Breaking

Friday, July 12, 2024

July 12, 2024

व्यापारियों के हालातों पर जींद में लगेगी व्यापारी न्याय चौपाल : कंप्यूटर

व्यापारियों के हालातों पर जींद में लगेगी व्यापारी न्याय चौपाल : कंप्यूटर

प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रभारी दीपक बावरिया होंगे चौपाल के मुख्यअतिथि

13 जुलाई शाम को शहर के होटल मे आयोजित किया जाएगा कार्यक्रम
जींद : हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के जिला प्रधान महाबीर कंप्यूटर ने कहा कि शानिवार शाम को व्यापारी न्याय चौपाल का आयोजन जीद मे किया जाएगा। जिसमे  मुख्य अतिथि हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी दीपक बावरिया होगें।  व्यापारी न्याय चौपाल में व्यापारी अपनी दिक्कतों पर विचार विर्मश करेंगे। प्रदेश में मौजूदा समय में जो हालात बने हैं, व्यापार करना दूभर हो गया है। महाबीर कंप्यूटर वीरवार को निजी होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमराई हुई है। हर रोज फिरौती, अपहरण, हत्याओं की घटनाएं हो रही है। अपराधी दिन-दिहाड़े घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। व्यापारियों में घटनाओं को लेकर खौफ  है। व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर बदमाश गोलियां चला कर फिरौती मांग रहे हंै। व्यापारियों पर कभी ईडी कभी जीएसटी रेड करके भय का वातावरण पैदा किया जा रहा है। भाजपा  सरकार की नीतियों से मिडल क्लास व्यापारी मंदी की मार से जूझ रहा है। कांग्रेस पार्टी घोषणा पत्र तैयार कर रही है। जिसमे व्यापारियों की समस्याओं घोषणा पत्र मे शामिल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग अपनी सुरक्षा मांगता है। अगर प्रदेश में सुरक्षा नही तो प्रदेश का विकास और आर्थिक व्यवस्था में उन्नति नहीं हो सकती र्है। व्यापारी सरकार का खजाना भरने में अहम योगदान देता है लेकिन व्यापारियों को कोई समस्या आती है तो उनकी सुनने वाला कोई नही। हर रोज व्यापारियों के प्रतिष्ठानों में प्रदेश में आगजनी की घटनाओं से व्यापारियों को काफी आर्थिक नुकसान हो रहा है। सरकार भरपाई के लिए कोई कदम नहीं उठा रही और ना ही इनके लिए कोई पॉलिसी बना रही है। सरकार को व्यापारियों के लिए सम्मान करदाता पैंशन लागू करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार व प्रतिपक्ष की अहम जिम्मेवारियों और प्रतिपक्ष की जिम्मेवारियों का निर्वाह करने के लिए कांग्रेस पार्टी के प्रभारी दीपक बावरिया व्यापारियों के पक्ष में रूबरू हो रहे हैं। इस अवसर पर हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के महासचिव सुरेश जिंदल, उप प्रधान आईडी गोयल,  नगर प्रधान ईश्वर बंसल, संजय मसाले वाले, जितेंद्र गोयल, राकेश सिंगल समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।
July 12, 2024

डॉ. कमल गुप्ता ने मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना तथा शहरी क्षेत्र में लाल डोरे के अंतर्गत आने वाले भू-मालिकों को वितरित किये स्वामित्व प्रमाण पत्र व रजिस्ट्री

डॉ. कमल गुप्ता ने मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना तथा शहरी क्षेत्र में लाल डोरे के अंतर्गत आने वाले भू-मालिकों को वितरित किये स्वामित्व प्रमाण पत्र व रजिस्ट्री
चण्डीगढ़– हरियाणा के स्वास्थ्य एवं नागरिक उड्डयन मंत्री डॉ. कमल गुप्ता ने कहा कि सरकार के द्वारा प्रदेश के शहरी क्षेत्र व लाल डोरे में सालों से लोग जिस जमीन पर दुकान व मकान बनाकर रह रहे थे उन्हें राज्य सरकार ने मालिकाना हक प्रदान कर किराएदार से मालिक बनाने का काम किया है।

