुष्प्रचार और अफवाहों के प्रसार को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का निर्णय लिया है।

किसान आंदोलन में विदेशी दखल से राकेश टिकैत को दिक्कत नहीं

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने वीरवार को इन विदेशी हस्तियों के बारे में एक बेहद हैरान करने वाला बयान दिया है। मीडिया कर्मियों ने जब राकेश टिकैत को यह बताया कि कई विदेशी कलाकारों जैसे रिहाना, ग्रेटा थनबर्ग, मिया खलिफा द्वारा किसान आंदोलन का समर्थन किया है तो टिकैत ने कहा कि मुझे क्या पता, समर्थन किया होगा, मैं क्या उन्हें जानता हूं।

किसान आन्दोल : टिकैत ने कहा कि हॉलीवुड कलाकारों द्वारा किसानों के आंदोलन का समर्थन करने में कोई बुराई नहीं है, मैं उन्हें व्यक्तिगत रूप से तो नहीं जानता, लेकिन वे बिना किसी स्वार्थ के समर्थन कर रहे हैं। अगर संयुक्त किसान मोर्चा ने उन्हें धन्यवाद दिया है, तो किसान यूनियन वहीं करेगा। टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर सांसदों के प्रतिनिधिमंडल को रोकने पर कहा कि यह गलत है। सांसद लोकतंत्र की आवाज हैं। टिकैत का कहना है कि सरकार इस आंदोलन को लंबा चलाना चाहती है। उन्होंने गुरुवार को मंच से कहा कि हर गांव से एक ट्रैक्टर, 15 आदमी और 10 दिन के फॉर्मूले पर काम करो, फिर आंदोलन चाहें 70 साल चले, कोई दिक्कत नहीं है।

*मेरे मंच से मोदी को कोई नहीं दे सकता गाली: टिकैत*

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके मंच से कोई भी गाली नहीं दे सकता। उन्होंने कहा कि ये शिकायत आ रही है कि लोग मोदी जी को गाली दे रहे हैं, वे हमारे लोग नहीं हो सकते। कोई भी आदमी जो प्रधानमंत्री के बारे में गाली-गलौज का इस्तेमाल करेगा, वह यहां से मंच छोड़कर चला जाए।
वह उसका व्यक्तिगत निर्णय होगा। इस स्टेज का इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर यहां भी कोई लोग है जो अनाप-शनाप बात करते हैं तो भई उनका हमकों बता दो। उनको छोडऩा पड़ेगा। उनका व्यक्तिगत बयान होगा। माहौल को खराब न करें।

No comments:

Post a Comment