/>

Breaking

Monday, May 10, 2021

ग्रामीण ने अपने खेत में आग लगाकर नही बुझाई,दुसरे किसान के खेत में आग ने किया ताड़व,करीब 14 लाख का हुआ नुकशान

ग्रामीण ने अपने खेत में आग लगाकर नही बुझाई,दुसरे किसान के खेत में आग ने किया ताड़व,करीब 14 लाख का हुआ नुकशान

पानीपत – सरकार किसानों को गेहूॅ के अवशेष ना जलाने के लिए प्रति वर्ष जागरूकता अभियान चलाकर लाखों करोड रूपए खर्च करती है। लेकिन इसके बावजूद भी किसान गेहूॅ के अवशेष जलाने से बाज नही आ रहे है,जबकि गेहूॅ के अवशेष जलाने से जहां भूमि की उर्वरा शक्ति कम होती है वही प्रदूषण भी बढता है,साथ ही खेत में लगाई गई आग पर काबू ना रहने से अन्य किसानों की फसल आग की भेट चढनें से लाखों रूपए का नुकशान हो सकता है। परन्तु इसके बावजूद भी किसान नही मान रहे है। यही कारनाम शहरमालपुर के एक किसान के साथ घटित होने से किसानों को करीब 14 लाख रूपए का नुकशान हो गया। इससे बढा कारनामा तो उस समय सामने आया जब आग लगाने वालें किसानों की पहचान कर ब्यान दर्ज करने के बाद भी पुलिस द्वारा मामला दर्ज नही किया गया। अब किसान न्याय पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा है परन्तु शिकायत के करीब 10 दिन बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई है। जबकि श्किायत मिलते ही सबसे पहलें मामला दर्ज कर जांच शुरू की जाती है। लेकिन पुलिस जांच कर आग लगाने वालें लोगों की पहचान करने वालें ग्रामीणों के ब्यान तो दर्ज कर लिए लेकिन मामला दर्ज कर कार्यवाही करने की बजाए उल्टा पीडीत किसान पर ही दबाव बनाया जा रहा है कि ऐसे आग नही लग सकती है। शिकायत झूठी है।
ये व्यथा शहरमालपुर के पीडीत किसान मिंटू पुत्र रणधीर ने बताते हुए कहा कि मशरूम की खेती के आट्टा रोड पर जगबीर पुत्र देवी सिहं की जमीन ठेके पर ले रखी है। मशरूम की खेती करने के लिए उसने 160 ट्राली तूडा,बांस,पोलिथीन,मोटर व डोरी और अन्य सामान रख रखा था लेकिन तेज हवा में मना करने के बावजूद गढी छज्जू के ग्रामीणों ने अपने खेतो में फसल के अवशेष में आग लगा दी। जिससे आग उसके खेतो तक पहुंच गई और उसका खेत में रखा सारा समान जलकर राख हो गया,जिससे उसको करीब 14 लाख रूपए का नुकशान हुआ। इसकी लिखित शिकायत उसने पुलिस को दे रखी है,परन्तु शिकायत देने के 10 दिन बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई है।

No comments:

Post a Comment