डॉ. कमल गुप्ता आज हिसार में आयोजित जिला स्तरीय स्वामित्व प्रमाण पत्र व जमीन रजिस्ट्री वितरण समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री शहरी भू-स्वामी योजना तथा शहरी क्षेत्र में लाल डोरे के अंतर्गत आने वाले भू मालिकों को प्रमाण पत्र तथा जमीन की रजिस्ट्री भी वितरित की।
उन्होंने कहा कि वर्षों से लोग इस तरह की योजना लागू करने की मांग कर रहे थे लेकिन किसी भी सरकार ने इस दिशा में कोई भी कदम नहीं उठाया। उस समय 22 हजार लोगों ने इसके लिए आवेदन किया था, जिसमें से 11 हजार आवेदन स्वीकार किए गए। 6 हजार लोगों को मालिकाना हक दिया गया। इसके पश्चात, इस पॉलिसी में सुधार करके इसमें नगर निगम के साथ-साथ अन्य विभागों की जमीन पर 20 वर्षों से रह रहे किरायेदारों को भी इसमें शामिल करके उनको भी इसका लाभ देने की पॉलिसी बनाई गई। इस योजना के तहत कलेक्टर रेट पर लाभार्थियों को मालिकाना हक दिया जा रहा है। जो हजारों लोग वर्षों से अपनी खुद की दुकान का सपना देख रहे थे, अब उनका सपना साकार हो गया है। उन्होंने कहा कि अब वे लोग दुकानों के किराएदार नहीं बल्कि मालिक बन गए हैं।प्रदेश सरकार ने हर क्षेत्र तथा वर्ग के विकास के लिए अनेक योजनाएं लागू की हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती योजना के तहत सरकार ने पात्र गरीब परिवारों को प्लाट के साथ-साथ कब्जा दिलवाने का भी काम भी किया। हैप्पी योजना के तहत 23 लाख परिवारों को प्रतिवर्ष 1000 किलोमीटर तक की मुफ्त यात्रा की सुविधा प्रदान की गई है। फिलहाल 84 लाख लोग इस योजना के लाभ से लाभान्वित हुए हैं।
July 12, 2024

मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को मिला उनका हक- डॉ अभय सिंह यादव

मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को मिला उनका हक- डॉ अभय सिंह यादव
चण्डीगढ़ - हरियाणा के सिंचाई एवं जल संसाधन राज्यमंत्री डॉ अभय सिंह यादव ने कुरूक्षेत्र में आयोजित जिलास्तरीय कार्यक्रम में लगभग 55 लाभार्थियों को शहरी क्षेत्र में लाल डोरे के भू-मालिकों को स्वामित्व पत्र व मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना के पात्र लाभार्थियों को रजिस्ट्री वितरित की। इस अवसर पर उन्होंने सभी लाभार्थियों को प्रमाण पत्र मिलने पर बधाई दी।
डॉ अभय सिंह यादव ने कहा कि इस योजना से उनका अपना घर व मालिकाना हक होने का सपना साकार हुआ है। मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह के मार्गदर्शन में निरंतरता में हर वर्ग के उत्थान के लिए कार्य किए जा रहे है। आज पूरे प्रदेश में लोगों को इन दोनों योजनाओं के माध्यम से चाहे वे ग्रामीण क्षेत्र व शहरी क्षेत्र है, उसका लाभ मिला है। उन्होंने यह भी कहा कि लंबे समय से यह लोगों की मांग थी और कानूनी दृष्टि से इसका निदान नहीं हो रहा था। स्वामित्व योजना के माध्यम से यह निदान हो गया है। लाल डोरे के अंदर जो भी पात्र व्यक्ति लंबे समय से जमीन पर काबिज था, उसे इसका मालिकाना हक मिल सका है। मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना के तहत भी ऐसे दुकानदार पिछले 20 वर्षों से बैठे थे, उन दुकानदारों को भी आज रजिस्ट्री से संबंधित दस्तावेज दिए गए है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा में डबल इंजन सरकार निरंतरता में हर वर्ग के उत्थान के लिए कार्य कर रही है और इसका लाभ लोगों को मिल भी रहा है। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि वर्ष 2019 में लाल डोरा मुक्त करने व वर्षों से काबिज दुकानदारों को मालिकाना हक देने की बात रखी थी, उसे पूरा करने का काम किया गया है। इसी कड़ी में आज पूरे प्रदेश में कार्यक्रम आयोजित करके यह सौगात लोगों को दी गई है। उन्होंने यह भी कहा कि इन योजनाओं से लोगों को अपना घर व मालिकाना हक होने का सपना पूरा हुआ है और भविष्य में भी सरकार द्वारा लोगों के हित के लिए कार्य किए जाएंगे।

Thursday, July 11, 2024

July 11, 2024

एच.आर.आई.डी.सी. करेगा ईस्टर्न ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर परियोजना का व्यवहार्यता अध्ययन

एच.आर.आई.डी.सी. करेगा ईस्टर्न ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर परियोजना का व्यवहार्यता अध्ययन
चंडीगढ़,-हरियाणा रेल अवसंरचना विकास निगम (एच.आर.आई.डी.सी.) ईस्टर्न ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर (ई.ओ.आर.सी.) परियोजना के लिए व्यवहार्यता अध्ययन करेगा। प्रस्तावित 135 किलोमीटर लंबा ईस्टर्न ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के समानांतर चलेगा, जो हरियाणा के पलवल को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, नोएडा और बागपत से होते हुए सोनीपत से जोड़ेगा। अनुमान है कि इस कॉरिडोर का 90 किलोमीटर हिस्सा उत्तर प्रदेश में जबकि शेष 45 किलोमीटर हरियाणा में पड़ेगा। निगम को परियोजना का व्यवहार्यता अध्ययन करने का कार्य उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सौंपा गया है।
यह बात आज यहां मुख्य सचिव तथा एच.आर.आई.डी.सी. के अध्यक्ष श्री टी.वी.एस.एन. प्रसाद ने निगम के निदेशक मंडल की 28वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।

