/>

Breaking

Saturday, May 15, 2021

डीआईजी बोले- नकली ऑक्सीमीटर एप से सावधान रहें,

डीआईजी बोले- नकली ऑक्सीमीटर एप से सावधान रहें, 

आपके फिंगर प्रिंट्स व डेटा हैक कर ठग सकते हैं साइबर क्रिमिनल्स


हिसार : कोरोना के दौरान कालाबाजारी के साथ फेक ऑक्सीमीटर एप का प्रचार हो रहा है, जिससे धोखाधड़ी का अंदेशा है। इसको लेकर डीआईजी बलवान सिंह राणा ने आमजन को अलर्ट करते हुए कहा कि इंटरनेट पर कुछ URL/link आपके ऑक्सीजन स्तर की जांच करने के लिए नकली ऑक्सीमीटर एप प्रदान करने के लिए विज्ञापन कर रहे हैं। साइबर अपराधियों ने शरीर में ऑक्सीजन के स्तर का पता लगाने वाले कोविड से संबंधित एप बनाना शुरू कर दिया है। इस तरह के एप बनाने वाले एप डाउनलोड करने के बाद उपयोगकर्ताओं के साथ धोखाधड़ी करते हैं।
डीआईजी ने कहा कि नागरिक सोचते हैं कि इन एप से ऑक्सीजन का स्तर जांचना आसान है लेकिन यह बहुत खतरनाक है। एप्लिकेशन, व्यक्तिगत जानकारी तक पहुंचने के लिए GooglePay, PhonePe, Paytm आदि के लिए उपयोग किए गए फिंगरप्रिंट डेटा का उपयोग करते हैं। नकली ऑक्सीमीटर एप डेटा तक पहुंचने और धोखाधड़ी गतिविधियों का संचालन करने में सक्षम है। लोग इन एप को मुफ्त में डाउनलोड करते हैं और सोचते हैं कि यह त्वरित और सस्ता है। लोगों को सावधान रहना चाहिए क्योंकि वे आसानी से आपका डेटा हैक कर सकते हैं।
एक बार जब उपयोगकर्ता एप डाउनलोड करते हैं तो यह ऑक्सीजन स्तर की जांच करने के लिए फोन लाइट, कैमरा और फिंगर प्रिंट स्कैनर का उपयोग करता है। फिंगरप्रिंट स्कैनर के साथ जालसाज आपके डेटा तक पहुंचने में सक्षम हैं।
लोग सोचते हैं कि वे घर पर सुरक्षित रहते हुए अपने ऑक्सीजन के स्तर की जांच कर सकते हैं। हालांकि ऐसा नहीं है। ये एप मोबाइल फोटो गैलरी में भी एक्सेस करने की अनुमति मांगता है, जब आप अनुमति देते हैं कि एप सभी फोटो गैलरी के माध्यम से जाकर आपके खातों को हैक कर सकते हैं। ऐसे एप इनबॉक्स में आए उन एसएमएस को भी पढ़ सकते हैं जिनमें बैंक खाता लेन देन अलर्ट और ओटीपी आता है। कुछ भेजे गए रोमांचक लिंक और पीडीएफएस भी लोगों को आकर्षित करते हैं।
जब वे उस पर क्लिक करते हैं तो उनका डेटा धोखेबाज द्वारा आसानी से एक्सेस किया जाता है। उपयोगकर्ता को ऑक्सीमीटर के काम करने के बारे में सतर्क रहना चाहिए। किसी भी उपकरण को उस पर मौजूद होने के लिए एक भौतिक एसपीओ 2 रक्त ऑक्सीजन सेंसर की आवश्यकता होती है और हृदय गति को पढ़ने के लिए एक फिजिकल हार्टबीट सेंसर और बाजार में उपलब्ध स्मार्टफोन की आवश्यकता होती है। किसी भी एप को डाउनलोड करने से पहले ध्यान से सोचे और डाउनलोड के समय एप द्वारा मांगने वाली अनुमति की समीक्षा करें।

No comments:

Post a Comment