/>

Breaking

Monday, August 31, 2020

होमगार्ड भर्ती में गड़बड़ी:गृह मंत्री ने होम सेक्रेटरी से की रिपोर्ट तलब, नई भर्ती पर पाबंदी के बावजूद लगाए जा रहे नए जवान

होमगार्ड भर्ती में गड़बड़ी:गृह मंत्री ने होम सेक्रेटरी से की रिपोर्ट तलब, नई भर्ती पर पाबंदी के बावजूद लगाए जा रहे नए जवान

पुराने होम गार्ड को हटाकर नए भर्ती किए जा रहे हैं हरियाणा होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन ने शिकायत गृहमंत्री को दी

चंडीगढ़ : प्रदेश में होम गार्ड के जवानों की भर्ती पर सवाल उठ गए हैं। आरोप है कि सरकार की ओर से भर्ती पर पाबंदी लगाए जाने के बावजूद नए होमगार्ड भर्ती कर लिए गए हैं। प्रदेश में केंद्र की ओर से स्वीकृत सभी 14,025 इस वक्त भरे हुए हैं। बड़ी बात यह है कि पुराने होम गार्ड को हटाकर नए भर्ती किए जा रहे हैं। आरोप है कि इसी में खेल हो रहा है।
सूत्रों का कहना है कि पिछले करीब एक साल में सैकड़ों की संख्या में कई जिलों में नए होमगार्ड भर्ती किए हैं। मामला गृह मंत्री अनिल विज तक पहुंचने के बाद उन्होंने होम सेक्रेटरी से भर्ती को लेकर पूरी रिपोर्ट तलब कर ली है। पूछा कि किस जिले में कितने होम गार्ड भर्ती किए गए हैं। हरियाणा होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की ओर से भी भ्रष्टाचार के आरोपों की शिकायत गृहमंत्री को दी गई। सूत्रों का कहना है कि भर्ती की पूरी रिपोर्ट आने के बाद कई अधिकारी नप सकते हैं, क्योंकि उनके पास होम गार्ड की भर्तियों को लेकर शिकायतों का अंबार लगा है, जिन पर एक्शन तय है।
इस वक्त सबसे ज्यादा होम गार्ड हिसार और यमुनानगर में लगे हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि 2016 में तत्कालीन डीजी के सेल्वराज ने नई भर्ती पर पाबंदी लगाई थी। एसोसिएशन ने शिकायत में कहा कि अनेक होम गार्ड ऐसे हैं, जिन्हें अधिकारियों के केवल मौखिक आदेशों से अचानक हटा दिया गया। उन्हें कोई सूचना तक नहीं दी गई।
शिकायतों पर मांगा जवाब : विज
गृहमंत्री अनिल विज ने बताया कि होम गार्ड भर्ती को लेकर कई जगह से गड़बड़ी की शिकायतें मिली हैं, जबकि नई भर्ती पर रोक लगी है। इसलिए भर्ती किए होम गार्डों को लेकर पूरी रिपोर्ट मांगी है।

No comments:

Post a Comment