एच.आर.आई.डी.सी. द्वारा कार्यान्वित की जा रही विभिन्न रेल परियोजनाओं का विवरण देते हुए निगम के प्रबंध निदेशक श्री राजेश अग्रवाल ने कहा कि नरवाना और उकलाना (लगभग 27 किलोमीटर) के बीच एक नई रेल लाइन और कुरुक्षेत्र (लगभग 10 किलोमीटर) में एक नई कॉर्ड लाइन के निर्माण के लिए व्यवहार्यता अध्ययन किया जा रहा है। इसके अलावा, रेलवे बोर्ड ने करनाल-यमुनानगर नई रेल लाइन के लिए अंतिम स्थान सर्वेक्षण को मंजूरी दे दी है। निगम रेल मंत्रालय से शीघ्र मंजूरी प्राप्त करने के लिए काम कर रहा है।
उन्होंने आगे बताया कि रेलवे बोर्ड ने फरुखनगर-झज्जर नई लाइन के लिए अंतिम स्थान सर्वेक्षण को मंजूरी दे दी है, जिसका उद्देश्य इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा दिल्ली और महाराजा अग्रसेन एयरपोर्ट, हिसार के बीच रेल संपर्क में सुधार करना है। उन्होंने कहा कि एच.आर.आई.डी.सी. द्वारा कैथल रेलवे स्टेशन सहित कैथल रेलवे ट्रैक को एलिवेट करने के लिए व्यवहार्यता अध्ययन किया जा रहा है, ताकि पहले से नियोजित तीन लेवल क्रॉसिंग को खत्म किया जा सके।
श्री अग्रवाल ने कहा कि के.ई.टी. परियोजना, जिसे शुरू में हरियाणा सरकार और रेल मंत्रालय के बीच लागत-बंटवारे के आधार पर मंजूरी दी गई थी, को दोनों पक्षों से धनराशि प्राप्त हुई है। प्रमुख वायडक्ट का निर्माण पूरा होने वाला है, जो वायडक्ट 1 अगस्त, 2024 तक चालू होने की उम्मीद है।
बैठक में लोक निर्माण (भवन एवं सडकें) विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अनुराग अग्रवाल, निगरानी एवं समन्वय की विशेष सचिव श्रीमती प्रियंका सोनी, लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें) विभाग के इंजीनियर-इन-चीफ (सड़कें) श्री राजीव यादव, रेलवे बोर्ड, नई दिल्ली के कार्यकारी निदेशक श्री राजेश कुमार गर्ग, रेलवे बोर्ड, नई दिल्ली के मुख्य अभियंता श्री राजीव रंजन राजू, एच.आर.आई.डी.सी. के वित्त निदेशक श्री पुनीत कठपालिया और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।
July 11, 2024

गुरुग्राम जिला के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने 269 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास

