/>

Breaking

Saturday, February 6, 2021

सरकारी आवास ना मिलने से फिर छलका आईएएस रानी नागर का दर्द

सरकारी आवास ना मिलने से फिर छलका आईएएस रानी नागर का दर्द

कैथल : गुर्जर समाज की इकलौती आईएएस रानी नागर ने एक बार फिर अपने फेसबुक पेज पर अपना दुख प्रकट किया है। उन्होंने 11 नवंबर 2020 से हरियाणा सरकार में कार्यभार ग्रहण कर लिया है। वर्तमान में वे अतिरिक्त सचिव, हरियाणा सरकार, नागरिक संसाधन सूचना विभाग के पद पर हरियाणा सिविल सचिवालय चंडीगढ़ में कार्यरत हैं। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लिखा कि अभी सरकारी आवास उपलब्ध नहीं होने के कारण मैं अपने गुर्जर समाज के गुर्जर भवन, सेक्टर-28 डी, चंडीगढ़ में निवास कर रही हूं।  उन्होंने इसका ट‍्वीट भी किया है।
बता दें कि रानी नागर हरियाणा कैडर की आइएएस हैं। पिछले साल लाॅकडाउन के दौरान एक विवाद के चलते उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने से पहले वह चंडीगढ़ स्थित यूटी गेस्ट हाउस में अपनी बहन के साथ रहती थीं। उस समय भी उनका आवास को लेकर ही विवाद था। रानी नागर चंडीगढ़ में इस्तीफा देने के बाद गाजियाबाद चली गई थीं।

वहीं इस विषय को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने प्रदेश खट्टर सरकार पर हमला बोला। सुरजेवाला ने कहा कि मुख्यमंत्री साहब आपके शासन में गुज्जर समाज की इकलौती आईएएस रानी नागर को प्रताड़ित किया गया, उन्हें इस्तीफा तक देने को मजबूर किया गया और इतना ही नही अब उन्हें दोबारा कार्यभार ग्रहण करने पर भी सरकारी निवास तक नही दिया जा रहा है। वह चंडीगढ़ के गुर्जर भवन में रहने को मजबूर हैं। क्या भाजपा का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ नारा का यही सत्य है। क्या प्रदेश सरकार गुर्जर समाज की बेटी आईएएस रीना नागर को इसी तरह से प्रताड़ित करती रहेगी।
वहीं गुर्जर समाज से अनिल नंबरदार बलवंती, रणबीर क्योड़क,जयपाल, नाजर गोरसी ने प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि बड़े शर्म की बात है कि आज भाजपा सरकार में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा निर्रथक साबित हो रहा है।

No comments:

Post a Comment