/>

Breaking

Tuesday, May 5, 2020

Martyr Major Anuj Sood को पिता ने दी अंतिम विदाई

हिंदवाडा में शहीद  हुए मेजर अनुज सूद ने लोकडाउन के बाद घर आने का वादा किया था।
Martyr Major Anuj Sood को पिता ने दी अंतिम विदाई 
(मनोज) चंडीगढ़। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में पंचकूला के मेजर अनुज सूद शहीद (Martyr Major Anuj Sood) का पार्थिव शरीर मंगलवार को उनके घर पहुंचा। मेजर को नमन करने के लिए पंचकूला में घर अनेक लोग पहुंचे। जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद 21 राष्ट्रीय राइफल्स के मेजर अनुज सूद (30) वर्ष पंचकूला अमरावती एनक्लेव के मकान 38 के रहने वाले थे। इनके पिता सीके सूद भी ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) हैं और माता समुन यमुनानगर के सरकारी स्कूल में बतौर प्रिंसीपल कायर्रत हैं। मेजर अनुज सूद की दो साल पहले शादी हुई थी। उनकी कोई संतान नहीं है। अनूज सूद परिवार लगभग 8 माह पूर्व पंचकूला स्थित अमरावती एनक्लेव में रहने आया था और अभी कोठी भी निर्माणाधीन है। मेजर अनुज सूद एक बड़ी बहन आस्ट्रेलिया में रहती हैं और छोटी बहन भी सेना में कार्यरत हैं। मेजर सूद की पत्नी पूणे मेें एक प्राइवेट कंपनी में कार्यरत हैं। मेजर सूद का पार्थिव शरीर सोमवार को पंचकूला पहुंचेगा, जिसके बाद उनका अंतिम संस्कार मनीमाजरा स्थित श्मशान घाट में पूरे सम्मान के साथ किया गया। पंचकूला के वीर सपूत शहीद मेजर अनुज सूद के पितापिता रिटायर्ड ब्रिगेडियर चंद्रकांत सूद ने दिया उन्हें कंधा दिया। बेटे केा अंतिम विदाई देते हुए फ़ौलाद का सीना लिए वूर सपूत शहीद मेजर अनुज सूद के पिता बोल रहे हैं कि अनुज मेरा नहीं, देश का बेटा था, देश के लिये शहीद हो गया।



शहीद अनुज सूद को पिता ने दी मुखाग्नि 
आज पंचकूला में शहीद अनुज सूद का अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें पिता ने शहीद अनुज सूद मुखाग्नि दी है। अंतिम संस्कार चंडीगढ़ में मेजर अनुज सूद के पार्थिव शरीर को आर्मी हॉस्पिटल से उनके पंचकूला स्थित घर पर लेकर जाया गया। जब मेजर अनुज सूद का पार्थिव शरीर घर पहुंचा तो उनकी पत्नी आकृति बिलख पड़ीं और ताबूत में शहीद अनुज को कुछ देर तक टकटकी लगा कर देखती रहीं। अनुज की मां भी ताबूत के पास काफी देर तक बैठी रहीं। खबरों की मानें तो शहीद अनुज की बहन हर्षिता सेना में कैप्टन हैं। वह भी अपने घर पहुंची और अपनी मां और भाभी को संभाला। पंचकूला के मेजर अनुज सूद के पिता ब्रिगेडियर सी के सूद और माता सुमन सूद आठ माह पहले अमरावती एनक्लेव में आये थे। इन्होंने एक कनाल का 59 नंबर प्लॉट खरीदा था, जोकि अभी निर्माणाधीन है। इस समय सूद परिवार मकान नंबर 38 में रिटायर्ड कर्नल बीएस संधू के घर में पहली मंजिल पर किराये पर रहता है। इनके पिता सीके सूद ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) हैं और माता समुन यमुनानगर के एक सरकारी स्कूल में बतौर प्रिंसीपल कायर्रत हैं। मेजर अनुज सूद की शादी वर्ष 2017 में आकृति सिंह से हुई थी और उनकी कोई संतान नहीं है। मेजर अनुज सूद की एक बड़ी बहन आस्ट्रेलिया में रहती हैं और छोटी बहन भी सेना में कार्यरत हैं। मेजर सूद की पत्नी इन दिनों अपने मायके धर्मशाला में रह रही थीं।

No comments:

Post a Comment