गुरुग्राम जिला के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने 269 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास
चंडीगढ़ – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह ने मानेसर में स्वामित्व पत्र वितरण और मुख्यमंत्री शहरी स्वामित्व योजना के तहत रजिस्ट्री वितरण समारोह में गुरुग्राम जिला के विकास के लिए 269 करोड़ रुपये की 37 विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। इनमें 13.76 करोड़ रुपये की 12 परियोजनाओं के उद्घाटन किए गए तथा 255.17 करोड़ रुपये की 25 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि मौजूदा सरकार के शासनकाल में वर्ष 2014 के बाद गुरुग्राम जिला में सर्वाधिक विकास कार्य करवाए गए हैं।आज जिन परियोजनाओं का मुख्यमंत्री ने उद्घाटन किया, उनमें सोहना उपमंडल में 57 लाख रुपये की लागत से बीपीडीएस से इसाकी गांव तक सड़क का सुदृढ़ीकरण, एक करोड़ 33 लाख रुपये की लागत से इसाकी से रानीका सिंघोला तक सड़क का पुननिर्माण, 38 लाख रुपये की लागत से जीए रोड से धुनेला व बेरका तक की सड़क, 58 लाख रुपये की लागत से जीए रोड़ से घामडोज तक की सड़क, 43 लाख रुपये की लागत से पीएसआर रोड़ से हीलालपुर तक की सड़क, दो करोड़ 44 लाख रुपये की लागत से पीएसआर रोड से कुंठपुरी व भोगपुर तक की सड़क का सुदृढीकरण शामिल है।मुख्यमंत्री ने मार्केटिंग बोर्ड द्वारा 82.60 लाख रुपये की लागत से बनाई गई मकड़ोला गांव की फिरनी, 66.47 लाख की लागत से गांव मंडावर से गांव नीमोठ की सीमा तक की सड़क, पांच करोड़ 13 लाख 34 हजार रुपये की लागत से गांव पटौदी से कारोला तक का मार्ग का निर्माण, 88.20 लाख रुपये की लागत से गांव मऊ से लोकरा-कापड़ीवास तक की सड़क, 21 लाख 15 हजार रुपये की लागत से गांव गुगाना से अनुसूचित बस्ती तक का मार्ग, 33.12 लाख रुपये की लागत से बनाया गया गांव मंदपुरा से शेरपुर तक का लिंक रोड़ का भी आज उद्घाटन किया।
समारोह में मुख्यमंत्री ने 25 विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इनमें 99.50 करोड़ रुपये की लागत की द्वारका एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर की सर्विस लेन, 13.10 करोड़ रुपये की लागत की आईएमटी मानेसर से पटौदी रोड तक जीएमडीए के मास्टर रोड का होने वाला निर्माण कार्य, चंदू बुढेड़ा में 61.95 करोड़़ रुपये की लागत से बनने वाले वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, सेक्टर-16 गुरुग्राम में बूस्टिंग स्टेशन का 14.75 करोड़ रुपये की लागत से किया जाने वाला अपग्रेडेशन कार्य, गुरुग्राम सेक्टर-58 से 76 व बहरामपुर एसटीपी तक 28.45 करोड़ रुपये की लागत से मास्टर सीवरेज लाइनों का किया जाने वाला निर्माण कार्य व सुधारीकरण शामिल है। सोहना उपमंडल में लोहसिंघानी गांव से चमनपुरा तक 28 लाख रुपये की लागत से बनने वाली सड़क, 33 लाख रुपये की लागत से बीपीडीएस से नुनहेरा तक के बनने वाले मार्ग, 19 लाख रुपये की लागत से बीपीडीएस से मंडावर तक सडक़ का सुदृढीकरण, 29 लाख रुपये की लागत से जीए रोड से महेंद्रवाड़ा तक की सड़क का पुननिर्माण कार्य की भी आधारशिला रखी गई।मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह ने बसतपुर से कापड़ीवास तक तीन करोड़ तीन लाख रुपये की लागत से बनने वाली सड़क, 1.86 करोड़ रुपये की लागत से पटौदी-रेवाड़ी रोड से खानपुर आरडी 0 से तीन हजार आरडी तक बनाए जाने वाले मार्ग, पटौदी हलके में 1.69 करोड़ रुपये की लागत से एचएनपीपी रोड से आईटीआई ऊंचा माजरा की अनुसूचित बस्ती तक सड़क को चौड़ा व मजूबत बनाने, 1.24 करोड़ रुपये की लागत से एचएनपीपी रोड से पथरेहड़ी में मेवात की सीमा तक सड़क के पुननिर्माण कार्य, जसात से रामनगर आश्रम तक वाया छिलकारी मंगवाकी नूरगढ तक की सडक़ का 1.14 करोड़ रुपये की लागत से होने वाला निर्माण कार्य, तीन करोड़ 58 लाख रुपये की लागत से दुमान से याकूबपुर से जिला की सीमा तक बनाए जाने वाली सड़क, एक करोड़ 16 लाख रुपये की लागत से शेरपुर से महात्मा गांधी ग्रामीण बस्ती तक सड़क के निर्माण कार्य, दो करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से मांकडोला-दोला रोड का पुननिर्माण कार्य का शिलान्यास किया। इसके अलावा 16 करोड़ 18 लाख 33 हजार रुपये की लागत से जमालपुर में सीवरेज लाईनों को बिछाने, एसटीपी के निर्माण की मुख्यमंत्री ने आधारशिला रखी।समारोह में बुढेड़ा राजकीय विद्यालय से मकड़ोला गांव तक के मेन रोड का एक करोड़ 23 लाख 69 हजार रुपये की लागत से होने वाला कार्य, 53 लाख 71 हजार रुपये की लागत से सरसीरपुर से राजमाला गांव तक की सड़क, गांव डूमा से मुसेदपुर तक 59.71 लाख रुपये की लागत से बनने वाले लिंक रोड, गांव फरीदपुर से लुहारी तक 84.59 लाख रुपये की लागत से बनने वाली सड़क, गांव हकदारपुर से डाडावास तक 62.45 लाख रुपये की लागत से बनने वाली सड़क, गुगाना से सती मंदिर तक 51.73 लाख रुपए की लागत से बनाए जाने वाले लिंक रोड एवं तीन करोड़ 93 लाख 54 हजार रुपए की लागत से गांव लोकरा में राजकीय विद्यालय के भवन का नवनिर्माण कार्य का शिलान्यास किया।इस अवसर पर उनके साथ हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय राज्य मंत्री श्री सुभाष सुधा, पटौदी के विधायक श्री सत्यप्रकाश जरावता, पूर्व मंत्री राव नरबीर सिंह, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के आयुक्त एवं सचिव श्री विकास गुप्ता, गुरुग्राम मंडल के आयुक्त श्री आरसी बिढान, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के निदेशक श्री यशपाल यादव, गुरुग्राम के उपायुक्त श्री निशांत कुमार यादव सहित अनेक प्रशासनिक अधिकारी, गणमान्य नागरिक व लाभपात्र मौजूद रहे।
July 11, 2024

'पशु कल्याण को बेहतर बनाने के लिए द एनिमल केयर आर्गेनाइजेशन (टाको) हरियाणा में 100 करोड़ रुपये लगाएगा’

