/>

Breaking

Tuesday, May 25, 2021

प्रदेश में अब ग्लैंडर्स ने दी दस्तक, झज्जर में दो घोड़े पॉजिटिव मिले

प्रदेश में अब ग्लैंडर्स ने दी दस्तक, झज्जर में दो घोड़े पॉजिटिव मिले

झज्जर : अब प्रदेश में ग्लैंडर्स रोग ने दस्तक दे दी है। कोरोना की तरह इसका भी कोई इलाज नहीं है। इसलिए पॉजिटिव मिले घोड़ों को मारना पड़ता है। क्योंकि यह बीमारी मनुष्य में भी फैल सकती है। झज्जर के दो घोड़ों में यह केस पाए जाने के बाद 143 केस जांच के लिए हिसार के राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र भेजे गए हैं।
सरकार ने झज्जर जिले को अश्व प्रजाति के पशु घोड़े, गधे और खच्चर को जिले से बाहर ले जाने या बाहर से लाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके लिए पशुपालन विभाग के एसीएस अंकुर गुप्ता ने अधिसूचना जारी कर दी है। यह बीमारी पहले से ही अधिसूचित है।
*क्या होता है बीमारी में*
ग्लैंडर्स घोड़ों की प्रजातियों में एक जानलेवा संक्रामक रोग है। इसमें घोड़े की नाक से खून बहना, सांस लेने में तकलीफ, शरीर का सूख जाना, शरीर पर गांठें आदि हो जाती हैं। यह बैक्टिरियल बीमारी है।

No comments:

Post a Comment