'पशु कल्याण को बेहतर बनाने के लिए द एनिमल केयर आर्गेनाइजेशन (टाको) हरियाणा में 100 करोड़ रुपये लगाएगा’
चंडीगढ़, 11 जुलाई- हरियाणा में पशु कल्याण को बढ़ावा देने के लिए अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के तहत द एनिमल केयर आर्गेनाइजेशन (टाको)  ने आज हरियाणा सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) के माध्यम से 100 करोड़ रुपये की राशि लगाने की पेशकश की है।
इस संबंध में मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह की मौजूदगी में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। समझौता ज्ञापन के तहत, टाको गुरुग्राम में सरकारी पशु चिकित्सालय को 24X7  मल्टीस्पेशलिटी  पशु अस्पताल में अपग्रेड करेगा और हरियाणा में अत्यंत गंभीर बीमारियों से ग्रस्त पशुओं के लिए पशु जन्म नियंत्रण (एबीसी) इकाई, प्रयोगशाला, फार्मेसी, प्रशिक्षण केंद्र और आश्रय का निर्माण शुरू करेगा। यह सुविधा गुरुग्राम के कादीपुर में स्थित पशु चिकित्सालय की 2 एकड़ भूमि पर तैयार की जाएगी।यह समझौता ज्ञापन हरियाणा में पशु कल्याण सेवाओं के सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, जिसमें राज्य सरकार अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के साथ 10 साल का सहयोग कर रही है। इस सहयोग के तहत, टाको आपातकालीन देखभाल सेवाएं घर-घर पहुंचाने के लिए एक एम्बुलेंस और एक उन्नत मोबाइल स्वास्थ्य वैन भी तैनात करेगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह ने कहा कि द एनिमल केयर ऑर्गनाइजेशन और राज्य सरकार के बीच इस महत्वपूर्ण साझेदारी से पशुओं की उन्नत देखभाल सुनिश्चित होगी। हरियाणा में पशु कल्याण के परिदृश्य को बदलने के प्रयास के अंतर्गत इससे पहले फरीदाबाद में आश्रय और अब गुरुग्राम में पशु चिकित्सा देखभाल सेवाओं में व्यापक सुधार होगा जिसका लाभ गुरुग्राम के साथ-साथ आस-पास के शहरों के निवासी भी उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि ‘‘मैं इस पहल का पशुओं के कल्याण और हमारे समुदायों के समग्र स्वास्थ्य पर पड़ने वाले सकारात्मक प्रभाव को देखना चाहता हूं’’। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को गौशालाओं में पशुओं के लिए देखभाल सेवाओं को उन्नत करने के निर्देश भी दिए।
हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड की अध्यक्ष, वेदांता में गैर-कार्यकारी निदेशक और टाको की एंकर, प्रिया अग्रवाल हेब्बार ने कहा कि वे राज्य में पशु कल्याण के बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए हरियाणा के साथ एक बार फिर सहयोग करके प्रसन्नता महसूस कर रही हैं। गुरुग्राम में सरकारी पशु चिकित्सा अस्पताल के उन्नयन के लिए 100 करोड़ रुपये के निवेश के साथ, एक 24x7  मल्टीस्पेशलिटी   पशु अस्पताल का निर्माण और देखभाल केन्द्र स्थापित किया जाएगा।  प्रिया अग्रवाल ने कहा कि हम हरियाणा में अत्याधुनिक पशु चिकित्सा देखभाल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री के निरंतर समर्थन के लिए उनकी आभारी हूं क्योंकि हम ‘वन हेल्थ’ के विज़न की दिशा में काम कर रहे हैं।अनिल अग्रवाल फाउंडेशन की अध्यक्ष रितु झिंगोन ने मुख्यमंत्री को बताया कि गुरूग्राम में उनकी संस्था द्वारा ओपीडी, आधुनिक सर्जिकल सुविधाओं और सर्वोत्तम प्रथाओं के उपयोग सहित पशु देखभाल के लिए उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान की जाएंगी।उल्लेखनीय है कि टाको की पहलों में ‘वन हेल्थ’ के लिए एक समग्र दृष्टिकोण शामिल है, जो लोगों, पशुओं, पौधों और उनके साझा पर्यावरण के बीच अंतर्संबंध को पहचानता है। हरियाणा के फरीदाबाद में आर्गेनाइजेशन का आश्रय स्थल, गायों, बैलों और कुत्तों सहित 160 से अधिक पशुओं का घर है, जो बचाव, पुनर्वास, उन्नत पशु चिकित्सा देखभाल और समग्र कल्याण पर ध्यान केंद्रित करता है। वर्ष 2022 में अपनी स्थापना के बाद से, इसने अपने स्वास्थ्य शिविरों के माध्यम से 60,000 से अधिक  पशुओं  का उपचार किया है, दिल्ली और हरियाणा में बाढ़ के दौरान लगभग 5,000  पशुओं को बचाया गया है और पशु ओपीडी सेवाओं के माध्यम से किसान समुदाय के 460 से अधिक सदस्यों का सहयोग भी किया है। इसके अलावा, टाको अकादमी के माध्यम से पशु चिकित्सकों और पैराप्रोफेशनल्स के लिए सत्र आयोजित भी किए जाते है तथा एम्बुलेंस सेवाओं के माध्यम से पशु चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाओं का समर्थन और सुदृढ़ीकरण भी किया जाता है।गौरतलब है कि द एनिमल केयर ऑर्गनाइजेशन (टाको) अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के तत्वावधान में एक अनूठी पशु कल्याण परियोजना है। इसका उद्देश्य विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा, पशु चिकित्सा सेवाएं, प्रशिक्षण सुविधा और पशुओं को ठीक करने और उनकी सुरक्षा के लिए पशु आश्रय प्रदान करना है। टाको के छह स्तंभ आश्रय, अस्पताल, अकादमी, वन्यजीव संरक्षण, आपदा राहत प्रयास और क्षेत्रीय विकास, पशु कल्याण के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानक विकसित करने का लक्ष्य हैं। उन्नत पशु स्वास्थ्य सेवा, निवारक पशु चिकित्सा देखभाल, निदान और मोबाइल आपातकालीन देखभाल इकाइयाँ फरीदाबाद में निर्माणाधीन बहु-विशिष्ट पशु चिकित्सा अस्पताल और पशु जन्म नियंत्रण केंद्र की मुख्य प्राथमिकताएँ होंगी।
इस अवसर पर मंडल आयुक्त श्री आर.सी. बिधान, गुरुग्राम पुलिस आयुक्त श्री विकास कुमार अरोड़ा, गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण और फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री श्रीनिवास, गुरुग्राम के उपायुक्त श्री निशांत कुमार यादव, पशुपालन एवं डेयरी विभाग के महानिदेशक डॉ. एल.सी. रंगा, उपनिदेशक डॉ. वीरेंद्र सहरावत और डॉ. वीरेंद्र राठी, पशु चिकित्सक डॉ. मंजीत शर्मा, नंदघर के सीईओ श्री शशि अरोड़ा, टैको के आपरेशन हैड श्री प्रिंसी जोन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
July 11, 2024

हरियाणा की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के साथ आमजन सहित पर्यटकों की भागीदारी को करें प्रोत्साहित - मुख्यमंत्री नायब सिंह

हरियाणा की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के साथ आमजन सहित पर्यटकों की भागीदारी को करें प्रोत्साहित - मुख्यमंत्री नायब सिंह
चंडीगढ़, 11 जुलाई – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह ने प्रदेश के विरासत स्थलों, संरचनाओं, संग्रहालयों और कलाकृतियों के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए पुरातत्व और संग्रहालय विभाग द्वारा किये जा रहे प्रयासों को बढ़ाने का आह्वान करते हुए कहा कि  विभाग इस दिशा में और तेज़ी से कार्य करे ताकि हरियाणा की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के साथ अधिक से अधिक लोगों और पर्यटकों की भागीदारी को प्रोत्साहित किया जा सके।
मुख्यमंत्री ने यहां 12 राज्य संरक्षित स्मारकों की विशेषता वाले एक कस्टमाइज्ड माई स्टैम्प को जारी करते हुए ये बात कही।  उन्होंने विभाग द्वारा 38 नए अपनाए गए स्मारकों और स्थलों का अनावरण भी किया। इसके अतिरिक्त,  उन्होंने राज्य की विरासत और सांस्कृतिक समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए विभाग के पांच नए प्रकाशनों का भी अनावरण किया।
श्री नायब सिंह ने कहा कि हरियाणा राज्य की समृद्ध विरासत और संस्कृति गर्व का स्रोत हैं। यह जरूरी है कि हम इन खजानों को अपने निवासियों और आगंतुकों दोनों के लिए सुलभ और ज्ञात बनाएं। ये प्रकाशन इस प्रयास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।उन्होंने पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग द्वारा  शिक्षा विभाग के साथ मिलकर शैक्षिक पहल की सराहना करते हुए प्रदेश के विरासत स्थलों और स्मारकों पर विद्यार्थियों की यात्राओं को बढ़ाने की आवश्यकता पर भी बल दिया  । उन्होंने कहा कि इस तरह की पहल हमारी युवा पीढ़ी में गर्व और जागरूकता की भावना पैदा करने के साथ साथ हमारी सांस्कृतिक जड़ों के साथ गहरा जुड़ाव पैदा करेगी।

मुख्यमंत्री ने हरियाणा के पुरातत्व स्थलों में भी रुचि व्यक्त करते हुए विरासत स्मारकों के जीर्णोद्धार के लिए वित्तीय सहायता का आश्वासन भी दिया। उन्होंने हरियाणा के बहुमूल्य स्मारकों और समृद्ध विरासत के संरक्षण के लिए विभाग की टीम प्रयासों की भी सराहना की।
*30 और स्थलों की हुई पहचान,  राज्य संरक्षित स्थल घोषित करने की प्रक्रिया जारी*

पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग की प्रधान सचिव श्रीमती कला रामचंद्रन ने कहा कि वर्ष 1972 में विभाग की स्थापना के बाद से यह राज्य के लिए पहली बार है कि हरियाणा डाक सर्किल के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल के सहयोग से 12 राज्य संरक्षित स्मारकों पर डाक टिकट शीट जारी की जा रही है। ये कस्टमाइज्ड स्टाम्प शीट गुणवत्तापूर्ण स्मृति चिन्ह के रूप में काम करती हैं जो जनता के बीच सांस्कृतिक संवेदनशीलता को दर्शाती हैं तथा उन्हें राज्य की विरासत से जुड़ने में मदद करती हैं। उन्होंने बताया कि विभाग ने राज्य संरक्षण के लिए 38 विरासत स्थलों को अपनाया है, और संरक्षण में पहले से ही 40 स्थल हैं। इसके अलावा, 30 और स्थलों की पहचान की गई है तथा उन्हें राज्य संरक्षित स्थल घोषित करने की प्रक्रिया चल रही है।
बैठक में पुरातत्व एवं संग्रहालय निदेशक, श्री अमित खत्री ने राज्य संरक्षण में लिए गए 38 स्थलों पर एक प्रस्तुति दी तथा पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग की विभिन्न पहलों पर विस्तार से प्रकाश डाला।

*इन पांच नए प्रकाशनों का किया अनावरण*
मुख्यमंत्री द्वारा जारी किए गए पांच प्रकाशनों में "आर्केन: द अनटोल्ड हरियाणा", "स्प्लेंडर्स ऑफ नारनौल", "हमारा हरियाणा: प्रारंभिक ऐतिहासिक काल", "हमारा हरियाणा: प्रागैतिहासिक काल" और "नारनौल की अज्ञात विरासत" शामिल हैं।

इस अवसर पर हरियाणा डाक सर्किल अंबाला के मुख्य पोस्टमास्टर जनरल कर्नल एस.एफ.एच. रिजवी, पुरातत्व एवं संग्रहालय उपनिदेशक श्रीमती बनानी भट्टाचार्य और अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
July 11, 2024

मुख्यमंत्री नायब सिंह से गुरुग्राम में टी-20 क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे क्रिकेट खिलाड़ी युजवेंद्र चहल ने की मुलाकात

मुख्यमंत्री नायब सिंह से गुरुग्राम में टी-20 क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे क्रिकेट खिलाड़ी युजवेंद्र चहल ने की मुलाकात
चंडीगढ़, 11 जुलाई- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री नायब सिंह से आज यहां गुरूग्राम में टी-20 क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे क्रिकेट खिलाड़ी श्री युजवेंद्र चहल (जन्म 23 जुलाई 1990) ने मुलाकात की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने क्रिकेट खिलाडी को टी-20 विश्व कप जीतने पर बधाई देते हुए उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने आज यहां गुरूग्राम में पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में क्रिकेट खिलाड़ी को स्मृति चिह्न देकर तथा सम्मान सूचक शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया और अपना आशीर्वाद दिया। मुख्यमंत्री ने खिलाड़ी युजवेंद्र चहल को मैडल भी पहनाया और प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इसी प्रकार से देश-विदेश में हरियाणा का नाम रोशन करते रहें।इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पैरालंपिक के खिलाडियों व अन्य खिलाडियों के लिए जल्द ही एक अभिनंदन समारोह भी आयोजित किया जाएगा और इस कार्यक्रम में हरियाणा का नाम रौशन करने वाले खिलाडियों का अभिनंदन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा खिलाडियों की धरती है और आमतौर पर अंतर्राष्ट्रीय खेलों में हरियाणा के खिलाडी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन बेहतरीन रूप से करते हैं और देश का नाम दुनियाभर में रोशन करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। मुख्यमंत्री ने खुशी व्यक्त करते हुए हरियाणावी लहजे में कहा कि ‘‘हरियाणा के बगैर किसी भी खेम में झंडी कोनी पाटती’’।

Wednesday, July 10, 2024

July 10, 2024

लोग ऑनलाइन आवेदन करके सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाएं- पर्यावरण, वन एवं वन्य जीव मंत्री संजय सिंह

लोग ऑनलाइन आवेदन करके सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाएं- पर्यावरण, वन एवं वन्य जीव मंत्री संजय सिंह
चंडीगढ़ : हरियाणा के पर्यावरण, वन एवं वन्यजीव राज्य मंत्री  संजय सिंह ने जिला नूंह के गांव उजीना में आयोजित खुला दरबार में लोगों की समस्याएं सुनते हुए कहा कि वर्तमान सरकार ने आमजन कल्याण के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हुई हैं। नागरिक सीधे ऑनलाइन आवेदन कर इन योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं। लोगों की सुविधा के लिए आयुष्मान कार्ड, फैमिली आईडी, प्रॉपर्टी आईडी, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, राशन कार्ड आदि बनाने का कार्य व्यापक स्तर पर किया जा रहा है। नागरिकों को इन योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए।
खुला दरबार में लगभग 150 शिकायतें मिली, मंत्री ने उन शिकायतों पर अधिकारियों को तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समय रहते लोगों की शिकायतों को दूर करें। सरकार के आदेश हैं कि जन शिकायतों को अधिक समय तक लंबित ना रखा जाए। मंत्री संजय सिंह ने जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी को सूचना देने पर भी खुले दरबार में उपस्थिति न रहने पर विभागीय कार्रवाई के आदेश भी दिए और कहा कि जो भी अधिकारी खुला दरबार में जनता की समस्याओं को हल करने के लिए उपस्थित नहीं होगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
खुले दरबार में  वन मंत्री संजय सिंह ने कहा कि मौजूदा सरकार लोगों की समस्याओं को लेकर गंभीर है। किसी को भी किसी प्रकार की समस्या नहीं हो, इसलिए प्रदेश में लोगों की समस्याएं सुनने के लिए जनता खुले दरबार लगाए जा रहे हैं। इस अवसर पर एसडीएम नूंह विशाल, लोक निर्माण विभाग एवं भवन निर्माण के कार्यकारी अभियंता  शमशेर सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।
July 10, 2024

छात्रों को अब बस -पास सुविधा 150 किलोमीटर तक मिलेगी : असीम गोयल

छात्रों को अब बस -पास सुविधा 150 किलोमीटर तक मिलेगी : असीम गोयल
चंडीगढ़  - हरियाणा के परिवहन मंत्री असीम गोयल ने घोषणा की कि प्रदेश के सरकारी एवं मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए अब बस-पास की सुविधा को 60 किलोमीटर से बढ़ाकर 150 किलोमीटर कर दिया है।
राज्य में स्थित ऐसे स्कूल/कॉलेज/संस्थानों में पढ़ने वाले राज्य के सभी छात्रों को रियायती बस पास जारी किए जाएंगे, जो संस्थान राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं/राज्य में किसी विश्वविद्यालय या बोर्ड से संबद्ध हैं। सरकार के इस निर्णय से प्रदेशभर के  लाखों छात्र लाभान्वित होंगे , इस निर्णय को छात्रों के हित में लिया गया एक बहुत बड़ा फ़ैसला माना जा रहा है।
परिवहन मंत्री ने बताया कि परिवहन विभाग द्वारा शैक्षणिक संस्थान से अधिकतम 150 किलोमीटर की सीमा तक बस-पास जारी किए जाएंगे, जो कि पहले केवल 60 किलोमीटर तक ही जारी होते थे। यह बस-पास स्कूल/कॉलेज/संस्था प्राधिकारियों की संस्तुति पर छमाही आधार पर जारी किए जाएंगे।उधर , परिवहन विभाग द्वारा जारी पत्र के अनुसार जो भी स्कूल/कॉलेज/संस्था आदि अपने छात्रों का बस -पास बनवाना चाहता है उनको अपने संस्थान का मान्यता/संबद्धता प्रमाण-पत्र की सत्यापित प्रति सहित छात्रों की सूची संबंधित रोडवेज डिपो को उपलब्ध करवाना होगा। यह प्रमाण -पत्र किसी सक्षम अधिकारी द्वारा जारी किया होना चाहिए। बाद में जाँच -पड़ताल करके डिपो के महाप्रबंधक या उनके द्वारा नियुक्त अधिकारी द्वारा सूची के अनुसार बस-पास जारी किए जाएंगे।
विभागीय पत्र में यह भी कहा गया है कि बस-पास का डिजाइन/प्रारूप वही रहेगा, हालांकि, सरल-पहचान के लिए पास का रंग बदला जा सकता है।
July 10, 2024

देश के प्रसिद्ध धार्मिक तीर्थ स्थलों के श्रद्धालुओं को करवाएं जा रहे है नि:शुल्क दर्शन- सुभाष सुधा

देश के प्रसिद्ध धार्मिक तीर्थ स्थलों के श्रद्धालुओं को करवाएं जा रहे है नि:शुल्क दर्शन- सुभाष सुधा

राज्यमंत्री ने अयोध्या रामलला दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की बस को दी हरी झंडी
चंडीगढ़- हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय राज्यमंत्री श्री सुभाष सुधा ने मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत आज कुरुक्षेत्र से अयोध्या धाम  के लिए यात्रियों की बस को झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर मंत्री ने बस में जाकर श्रद्धालुओं  से बातचीत की और उनकी यात्रा के लिए अपनी  ओर से शुभकामनाएं दी।
सुभाष सुधा ने कहा कि तीर्थ स्थलों का दर्शन करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत श्रद्धालुओं को नि:शुल्क हरियाणा रोडवेज की एसी बस के माध्यम से अयोध्या धाम की यात्रा करवाई जा रही है।
उन्होंने बताया कि इससे पहले थानेसर से श्रद्धालुओं की मांग पर श्री खाटू श्याम तीर्थ, मथुरा व अन्य तीर्थ स्थलों के लिए भी बस चलाई गई हैं।
उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए यात्रा से संबंधित पूरी व्यवस्था की गई है ताकि उन्हें रास्ते में किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।